मिल्क के नॉन डेयरी सब्सिट्यूट में शामिल हैं ये 6 नॉन डेयरी मिल्क

    मिल्क के नॉन डेयरी सब्सिट्यूट में शामिल हैं ये 6 नॉन डेयरी मिल्क

    हर व्यक्ति की अपनी अलग शारीरिक संरचना होती है और इसी वजह से दुनिया में कई लोग ऐसे हैं, जो डेयरी प्रॉडक्ट का सेवन नहीं कर सकते हैं। अगर आपको भी लैक्टोज इनटॉलरेंस (Lactose intolerance) की समस्या है और आप दूध से बने खाद्य पदार्थ या पेय पदार्थों का सेवन नहीं कर पाते हैं, तबभी आप चाहें, तो दूध का सेवन कर सकते हैं। अगर आपभी सोच रहें हैं, कैसे? तो चलिए इस आर्टिकल में मिल्क के नॉन डेयरी सब्सिट्यूट (Non Dairy Substitutes for Milk) के विकल्पों के बारे में आपसे महत्वपूर्ण जानकारी शेयर करने जा रहें हैं।

    और पढ़ें : क्या आप जानते हैं दूध से एलर्जी (Milk Intolerance) का कारण सिर्फ लैक्टोज नहीं है?

    मिल्क के नॉन डेयरी सब्सिट्यूट में कौन-कौन से मिल्क हैं शामिल? (Non Dairy Substitutes for Milk)

    मिल्क के नॉन डेयरी सब्सिट्यूट (Non Dairy Substitutes for Milk)

    भारत में मिल्क के नॉन डेयरी सब्सिट्यूट (Non Dairy Substitutes for Milk) में शामिल एक नहीं, बल्कि कई ऑप्शन हैं, जो इस प्रकार हैं-

    1. सोया दूध (Soya Milk)

    मिल्क के नॉन डेयरी सब्सिट्यूट में सबसे पहले रैंकिंग पर है सोया मिल्क। सोया मिल्क सोयाबीन से बनाया जाता है। दरअसल सोया मिल्क बनाने के दौरान इससे प्रोटीन को अलग किया जाता है। दूध ना होते हुए भी इसका स्वाद क्रीमी होता है। सो गुड प्लांट बेस्ड सोया बेवरेज ड्रिंक (So Good Plant Based Soy Beverage Drink) का सेवन किया जा सकता है। हालांकि मिल्क के नॉन डेयरी सब्सिट्यूट में शामिल सोया मिल्क (Soya Milk) के कई अलग-अलग ब्रांड मौजूद हैं और उनके स्वाद में बदलाव भी महसूस किया जा सकता है।

    हार्वर्ड यूनिवर्सिटी में पब्लिश्ड एक रिसर्च रिपोर्ट की मानें, तो सोया मिल्क ब्रेस्ट कैंसर (Breast Cancer) के खतरे को कम करने में सहायक हो सकता है। हालांकि FODMAP (Fermentable oligo-, di-, mono-saccharides and polyols) इंटॉलरेंस वाले लोगों को सोया मिल्क का सवन नहीं करना चाहिए।

    और पढ़ें : एंटी एक्ने डायट में केले और खीरे के अलावा और भी हैं 11 खाने-पीने की चीजे शामिल

    2. चावल का दूध (Rice Milk)

    अगर आप किसी भी कारण से दूध खासकर डेयरी मिल्क का सेवन नहीं कर पा रहें हैं, तो आप मिल्क के नॉन डेयरी सब्सिट्यूट (Non Dairy Substitutes for Milk) में राइस मिल्क (Rice Milk) का सेवन कर सकते हैं। इसलिए बाजार में मिलने वाले बोर्गेस नैचुरा हेजलनट और राइस ड्रिंक (Borges Natura Hazelnut & Rice Drink) का सेवन किया जा सकता है। चावल का दूध इसलिए हेल्दी माना जाता है, क्योंकि इसमें प्रोटीन (Protein) और फैट (Fat) की मात्रा कम होती है। वहीं अगर आप राइस मिल्क में मौजूद कैलोरीज की बात करें, तो यह काव मिल्क के बराबर ही है।

    वहीं यूएस फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (FDA) में पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार चावल के दूध का अत्यधिक सेवन करना गर्भवती महिलाओं और बच्चों के लिए नुकसानदायक भी हो सकता है। इसलिए बोर्गेस नैचुरा हेजलनट और राइस ड्रिंक (Borges Natura Hazelnut & Rice Drink) या ऐसे किसी और मिल्क का सेवन कम से कम करें।

    3. बादाम का दूध (Almond Milk)

    बादाम का दूध मिल्क के नॉन डेयरी सब्सिट्यूट में बेस्ट माना जाता है। नैशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इंफॉर्मेशन (NCBI) में पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार जिन लोगों को लैक्टोज इंटॉलरेंस की समस्या होती है, उनके लिए बादाम का दूध (Almond milk) पौष्टिक होता है। बादाम का दूध बच्चों और बड़ों दोनों के लिए ही लाभकारी माना जाता है। बादाम का दूध उन लोगों के लिए भी हेल्दी है, जिन्हें कोलेस्ट्रॉल (Cholesterol) की समस्या है। इसलिए रॉ प्रेसरी आलमंड मिल्क प्लेन (Raw Pressery Almond milk Plain) का सेवन किया जा सकता है।

    और पढ़ें : बदाम और दूध सोने से पहले खाना है फायदेमंद, आएगी अच्छी नींद!

    4. नारियल का दूध (Coconut Milk)

    नारियल पानी और नारियल के फायदे से तो आप परिचित होंगे, लेकिन इसमें अब नारियल के दूध को भी शामिल करना ना भूलें। मिल्क के नॉन डेयरी सब्सिट्यूट में आपको एक और ऑप्शन मिल जाता है और वो है कोकोनट मिल्क। नारियल का दूध (Coconut Milk) प्रोटीन रिच माना जाता है। यही नहीं नारियल के दूध में मौजूद मीडियम चेन ट्रायग्लिसराइड्स (Medium chain triglycerides) कोलेस्ट्रॉल लेवल (Cholesterol level) को बैलेंस बनाये रखने में आपके लिए मददगार है। इस मिल्क के सेवन से बार-बार भूख भी नहीं लगती है। बाजार में मौजूद अर्बन प्लैटर अनस्वीटेंड कोकोनट मिल्क (Urban Platter Unsweetened Coconut Milk) या फिर ऐसी किसी अन्य कोकोनट मिल्क का सेवन किया जा सकता है।

    5. काजू का दूध (Cashew Milk)

    अगर आप डेयरी मिल्क का सेवन नहीं करना चाहते हैं, तो आप काजू के दूध (Cashew Milk) का सेवन कर सकते हैं। इस दूध में मौजूद पोटैशियम और मैग्नीशियम सेहत के लिए लाभकारी मानी जाती है। बाजार में मौजूद गुड मिल्क- वीगन मिल्क (Good Mylk – Vegan Mylk) का सेवन कर सकते हैं। गुड मिल्क- वीगन मिल्क (Good Mylk – Vegan Mylk) में ओट्स (Oats) का भी कॉम्बिनेशन आपको मिल सकता है। हालांकि अगर आप प्रोटीन रिच मिल्क का सेवन करना चाहते हैं, तो काजू के दूध में प्रोटीन की मात्रा कम होती है।

    और पढ़ें : अगर आपका पहला प्यार है फिटनेस, तो आपको भारत के टॉप 10 BCAA और एमिनो एसिड सप्लिमेंट्स के बारे में जरूर जानना चाहिए

    6. क्विनोआ का दूध (Quinoa Milk)

    मिल्क के नॉन डेयरी सब्सिट्यूट (Non Dairy Substitutes for Milk) में शामिल है क्विनोआ (Quinoa) और इसमें मौजूद पौष्टिक गुणों के कारण ही इसे सुपरफुड का दर्जा भी मिला हुआ है। अगर आप दूध का सेवन करना चाहते हैं और वेट लॉस (Weight loss) भी करना चाहते हैं, तो क्विनोआ से बने मिल्क (Quinoa Milk) का सेवन किया जा सकता है। इसलिए आप डॉ. शेफ क्विनोआ मिल्क जैगरी (Dr Chef Quinoa Milk Jaggery) का सेवन कर सकते हैं। आप चाहें, तो किसी अन्य क्विनोआ मिल्क (Quinoa Milk) प्रॉडक्ट को भी अपने डायट में शामिल कर सकते हैं।

    नोट : मिल्क के नॉन डेयरी सब्सिट्यूट में शामिल ये 6 प्रॉडट्स आपको भारतीय बाजारों में आसानी से मिल जायेंगे, लेकिन इन डिब्बाबंद उत्पादों के सेवन से पहले प्रॉडक्ट पर दी गई जानकारियों को पढ़ना बिल्कुल भी ना भूलें, क्योंकि हो सकता है कि इसमें मौजूद कोई विशेष खाद्य पदार्थ आपकी सेहत को नुकसान ना पहुंचा दे। वहीं अगर आप मिल्क के नॉन डेयरी सब्सिट्यूट का सेवन करना चाहते हैं और प्रोटीन की मात्रा भी कम रखना चाहते हैं, तो प्रॉडक्ट पर दी गई डिटेल्स को पढ़ लें।

    और पढ़ें : पोषण का अर्थ सिर्फ ठोस आहार नहीं, दैनिक पोषण में पेय पदार्थों की भी है अहम् भूमिका

    दूध शरीर में पानी की मात्रा को नियंत्रत करता है। कई ऐसे ही दूध से जुड़े सवालों का जवाब छिपा है नीचे दिए इस क्विज में। क्लिक करें और दूध से जुड़े हेल्दी सीक्रेट्स के बारे में जानें यहां।

    और पढ़ें : दूध या अन्य डेयरी प्रोडक्ट डायजेस्ट न होने के ये कारण भी हो सकते हैं

    मिल्क के नॉन डेयरी सब्सिट्यूट (Non diary substitute) का सेवन किन लोगों को करना चाहिए?

    मिल्क के नॉन डेयरी सब्सिट्यूट (Non Dairy Substitutes for Milk)

    निम्नलिखित शारीरिक परेशानियों में डेयरी प्रॉडक्ट का सेवन ना करें और मिल्क के नॉन डेयरी सब्सिट्यूट का ऑप्शन तलाशें। जैसे:

    • जिन लोगों को लैक्टोज की समस्या होती है।
    • अगर डेयरी मिल्क के सेवन से पेट फूलने की समस्या हो।
    • लूज मोशन या डायरिया होना।

    हालांकि इन ऊपर बताई गई स्थितियों में मिल्क के नॉन डेयरी सब्सिट्यूट का सेवन डॉक्टर से या मेडिकल एक्सपर्ट से लेने के बाद ही करें।

    अगर आप मिल्क के नॉन डेयरी सब्सिट्यूट (Non Dairy Substitutes for Milk) से जुड़े किसी तरह के कोई सवाल का जवाब जानना चाहते हैं, तो आप हमें कमेंट बॉक्स में लिखकर पूछ सकते हैं। हमारे हेल्थ एक्सपर्ट आपके सवालों के जवाब देने की कोशिश करेंगे। हालांकि अगर आप लैक्टोज इन्टॉलरेंस की समस्या से पीड़ित हैं, तो डॉक्टर से कंसल्टेशन करें, क्योंकि ऐसी स्थिति में डॉक्टर आपके हेल्थ कंडिशन को ध्यान में रखकर आपको मिल्क के नॉन डेयरी सब्सिट्यूट की सलाह दे सकते हैं।

    हेल्दी रहने के लिए समय पर खाने के साथ-साथ समय पर क्या खाना चाहिए? जानिए नीचे दिए इस वीडियो लिंक पर क्लिक कर।

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    के द्वारा मेडिकली रिव्यूड

    डॉ. प्रणाली पाटील

    फार्मेसी · Hello Swasthya


    Nidhi Sinha द्वारा लिखित · अपडेटेड 31/08/2021

    advertisement
    advertisement
    advertisement
    advertisement