home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

जानिए विटामिन 'के' (Vitamin K) के स्रोत और फायदे

जानिए विटामिन 'के' (Vitamin K) के स्रोत और फायदे

हमारे शरीर में विटामिन ‘के’ (Vitamin K) की कमी कई शारीरिक समस्याओं का कारण बन सकती है। अच्छे स्वास्थ्य के लिए कई विटामिन, खनिज और प्रोटीन की जरुरत होती है। विटामिन में भी कई प्रकार हैं और इन्हीं विटामिनों में से एक बेहद महत्वपूर्ण है विटामिन ‘के’ (Vitamin K)। ये विटामिन फैट में आसानी से घुल जाने वाले विटामिनों में से एक है। ये खून में मिलकर कई तरह के कार्यों को अंजाम देता है। इसके अलावा यह हड्डियों को मजबूत बनता है और खून में कैल्शियम के स्तर को नियंत्रित रखने में मुख्य भूमिका निभाता है।

विटामिन ‘के’ (Vitamin K) के स्रोत क्या हैं?

विटामिन ‘के’ हमारे शरीर के बहुत जरुरी विटामिन में एक है, इसकी कमी को ​नीचे दिए गए अहारों से पूरा किया जा सकता है, जैसे कि—

विटामिन ‘के’ (Vitamin K) की कमी के लक्षण

जैसा के हमने जाना कि विटामिन k (Vitamin K) दिल, हड्डियों और दिमाग की सेहत लिए जरूरी स्रोतों में से एक है। इसकी कमी मुख्य तौर पर शारीरिक समस्याओं को पैदा कर सकती हैं, जैसे कि

और पढ़ें : Vitamin O: विटामिन-ओ क्या है?

विटामिन ‘के’ (Vitamin K) के फायदे

ये विटामिन शरीर के लिए फायदेमंद हैं। उनमें से कुछ मुख्य इस प्रकार हैं

हृदय के लिए लाभदायक है

विटामिन ‘के’ (Vitamin K) हृदय के लिए लाभदायक है, क्योंकि ये धमनियों में कैल्शियम को जमने से रोकता है, जिससे रक्त का संचार सही तरीके से शरीर और धमनियों में बना रहता है, इससे ब्लड प्रेशर को संतुलित करने में मदद मिलती है।

हड्डियों को ​मजबूत बनाता है

कुछ अध्ययनों में पाया गया है कि ऑस्टियोपोरोसिस और विटामिन ‘के’ (Vitamin K) के बीच एक है। ये विटामिन हड्डियों को मजबूत बनता है और बोन डेंसिटी में सुधार करता है जिससे हड्डी टूटने की संभावना कम हो जाती है।

और पढ़ें : Vitamin B12: विटामिन बी-12 क्या है?

याद्दाश्त को बेहतर बनाता है (Improves memory)

70 वर्ष से अधिक आयु वाले कुछ लोगों पर किए गए एक अध्ययन में ये पाया गया है कि जिनके रक्त में विटामिन K1 की मात्रा ज्यादा पाई गई थी, वे बेहतर तरीके चीज़ों को याद रखने में सक्षम थें। इसलिए ये कहा जा सकता है कि ये विटामिन कुछ हद तक याद्दाश्त को बेहतर बनाने में आपकी मदत कर सकते हैं।

कैंसर के खतरे को कम करता है (Reduces the risk of cancer)

एक अध्ययन से पता चला कि आहार में विटामिन ‘के’ (Vitamin K) का सेवन कैंसर के खतरे को काम कर सकता है।

ये विटामिन शरीर के फंक्शन में काम आने वाला एक मुख्य विटामिन है। इसकी कमी शरीर में कई तकलीफें पैदा कर सकती है साथ ही इसका ज्यादा इस्तेमाल भी कई स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं का कारण बन सकता है। इसलिए अपने आहार में किसी भी तरह का बदलाव करने से पहले अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

विटामिन ‘के’ (Vitamin K) की कमी होने पर कौन से फूड्स खाने चाहिए?

केल का करें सेवन

केल फूल गोभी के जैसी दिखने वाली एक पत्तीदार सब्जी है। 100 ग्राम केल में 681% डीवी होता है।

सरसों का साग खाएं (Eat mustard saag)

सरसों का साग, ये खाने में जितना स्वादिष्ट होता है इसके फायदे भी अनेक हैं। लगभग 100 ग्राम सरसों के साग में 494% डीवी होता है।

और पढ़ें : हड्डियों को मजबूत करने के साथ ही आंखों को हेल्दी रख सकती है पालक, जानें दूसरे फायदे

सूखा आलूबुखारा

यह एक मीठा और स्वादिष्ट फल है। 100 ग्राम सूखा आलूबुखारा में 50% डीवी होता है।

जापानी आहार नाटो लें

नाटो ये जापान के पसंदीदा आहारों में से एक है। ये सोयाबीन से बना होता है। 100 ग्राम नाटो में लगभग इसका 92% डीवी होता है।

पालक का हरापन कमी को करेगा दूर

पालक आयरन के साथ-साथ इसका भी एक मुख्य स्रोत है। 100 ग्राम पालक में 402% डीवी विटामिन ‘के’ (Vitamin K) होता है।

और पढ़ें : जानिए क्या है हड्डियों और जोड़ों की टीबी (Musculoskeletal TB)?

चिकन में मिलेगी भरपूर प्रोटीन

चिकन को प्रोटीन का एक मुख्य स्रोत माना जाता है। चिकन में प्रोटीन के अलावा इसकी’ भी अच्छी मात्रा मिलेगी। 100 ग्राम चिकन में लगभग 50% डीवी विटामिन k (Vitamin K) होता है। फैटी मीट और लिवर विटामिन K2 की भरपूर मात्रा पाई जाती है। अगर आप मीट खाते हैं, तो ये विटामिन K2 के लिए अच्छा सोर्स माना जाता है। चिकन में 43% डीवी पर सर्विंग विटामिन के होता है। वहीं पॉर्क चॉप्स में 49% DV डीवी पर सर्विंग विटामिन के पाया जाता है।

चिकन से भी बेहतर है पनीर खाना

पनीर में चिकन से ज्यादा इसकी मात्रा होती है। 100 ग्राम पनीर में लगभग 72% डीवी विटामिन ‘के’ (Vitamin K) होता है।

बींस और नट्स में विटामिन ‘के’

आधे कप पके हुए ग्रीन बींस में 30 एमसीजी विटामिन के, आधी कप मटर में 21 एमसीजी विटामिन के पाया जाता है। एक आउंस काजू में 9.7 एमसीजी विटामिन के होता है। रेड किडनी बींस में भी विटामिन के की अच्छी मात्रा पाई जाती है। आपको जो भी पसंद हो, उसे अपने आहार में शामिल कर सकते हैं।

शरीर के लिए रोजाना कितना विटामिन ‘के’ (Vitamin K) जरूरी है?

महिलाओं को रोजाना कम से कम 90 माइक्रोग्राम (एमसीजी) और पुरुषों को 120 माइक्रोग्राम प्रति दिन विटामिन के का सेवन करना चाहिए। ऊपर दिए गए खाद्य पदार्थों का सेवन से आप रोजाना विटामिन k (Vitamin K) की जरूरत को पूरा कर सकते हैं। जिससे न तो उसकी कमी होगी और न ही उससे संबंधित समस्याएं। आप डॉक्टर से भी विटामिन के से भरपूर फूड्स के बारे में जानकारी ले सकते हैं।

विटामिन ‘के’ को अपनी डायट में कैसे करें शामिल?

विटामिन k (Vitamin K) का सेवन करते समय लोग विटामिन K-1 और K-2 के बीच अंतर नहीं करते हैं। लेकिन दोनों विटामिन ‘के’ (Vitamin K) को लेना शरीर के लिए बहुत अच्छा हो सकता है। फल और सब्जियों से भरपूर संतुलित आहार लेने वाले ज्यादातर लोगों को अपने डायट में पर्याप्त मात्रा में विटामिन K-1 मिलता है। विटामिन K-1 के लिए आपको पालक और हरी पत्तेदार सब्जियां खाने की जरूरत हैं।

विटामिन K-2 को एक हेल्दी डायट में शामिल करना एक चुनौती भरा काम है। क्योंकि, विटामिन K-2 मांस और एनिमल प्रोडक्ट्स में सबसे ज्यादा पाया जाता है। आंत में पाए जाने वाले बैक्टीरिया भी विटामिन K-2 का उत्पादन करते हैं। लेकिन फिर भी वह शरीर के लिए पर्याप्त नहीं पड़ पाता है। इसलिए अगर आप मांसाहारी हैं तो अपने डायट में मांस, लिवर और कुछ डेयरी प्रोडक्ट्स को शामिल कर सकते हैं। अगर आप शाकाहारी हैं तो सोयाबीन जैसा जापानी फूड नाटो खा सकते हैं।

हम उम्मीद करते हैं कि आपको इस आर्टिक के माध्यम से विटामिन k बारे में जरूरी जानकारी मिल गई है। शरीर में किसी भी समय विटामिन की कमी हो सकती है और इसके लक्षण भी जिख सकते हैं। अगर आपके शरीर में विटामिन के की कमी हो गई है, तो डॉक्टर से जानकारी लेने के बाद अपनी डायट तय करें। इस आर्टिकल में हमने आपको विटामिन k से संबंधित जरूरी बातों को बताने की कोशिश की है। उम्मीद है आपको हैलो स्वास्थ्य की दी हुई जानकारियां पसंद आई होंगी। अगर आपको इस बीमारी से जुड़े किसी अन्य सवाल का जवाब जानना है, तो हमसे जरूर पूछें। हम आपके सवालों के जवाब मेडिकल एक्सर्ट्स द्वारा दिलाने की कोशिश करेंगे।

health-tool-icon

बीएमआर कैलक्युलेटर

अपनी ऊंचाई, वजन, आयु और गतिविधि स्तर के आधार पर अपनी दैनिक कैलोरी आवश्यकताओं को निर्धारित करने के लिए हमारे कैलोरी-सेवन कैलक्युलेटर का उपयोग करें।

पुरुष

महिला

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र
लेखक की तस्वीर
Aamir Khan द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 18/05/2021 को
Dr Sharayu Maknikar के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड
x