उम्र की लंबी पारी खेलने के लिए, करें योगर्ट का सेवन जरूर

Written by

Update Date जून 16, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
Share now

मुझे दूध बहुत पसंद है। लेकिन, लैक्टोज इंटॉलरेंस के चलते दूध कंज्यूम करना मेरे लिए हमेशा मुश्किल होता है। लेकिन अच्छी खबर यह है कि मेरे पास इसका अच्छा अल्टरनेटिव है योगर्ट। योगर्ट से पर्याप्त कैल्शियम मिलने के साथ ही इसका टेस्ट भी काफी अच्छा है। इसके साथ ही योगर्ट, पोषक तत्वों से भरपूर सोने की खान है जिसमें फायदेमंद बैक्टीरिया भी होते हैं। हमें अपने अच्छे स्वास्थ्य के लिए इसका सेवन करना चाहिए। योगर्ट नाम टर्किश के ‘योगुर’ शब्द से लिया गया है जिसका मतलब है लंबा जीवन। लैक्टोज असहिष्णुता का मतलब शरीर में लैक्टेज एंजाइम की कमी के कारण दूध में मौजूद प्राइमरी कार्बोहाइड्रेट को पचाने में असमर्थता है। दूध के सेवन से लैक्टेज एंजाइम की कमी से गैस, सूजन, दस्त और अन्य गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल समस्याएं पैदा होने लगती हैं। ऐसे में दही का सेवन अच्छा ऑप्शन है। आइए जानते हैं दही के लाभ क्या हैं?

योगर्ट है बेहतर

योगर्ट को बनाने के दौरान लैक्टोज पहले से ही लैक्टिक एसिड (lactic acid) में बदल जाता है, इसलिए यह अन्य डेयरी उत्पादों की तुलना में लैक्टोज इन्टॉलरेंस वाले लोगों द्वारा अधिक आसानी से पच जाता है। तो, उन लाखों लोगों के लिए जो दुग्ध उत्पादों को पचा नहीं सकते हैं, उनके लिए दही कैल्शियम का एक अच्छा डाइजेस्टिव सोर्स है।

और भी पढ़ें : माइग्रेन में खाना क्या चाहिए जिससे मिलेगी जल्दी राहत 

दही के लाभ : पोषण का पंच

दही का एक कप (250 ग्राम) लगभग 150 कैलोरी से भरा होता है। साथ ही इसमें प्रोटीन और कैल्शियम भी भरपूर मात्रा में होते हैं। योगर्ट, वास्तव में पोटेशियम का उतना ही अच्छा स्त्रोत है जितना केला पोटेशियम से भरा होता है। साथ ही दूध की तुलना में योगर्ट में बेहतर मात्रा में कैल्शियम और प्रोटीन पाया जाता है। एक कप योगर्ट से 8–10 ग्राम प्रोटीन मिलता है। 250 मिलीलीटर दूध की तुलना में एक कप दही भी 450 मिलीग्राम कैल्शियम होता है। यह कैल्शियम के लिए जरूरी दैनिक आवश्यकताओं को 30 से 40 प्रतिशत पूरा करता है।

और पढ़ें : बच्चों के लिए एसेंशियल ऑयल का इस्तेमाल करना क्या सुरक्षित है?

विटामिन-बी का भी मिलेगा लाभ

क्या आप विटामिन बी स्कोर करना चाहते हैं? शरीर में विटामिन-बी के सही लेवल के  लिए आपको हर दिन बस योगर्ट की दो सर्विंग्स की जरूरत होती है। योगर्ट इंटेस्टिनल ट्रैक्ट (intestinal tract) में विटामिन बी का निर्माण करता है।

दही के लाभ : पेट की समस्या होती है छूमंतर

योगर्ट शरीर में मौजूद खराब बैक्टीरिया को मारता है और गुड बैक्टीरिया बनाए रखने में मदद करता है जिससे आंतों के बैक्टीरिया का स्वस्थ संतुलन बना रहता है। इसके साथ ही यह दस्त और ऐसी अन्य पेट की बीमारियों का इलाज करता है। वास्तव में, यह पाचन तंत्र को उसकी बिगड़ी हुई स्थिति से सामान्य स्थिति में लाने में मदद करता है। अक्सर एंटीबायोटिक दवाओं का सेवन आपकी गट हेल्थ के लिए ठीक नहीं होता है। ये ड्रग्स अक्सर ट्रैक्ट से गुड और बैड बैक्टीरिया को मिटा देते हैं जिससे पाचन तंत्र का संतुलन बिगड़ता है। जब हानिकारक बैक्टीरिया आंत पर हावी होते हैं तो इससे आवश्यक पोषक तत्व बन नहीं पाते हैं और कार्सिनोजेन्स जैसे हानिकारक पदार्थों के स्तर और विषाक्त पदार्थ बढ़ते हैं।

और पढ़ें : क्या एंटीबायोटिक्स कर सकती हैं गट बैक्टीरिया को प्रभावित?

योगर्ट का लाभ स्किन को भी

शायद आपको सुनकर हैरानी होगी कि दही खाने के लाभ पूरे शरीर के साथ-साथ आपकी स्किन को भी मिलते हैं। योगर्ट खाने से एजिंग की प्रक्रिया धीमी होती है। आपको पता है कि बुल्गारिया शहर के लोग अपनी लंबी उम्र के लिए जाने जाते हैं। इसके पीछे का सीक्रेट क्या है? आपको बता दें कि बुल्गारिया लोगों को दही के सेवन के लिए जाना जाता है। खाना पकाने में दही का उपयोग करने के अलावा वे एक ट्रेडिशनल सूप बनाते हैं जिसमें उनका पसंदीदा दही और खीरा भी मिला होता है। वे इसे पानी की तरह पीते हैं। इसके साथ ही इस ट्रेडिशनल सूप का इस्तेमाल वे हैंगओवर को खत्म करने के लिए एल्कोहॉल का सेवन करने के बाद करते हैं। बच्चों में दस्त के इलाज के तौर पर भी इसका उपयोग किया जाता है।

दही के लाभ : मिड-डे ब्लूज होंगे कम

कुछ समय के लिए दिन में योगर्ट को स्नैक के रूप में लें और कुछ समय बाद पाएंगे कि आप स्ट्रेस को बेहतर तरीके से मैनेज कर पा रहें हैं। दही में अमीनो एसिड टायरोसिन होता है, जो न्यूरोट्रांसमीटर, डोपामाइन और नोराड्रेनलिन (noradrenalin) के उत्पादन के लिए आवश्यक होता है। दरअसल, जब हम तनाव में होते हैं तो टायरोसिन खराब हो जाता है। और नियमित रूप से दही खाने से आपकी याददाश्त में सुधार भी हो सकता है।

और पढ़ें :  जानें बॉडी पर कैफीन के असर के बारे में, कब है फायदेमंद है और कितना है नुकसान दायक

योगर्ट को टेस्टी बनाने के आसान टिप्स

  • दही को स्वादिष्ट बनाने के लिए सादे दही में कोको पाउडर और थोड़ी चीनी मिलाएं और खाएं।
    वनीला डालकर सादे दही के स्वाद को बढ़ाएं।
  • यदि आप सेवरी टेस्ट पसंद करते हैं, तो योगर्ट में मिर्च, करी पत्ते, सरसों, कद्दूकस की हुई सब्जियां डालें।
  • दही के लाभ पाने के लिए बादाम या नींबू का अर्क या इसे दालचीनी के साथ मिला कर इलायची या अदरक के साथ लें।

और पढ़ें : सोने से पहले क्या खाएंः क्यों रात में दही खाना कर सकता है बीमार

दही की रेसिपी

फ्रेश फ्रूट योगर्ट

कई प्रकार के ताजे फल (सेब, अंगूर, आम) छोटे-छोटे टुकड़ों में काटें। इन्हें योगर्ट के साथ मिक्स करें, फिर इसमें ब्राउन शुगर डालें। फिर फ्रीज में रखकर ठंडा करके खाएं।

फ्रोजेन योगर्ट

दही को फल या किसी भी फ्लेवरिंग के साथ मिलाएं और इसे कुछ घंटों के लिए फ्रीज करें। खाने से पहले इसे थोड़ा-सा पिघलाएं। आप इस पर सनफ्लावर सीड्स, कटे हुए कुछ नट्स भी डाल सकते हैं।

दही + अलसी

हमारे आंत में चार सौ प्रकार के बैक्टीरिया होते हैं। कुछ गुड कुछ बैड। जब खराब बैक्टीरिया अच्छे बैक्टीरिया की तुलना में ज्यादा हो जाते हैं तो पाचन धीमा हो जाता है। दही इस स्थिति में सुधार करने में मदद कर सकता है। योगर्ट से मिलने वाले प्रोबायोटिक्स को दूसरे प्रकार के प्रोबायोटिक्स की आवश्यकता होती है। इसके लिए अलसी जैसे बीजों का सेवन उत्तम रहता है। योगर्ट के साथ फ्लैक्ससीड्स का सेवन पेट में स्वस्थ संतुलन बनाए रखता है।

दही + केला

केले में इंसुलिन होता है, जो दही के हेल्दी बैक्टीरिया को बढ़ाता है। इसके अलावा, यह गर्मियों के लिए बेस्ट रेसिपी है।

रोटी + रायता

रायता और रोटी एक स्वस्थ आहार है। इसमें अगर आप कॉन्टिनेंटल या मेडिटरेनियन टच देना चाहते हैं तो इसके लिए आप राई की रोटी के साथ tzatziki (ग्रीक योगर्ट) चुन सकते हैं।

योगर्ट + बादाम

शरीर में कैल्शियम एब्सॉर्ब करने के लिए विटामिन-डी की आवश्यकता होती है। ऐसे में बादाम और दही का कॉम्बिनेशन आपकी मदद कर सकता है।

दही खाने के फायदे

  • आंत में अच्छे बैक्टीरिया का निर्माण
  • हड्डियों को मजबूत बनाना
  • उच्च गुणवत्ता वाले प्रोटीन को स्कोर करना
  • एजिंग को कम करना
  • दिल को स्वस्थ रखने वाला पोटैशियम बनाना

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

संबंधित लेख:

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy"

FROM EXPERT कविता देवगन

उम्र की लंबी पारी खेलने के लिए, करें योगर्ट का सेवन जरूर

दही के लाभ, दही रोटी खाने के फायदे, दही खाने के फायदे, योगर्ट खाने से एजिंग कम होती है तो नियमित रूप से दही का सेवन आपको स्ट्रेस से भी दूर रखता है, जानिए आसान योगर्ट रेसिपी...yogurt health benefits in hindi

Written by कविता देवगन
दही के लाभ

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

Mahacef Plus: महासेफ प्लस क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

महासेफ प्लस की जानकारी in hindi. mahacef plus का उपयोग,Mahacef Plus साइड-इफेक्ट्स, महासेफ प्लस की खुराक लें, इसको कब लेना चाहिए। महासेफ प्लस का डोज और सावधानियां।

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Mona Narang
दवाइयां A-Z, ड्रग्स और हर्बल फ़रवरी 28, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

Polymyxin B: पॉलीमिक्सिन बी क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

पॉलीमिक्सिन बी in hindi. polymyxin b का उपयोग, साइड इफेक्ट्स, कितना लें यह गंभीर बैक्टीरियल इंफेक्शन के इलाज में इस्तेमाल होने वाली एक एंटीबायोटिक दवा है।

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Anoop Singh
दवाइयां A-Z, ड्रग्स और हर्बल फ़रवरी 26, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

Imipenem: इमीपेनेम क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

जानिए इमीपेनेम की जानकारी in hindi, फायदे, लाभ, इमीपेनेम उपयोग, इस्तेमाल कैसे करें, कब लें, कैसे लें, कितना लें, खुराक, Imipenem डोज, ओवरडोज, साइड इफेक्ट्स, नुकसान, दुष्प्रभाव और सावधानियां।

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Anoop Singh
दवाइयां A-Z, ड्रग्स और हर्बल फ़रवरी 18, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

IBD: इंफ्लेमेटरी बाउल डिजीज क्या है?

जानिए इंफ्लेमेटरी बाउल डिजीज क्या है in hindi. इंफ्लेमेटरी बाउल डिजीज की समस्या क्यों होती है? Inflammatory bowel disease का जानिए क्या है इलाज?

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Nidhi Sinha
हेल्थ कंडिशन्स, स्वास्थ्य ज्ञान A-Z फ़रवरी 8, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

फोल्विट 5 एमजी टैबलेट

Folvite 5 mg Tablet : फोल्विट 5 एमजी टैबलेट क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Shikha Patel
Published on जुलाई 6, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
बेटनोवेट जीएम

Betnovate GM: बेटनोवेट जीएम क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Satish Singh
Published on जून 18, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
diet for Hemophilia-हीमोफीलिया पेशेंट्स के लिए डायट

विश्व हीमोफीलिया दिवस: हीमोफीलिया को कंट्रोल करने के लिए डायट में करें ये बदलाव

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Mona Narang
Published on अप्रैल 17, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
coronavirus panic कोरोना वायरस का डर

कोरोना वायरस का डर खुद पर हावी न होने दें, ऐसे दूर करें तनाव

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Nidhi Sinha
Published on मार्च 20, 2020 . 7 मिनट में पढ़ें