आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

कैंसर के लिए स्टीरियोटैक्टिक बॉडी रेडियोथेरिपी (Stereotactic body radiotherapy) क्यों दी जाती है?

    कैंसर के लिए स्टीरियोटैक्टिक बॉडी रेडियोथेरिपी (Stereotactic body radiotherapy) क्यों दी जाती है?

    स्टीरियोटैक्टिक रेडियोसर्जरी रेडियोथेरिपी का एक प्रकार है। जब इसे मस्तिष्क के बजाय शरीर पर दिया जाता है, तो इस प्रक्रिया को कभी-कभी स्टीरियोटैक्टिक बॉडी रेडियोथेरेपी (एसबीआरटी) या स्टीरियोटैक्टिक एब्लेटिव रेडियोथेरेपी कहा जाता है। लंग कैंसर के लिए स्टीरियोटैक्टिक बॉडी रेडियोथेरिपी (Stereotactic body radiotherapy for lung cancer) दी जाती है। यह एक बहुत ही सही तरीका है जो डॉक्टर को ट्यूमर को सटीक रूप से टार्गेट करने देता है। इसका थेरिपी का उपयोग लंग्स, स्पाइन, लिवर, नेक, लिम्फ नोड या दूसरे सॉफ्ट टिशूज में होने वाले ट्यूमर के इलाज के लिए किया जाता है।

    इस लेख में लंग कैंसर के लिए स्टीरियोटैक्टिक बॉडी रेडियोथेरिपी के बारे में विस्तार से जानकारी दी जा रही है।

    लंग कैंसर के लिए स्टीरियोटैक्टिक बॉडी रेडियोथेरिपी (Stereotactic body radiotherapy for lung cancer)

    लंग कैंसर के लिए दी जाने वाली स्टीरियोटैक्टिक बॉडी रेडियोथेरिपी में किसी प्रकार का कोई चीरा नहीं लगाया जाता है। इसलिए यह ट्रेडिशनल प्रकार की सर्जरी नहीं है। इसके बजाय एसबीआरटी में प्रभावित एरिया में रेडिएशन डोज देने के लिए 3डी इमेजिंग का उपयोग किया जाता है। जिसकी वजह से हेल्दी टिशूज के डैमेज होने की संभावना काफी कम रहती है।

    रेडिएशन के दूसरे फॉर्म के ही अनुसार लंग कैंसर के लिए स्टीरियोटैक्टिक बॉडी रेडियोथेरिपी (Stereotactic body radiotherapy for lung cancer) में टार्गेटेड सेल्स के डीएनए को नष्ट करने का काम किया जाता है। जिससे प्रभावित कोशिकाएं रिप्रोडक्शन नहीं कर पाती, जिससे ट्यूमर सिकुड़ जाता है। यह थेरिपी दो प्रकार से दी जाती है।

    स्टीरियोटैक्टिक बॉडी रेडियोथेरिपी के प्रकार (Types of stereotactic body radiotherapy)

    डॉक्टर स्टीरियोटैक्टिक बॉडी रेडियोथेरिपी के दौरान रेडिएशन देने के लिए दो प्रकार की टेक्नोलॉजी का उपयोग करते हैं। जिसके आधार पर इसके दो प्रकार हैं।

    और पढ़ें: इजीएफआर टार्गेटेड थेरिपी : नॉन-स्मॉल सेल लंग कैंसर में दी जा सकती है यह ड्रग थेरिपी!

    लिनियर एक्सक्लेरेटर (Linear accelerator)

    (LINAC) मशीनें मस्तिष्क और शरीर के अन्य हिस्सों में कैंसर और गैर-कैंसर संबंधी असामान्यताओं के इलाज के लिए एक्स-रे (फोटॉन) का उपयोग करती हैं। ये मशीनें सिंगल सेशन में एसआरएस (SRS) परफॉर्म कर सकती हैं। वहीं बड़े ट्यूमर्स के लिए दो से पांच एसआरएस कर सकती हैं।

    प्रोटोन बीम (Proton beam)

    इसमें कई सत्रों में शरीर के ट्यूमर के इलाज के लिए फ्रेक्शनेटेड स्टीरियोटैक्टिक रेडियोथेरेपी (Fractionated stereotactic radiotherapy) का उपयोग किया जा सकता है। प्रोटॉन बीम एसबीआरटी का उपयोग शरीर के उन हिस्सों में ट्यूमर के इलाज के लिए किया जा सकता है जो पहले रेडिएशन थेरिपी प्राप्त कर चुके हैं, या जो महत्वपूर्ण अंगों के पास हैं।

    लंग कैंसर के लिए स्टीरियोटैक्टिक बॉडी रेडियोथेरिपी कैसे काम करती है? (How stereotactic body radiotherapy works?)

    सभी प्रकार की स्टीरियोटैक्टिक बॉडी रेडियोथेरिपी और रेडियोथेरिपी एक समान काम करती है। स्पेशलाइज्ड इक्विकमेंट ट्यूमर या दूसरे टार्गेट पर रेडिएशन बीम को टार्गेट करते हैं। प्रत्येक बीम का उस टिशू पर बहुत कम प्रभाव पड़ता है जिससे वह गुजरती है, लेकिन रेडिएशन का एक टार्गेटेड डोज उस साइट पर पहुंचाई जाती है जहां सभी बीम एक साथ मिल रही हैं।

    प्रभावित क्षेत्र में पहुंचाई जाने वाला रेडिएशन का हाय डोज के कारण ट्यूमर सिकुड़ जाता है और उपचार के बाद रक्त वाहिकाएं समय के साथ बंद हो जाती हैं, जिससे ट्यूमर की रक्त आपूर्ति समाप्त हो जाती है। स्टीरियोटैक्टिक रेडियोसर्जरी से आसपास के हेल्दी टिशूज को कम से कम नुकसान होता है। ज्यादातर मामलों में, रेडियोथेरेपी में अन्य प्रकार की पारंपरिक सर्जरी या रेडिएशन थेरिपी की तुलना में दुष्प्रभावों का जोखिम कम होता है।

    लंग कैंसर के लिए स्टीरियोटैक्टिक बॉडी रेडियोथेरिपी का ट्रीटमेंट प्लान कैसे तैयार किया जाता है?

    डॉक्टर यह तय करने के लिए आपके मेडिकल रिकॉर्ड और स्कैन को देखेगा कि क्या एसबीआरटी मरीज के लिए एक अच्छा विकल्प है और उसे कितने ट्रीटमेंट्स की आवश्यकता होगी। कुछ लोगों का एक ही सेशन होता है तो दूसरों को पांच तक दिए जा सकते हैं। SBRT शुरू करने से एक सप्ताह पहले मरीज को रेडिएशन ऑन्कोलॉजी टीम के साथ अपॉइंटमेंट लेना पड़ सकता है। इस मुलाकात में, डॉक्टर बताते हैं कि इलाज कैसे होगा। इसे स्टिमुलेशन अपॉइंटमेंट कहा जाता है।

    डॉक्टर इमेजिंग स्कैन का उपयोग करेंगे, जैसे कि सीटी स्कैन, एमआरआई और एक्स-रे, यह देखने के लिए कि ट्यूमर कहां है। यह उन्हें आपके कैंसर को लक्षित करने के लिए बीम का उपयोग करने का सबसे अच्छा तरीका जानने में मदद करेगा और रेडिएशन को आस-पास के ऊतकों और अंगों से दूर रखेगा। मरीज को एक विशेष बिस्तर लेटाया जा सकता है जो उसे एसबीआरटी प्राप्त करने के दौरान हिलने-डुलने से रोकेगा।

    और पढ़ें: लंग कैंसर वैक्सीन : क्या कैंसर को मात देने में सक्षम है?

    लंग कैंसर के लिए स्टीरियोटैक्टिक बॉडी रेडियोथेरिपी

    लंग कैंसर के लिए स्टीरियोटैक्टिक बॉडी रेडियोथेरिपी ट्रीटमेंट के दौरान क्या होता है?

    प्रक्रिया शुरू होने से पहले, यदि मरीज को इसकी आवश्यकता हो, तो डॉक्टर चिंता को कम करने के लिए दवा देगा। जब मरीज अपना SBRT प्राप्त करते हैं, तो वे उसी पॉजिशन में रहते हैं जैसे वे सिमुलेशन के दौरान थे। यदि चिकित्सा टीम ने मरीज के लिए एक विशेष बिस्तर बनाया है, तो वे उस पर लेटेंगे। चेहरे पर एक विशेष मास्क का भी उपयोग भी किया जा सकता है। एक रेडियोलॉजिस्ट सीटी स्कैनर का उपयोग करेगा जो ट्यूमर को देखने के लिए रेडिएशन मशीन का हिस्सा है। इसके बाद टीम रेडिएशन बीम्स को पहुंचाने के लिए मशीन का उपयोग करेगी, जिसमें कुछ ही मिनट लगेंगे। इसमें कोई दर्द महसूस नहीं होगा।

    लंग कैंसर के लिए स्टीरियोटैक्टिक बॉडी रेडियोथेरिपी प्रक्रिया के बाद क्या होता है?

    प्रक्रिया के बाद, आप निम्नलिखित की अपेक्षा कर सकते हैं:

    रिजल्ट

    स्टीरियोटैक्टिक रेडियोसर्जरी का उपचार प्रभाव धीरे-धीरे होता है, जो इलाज की स्थिति पर निर्भर करता है:

    सौम्य ट्यूमर (Benign tumors)

    स्टीरियोटैक्टिक रेडियोसर्जरी के बाद, ट्यूमर 18 महीने से दो साल की अवधि में सिकुड़ सकता है, लेकिन सौम्य ट्यूमर के लिए उपचार का मुख्य लक्ष्य भविष्य में किसी भी ट्यूमर के विकास को रोकना है।

    और पढ़ें: ALK positive lung cancer: एएलके पॉसिटिव लंग कैंसर क्या है? जानिए इसके लक्षण और इलाज!

    घातक ट्यूमर (Malignant tumors)

    कैंसर (घातक) ट्यूमर अधिक तेजी से सिकुड़ सकते हैं, अक्सर कुछ महीनों के भीतर।

    लंग कैंसर के लिए स्टीरियोटैक्टिक बॉडी रेडियोथेरिपी के रिस्क क्या हो सकते हैं? ( Side effect of Stereotactic body radiotherapy)

    लंग कैंसर के लिए स्टीरियोटैक्टिक बॉडी रेडियोथेरिपी (Stereotactic body radiotherapy for lung cancer) में किसी प्रकार का कोई सर्जिकल इनसेशन (Surgical incisions) नहीं होता है। इसलिए यह ट्रेडिशनल सर्जरी की तुलना में कम रिस्की होता है। ट्रेडिशनल सर्जरी में मरीज को एनेस्थिसिया, ब्लीडिंग और इंफेक्शन का रिस्क रहता है। शुरुआती जटिलताएं अस्थाई होती हैं। जिसमें निम्न शामिल हैं।

    • एसबीआरटी के बाद पहले कुछ दिनों तक थकान और कमजोरी लग सकती है।
    • ट्रीटमेंट की जगह पर या उसके आस-पास सूजन दर्द में वृद्धि जैसे अस्थाई लक्षण पैदा कर सकती है। ऐसी समस्याओं को रोकने या लक्षणों के प्रकट होने पर उनका इलाज करने के लिए डॉक्टर एंटी इंफ्लामेटरी दवाएं (कॉर्टिकोस्टेरॉइड दवाएं) लिख सकता है।
    • उल्टी अथवा मितली। कुछ रोगियों को अस्थायी मतली या उल्टी का अनुभव हो सकता है यदि रेडिएटेड ट्यूमर बॉवेल या लिवर के पास हो।

    शायद ही कभी, उपचार के महीनों बाद, लोगों को देर से साइड इफेक्ट का अनुभव हो सकता है, हालांकि यह प्रत्येक बॉडी साइट के लिए भिन्न होता है। डॉक्टर मरीज और मरीज की फैमिली के साथ संभावित जोखिमों पर अधिक अच्छी तरह से चर्चा करेगा। इनमें शामिल हो सकते हैं।

    लंग कैंसर के लिए स्टीरियोटैक्टिक बॉडी रेडियोथेरिपी के दौरान अपना ख्याल कैसे रखें?

    अपने इलाज को आसान बनाने में मदद करने के लिए, निम्न टिप्स आजमाएं।

    • जितना हो सके आराम करें
    • स्वास्थ्यवर्धक आहार लें
    • अन्य लोगों से बात करें जिन्होंने पहले एसबीआरटी लिया हो
    • डॉक्टर से स्किन लोशन के बारे में पूछें जो रेडिएशन होने वाले दर्द या खुजली में मदद कर सकते हैं
    • जितना हो सके सूरज की किरणों से बचें

    और पढ़ें: स्मॉल सेल लंग कैंसर क्या है? क्या हैं इसके कारण, लक्षण और उपचार?

    उम्मीद करते हैं कि आपको लंग कैंसर के लिए स्टीरियोटैक्टिक बॉडी रेडियोथेरिपी (Stereotactic body radiotherapy for lung cancer) से संबंधित जरूरी जानकारियां मिल गई होंगी। अधिक जानकारी के लिए एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें। अगर आपके मन में अन्य कोई सवाल हैं तो आप हमारे फेसबुक पेज पर पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    सूत्र

    Lung cancer treatment https://www.cdc.gov/cancer/lung/basic_info/diagnosis_treatment.htm Accessed on 15/06/ 2022

    Lung cancer treatment https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4663145  Accessed on 15/06/ 2022

    Lung cancer treatment /https://medlineplus.gov/lungcancer.html/ Accessed on 15/06/ 2022

    Stereotactic body radiotherapy/https://www.mayoclinic.org/tests-procedures/sbrt/pyc-20446794/15/06/ 2022

    What Is Stereotactic Body Radiotherapy (SBRT)?/
    https://www.webmd.com/lung-cancer/guide/stereotactic-body-radiotherapy-sbrt-overview/15/06/ 2022

    लेखक की तस्वीर badge
    Manjari Khare द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 16/06/2022 को
    डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
    Next article: