कोरोना वायरस का संक्रमण अस्त व्यस्त कर चुका है आम जीवन, जानें इसके संक्रमण से बचने के तरीके

Medically reviewed by | By

Update Date जून 11, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
Share now

अगर आपको लगता है कि कोरोना वायरस का संक्रमण आपको किसी भी तरह से परेशान नहीं कर सकता है, तो ये आपकी भूल है। यकीन मानिए, पूरी दुनिया में फैला कोरोना वायरस का संक्रमण अचानक से किसी भी इंसान के जीवन में परिवर्तन कर सकता है। नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ एलर्जी एंड इंफेक्शियस डिजीज के निदेशक डॉ. एंथनी फौसी ने मंगलवार को वाइट हाउस में ब्रीफिंग के दौरान ऐसी बात कहीं, जिसे सुनकर परेशान होना जायज है। एंथनी फौसी ने ब्रीफिंग के दौरान कहा कि भले ही आप ऐसे देश में रह रहे हों जहां अभी तक कोरोना वायरस का संक्रमण अभी तक न फैला हो, लेकिन ये चिंता का विषय है।

कोरोना वायरस का संक्रमण हर तरह से खतरनाक

डॉ. एंथनी फौसी ने आगे बताया कि किस तरह 1918 में स्पेनिश फ्लू के कारण करीब 10 करोड़ लोगों की मौत हो गई थी। संक्रमण अचानक से फैल जाता है। ये कहना गलत नहीं होगा कि एक सप्ताह की देरी होने पर सफलता और हार के मायने बदल सकते हैं। अगर फ्लू के लक्षणों को पहचानकर जल्द इलाज न किया गया तो बड़ी संख्या में ये लोगों को बीमार कर सकता है। उन्होंने इटली में तेजी से फैल रहे कोरोना वायरस के बारे में भी जानकारी दी। आपको बताते चले कि इटली में चीन से भी ज्यादा तेजी से कोरोना वायरस फैल रहा है

कोरोना वायरस का संक्रमण इटली में मचा रहा दोगुनी तबाही

इस वक्त दुनिया में कोरोना वायरस तेजी से फैल रहा है। चीन के बाद इटली शहर ऐसा है, जहां सबसे ज्यादा लोग वायरस से संक्रमित हो चुके हैं। इटली में अब तक 10,149 लोग वायरस से संक्रमित हो चुके हैं। साथ ही अब तक इटली में कोरोना वायरस का संक्रमण 631 लोगों की जान ले चुका है। इटली में सड़कें, मॉल और अधिकतर पब्लिक प्लेस खाली हैं। इंसानों के दिखने के बजाय अब जानवर इटली की सड़कों पर अधिक दिख रहे हैं। भारत में चीन के बाद इटली से ही कोरोना वायरस का संक्रमण फैला था।

और पढ़ें- कोरोना वायरस अपडेट : चीन ने वायरस से निपटने के लिए लोगों से मांगी ये चीज

कोरोना वायरस का संक्रमण बना स्टेट ऑफ इमरजेंसी का कारण

किसी प्रकार की प्राकृतिक आपदा आने पर स्टेट ऑफ इमरजेंसी लगाई जाती है। लेकिन कोरोना वायरस का संक्रमण अब स्टेट ऑफ इमरजेंसी का कारण बन रहा है। भले ही सुनने में अजीब लग रहा हो, लेकिन कुछ देशों में संक्रमण के कारण स्थितियां बहुत खराब हो रही हैं। स्टेट ऑफ इमरजेंसी लोगों को अधिक सतर्क करने, सीरियस सिचुएशन से निपटने और परिस्थितियों को काबू करने के लिए लगाई जाती है।

और पढ़ें- सबसे खतरनाक वायरस ने ली थी 5 करोड़ लोगों की जान, जानें 21वीं सदी के 5 जानलेवा वायरस

स्कूल बंद, मॉल, जिम सब बंद

वाइट हाउस ब्रीफिंग के दौरान फौसी ने कहा कि कोरोना वायरस का संक्रमण स्कूल बंद होने का कारण भी बन रहा है। बच्चों की पढ़ाई भी प्रभावित हो रही है। हमे ये देखने की जरूरत है कि वायरस का इंफेक्शन कहां फैल रहा है, और किन लोगों को प्रभावित कर रहा है। एडमिनिस्ट्रेशन ऑफिसियल्स में भी पेरोल टेक्स हॉलीडे का चलन बढ़ रहा है। आपको बताते चलें कि चीन में एक व्यक्ति ने कोरोना वायरस से पीड़ित होने की झूठी खबर फैला दी थी। इस कारण से ऑफिस को तीन दिन तक बंद रखना पड़ा था। जब सच्चाई का पता चला तो व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया गया। उसने झूठ बोलने का अपना जुर्म भी कबूल कर लिया। इसके अलावा कोरोना वायरस से बचाव के लिए दुनिया के सभी देशों और राज्यों में स्कूल, मॉल, जिम और भीड़ एकत्रित होने वाले स्थानों को बंद करने के आदेश दिए गए हैं।

और पढ़ें- कोरोना वायरस के बाद अब देश में स्वाइन फ्लू की दस्तक, जानें क्या हैं H1N1 वायरस के लक्षण

अमेरिका में 500 से ज्यादा लोग कोविड-19 से संक्रमित

अमेरिका में कोरोना से संक्रमित लोगों की संख्या 500 से अधिक हो चुकी है। अमेरिका के करीब 30 प्रांत में कोरोना का इंफेक्शन पहुंच चुका है। अमेरिका में कोरोना वायरस के कारण अब तक 21 लोगों की मौत हो चुकी है। अमेरिकी संसद के निचले सदन ‘हाउस ऑफ रेप्रेजेंटेटिव’ ने कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए 8.3 अबर डॉलर के आपातकालीन कोष से संबंधित विधेयक पारित किया है। जल्द ही इसे सीनेट भेज दिया जाएगा।

ब्रिटेन की स्वास्थ्य मंत्री भी कोविड-19 की चपेट में

कोरोना वायरस की चपेट में ब्रिटेन की स्वास्थ्य मंत्री नदीन डॉरिस भी आ चुकी हैं। आपको बताते चलें कि खुद ब्रिटेन की स्वास्थ्य मंत्री नदीन डॉरिस ने इस बात की पुष्टि की है। उन्होंने कहा कि “मेरी कोरोना जांच पॉजिटिव आई है, और मैंने घर में खुद को अलग रखा है ताकि इंफेक्शन किसी और को न फैले। मीडिया हाउस की रिपोर्ट के मुताबिक स्वास्थ्य मंत्री नदीन डॉरिस प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन समेत सैकड़ों लोगों के संपर्क में थीं। यहीं कारण हैं कि वो संक्रमित हो गईं। ब्रिटेन में अब तक छह लोगों की मौत कोरोना वायरस के कारण हो चुकी है और 373 लोग कोरोना से संक्रमित हैं।

और पढ़ें- तो क्या ये दुर्लभ जानवर है कोरोना वायरस के लिए जिम्मेदार?

कमजोर इम्युन सिस्टम वाले लोग होते हैं जल्दी शिकार

बच्चों और बुजुर्गों में कमजोर इम्युन सिस्टम होता है, जिसके कारण उन्हें जल्दी इंफेक्शन होता है। यहीं कारण है कि इटली में तेजी से इंफेक्शन से फैल रहा है। इटली में अन्य देश के मुकाबले बुजुर्गो की संख्या अधिक है। इसी कारण से चीन के बाद इटली शहर में कोराना वायरस का कहर देखने को मिल रहा है।

डॉक्टर की सलाह के अनुसार कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए पर्याप्त पानी पीएं, अच्छी तरह हाथ धोएं और एल्कोहल बेस्ड सैनिटाइजर का इस्तेमाल करें और अगर आपको कुछ फ्लू जैसे लक्षण दिखते हैं, तो डॉक्टर के पास जाएं। ऐसा करने से दूसरे व्यक्तियों को संक्रमण का खतरा कम हो जाएगा। आप घर में और खासतौर से बाहर जाने पर साफ-सफाई का ध्यान रखें, जिससे कोरोना वायरस की किसी भी संभावना को कम किया जा सके। इस बीमारी को फैलने से रोकने के लिए हर किसी की व्यक्तिगत जिम्मेदारी भी बनती है, जैसे- इस्तेमाल किए गए मास्क या वाइप्स को बंद डस्टबिन के अंदर फेंके। जब भी मास्क हटाएं, पीछे की ओर से उसे खींचे। आगे की ओर मास्क को न छुएं। संक्रमण होने पर लोगों से दूरी बना कर रखें।

हैलो हेल्थ ग्रुप किसी भी प्रकार की चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार मुहैया नहीं कराता।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

संबंधित लेख:

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy"
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

पीएम मोदी स्पीच : देश में अनलॉक 2.0 की हुई शुरुआत, लापरवाही पड़ सकती है भारी

पीएम मोदी स्पीच लाइव टूडे, पीएम मोदी लॉकडाउन स्पीच, क्या लॉकडाउन बढ़ेगा, PM Modi Speech Live Today PM Modi Speech covid-19

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Shayali Rekha
कोरोना वायरस, कोविड 19 और शासन खबरें जून 30, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

कोविड-19 के इलाज में कितनी प्रभावी हैं ये 3 जेनरिक दवाएं?

कोविड-19 के इलाज के लिए 3 जेनरिक (कोविफोर, सिप्रेमी और फैबिफ्लू) दवाओं का इस्तेमाल किया जा रहा है। लॉन्चिंग के बाद भविष्य में ही यह क्लियर होगा कि कोविड-19 के इलाज के लिए ये कितनी कारगर होंगी। covid-19 treatment covifor cipremi fabiflu in hindi

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Shikha Patel
कोरोना वायरस, कोविड 19 उपचार जून 23, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

क्या मॉनसून और कोरोना में संबंध है? बारिश में कोविड-19 हो सकता है चरम पर

मॉनसून और कोरोना में क्या संबंध है, मॉनसून और कोरोना से खुद को कैसे रखें सुरक्षित, बारिश में कोरोना से कैसे बचें, Monsoon spread corona easily.

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Shayali Rekha
कोरोना वायरस, कोविड-19 जून 23, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

क्या सूर्य ग्रहण से कोविड 19 खत्म हो जाएगा? जानें इस बात में कितनी है सच्चाई

सूर्य ग्रहण और कोविड 19 इन हिंदी, सूर्य ग्रहण और कोविड 19 के बीच क्या संबंध है, सूर्य ग्रहण और कोरोना वायरस से कैसे बचें, सूर्य ग्रहण 2020 का समय क्या है, सोलर इक्लिप्स टाइमिंग, Solar eclipse covid 19 corona virus.

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Shayali Rekha
कोरोना वायरस, कोविड 19 और शासन खबरें जून 21, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें