Sleep Deprivation : स्लीप डेप्रिवेशन क्या है?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट जनवरी 9, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

परिचय

स्लीप डेप्रिवेशन (Sleep Deprivation) क्या है?

स्लीप डेप्रिवेशन (Sleep Deprivation) यानी नींद की कमी तब होती है जब व्यक्ति जागने और सतर्क महसूस करने के लिए जरूरत से कम सोता है।

कितना सामान्य है स्लीप डेप्रिवेशन?

बड़े उम्रदराज वयस्कों में नींद की कमी का प्रभाव ज्यादा देखा जाता है। जबकि अन्य, विशेष रूप से बच्चे और युवा वयस्कों में स्लीप डेप्रिवेशन का खतरा कम होता है। इसके बारे में अधिक जानकारी के लिए कृपया अपने चिकित्सक से चर्चा करें।

यह भी पढ़ेंः महिलाओं में इंसोम्निया : प्री-मेनोपॉज, मेनोपॉज और पोस्ट मेनोपॉज से नींद कैसे होती है प्रभावित?

लक्षण

स्लीप डेप्रिवेशन के लक्षण क्या हैं?

स्लीप डेप्रिवेशन के सामान्य लक्षण हैंः

इसके सभी लक्षण ऊपर नहीं बताएं गए हैं। अगर इससे जुड़े किसी भी संभावित लक्षणों के बारे में आपका कोई सवाल है, तो कृपया अपने डॉक्टर से बात करें।

मुझे डॉक्टर को कब दिखाना चाहिए?

अगर ऊपर बताए गए किसी भी तरह के लक्षण आपमें या आपके किसी करीबी में दिखाई देते हैं या इससे जुड़ा आपका कोई सवाल है, तो अपने डॉक्टर से परामर्श करें। हर किसी का शरीर अलग-अलग तरह की प्रतिक्रिया करता है।

यह भी पढ़ेंः नशे में सेक्स करना कितना सही है? जानिए स्मोक सेक्स और ड्रिंक सेक्स में अंतर

कारण

स्लीप डेप्रिवेशन के क्या कारण हैं?

अधिकतर लोग अपनी आदतों के कारण या किसी काम की वजह से हर दिन देरी से सोते हैं और सुबह जल्दी उठ जाते हैं। जोकि स्लीप डेप्रिवेशन का सबसे बड़ा कारण माना जाता है। इसकी समस्या टीनएजर और युवाओं में अधिक देखी जाती है।

कई कारणों, जैसे- शिफ्ट वर्क या पारिवारिक वजहों से भी नींद नहीं आती है।

  • सोने और जागने के समय में लगातार बदलाव

बार-बार सोने और जागने के समय में बदलाव करने के कारण भी स्लीप डेप्रिवेशन की समस्या हो सकती है।

  • स्वास्थ्य समस्याएं

नींद की कमी के अतिरिक्त कारणों में अवसाद, ऑब्सट्रक्टिव स्लीप एपनिया, हार्मोन असंतुलन और पुरानी बीमारियों जैसी चिकित्सा समस्याएं भी शामिल हो सकती हैं।

यह भी पढ़ेंः जानें क्या है गहरी नींद की परिभाषा, इस तरह से पाएं गहरी नींद और रहें हेल्दी 

जोखिम

कैसी स्थितियां स्लीप डेप्रिवेशन के जोखिम को बढ़ा सकती हैं?

निम्न स्थितियां और आदतें स्लीप डेप्रिवेशन के जोखिम को बढ़ा सकती हैंः

अधिक जानकारी के लिए कृपया अपने चिकित्सक से परामर्श करें।

यह भी पढ़ेंः ये 8 आदतें हर पेरेंट्स को अपने बच्चों को सिखानी चाहिए

उपचार

यहां प्रदान की गई जानकारी को किसी भी मेडिकल सलाह के रूप ना समझें। अधिक जानकारी के लिए हमेशा अपने डॉक्टर से परामर्श करें।

स्लीप डेप्रिवेशन का निदान कैसे किया जाता है?

नींद की समस्या की पहचान करने के लिए अपनी नींद का इतिहास रखें। प्रत्येक दिन इस बात का रिकॉर्ड रखें कि आप कितने बजे और कितने घंटे के लिए सोते हैं। आप अधिकतम कितने घंटे के लिए सो सकते हैं रात में सोते समय आप कितनी बार जागते हैं और कितनी देर के लिए।

नींद के विशेषज्ञ आपकी नींद का एक ग्राफ तैयार करेंगे। जिसके आधार पर वो इसके कारण की पहचान करेंगे।

इसके अलावा डॉक्टर आपके शरीर के विभिन्न बिंदुओं पर इलेक्ट्रोड लगााते हैं। इस दौरान आपके मस्तिष्क और चेहरे पर इसे लगाते हैं। जिसे लगातार आपको रात भर सोना होगा। इस दौरान ये मॉनिटर आपकी नींद के दौरान सांस लेने की प्रक्रिया, खून के फ्लो, हृदय गति, मांसपेशियों की गतिविधियों और मस्तिष्क और आंखों की क्रियाओं को रिकॉर्ड करेगा।

कृपया अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर से चर्चा करें।

स्लीप डेप्रिवेशन का इलाज कैसे होता है?

नींद की कमी या स्लीप डेप्रिवेशन का उपचार के जरिए आपको प्राकृतिक तौर पर पूर्ण रूप से नींज प्रदान की जाती है। जितनी देर और जितनी गहरी नींद में आप सोएंगे इसका उपचार उतना ही सफल होता है।

इसके उपचार के दौरान धीरे-धीरे आपके सोने के समय को बढ़ाया जाएगा। जिसे तब तक बढ़ाया जा सकता है जब तक आपको उचित नींद नहीं मिलती है। एक बार जब आप इस समस्या पर नियंत्रण कर लेते हैं, तो जरूरत के अनुसार आप इसके घंटों में कमी भी ला सकते हैं। इसके लिए दवाओं का भी सहारा लिया जा सकता है।

अगर इलाज के दौरान भी नींद की कमी की समस्या बनी रहती है, तो इसके बारे में अपने डॉक्टर को बताएं।

यह भी पढ़ेंः सिर्फ प्यार में नींद और चैन नहीं खोता, हर उम्र में हो सकती है ये बीमारी

घरेलू उपाय

जीवनशैली में  होने वाले बदलाव, जो मुझे स्लीप डेप्रिवेशन को रोकने में मदद कर सकते हैं?

निम्नलिखित जीवनशैली और घरेलू उपचार आपको स्लीप डेप्रिवेशन से बचने में मदद कर सकते हैं:

इस आर्टिकल में हमने आपको स्लीप डेप्रिवेशन से संबंधित जरूरी बातों को बताने की कोशिश की है। उम्मीद है आपको हैलो हेल्थ की दी हुई जानकारियां पसंद आई होंगी। अगर आपको इस बीमारी से जुड़े किसी अन्य सवाल का जवाब जानना है, तो हमसे जरूर पूछें। हम आपके सवालों के जवाब मेडिकल एक्सर्ट्स द्वारा दिलाने की कोशिश करेंगे। अपना ध्यान रखिए और स्वस्थ रहिए।

हैलो स्वास्थ्य किसी भी तरह की कोई भी मेडिकल सलाह नहीं दे रहा है, अधिक जानकारी के लिए आप डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं।

और पढ़ें :

क्या आप राइट टाइम सोते हैं ? अगर नहीं, तो सोने का सही समय आ गया है

बच्चों को स्लीप ट्रेनिंग देने के तरीके

नींद की दिक्कत के लिए ले रहे हैं स्लीपिंग पिल्स तो जरूर पढ़ें 10 सेफ्टी टिप्स 

ज्यादा सोने के नुकसान से बचें, जानिए कितने घंटे की नींद है आपके लिए जरूरी

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy
सूत्र

संबंधित लेख:

    शायद आपको यह भी अच्छा लगे

    स्लीपिंग बेबी को ऐसे रखें सेफ, बिस्तर, तकिए और अन्य के लिए सेफ्टी टिप्स

    सेफ बेबी स्लीप की जानकारी in hindi. सेफ बेबी स्लीप के लिए उन्हें कसकर न लपेटें। साथ ही नवजात को तकिया न लगाएं। ऐसा करने से उसे सांस लेने में दिक्कत हो सकती है। Safe Baby sleep tips

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr Sharayu Maknikar
    के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi
    माँ और शिशु, प्रेग्नेंसी दिसम्बर 9, 2019 . 4 मिनट में पढ़ें

    इस दिमागी बीमारी से बचने में मदद करता है नींद का ये चरण (रेम स्लीप)

    रेम स्लीप स्टेज नींद का एक ऐसा चरण है जो हर मनुष्य के स्वास्थ्य के लिए बेहद जरूरी है। इस आर्टिकल में जानें कि कैसे रेम स्लीप के दौरान हमारा शरीर खुद को स्वस्थ बनाने के लिए सुधार प्रक्रियाएं शुरू कर देता है। इसकी वजह से हम अल्जाइमर जैसी बीमारियों से भी बचने लगते हैं।

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Hemakshi J
    के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
    स्लीप, स्वस्थ जीवन नवम्बर 27, 2019 . 4 मिनट में पढ़ें

    बच्चे का कद न बढ़ना क्या सिर्फ पैरेंट्स पर निर्भर है?

    बच्चे का कद न बढ़ना क्या सिर्फ पैरेंट्स पर है निर्भर? कद नहीं बढ़ने के पीछे क्या हैं फैक्ट्स? बच्चे का कद सही हो, उसके लिए पैरेंट्स क्या करें?

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr Sharayu Maknikar
    के द्वारा लिखा गया Nidhi Sinha
    प्रेग्नेंसी प्लानिंग, प्रेग्नेंसी नवम्बर 20, 2019 . 4 मिनट में पढ़ें

    नींद की दिक्कत के लिए ले रहे हैं स्लीपिंग पिल्स तो जरूर पढ़ें 10 सेफ्टी टिप्स 

    क्या आप स्लीपिंग पिल्स (नींद की गोली) ले रहे हैं? क्या आपने डॉक्टरी सलाह ली है? स्लीपिंग पिल्स (नींद की गोली) के दुष्प्रभाव, sleeping pills side effects in hindi, नींद की दवा..

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Hemakshi J
    के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
    स्लीप, स्वस्थ जीवन नवम्बर 19, 2019 . 4 मिनट में पढ़ें

    Recommended for you

    महिला और पुरुषों के स्लीप पैटर्न

    महिला और पुरुषों के स्लीप पैटर्न क्यों होते हैं अलग?

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
    के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha
    प्रकाशित हुआ मई 4, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
    स्लीप हिप्नोसिस

    क्या सच में स्लीप हिप्नोसिस से आती है गहरी नींद?

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
    के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha
    प्रकाशित हुआ अप्रैल 28, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
    प्रेग्नेंसी में इंटरमिटेंट फास्टिंग

    Intermittent Fasting: क्या प्रेग्नेंसी में इंटरमिटेंट फास्टिंग करना सही निर्णय है?

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
    के द्वारा लिखा गया Nidhi Sinha
    प्रकाशित हुआ मार्च 30, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें

    Quiz : बच्चों की नींद के लिए क्या है जरूरी?

    के द्वारा लिखा गया Nidhi Sinha
    प्रकाशित हुआ फ़रवरी 10, 2020 . 1 मिनट में पढ़ें