मक्खियों से कोरोना वायरस फैल सकता है? जानें क्या है डॉक्टर्स की राय

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट जून 3, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

इस वक्त देश में कोरोना संक्रमण के 1000 से ज्यादा मामले हैं। वहीं 27 लोगों (30 मार्च, 00:38 तक) की मौत हो चुकी है। हर तरफ कोरोना को लेकर हाहाकार मचा हुआ है। इसी बीच एक चर्चा जोर पकड़ रही है कि क्या मक्खियों से भी कोरोना वायरस फैल सकता है? दरअसल, बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन ने अपने एक वीडियो में बताया कि मक्खियों से कोरोना वायरस फैलता है। इस खबर के आने के बाद लोग और भी ज्यादा डर गए और बिग बी का ये वीडियो तेजी से वायरल होने लगा।

मक्खियों से कोरोना वायरस फैलता है?

अमिताभ ने चीन की मेडिकल मैगजीन द लैंसेट की रिपोर्ट के आधार पर यह वीडियो पोस्ट किया है। उन्होंने वीडियो में कहा कि चीन के विशेषज्ञों ने पाया कि संक्रमित व्यक्ति अगर स्वस्थ भी हो जाए तो उसके मल में कोरोना का वायरस कई दिनों तक जिंदा रह सकता है। इससे मक्खियों से कोरोना वायरस फैल सकता है। अगर वह मक्खी फल-सब्जी पर बैठ जाए तो संक्रमण का खतरा बढ़ सकता है। हालांकि, उन्होंने यह वीडियो अपने फैंस और देश के लोगों को जागरूक करने के लिए पोस्ट किया था।

यह भी पढ़ें: शरीर की इम्यूनिटी बढ़ाकर कोरोना वायरस से करनी होगी लड़ाई, लेकिन नींद का रखना होगा खास ध्यान

मक्खियों से कोरोना वायरस : लैंसेट की रिपोर्ट

द लैंसेट की रिपोर्ट के मुताबिक, घरों, बाजारों, दुकानों और गली-मोहल्‍लों में मंडराती हुई मक्खियों से कोरोना वायरस फैल सकता है। इसमें बताया गया था कि यदि किसी व्यक्ति को कोविड-19 है और वह ठीक भी हो जाता है तो उसके मल में कोरोना का वायरस कई दिनों तक जिंदा रह सकता है। इस रिपोर्ट ने लोगों की चिंता बढ़ा रखी है।

स्वास्थ्य मंत्रालय ने दिया यह बयान

अब अमिताभ के इस बयान पर स्वास्थ्य मंत्रालय का बयान आ गया है। मंत्रालय ने मक्खी से कोरोना फैलने का सारा सच सामने ला दिया है। मंत्रालय ने जनता को संबोधित करते हुए एक मीडिया कॉन्फ्रेंस में कहा, किसी भी सूरत में सामाजिक दूरी के नियम का सख्ती से पालन करें। सरकार के साथ पूरे देश की जिम्मेदारी है कि एकजुट होकर कोरोना को रोकने में अपना सहयोग दें। साथ ही बिग बी के ट्वीट पर उन्होंने कहा कि हमने वीडियो नहीं देखा लेकिन इतना जरूर कह सकता हूं कि यह वायरस मक्खियों से बिल्कुल नहीं फैलता है। इसके अलावा मंत्रालय ने यह भी बताया कि अभी हम कम्यूनिटी स्टेज यानी तीसरी स्टेज पर नहीं पहुंचे हैं।

यह भी पढ़ें: अगर आपके आसपास मिला है कोरोना वायरस का संक्रमित मरीज, तो तुरंत करें ये काम

अपर सचिव एवं एनएचएम के मिशन निदेशक युगल किशोर पंत व स्वास्थ्य महानिदेशक डॉ. अमिता उप्रेती ने कहा कि किसी भी महामारी के चार चरण होते हैं। कोविड-19 भी इससे अलग नहीं है। इसके भी चार चरण हैं। करियर, लोकल ट्रांसमिशन, कम्यूनिटी ट्रांसमिशन व महामारी। पहले चरण में मामले बाहर से आते हैं, दूसरे चरण में यह स्थानीय स्तर पर फैलता है। तीसरे चरण में यह कई लोगों को संक्रमित करता है और चौथे चरण में महामारी बन जाता है। सामाजिक दूरी बनाकर हम इस पर काबू पा सकते हैं। बता दें, बिग बी के इस ट्वीट को प्रधानमंत्री ने भी रीट्वीट किया था जिसे अब डिलीट कर दिया गया है।

स्वास्थ्य मंत्रालय ने सामाजिक दूरी बनाए रखने के लिए की अपील

इस नियम का लोगों को सख्ती से पालन करना होगा। हालांकि जिस तेजी से संक्रमण बढ़ रहा है वह चिंताजनक है। हम अपेक्षाकृत स्थिरता की ओर बढ़ रहे हैं। अगर इसे जड़ से खत्म करना है तो हम सबको मिलकर सामाजिक दूरी बनानी होगी। मंत्रालय ने यह भी बताया कि देश के 17 राज्यों के अस्पतालों में कोरोना वायरस के संक्रमण का उपचार हो रहा है। देशभर में 25 और प्राइवेट लैब को कोरोना संक्रमण की जांच के लिए अनुमति दी गई है। हालांकि सैंपल कलेक्शन के लिए 20 हजार से ज्यादा सेंटर हैं।

यह भी पढ़ें: अगर जल्दी नहीं रुका कोरोना वायरस, तो ये होगा दुनिया का हाल

कोरोना से लड़ने के लिए ट्रेनिंग

डॉक्टरों को एम्स दिल्ली की ओर से ऑनलाइन ट्रेनिंग दी जा रही है। इसके अलावा आशा वर्कर, एएनएम, आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को भी संक्रमण के बारे में ट्रेनिंग दी जा रही है।वहीं भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद के सदस्य आर गंगा केतकर ने कहा कि सरकार द्वारा उठाए गए कदम इतने प्रभावी हैं कि यदि हम उनका सख्ती से पालन करें, तो देश में शायद ही कोरोनो वायरस के मामले बढ़ेंगे। उन्होंने मीडिया से अपील की है कि वे कोई ऐसी खबर ना दें जिससे लोगों में घबराहट बढ़े।

कोरोना वायरस के चलते देश लॉकडाउन जरूर हुआ है लेकिन भारत सरकार हर संभव प्रयास कर रही है कि जनता को कोई तकलीफ ना हो। इसके लिए भारत सरकार ने लोगों की सुविधा के लिए दवाओं की होम डिलीवरी की अनुमति दी है। इसे जल्द ही भारत के राजपत्र में प्रकाशित होने की अधिसूचना भी जारी की गई है। उत्तराखंड सरकार ने कोरोना वायरस के कारण दूसरे राज्यों में फंसे लोगों के लिए हेल्पलाइन नंबर जारी किए हैं। लैंडलाइन नंबर- 0135 2722100, व्हाट्सऐप नंबर- 9997954800

यह भी पढ़ें: कोरोना वायरस के 80 प्रतिशत मरीजों को पता भी नहीं चलता, वो कब संक्रमित हुए और कब ठीक हो गए

कोरोना वायरस से बचने को लेकर कुछ जरूरी बातें—

कोरोना वायरस का डर हर किसी में है लेकिन अगर सही जानकारी होगी तो इससे डरने की जरूरत नहीं सिर्फ सावधानी की जरूरत है। सबसे पहले जानते हैं कि किसे मास्क पहनना जरूरी है औ किसे नहीं।

  • अगर आप स्वस्थ हैं तो आपको मास्क की जरूरत नहीं है।
  • अगर आप किसी कोरोना वायरस से संक्रमित व्यक्ति की देखभाल कर रहे हैं, तो आपको मास्क पहनना होगा
  • जिन लोगों को बुखार, कफ या सांस में तकलीफ की शिकायत है, उन्हें मास्क पहनना चाहिए और तुरंत डॉक्टर के पास जाना चाहिए।

कोरोना वायरस या कोरोना वायरस की अन्य जानकारियों के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं।

हैलो हेल्थ ग्रुप किसी भी प्रकार की चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार मुहैया नहीं कराता।

और पढ़ें :-

कोविड-19 है जानलेवा बीमारी लेकिन मरीज के रहते हैं बचने के चांसेज, खेलें क्विज

ताली, थाली, घंटी, शंख की ध्वनि और कोरोना वायरस का क्या कनेक्शन? जानें वाइब्रेशन के फायदे

कोराना के संक्रमण से बचाव के लिए बार-बार हाथ धोना है जरूरी, लेकिन स्किन की करें देखभाल

कोरोना वायरस वैक्सीन को विकसित होने में इतना समय क्यों लग रहा है? कैसे बनती है कोई वैक्सीन

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

वर्ल्ड पेशेंट सेफ्टी डे: पेशेंट और हेल्थ वर्कर्स की सेफ्टी कैसे है एक दूसरे पर निर्भर?

जानिए विश्व मरीज सुरक्षा दिवस में कोविड-19 के समय कैसे मरीज और स्वास्थ्य कर्मियों की सुरक्षा एक दूसरे से संबंधित है? पेशेंट और हेल्थ वर्कर्स की सेफ्टी ।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Mousumi dutta
हेल्थ टिप्स, स्वस्थ जीवन सितम्बर 3, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

गणेश चतुर्थी 2020 : गणेश चतुर्थी को लेकर सरकार ने जारी किए ये गाइडलाइन, जानें क्या नहीं करना होगा

गणेश चतुर्थी और कोरोना वायरस को लेकर राज्य सरकार ने दिशानिर्देश जारी किए हैं। महाराष्ट्र सरकार ने सभी 'मंडलों' के लिए गणेशोत्सव मनाने के लिए नगर पालिका या लोकल अथॉरिटी से परमिशन लेना अनिवार्य कर दिया है।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
त्योहार, स्वास्थ्य बुलेटिन अगस्त 21, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

सीरो सर्वे को लेकर क्यों हो रही है चर्चा, जानें एक्सपर्ट से इसके बारे में सबकुछ

सीरो सर्वे क्या है, एंटीबॉडी टेस्ट क्यों किया जाता है, एंटीबॉडी टेस्ट कैसे करते हैं, कोरोना में सीरो सर्वे, आईसीएमआर की गाइडलाइन, Sero survey antibody test Covid-19, ICMR.

के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha
कोरोना वायरस, कोविड 19 व्यवस्थापन अगस्त 21, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

कोरोना वायरस (कोविड 19) का टीका: क्या वैक्सीन के साइड इफेक्ट की होगी चिंता? 

कोरोना वायरस का टीका जल्द ही लॉन्च होनेवाली है। इस वैक्सीन के क्या होंगे साइड इफेक्ट्स? covid 19 vaccine, covid 19 side effects

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Toshini Rathod
कोविड 19 उपचार, कोरोना वायरस अगस्त 11, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

हाथों की सफाई, hand wash

हाथों की स्वच्छता क्यों है जरूरी, जानिए एक्सपर्ट की राय

के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi
प्रकाशित हुआ अक्टूबर 15, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
कोविड के बाद फेफड़ों का स्वास्थ्य -corona and lung world lungs day

क्या कोरोना होने के बाद आपके फेफड़ों की सेहत पहले जितनी बेहतर हो सकती है?

के द्वारा लिखा गया Ankita Mishra
प्रकाशित हुआ सितम्बर 22, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें
PPI medicines - पीपीआई से कोरोना

क्या पेंटोप्रोजोल, ओमेप्रोजोल, रैबेप्रोजोल आदि एंटासिड्स से बढ़ सकता है कोविड-19 होने का रिस्क?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Manjari Khare
प्रकाशित हुआ सितम्बर 11, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
कोविड-19 के बाद ट्रैवल

वर्ल्ड टूरिज्म डे: कोविड-19 के बाद कितना बदल जाएगा यात्रा करना?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Manjari Khare
प्रकाशित हुआ सितम्बर 8, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें