home

What are your concerns?

close
Inaccurate
Hard to understand
Other

लिंक कॉपी करें

कैंसर के साथ इन बीमारियों से भी बचाती है ब्लैक कॉफी, जानिए कैसे

कैंसर के साथ इन बीमारियों से भी बचाती है ब्लैक कॉफी, जानिए कैसे

कॉफी एक ऐसी ड्रिंक है, जिसका सेवन हर दूसरा व्यक्ति करता है। कुछ लोगों को तो कॉफी की लत भी लग जाती है। एक ओर जहां कुछ लोग कॉफी में दूध और चीनी मिलाकर पीना पसंद करते हैं, वहीं कुछ लोग ब्लैक कॉफी (Black coffee) का सेवन करते हैं। इसमें कोई दो राय नहीं कि ब्लैक कॉफी का सेवन सीमित मात्रा में किया जाए, तो इसके कई स्वास्थ्य लाभ देखने को मिलते हैं। इस आर्टिकल में हम ब्लैक कॉफी के फायदे ही बताएंगे। तो आइए, जानते हैं ब्लैक कॉफी के फायदे (Benefits of black coffee) क्या-क्या हैं।

1. वजन घटाने के लिए ब्लैक कॉफी (Black coffee for weight loss)

अगर आप वजन घटाने की कोशिश कर रहे हैं, तो अपने रुटीन में ब्लैक कॉफी जरूर शामिल करें। ब्लैक कॉफी मेटाबोलिज्म को बढ़ती है, जिससे फैट कम होता है। एक्सरसाइज करने के एक घंटे पहले ब्लैक कॉफी पीने से हम ज्यादा देर तक एक्सरसाइज कर पाते हैं, जिससे वजन कम करने में मदद मिलती है।

और पढ़ें – डायट एंड इटिंग प्लान- ए-जेड : वेट लॉस और वेट मैनेजमेंट की पूरी जानकारी

2. पेट को साफ करती है ब्लैक कॉफी (Black coffee clears the stomach)

कॉफी पीने से पेशाब ज्यादा आता है और बार-बार पेशाब जाने से शरीर के टॉक्सिन और बैक्टीरिया भी बाहर निकल जाते हैं। इसलिए, ब्लैक कॉफी (Black coffee) पेट को साफ करने में भी मदद करती है।

[mc4wp_form id=”183492″]

3. लिवर को रखे स्वस्थ (Keep liver healthy)

लिवर सबसे बड़ी और एक महत्वपूर्ण ग्रंथि है। ब्लैक कॉफी (Black coffee) लिवर कैंसर, हेपेटाइटिस, फैटी लिवर रोग और अल्कोहलिक सिरोसिस को रोकने में मदद करती है। रोजाना सीमित मात्रा में ब्लैक कॉफी का सेवन करने से लिवर की बीमारी होने का खतरा 80 प्रतिशत कम हो जाता है।

4. डायबिटीज (Diabetes) से बचाए

ब्लैक कॉफी इंसुलिन को बढ़ती है, जिससे डायबिटीज का खतरा कम रहता है। जो लोग नियमित ब्लैक कॉफी (Black coffee) पीते हैं, उनमें डायबिटीज होने का खतरा काफी कम हो जाता है।

5. दिमाग को तेज बनाती है ब्लैक कॉफी (Black coffee makes the brain sharp)

कॉफी में साइकोएक्टिव उत्तेजक होता है, जो बुद्धिक्षमता को बढ़ता है। इसलिए ब्लैक कॉफी (Black coffee) पीने से दिमाग तेज और एक्टिव रहता है।

6. एंटीऑक्सीडेंट का भंडार है ब्लैक कॉफी (Black coffee is a storehouse of antioxidants)

ब्लैक कॉफी एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर है। इसमें विटामिन-बी2, बी 3, बी 5, मैंगनीज, पोटैशियम और मैग्नीशियम शामिल हैं, जो शरीर के लिए काफी फायदेमंद और जरूरी होते हैं।

7. तनाव (Stress) मुक्ति के लिए

वर्क प्रेशर में अक्सर तनाव सा महसूस होता है। ऐसे में, एक कप ब्लैक कॉफी (Black coffee) आपकी बहुत मदद करती है। कॉफी आपके मूड को फ्रेश करती है, जिससे दिमाग थका हुआ नहीं महसूस करता और आप तनाव मुक्त रहते हैं।

8. कैंसर (Cancer) का खतरा कम करती है

कैंसर आज दुनिया की सबसे खतरनाक बीमार बन चुकी है। ऐसे में, ब्लैक कॉफी (Black coffee) कैंसर के खतरे को भी कम करती है। कॉफी से लिवर, ब्रेस्ट, कोलोन और रेक्टल कैंसर को रोकने में मदद मिलती है।

9. शारीरिक क्षमता को बढ़ाने में मदद

ब्लैक कॉफी में मौजूद कैफीन तंत्रिका प्रणाली को बॉडी फैट को नष्ट करने के लिए फैट सेल को संकेत भेजता है। जिसके साथ खून में एड्रेनालाईन के स्तर में भी बढ़ोतरी होती है। इससे आपका शरीर तीव्र शारीरिक गतिविधियों को करने के लिए तैयार हो पाता है।

ब्लैक कॉफी वसा को तोड़कर उसे फैटी एसिड में बदल देती है जिसे हमारा शरीर ऊर्जा की तरह इस्तेमाल करता है। शोध की मानें तो ब्लैक कॉफी शारीरिक क्षमताओं को 11 से 12 प्रतिशत तक बढ़ा देती है।

यही कारण है कि कई बॉडीबिल्डर और जिम जाने वाले लोग व्यायाम करने से आधा घंटा पहले ब्लैक कॉफी (Black coffee) का सेवन करना पसंद करते हैं।

और पढ़ें – हृदय रोग के लिए डाइट प्लान क्या है, जानें किन नियमों का करना चाहिए पालन?

10. अल्जाइमर डिजीज (Alzheimer’s disease) से बचाव

अल्जाइमर रोग तंत्रिका प्रणाली का सबसे सामान्य रोग माना जाता है। विश्व भर में डिमेंशिया का मुख्य कारण भी यही बीमारी होती है। यह रोग 65 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को प्रभावित करता और इसका कोई इलाज नहीं है।

हालांकि, आप इसे रोकने के लिए कई प्रकार के उपाय अपना सकते हैं। जैसे कि स्वस्थ जीवनशैली का पालन करना, व्यायाम और खासतौर से ब्लैक कॉफी (Black coffee) का सेवन। कई अध्ययनों में यह पाया गया है कि कॉफी पीने वाले लोगों में अल्जाइमर रोग होने की आशंका 65 प्रतिशत तक कम होती है।

और पढ़ें – अल्जाइमर की नई दवा विकसित, भूलने की समस्या में मिलेगी राहत

11. पार्किंसन रोग (Parkinson) से बचती है ब्लैक कॉफी

अल्जाइमर रोग के बाद तंत्रिका संबंधी विकार में पार्किंसन डिजीज दूसरी सबसे सामान्य बीमारी है। अल्जाइमर की ही तरह इस रोग का भी कोई इलाज उपबद्ध नहीं है। हालांकि, कुछ रोकथाम की मदद से इसके खतरे को कम किया जा सकता है। स्टडी के अनुसार कॉफी पीने वाले व्यक्तियों में पार्किंसन रोग होने की आशंका 30 से 60 प्रतिशत तक कम पाई जाती है। ऐसे में अगर आपको अल्जाइमर या पार्किंसन रोग का खतरा है तो आप ब्लैक कॉफी की मदद से उसे कम कर सकते हैं।

और पढ़ें – पार्किंसन रोग से लड़ने में मदद कर सकता है योग और एक्यूपंक्चर

12. अवसाद (Depression) में है मददगार

अवसाद एक गंभीर मस्तिष्क संबंधी विकार है जो जीवन के खुशहाल समय को धीरे-धीरे खराब कर सकता है। यह इतना आम है कि भारत के 15 प्रतिशत युवा अवसाद से ग्रसित हैं। 2011 में हार्वर्ड (Harvard) द्वारा की गई एक स्टडी के मुताबिक जो महिलाएं प्रतिदिन 4 कप कॉफी पीती हैं उनमें डिप्रेशन होने का जोखिम 20 प्रतिशत तक कम होता है। 2 लाख से भी अधिक लोगों पर की गई एक अन्य स्टडी में यह पाया गया कि जो लोग प्रतिदिन 4 या उससे अधिक कॉफी का सेवन करते हैं उनमें आत्महत्या के कारण मृत्यु होने की आशंका 53 फीसदी तक कम होती है।

13. हृदय (Heart) को स्वस्थ बनाती है ब्लैक कॉफी

कई बार इस बात की पुष्टि की जाती है कि कैफीन के सेवन से हमारा रक्त प्रवाह बढ़ सकता है। यह बात सच है लेकिन ऐसा केवल तभी होता है जब कोई व्यक्ति रोजाना कॉफी का सेवन करता है। साथ ही इसके प्रभाव उच्च रक्तचाप पर केवल 3 से 4 एमएम प्रति एचजी तक प्रभावित करते हैं जो कि बेहद कम माना जाता है। यानी कॉफी पीने से व्यक्ति के रक्तचाप को अधिक प्रभाव नहीं पड़ता है।

हालांकि, कुछ लोगों के लिए यह हानिकारक हो सकता है। इसलिए अपने ब्लड प्रेशर की सही जानकारी प्राप्त करने के बाद ही कॉफी को अपने लाइफस्टाइल में शामिल करें। कोई भी शोध इस बात का दावा नहीं करता है कि कॉफी हृदय रोग के जोखिमों को बढ़ाती है।

इसके विपरीत कुछ मामलों में ऐसा देखा गया है कि जो महिलाएं कॉफी का सेवन करती हैं उनमें हृदय रोग होने की आशंका कम होती है। इसके साथ ही कुछ स्टडी में यह भी पाया गया है कि कॉफी पीने से स्ट्रोक का खतरा 20 प्रतिशत तक कम हो जाता है।

इसलिए, अगर आप भी चाहते हैं ब्लैक कॉफी (Black coffee) के ये लाभ उठाना, तो सीमित मात्रा में इसका सेवन कर सकते हैं। अगर आपको इसकी मात्रा को लेकर जरा भी कंफ्यूजन है, तो अपने डॉक्टर से इस बारे में सलाह ले सकते हैं।

health-tool-icon

बीएमआर कैलक्युलेटर

अपनी ऊंचाई, वजन, आयु और गतिविधि स्तर के आधार पर अपनी दैनिक कैलोरी आवश्यकताओं को निर्धारित करने के लिए हमारे कैलोरी-सेवन कैलक्युलेटर का उपयोग करें।

पुरुष

महिला

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Coffee, cirrhosis, and transaminase enzymes/https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/16772246/Accessed on 22/07/2020

Coffee consumption and health: umbrella review of meta-analyses of multiple health outcomes/https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5696634/Accessed on 22/07/2020

The Impact of Caffeine and Coffee on Human Health/https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC6413001/Accessed on 22/07/2020

The Impact of Coffee on Health/https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/28675917/Accessed on 22/07/2020

9 Reasons Why (the Right Amount of) Coffee Is Good for You/https://www.hopkinsmedicine.org/health/wellness-and-prevention/9-reasons-why-the-right-amount-of-coffee-is-good-for-you/ Accessed on 24th September 2021

लेखक की तस्वीर badge
Priyanka Srivastava द्वारा लिखित आखिरी अपडेट कुछ हफ्ते पहले को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड