महिलाओं से जुड़े फन फैक्ट्स, जिन्हें जानकर आपको भी आ जाएंगे चक्कर

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट जून 29, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

हर प्राणी का शरीर अलग होता है। उसकी अलग-अलग विशेषताएं होती हैं और उसकी अलग-अलग कमियां होती हैं। इसी तरह मनुष्य की शारीरिक संरचना या बनावट भी अलग-अलग होती है। मनुष्यों में भी पुरुष और महिलाओं की बॉडी विभिन्न प्रकार की होती है। आपको बता दें कि मनुष्य का शरीर इतना जटिल होता है, कई बार उसके बारे में बहुत-सी बातें हमें पता नहीं होती हैं, लेकिन जब हम उनके बारे में जानते हैं, तो एकदम चौंक जाते हैं या फिर हंसी आने लगती है। इस आर्टिकल में हम आपको महिलाओं से जुड़े फन फैक्ट्स यानि उनके शरीर, स्वास्थ्य आदि से जुड़े कुछ हेल्थ या रोचक तथ्य बताएंगे, जिन्हें जानकर आप जरूर सोचेंगे कि क्या सच में ऐसा होता है।

यह भी पढ़ें : पोस्ट वर्कआउट ड्रिंक : वॉटर मेलन जूस से पूरा करें अपना फिटनेस गोल

महिलाओं से जुड़े फन फैक्ट्स क्या हैं?

महिलाओं से जुड़े फन फैक्ट्स – तीन निपल्स वाली महिलाएं

जी हां, शायद यह बात पढ़कर आप अपने बाल नोंचने लगें, लेकिन सच्चाई यह है कि करीब 2 प्रतिशत महिलाओं के दो नहीं, बल्कि तीन निपल्स हो सकते हैं। दरअसल, यह एक दुर्लभ कंडीशन है, जिसे सूपरन्यूमैरेरी निपल्स कहा जाता है। यह अतिरिक्त निपल वाली स्थिति तीन निपल्स से लेकर आठ निपल्स तक हो सकती है और यह पुरुषों में भी हो सकती है।

यह भी पढ़ें: नशे में सेक्स करना कितना सही है? जानिए स्मोक सेक्स और ड्रिंक सेक्स में अंतर

महिलाओं से जुड़े फन फैक्ट्स -जादू की झपकी से मिल सकता है महिलाओं का भरोसा

एक अनुमान के मुताबिक, महिलाओं को कम से कम 15 सेकेंड तक लगातार हग या जादू की झपकी देने पर उनका भरोसा जीता जा सकता है। है ना मजेदार! तो अगर आप लड़के हैं या फिर किसी लड़की का दिल और भरोसा जीतना चाहते हैं, तो यह टिप आपकी मदद कर सकती है। दरअसल, माना जाता है कि एक निश्चित अवधि से ज्यादा गले लगाने पर शरीर में न्यूरोट्रांसमिटर ऑक्सीटोसिन का उत्पादन होता है और यह तत्व हमारी भावनाओं, जैसे- आस्था, भरोसा आदि में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

महिलाओं से जुड़े फन फैक्ट्स – महिलाओं को कम परेशान करती हैं हिचकियां

ये जानकारी पढ़कर पुरुष शायद थोड़े नाखुश हो सकते हैं, लेकिन यह सच्चाई है कि औसतन महिलाओं को पुरुषों के मुकाबले कम हिचकियां आती हैं।

महिलाओं से जुड़े फन फैक्ट्स – महिलाओं में पसीना

पुरुषों के लिए एक और जलन करने वाली जानकारी यह है कि, पुरुषों को ज्यादा पसीना आता है और महिलाओं को उनसे कम पसीना आता है।

यह भी पढ़ें : जानें कैसा होना चाहिए आपका वर्कआउट प्लान!

जिंदगी

महिलाओं से जुड़े फन फैक्ट्स में एक और चौंकाने वाली जानकारी यह है कि, महिलाएं पुरुषों के मुकाबले ज्यादा उम्र तक जिंदा रहती हैं। हालांकि, इस बारे में पर्याप्त सबूत पाने के लिए लगातार शोध चल रहा है, लेकिन देखा गया है कि औसतन पुरुषों का जीवनकाल महिलाओं से कम होता है। इसके पीछे कई कारण हो सकते हैं, जैसे- स्मोकिंग, ड्रिंकिंग आदि। जिसकी वजह से महिलाओं का इम्यून सिस्टम देर से बूढ़ा या कमजोर होता है। इसलिए, अगर आपको महिलाओं से ज्यादा जीना है तो इन बुरी आदतों को छोड़ दें।

महिलाओं से जुड़े फन फैक्ट्स – महिलाओं के सामने हो सकती है आपकी बोलती बंद

आप महिलाओं से बोलने में मुकाबला नहीं कर सकते। क्योंकि महिलाएं पुरुष की तुलना में एक ही दिन में करीब 13 हजार शब्द ज्यादा बोलने में सक्षम होती हैं। यह हम नहीं कह रहे, बल्कि कई शोध में इस बात का खुलासा हुआ है।

महिलाएं होती हैं ज्यादा भावुक

यह बात तो आप मानेंगे कि लड़कियां ज्यादा भावुक होती हैं। शायद इसीलिए यह सामने आया है कि महिलाएं पुरुषों के मुकाबले ज्यादा रो सकती हैं। महिलाएं जहां एक साल में 30 से 64 बार रो सकती हैं, वहीं पुरुष एक साल में 6 से 17 बार रो सकते हैं।

इस मामले में पुरुष हैं आगे

जी हां, एक चीज ऐसी है, जिसमें पुरुष महिलाओं के मुकाबले दो गुना आगे हैं, लेकिन शायद आपको यह उपलब्धि अच्छी न लगे। क्योंकि, हम बात कर रहे हैं झूठ बोलने की, एक अनुमान के मुताबिक पुरुष दिन में करीब 6 बार झूठ बोलते हैं और महिलाएं इससे आधी बार झूठ बोलती हैं।

महिलाओं से जुड़े फन फैक्ट्स -पूरी जिंदगी में 2 से 3 किलो लिपस्टिक खा जाती हैं महिलाएं

महिलाओं से जुड़े फन फैक्ट्स में से यह सबसे ज्यादा हंसाने वाला हो सकता है। महिलाएं जितनी लिपस्टिक लगाती हैं, उतनी खा भी जाती हैं। एक रिसर्च के मुताबिक जीभ से चाटने से लेकर खाना खाते वक्त महिलाएं अपनी जीवनकाल में करीब दो किलोग्राम लिपस्टिक खा जाती हैं। एक लिपस्टिक अगर मानें की 2.5 ग्राम की होती है तो करीब 800 लिपस्टिक का मैटीरियल महिलाओं के पेट में पाया जा सकता है। हां! यह जरूर याद रखें कि यह हर महिला पर लागू नहीं होता।

यह भी पढ़ें: नशे में सेक्स करना कितना सही है? जानिए स्मोक सेक्स और ड्रिंक सेक्स में अंतर

महिलाओं के बारे में कुछ सीरियस फैक्ट्स

  1. क्या आपको पता है कि, हर 90 सेकेंड में प्रेग्नेंसी या चाइल्ड बर्थ के दौरान एक न एक महिला की मृत्यु हो जाती है। ऐसा इसलिए होता है, क्योंकि अधिकतर महिलाओं को उनके स्वास्थ्य और शरीर से जुड़ी पर्याप्त शिक्षा और देखभाल नहीं दी जाती।
  2. महिलाओं से जुड़े फन फैक्ट्स के साथ जानें कि चार में से एक महिला को गर्भावस्था के दौरान भी शारीरिक और यौन हिंसा का सामना करना पड़ता है। अगर, आपके आसपास भी ऐसी कोई घटना घटती है, तो महिलाओं के साथ खड़े हों।
  3. एक अनुमान के मुताबिक 2001 तक दुनिया में 16.4 मिलियन से ज्यादा महिलाओं को एचआईवी/एड्स की समस्या थी, जो कि अब और बढ़ चुकी होगी।
  4. हालांकि, पुरुषों को महिलाओं के मुकाबले ज्यादा हार्ट अटैक आते हैं, लेकिन हर साल हार्ट अटैक की वजह से मरने वाली महिलाओं की दर पुरुषों से ज्यादा है।
  5. करीब 15 से 17 प्रतिशत महिलाओं को माइग्रेन के दर्द की समस्या होती है, जो कि पुरुषों के मुकाबले काफी ज्यादा है। पुरुषों में करीब 3 से 6 प्रतिशत को माइग्रेन की समस्या होती है।

अब तो आप समझ ही गए होंगे कि महिलाएं कितनी रोचक होती हैं और उनसे जुड़े फैक्ट्स भी। हमें उम्मीद है कि आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया होगा। अगर आपका कोई सवाल है तो आप हमारे फेसबुक पेज पर जाकर हमसे पूछ सकते हैं। किसी प्रकार की अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप किसी भी प्रकार की चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार मुहैया नहीं कराता।

और पढ़ें:-

सर्दियों में बच्चों की स्कीन केयर है जरूरी, शुष्क मौसम छीन लेता है त्वचा की नमी

बच्चों का मिजल्स वैक्सीनेशन नहीं कराया, पेरेंट्स पर होगा जुर्माना

गर्भावस्था में इंफेक्शन से कैसे बचें?

स्टडी: लड़के की डिलिवरी होती है ज्यादा पेनफुल

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

ऑब्स्टेट्रिक फिस्टुला से महिलाओं की जिंदगी पर होता है बहुत बुरा असर, जानें कैसे

प्रेग्नेंसी या प्रसव के दौरान कई महिलाओं को ऑब्स्टेट्रिक फिस्टुला की समस्या का सामना करना पड़ता है। लेकिन, यह समस्या उनके लिए जानलेवा होने के साथ-साथ काफी गंभीर परिणाम लेकर भी आती है।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Surender Aggarwal
महिलाओं का स्वास्थ्य, स्वस्थ जीवन मई 19, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

जानिए कैसी होनी चाहिए वर्किंग वीमेन डायट?

वर्किंग वुमन डायट कैसी हो? वर्किंग वुमन डायट चार्ट में भी अनाज, फल, सब्जियां, फोलिक एसिड, कैल्शियम युक्त खाद्य पदार्थ होने के साथ ही कामकाजी महिलाओं को...working women diet tips in hindi

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Hemakshi J
के द्वारा लिखा गया Smrit Singh
आहार और पोषण, स्वस्थ जीवन मई 8, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

अगर आपके ऑफिस में किसी को है क्रॉनिक डिजीज तो उसे ऐसे करें सपोर्ट

आफिस का कोई साथी कैंसर व क्राेनिक बीमारी से पीडित जो जाए तो को वर्कर को सपोर्ट करना चाहिए। इमोशनली सपोर्ट के साथ साथी कर्मी होने के नाते कैसे करें मदद जानिए इस लेख में।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh
हेल्थ टिप्स, स्वस्थ जीवन मई 6, 2020 . 8 मिनट में पढ़ें

क्रोनिक डिजीज के दौरान यात्रा में बरतें ये सावधानियां

जानिए क्रोनिक डिजीज के दौरान यात्रा कैसे करें? क्रोनिक डिजीज के दौरान यात्रा से पहले, यात्रा के दौरान किन बातों का रखें ध्यान?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Nidhi Sinha
हेल्थ टिप्स, स्वस्थ जीवन मार्च 31, 2020 . 8 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

हृदय रोगों से जुड़े मिथक

जानें हृदय स्वास्थ्य से जुड़े मिथक को लेकर क्या कहते हैं एक्सपर्ट

के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha
प्रकाशित हुआ सितम्बर 28, 2020 . 7 मिनट में पढ़ें
एंडोक्राइन डिसऑर्डर

हार्मोनल ग्लैंड के फंक्शन में है प्रॉबल्म, एंडोक्राइन डिसऑर्डर का हो सकता है खतरा

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh
प्रकाशित हुआ जुलाई 20, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें
एंडोक्रिनोलॉजिस्ट

एंडोक्राइनोलॉजिस्ट क्या है, कौन-कौन-से बीमारियों का करते हैं इलाज

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh
प्रकाशित हुआ जुलाई 6, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
Thyroid: थायराइड क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

Thyroid: थायराइड क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Mona narang
प्रकाशित हुआ जून 12, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें