कोरोना वायरस लेटेस्ट अपडेट : भारत में बढ़ रही है कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या, नई एडवाइजरी जारी

Medically reviewed by | By

Update Date जून 3, 2020 . 5 mins read
Share now

नोवेल कोरोना वायरस (2019-nCoV) की बीमारी कोविड- 19 (COVID- 19) का खौफ भारत में बढ़ता ही जा रहा है। भारत में धीरे-धीरे संभावित मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है। हालांकि, चीन के वुहान शहर से शुरू हुए इस खतरनाक वायरस के पोजिटिव टेस्टेड मरीजों की संख्या भी बढ़ रही है। भारत के दक्षिण क्षेत्र के बाद अब राजधानी दिल्ली में भी कोरोना वायरस के मामले देखने को मिल रहे हैं। मामले की गंभीरता को देखते हुए भारत सरकार हर स्थिति के लिए तैयार है। वर्तमान में दर्ज किए गए मामलों में आमतौर पर ट्रेवल हिस्ट्री ही मुख्य कारण देखा गया है। जिस वजह से भारतीय सरकार ने कोरोना वायरस को लेकर कई जरूरी एहतियात और नई ट्रेवल एडवाइजरी जारी की है। इस आर्टिकल में जानें कोरोना वायरस की लेटेस्ट अपडेट।

नोवेल कोरोना वायरस लेटेस्ट अपडेट (COVID- 19)

नोवेल कोरोना वायरस लेटेस्ट अपडेट यानी कोविड- 19 की बात करें, तो वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन के मुताबिक दुनियाभर में अबतक इसके 90,870 मामले दर्ज हो चुके हैं, जिसमें से 1922 पिछले 24 घंटे आए हैं। वहीं, अबतक इस खतरनाक वायरस से 3112 मौतें हो चुकी हैं, जिसमें से 69 लोगों की जान पिछले 24 घंटों में गई है। कोरोना वायरस का खतरा दुनियाभर में काफी बढ़ता जा रहा है और हर देश का स्वास्थ्य मंत्रालय इस बीमारी से निपटने के लिए पुख्ता इंतजाम कर रहा है।

भारत में कोरोना वायरस लेटेस्ट अपडेट

3 मार्च 2020 को आई डब्ल्यूएचओ की रिपोर्ट- 43 के मुताबिक भारत में अबतक 5 लोगों को कोरोना वायरस से पॉजिटिव पाया गया है, जिसमें से 2 मामले पिछले 24 घंटे में आए हैं। इसके अलावा, नोएडा स्थित एक स्कूल के बच्चों के भी सैंपल लिए गए हैं। भारत में दर्ज होने वाले दो मामलों में से एक इटली से आया था और दूसरा दुबई से यात्रा करके लौटा था। उन्हें, पर्याप्त निगरानी में रखा गया है और लक्षणों के आधार पर इलाज चालू है। इसके साथ ही आपको बता दें कि, भारत में इटली से कुछ सैलानियों का ग्रुप बुधवार को पहुंचा था। जिसमें से 15 लोग कोरोना वायरस के शिकार पाए गए।

यह भी पढ़ें- कोरोना वायरस का शिकार लोगों पर होता है ऐसा असर, रिसर्च में सामने आई ये बातें

मोदी ने कोरोना वायरस को लेकर लिया ये फैसला

भारत में कोरोना वायरस की गंभीरता को देखते हुए, भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट किया कि, नोवेल कोरोना वायरस कोविड- 19 को फैलने से रोकने के लिए दुनियाभर के एक्सपर्ट ने सलाह दी है कि, बहुत ज्यादा जरूरत न होने पर लोगों के हुजुम को बनने से रोकना चाहिए। इसलिए, इस साल वह किसी भी होली मिलन के प्रोग्राम में हिस्सा नहीं लेंगे। आपको बता दें कि, 10 मार्च को भारत में होली का त्योहार है, जिसमें बड़ी संख्या में लोग एक दूसरे से मिलते हैं। इसके साथ ही, भारत में आईपीएल होने वाले हैं, जिसमें बड़ी संख्या में लोग क्रिकेट मैच देखने आते हैं। लेकिन, रिपोर्ट के मुताबिक आईपीएल संचालन समिति के अध्यक्ष बृजेश पटेल ने कहा कि, ‘अभी कोई खतरा नहीं है और हम स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं।’ भारतीय स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से कोरोना वायरस से बचाव के लिए कुछ सुझाव और सलाह लगातार दी जा रही है और लगातार ट्रेवल एडवाइजरी अपडेट की जा रही है। कोरोना वायरस से व्यक्ति में रेस्पिरेटरी सिस्टम से संबंधित लक्षण दिखने लगते हैं और उसमें फ्लू जैसे लक्षण बनने लगते हैं।

यह भी पढ़ेंः जल्द ही आ सकती है कोरोना वायरस की वैक्सीन

इसके साथ ही भारत में कोरोना वायरस से संबंधिक जानकारी, मदद, सवाल-जवाब के लिए +91-11-23978046 हेल्पलाइन जारी की गई है। इसके अलावा, ncov2019@gmail.com पर भी संपर्क किया जा सकता है।

यह भी पढ़ें- तो क्या ये दुर्लभ जानवर है कोरोना वायरस के लिए जिम्मेदार?

कोरोना वायरस अपडेट : रोचक जानकारी

Coronavirus latest update -कोरोना वायरस लेटेस्ट अपडेट
इस किताब में कोरोना वायरस की भविष्वाणी होने का दावा किया जा रहा है।

कोरोना वायरस के डर के साथ-साथ कुछ बातें भी सामने आ रही हैं, जिन्हें प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष रूप से इस खतरनाक वायरस से जोड़ा जा रहा है। हम इन जानकारियों के बारे में आधिकारिक रूप से पुष्टि नहीं कर रहे हैं, लेकिन यह जानकारियां इतनी रोचक है कि आप इसे नजरअंदाज भी नहीं कर सकते। ऐसी ही एक रोचक जानकारी यह है कि 1981 में प्रकाशित हुई एक नोवल जिसका नाम ‘द आईज ऑफ डार्कनेस’ है में एक वायरस की जानकारी दी गई थी। जो देखने और सुनने में बिल्कुल मौजूदा कोरोना वायरस की तरह लगता है। सबसे खास बात यह है कि इसमें इस वायरस के रूप के साथ-साथ विकसित होने की भी सही जगह लिखी है और वह है चीन का शहर वुहान। इस किताब के लेखक डीन कूंट्ज ने एक चैप्टर में लिखा है कि वुहान के बाहरी इलाके में स्थित एक लैब में वुहान-400 नामक एक बायोलॉजिकल वेपन बनाया गया। जो कि लोगों में सांस संबंधी प्रणाली को नुकसान पहुंचाकर मार देता है।

यह भी पढ़ें- कोरोना वायरस से ब्लड ग्रुप का है कनेक्शन, रिसर्च में हुआ खुलासा

कोरोना वायरस लेटेस्ट अपडेटः भारत सरकार की सलाह

  1. बेवजह किसी भी व्यक्ति से न मिलें, कहीं भीड़ न लगाएं।
  2. आंखों, नाक और अपने मुंह को छूने से बचें।
  3. अपने हाथों को अच्छी तरह से धोएं
  4. छींकते या खांसते समय अपने मुंह और नाक को किसी टिश्यू पेपर या फिर कोहनी को मोड़कर ढकें।
  5. अगर आपको बुखार, खांसी या सांस लेने में दिक्कत हो रही है, तो जितनी जल्दी हो सके डॉक्टर से मिलें।
  6. जबतक कोई वैक्सीन नहीं बन जाती, तबतक अपने हेल्थ केयर प्रोवाइडर की हर सलाह मानें और पूरी जानकारी प्राप्त करते रहें।
  7. अगर आप मास्क लगाने वाले हैं तो उससे पहले अपने हाथों को एल्कोहॉल बेस्ड हैंड रब या फिर साबुन और पानी से अच्छी तरह धोएं।
  8. अपने मुंह और नाक को मास्क से अच्छी तरह कवर करें कि उसमें किसी भी तरह का गैप न रहे।
  9. मास्क को पीछे से हटाएं और उसे इस्तेमाल करने के बाद आगे से न छूएं।
  10. एक बार इस्तेमाल किए गए मास्क को दोबारा इस्तेमाल न करें
  11. इस्तेमाल के बाद मास्क को तुरंत एक बंद डस्टबिन में फेंक दें।

यह भी पढ़ें- सबसे खतरनाक वायरस ने ली थी 5 करोड़ लोगों की जान, जानें 21वीं सदी के 5 जानलेवा वायरस

कोरोना वायरस को लेकर भारतीय सरकार की ट्रेवल एडवाइजरी

भारतीय सरकार ने कोरोना वायरस लेटेस्ट अपडेट में संशोधित ट्रेवल एडवाइजरी जारी की है, जिसमें निम्नलिखित बातें की गई हैं।

  1. इटली, ईरान, दक्षिण कोरिया, जापान के नागरिकों को 03.03.2020 अथवा उसके बाद जारी किए गए सभी नियमित (स्‍टीकर) वीजा/ई-वीजा (जापान और दक्षिण कोरिया के लिए वीओए सहित) और जिन्‍होंने अभी तक भारत में प्रवेश नहीं किया है, उन्‍हें तत्‍काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। जो लोग किन्‍हीं बाध्‍यकारी परिस्थितियों के कारण भारत आना चाहते हैं, वे नजदीकी भारतीय दूतावास/ वाणिज्‍य दूतावास से ताजा वीजा ले सकते हैं।
  2. चीन गणराज्‍य के नागरिकों को 05.02.2020 अथवा उससे पहले दिए गए नियमित (स्‍टीकर) वीजा/ई-वीजा को पहले ही निलंबित किया जा चुका है। यह लागू रहेगा। जो लोग किन्‍ही बाध्‍यकारी परिस्थितियों के कारण भारत आना चाहते हैं, वे नजदीकी भारतीय दूतावास/ वाणिज्‍य दूतावास से ताजा वीजा ले सकते हैं।
  3. चीन, ईरान, इटली, दक्षिण कोरिया और जापान की 01.02.2020 अथवा उसके बाद यात्रा करने वाले सभी विदेशी नागरिक जिन्‍हें सभी नियमित (स्‍टीकर) वीजा/ई-वीजा दिए गए हैं और जिन्‍होंने अभी तक भारत में प्रवेश नहीं किया है उसे तत्‍काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। जो लोग किन्‍ही बाध्‍यकारी परिस्थितियों के कारण भारत आना चाहते हैं, वे नजदीकी भारतीय दूतावास/ वाणिज्‍य दूतावास से ताजा वीजा ले सकते हैं।
  4. कोरोना वायरस लेटेस्ट अपडेट में कूटनीतिज्ञ, संयुक्‍त राष्‍ट्र और अन्‍य अंतरराष्‍ट्रीय संगठनों के अधिकारी, ओसीआई कार्डधारक और उपरोक्‍त देशों के विमान चालक दल को प्रवेश संबंधी ऐसे प्रतिबंधों से छूट दी गई है। लेकिन उनकी मेडिकल स्‍क्रीनिंग अनिवार्य है।
  5. किसी भी बंदरगाह क्षेत्र से भारत में प्रवेश करने वाली सभी अंतरराष्‍ट्रीय उड़ानों के यात्रियों को अपने बारे में पूरी जानकारी (अपने निजी विवरण यानी फोन नम्‍बर और भारत में अपना पता सहित) और यात्रा विवरण सभी बंदरगाहों पर स्‍वास्‍थ्‍य अधिकारियों और आव्रजन अधिकारियों को देना जरूरी है।
  6. प्रतिबंधित के अलावा चीन, दक्षिण कोरिया, जापान, ईरान, इटली हॉंगकॉंग, मकाऊ वियतनाम, मलेशिया, इंडोनेशिया, नेपाल, थाईलैंड, सिंगापुर और ताइवान से प्रत्‍यक्ष अथवा अप्रत्‍यक्ष रूप से आने वाले यात्रियों (विदेशी और भारतीय) को प्रवेश करने पर मेडिकल स्‍क्रीनिंग से गुजरना होगा।
  7. भारतीय नागरिकों को सलाह दी गई है कि वे चीन, ईरान, कोरिया गणराज्‍य, इटली की यात्रा करने से बचें और उन्‍हें सलाह दी गई है कि वे सीओवीआईडी-19 से प्रभावित देशों की अनावश्‍यक यात्रा से परहेज करें।

डॉक्टर की राय

जसलोक हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर के इंफेक्टियस डिजीज के डाइरेक्टर, डॉ. ओम श्रीवास्तव का कहना है कि, देश के कई इलाकों में कोरोना वायरस के मामले देखे जा रहे हैं और इस बीमारी से बचने के लिए आपको कुछ बेसिक बातों का ध्यान रखने की जरूरत है। जैसे- आप दिन में पर्याप्त पानी पीएं, अच्छी तरह हाथ धोयें और एल्कोहल बेस्ड सैनिटाइजर का इस्तेमाल करें और अगर आपको कुछ फ्लू जैसे लक्षण दिखते हैं, तो डॉक्टर के पास जाएं। जिससे आपसे किसी अन्य व्यक्ति को कोई खतरा न हो। आप घर में और खासतौर से बाहर जाने पर साफ-सफाई का ध्यान रखें, जिससे कोरोना वायरस की किसी भी संभावना को कम किया जा सके। इस बीमारी को फैलने से रोकने के लिए हर किसी की व्यक्तिगत जिम्मेदारी भी बनती है, जैसे- इस्तेमाल किए गए मास्क या वाइप्स को बंद डस्टबिन के अंदर फेंके।

हैलो स्वास्थ्य किसी भी तरह की मेडिकल सलाह नहीं दे रहा है। अगर आपको किसी भी तरह की समस्या हो तो आप अपने डॉक्टर से जरूर पूछ लें।

और पढ़ें :

इलाज के बाद भी कोरोना वायरस रिइंफेक्शन का खतरा!

कोरोना वायरस से बचाव संबंधित सवाल और उनपर डॉक्टर्स के जवाब

क्या प्रेग्नेंसी में कोरोना वायरस से बढ़ जाता है जोखिम?

….जिसके सेवन से नहीं होगा कोरोना वायरस?

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy"
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

कोरोना वायरस की दवा : डेक्सामेथासोन (dexamethasone) साबित हुई जान बचाने वाली पहली दवा

कोरोना की दवा के रूप में डेक्सामेथासोन का इस्तेमाल और प्रभावशीलता काफी अच्छे रिजल्ट्स दे रही है। कोरोना संक्रमित लोगों की जान बचाने के लिए तुरंत इस्तेमाल की जा सकती है। corona virus first medicine Dexamethasone in hindi

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Shikha Patel
कोरोना वायरस, कोविड 19 उपचार जून 17, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है कोरोना का इलाज, सतर्क रहें इस फर्जी प्रिस्क्रिप्शन से

कोरोना वायरस वायरल प्रिस्क्रिप्शन, कोरोना वायरस फेक प्रिस्किप्शन क्या है? इस वायरल पर्चे में कोरोना के इलाज की बता कही गई है। हाइड्रोक्सी क्लोरोक्वाइन दवा (Hydroxychloroquine), क्रोसीन (Crocin) और सीट्रीजिन (Cetrizine)...corona virus viral priscription in hindi

Written by Shikha Patel
कोरोना वायरस, कोविड 19 सावधानियां जून 14, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

एक्सपर्ट ने दी कोरोनावायरस (कोविड-19) ट्रेवल एडवाइस, यात्रा में रहेंगे सेफ

कोरोनावायरस (कोविड-19) ट्रेवल एडवाइस इन हिंदी, कोरोनावायरस (कोविड-19) ट्रेवल एडवाइस बताएं, कोरोनावायरस ट्रेवल एडवाइजरी, कोरोना काल में ट्रेन से सफर करते समय किन बातों का रखें ध्यान, covid-19 travel advice.

Written by Shayali Rekha
कोरोना वायरस, कोविड 19 सावधानियां जून 12, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

कोविड-19 संक्रमण के मामले सितंबर मध्य तक हो सकते हैं कम: जानें क्या कहती है रिसर्च

जानिए कैसे कम होने कोविड-19 संक्रमण के मामले? क्या कहती हैं मेंथेमेटिकल एनालेसिस? जानिए टिप्स इस जानलेवा इंफेक्शन से बचने के।

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Nidhi Sinha
कोरोना वायरस, कोविड 19 और शासन खबरें जून 8, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें