दिल ही नहीं पूरे शरीर को फिट बना सकती है कयाकिंग (Kayaking)

Medically reviewed by | By

Update Date जुलाई 17, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
Share now

आजकल वॉटर एक्टिविटी को लोग काफी एंजॉय करते हैं। अगर लोग किसी सी साइड पर वेकेशन एंजॉय करने जाते हैं, तो वॉटर एक्टिविटी वेकेशन का मजा दोगुना कर देता है। इसे न सिर्फ बड़े लोग, बल्कि बच्चे भी काफी एंजॉय करते हैं। यही कारण है कि वॉटर स्पोर्ट्स एक कामियाब बिजनेस बनकर उभरकर सामने आया है और बेहतर पैकेज देते हुए इसकी अच्छी सर्विस लोगों को पसंद आ रही है। वॉटर एक्टिविटी की बात कर रहे हैं तो हम एक खास एक्टिविटी की बात करेंगे, जिसका नाम कयाकिंग है।कयाकिंग एक वॉटर एक्टिविटी है, जिसमें छोटी नाव जिसे ‘कयाक’ कहते हैं पर बैठकर पानी में तैरा जाता है।

आपको जानकर हैरानी होगी कि ये एक्टिविटी न सिर्फ आपको फन देती है, बल्कि हेल्थ के लिए इसके काफी फायदे हैं। कयाकिंग एरोबिक फिटनेस, स्ट्रेंथ और लचीलेपन में सुधार करने वाली एक्सरसाइज की तरह हो सकती है। कयाकिंग को लोग शौक, खेल और छुट्टियों पर एंजॉय करने के रूप में करते हैं। इसे नदी, झीलों और समुद्र पर किया जा सकता है। इसे एक खेल की श्रेणी में भी रखा गया है और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी इसकी कई स्पर्धाएं होती हैं।

और पढ़ें: Quiz: फिटनेस का नया फॉर्मूला है पिलाटे, इसके बारे में जानने के लिए खेलें पिलाटे क्विज

कयाकिंग के फायदे क्या हैं? (Health Benefits of Kayaking)

कयाकिंग (Kayaking) लो इंटेंसिटी वाली एक्टिविटी होती हैं। यह आपकी एरोबिक फिटनेस, स्ट्रेंथ और लचीलेपन में सुधार कर सकती हैं। इससे कई स्वास्थ्य संबंधी फायदे हैं।

कयाकिंग के फायदे: बेहतर हृदय स्वास्थ्य (Good for heart health)

माना जाता है कि कार्डियो एक्सरसाइज यानी दौड़ना, साइकिल चलाना आदि दिल के लिए अच्छे होते हैं। दिल की धड़कन तेज करने का काम कयाकिंग भी बहुत अच्छा करती है। इसलिए इसे एक अच्छी कार्डियो एक्सरसाइज कहना गलत नहीं होगा।

कयाकिंग के फायदे: हाथ मजबूत होते हैं (Makes hands stronger )

हाथों को मजबूत करने के लिए कयाकिंग में लगातर आपको पैडलिंग करनी होती है। पानी के विपरीत पै​डलिंग करने से मसल्स टोन होते हैं। बाजू और हाथ कयाकिंग से मजबूत होते हैं।

और पढ़ें: Quiz: फिटनेस को लेकर कितना जागरूक हैं आप? खेलें फिटनेस को लेकर क्विज

कयाकिंग के फायदे: कंधों पर पड़ता है अच्छा असर (Good for shoulders)

कंधों को मजबूत बनाने के लिए कई तरह की एक्सरसाइज करते हैं, स्ट्रेचिंग करते हैं और अन्य एक्टिविटी भी करते हैं। लेकिन आपको जानकार हैरानी होगी कि कायकिंग से भी कंधों को मजबूती मिलती है।

  • पीठ, चेस्ट और कंधों के लिए भी कयाकिंग बहुत फायदेमंद मानी जाती है। पैडल उठाने से लेकर पैडल के माध्यम से कयाक को आगे बढ़ाने में जो कसरत हाती है उससे अपर बॉडी, पीठ और कंधों में मजबूती आती है।
  • कयाकिंग में पैर, हाथ और धड़ तीनों का ही प्रयोग होता है। इसलिए इसका असर भी इन तीनों पर पड़ता है यानी इन्हें मजबूती मिलती है।
  • पैडलिंग एक लो इंम्पैक्ट एक्टिविटी है इसलिए ज्वॉइंट और टिशू को नुकसान नहीं पहुंचता है।
  • यह एक तरह की एक्सरसाइज होने के साथ ही मेडिटेशन का भी अच्छा जरिया है
  • वजन कम करने के लिए भी आप कयाकिंग कर सकते हैं।

तो अब जब भी आपको मौका मिले तो कायकिंग जरूर करें और अपने आपको फिट रखें। आइए अब जानते हैं कि पैडलिंग एक्टिविटीज के बारे में। जानिए ये कितने प्रकार की होती है।

पैडलिंग एक्टिविटीज (Paddling activity) कितने प्रकार की होती है?

पैडलिंग एक्टिविटीज कई प्रकार की होगी हैं। इनमें से कौन सी आपको चुननी है ये आपका खुद का फैसला हो सकता है। नीचे हम बता रहे हैं कि पैडलिंग एक्टिविटीज के कितने प्रकार होते हैं, जानिए :

कयाकिंग के फायदे: फ्लैट वॉटर रिक्रिएशन (Flat Water Recreation)

फ्लैट वॉटर रिक्रिएशन ही ज्यादातर लोगों की पहली इच्छा होती है जब वह कयाकिंग के बारे में सोचते हैं। इसमें एक शांत जगह और नेचर का साथ लोगों के मन को भाता है। इसके लिए आप किसी झील या समुद्र व नदी में कयाकिंग कर सकते हैं।

और पढ़ें : जानें कैसा होना चाहिए आपका वर्कआउट प्लान! 

कयाकिंग के फायदे:

सी कयाकिंग (Sea Kayaking)

सी कयाकिंग के नाम से ही जाहिर है कि यह सागर में कयाकिंग करना है। सागर कयाकिंग ऑस्ट्रेलिया में एक लोकप्रिय वॉटर एक्टिविटी बनती जा रही है। वहां के लोग इस एक्टिविटी को काफी एंजॉय करते हैं। सिर्फ वहां के लोग ही नहीं, अगर कोई दूसरे देश का व्यक्ति भी वहां घूमने के लिए जाता है, तो इस एक्टिविटी को करने की दिलचस्पी रखता है।

सेलिंग (Sailing)

इसमें कयाक पर एक सेल यानी पाल लगा दिया जाता है।

स्प्रिंट रेसिंग (Sprint racing)

यह शांत पानी में एक स्प्रिंट दौड़ होती है।

महासागर रेसिंग (Ocean racing)

यह महासागर में कयाकिंग की दौड़ होती है। इसके लिए आपको प्रेक्टिस और फिटनेस दोनों चाहिए होते हैं।

और पढ़ें— खुल गया सारा के वेट लॉस का राज, फिटनेस डॉक्टर ने किया खुलासा

मैराथन दौड़ (Marathon race)

मैराथॉन के नाम से ही समझा जा सकता है कि यह एक लंबी दूरी तय करने वाली दौड़ है।

स्लालम (Slalom)

यह एडवेंचर पसंद करने वालों को ज्यादा पसंद आता है। इसमें बाधाओं के आसपास स्टीयरिंग की जा सकती है।

फ्रीस्टाइल (Freestyle)

यह भी रोमांच से भरा हुआ होता है। इसमें एक्रोबेटिक ट्रिक को कौशल दिखाया जाता है।

और पढ़ें : बिजी मॉम, फिटनेस के लिए ऐसे करें तबाता वर्कआउट

वाइल्ड वॉटर (Wild water)

कह सकते हैं कि यहां आपकी प्रतिस्पर्धा नदी से ही होती है। एथलीटों को 4.5 मीटर लंबी, 11 किलोग्राम, बहुत अस्थिर नदी में समतल पानी से ग्रेड 4 रैपिड्स तक का प्रबंधन करना होता है।

कयाकिंग फिजिकल और मेंटल दोनों हेल्थ के लिए अच्छी ए​क्टिविटी है। इसलिए जब भी मौका मिले आप अपने दिल की सुनकर दिल को ठीक करने के लिए कयाकिंग कर सकते हैं। भारत में कयांकिंग की बहुत सी जगहें हैं।

और पढ़ें: QUIZ : फुट एंड ज्वाइंट पेन रिलीफ क्विज खेलें और जानें फिटनेस के बारे में बहुत कुछ

तो अब मौका मिलने पर इस एक्टिविटी को जरूर करें। ये आपको फिट रखेगी और आपकी पूरी बॉडी की एक्सरसाइज इससे हो जाएगी। उम्मीद करते हैं कि आपको हमारा ये आर्टिकल पसंद आया होगा। इस आर्टिकल में हमने आपको कयाकिंग के फायदे बताने की कोशिश की है। जिससे आपको इसके बारे में ज्यादा से ज्यादा जानकारी मिल सके। आशा करते हैं आपको इस आर्टिकल की जानकारियां काम आएंगी। तो अगर आपको हमारा ये आर्टिकल पसंद आया है, तो हमारा ये आर्टिकल ज्यादा से ज्यादा लोगों के साथ जरूर शेयर करें, ताकि ये काम की जानकारियां उन तक पहुंच सके और वो भी इस जानकारी को पाने के बाद इस एक्टिविटी को करने के लिए प्रोत्साहित हो सके। अगर आपके मन में इस बारे में और भी कोई सवाल हैं, तो हमसे जरूर पूछें। हम आपके सभी सवालों के जवाब देने की पूरी कोशिश करेंगे। अगर आपको किसी भी तरह की समस्या हो तो आप कयाकिंग को करने से पहले अपने सर्जन से जरूर पूछ लें।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

संबंधित लेख:

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy"
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

स्वास्थ्य और सुरक्षा के लिहाज से लंबे समय तक बैठ कर काम करना है खतरनाक

स्वास्थ्य और सुरक्षा की दृष्टि से ऑफिस में लगातार बैठकर काम करने से कई प्रकार की शारीरिक समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। यहां ऑफिस में स्वास्थ्य और सुरक्षा से जुड़े कुछ टिप्स बताए जा रहे हैं।

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Bhawana Awasthi
हेल्थ टिप्स, स्वस्थ जीवन मई 17, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

पीठ दर्द के लिए व्यायाम : इन आसान तरीकों से दूर करें अपना दर्द

पीठ दर्द के लिए व्यायाम कर हम हर उम्र में स्वस्थ रह पाएंगे, वहीं जरूरी है कि आप यदि सक्षम हैं और एक्सरसाइज कर सकते हैं तो इन व्यायाम को कर फायदा उठाएं।

Medically reviewed by Dr Sharayu Maknikar
Written by Shilpa Khopade
सीनियर हेल्थ, स्वस्थ जीवन मई 17, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

योगा या जिम शरीर के लिए कौन सी एक्सरसाइज थेरिपी है बेस्ट

एक्सरसाइज थेरेपी में योग कंप्लीट बॉडी सॉल्यूशन है। इसमें शरीर के हर एक अंग का इस्तेमाल होता है, इसे करने से जिम से भी ज्यादा फायदा मिलता है।

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Satish Singh
फिटनेस, स्वस्थ जीवन मई 7, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें

Pneumothorax (spontaneous) : न्यूमोथोरैक्स क्या है?

न्यूमोथोरैक्स क्या है in hindi, न्यूमोथोरैक्स के कारण, जोखिम कारण और उपचार क्या है, pneumothorax को ठीक करने के लिए आप इस तरह के घरेलू उपाय अपना सकते हैं।

Medically reviewed by Dr. Pooja Daphal
Written by Poonam
हेल्थ कंडिशन्स, स्वास्थ्य ज्ञान A-Z अप्रैल 20, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें