लॉकडाउन 4.0 : बंदी के चौथे चरण में दी गई है कुछ छूट,पाबंदियां नहीं हटा सकते हैं राज्य

Medically reviewed by | By

Update Date मई 25, 2020
Share now

लॉकडाउन 4.0 की घोषणा आज की जा चुकी है। भारत में कोरोना से लड़ने के लिए चौथे लॉकडाउन की घोषणा की जा चुकी है। चौथा लॉकडाउन नए नियमों के साथ देशभर में लागू किया गया है। अबकी बार केंद्र ने राज्यों पर लॉकडाउन के नियमों को लेकर जिम्मेदारी सौंपी है। देश के उन क्षेत्रों को खासतौर पर छूट दी गई है, जहां कोरोना महामारी का संक्रमण कम है या न के बराबर है। जबकि कोरोना से अधिक संक्रमित राज्यों में अधिक कड़ाई के साथ लॉकडाउन 4.0 का पालन किया जाएगा। केंद्र सरकार की ओर से रविवार शाम को लॉकडाउन 4.0 के लिए गाइडलाइन्स जारी की गई। भारत में लॉकडाउन का चौथा चरण पहले चरणों से काफी अलग है। अबकि बार केंद्र सरकार ने राज्य सरकारों से कुछ फैसले लेने की अपील की है। साथ ही अबकि बार कुछ राज्यों को अधिक छूट दी गई है।

यह भी पढ़ें :कोरोना वैक्सीन को लेकर इन वैक्सीन की है दावेदारी, क्या आप जानते हैं इनके बारे में ?

लॉकडाउन 4.0 में दी गई है राहत

देश में अब ई-कॉर्मस को होम डिलीवरी के लिए छूट दी गई है, लेकिन कंटेनमेंट जोन को फिलहाल कोई राहत नहीं दी गई है। कंटेनमेंट जोन और बफर जोन के लिए क्या फैसला लेना है, फिलहाल ये निर्णय राज्य सरकार पर छोड़ा गया है। राज्य सरकार केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के साथ मिलकर इस बारे में फैसला करेगी। देश में रेड जोन, ऑरेंज जोन और ग्रीन जोन के बारे में फैसला अब राज्य सरकारें ही तय करेंगी। फिलहाल खाना ऑनलाइन ऑर्डर किया जा सकता है। लॉकडाउन 4.0 को लेकर केंद्र स्पष्ट कर चुकी है कि गाइडलाइन में शामिल जो भी प्रतिबंध हैं, उनमे राज्य सरकारें ढील नहीं दे सकती हैं।

लॉकडाउन 4.0 : मुंबई में लॉकडाउन का चौथा चरण

महाराष्ट्र में कोरोना के पेशेंट तेजी से बढ़ें हैं। सोमवार (18 मई) को महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 33,053 के पार पहुंच गई। मुंबई में अभी 661 कंटेनमेंट जोन है। साथ ही 1110 सीलबंद इमारतें भी हैं। रेड जोन वाले जिलों में फिलहाल बाहरी व्यक्तियों को आने की इजाजत नहीं दी गई है। महाराष्ट्र सरकार की ओर से जारी निर्देश के अनुसार ग्रीन जोन में सभी सेवाओं को शुरू कर दिया गया है। साथ ही लोगों से सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा ख्याल रखने को कहा गया है। ग्रीन जोन में सभी ऑफिस खोल दिए गए हैं जबकि रेड जोन में सख्ती बरती गई है।

महाराष्ट्र में ग्रीन जोन में 50 प्रतिशत क्षमता के साथ पब्लिक ट्रांसपोर्ट शुरू करने की बात कही गई है। वहीं केंद्र की ओर से जारी दिशा-निर्देशों के अनुसार कोई भी व्यक्ति एक जोन से दूसरे जोन में नहीं जा सकेगा। वहीं जो लोग ऑवश्यक वस्तुओं को ले जाने से जुड़ें हैं, उन्हें रियायत दी जाएगी। फिलहाल 31 मई तक पूरे देश में लॉकडाउन की घोषणा हो चुकी है।

भारत में लॉकडाउन का चौथा चरण : लॉकडाउन में गुजरात का हाल

देश में महाराष्ट्र के बाद गुजरात ही है, जहां कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है। अन्य राज्यों की तरह गुजरात में भी प्रवासी मजदूर घर जाने के लिए परेशान हैं। मजदूरों को जब रोका गया तो उन्होंने पुलिस में पथराव करना शुरू कर दिया। इस दौरान पुलिस ने मजदूरों पर लाठीचार्ज भी किया। गुजरात में अब तक कोरोना से संक्रमित मरीजों की संख्या 11 हजार के पार पहुंच चुकी है। वहीं 524 लोगों की संक्रमण से मौत हो चुकी है।

गुजरात के सीएम विजय रूपाणी ने लॉकडाउन में लोगों की सुविधाओं के लिए सिटी बस सेवा फिर से शुरू करने की घोषणा की है।अहमदाबाद से बस सेवाएं शुरू हो सकती हैं। गुजरात में लॉकडाउन के चौथा चरण में नॉन कंटेनमेंट जोन में परिवहन को चालू करने के संकेत दे दिए हैं। वहीं खुले में थूकने पर व बिना मास्क के घूमने पर 200 रुपए जुर्माना लगाया जाएगा। लॉकडाउन में गुजरात में अवश्यक वस्तुओं के साथ ही फर्नीचर, स्टेशनरी आदि दुकानों को खोलने की बात कही गई है।

यह भी पढ़ें :कोरोना महामारी में हर्बल उपचार करना कितना सुरक्षित है, जानिए यहां

फिलहाल लॉकडाउन ही है अंतिम रास्ता

महाराष्ट्र, गुजरात के बाद तमिलनाडू ऐसा राज्य है, जहां कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है। तमिलनाडू की सरकार ने भी कल शाम 31 मई तक लॉकडाउन बढ़ाने की घोषणा कर दी। तमिलनाडु की पलनिसामी सरकार ने 31 मई तक लोगों को लॉकडाउन का पालन करने की सलाह दी है। तमिलनाडू ने कोविड-19 से कम संक्रमित करीब 25 जिलों में ढील दी है। तमिलनाडू में इस समय कोरोना से संक्रमित मरीजों की संख्या 11224 है। कंटेनमेंट जोन को छोड़कर यहां पर भी बसों का परिचालन शुरू करने की बात की गई है। अब तक तमिलनाडू में कोरोना महामारी के कारण 78 लोगों की मौत हो चुकी है। सरकार ने एयर कंडिशन से जुड़ी दुकानों को खोलने की मंजुरी दे दी है। वहीं कपड़ों की दुकानों को भी कुछ स्थानों में खोलने की मंजूरी दी गई है। फिलहाल पूरे देश में स्कूल कॉलेज को बंद करने की घोषणा की गई है।

यह भी पढ़ें :रोग प्रतिरक्षा प्रणाली क्या है और यह कोरोना वायरस से आपकी सुरक्षा कैसे करती है?

कोविड-19 की ताजा जानकारी
देश: India
आंकड़े

78,643

कंफर्म केस

80,595

स्वस्थ हुए

4,669

मौत
मैप

देश की राजधानी में भी बढ़ रहे हैं केस

देश की आर्थिक राजधानी मुंबई के साथ ही देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना के केस में बढ़त देखने को मिल रही है। अब तक दिल्ली में कोरोना के 10054 केस सामने आ चुके हैं। फिलहाल दिल्ली की सरकार लॉकडाउन के चौथे चरण के लिए चर्चा कर रही है। ऐसा माना जा रहा है कि दिल्ली में केजरीवाल सरकार ऑड-ईवन के आधार पर मार्केट खोल सकती है। वहीं ऑटो-टैक्सी के संचालन की बात भी सामने आई है। सभी लोगों को मास्क लगाने के साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग का ख्याल जरूरी होगा। वहीं रेस्तरां से होम डिलिवरी संभव हो सकेगी।

केंद्र सरकार के फैसले के बाद राज्य सरकारें भी कुछ छूट दे सकती हैं लेकिन केंद्र की ओर लगाई गई पाबंदियों को नहीं हटाया जाएगा। 31 मई के बाद लॉकडाउन जारी रहेगा या नहीं, ये फैसला केंद्र और राज्य सरकारें मिल कर लेंगी। कोरोना के लक्षणों को नजरअंदाज नहीं करना चाहिए और साथ ही कोरोना को लेकर सावधानी बहुत जरूरी है।

हैलो हेल्थ ग्रुप किसी भी तरह की मेडिकल एडवाइस, इलाज और जांच की सलाह नहीं देता है। अगर आपको किसी भी तरह की समस्या हो, तो आप अपने डॉक्टर से जरूर पूछ लें।

और पढ़ें 

कोरोना वायरस का ड्रग : क्या सिर की जूं (लीख) की दवाई आइवरमेक्टिन कोविड-19 को खत्म कर सकती है?

कोविड-19 और अल्जाइमर मरीजः जानिए रोगी की देखभाल के लिए विशेषज्ञ डॉक्टरों के बताए हुए उपाय

कोविड-19 के खिलाफ वरदान साबित हो सकते हैं ये 7 ईटिंग हैक्स

क्या कोविड-19 के कारण समाज में धीरे-धीरे जन्म ले रही अकेलेपन की समस्या?

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy"
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

नॉन कॉन्टेक्ट थर्मामीटर क्या है? जानें इसका इस्तेमाल कैसे करते हैं

नॉन कॉन्टेक्ट थर्मामीटर क्या है, नॉन कॉन्टेक्ट इन्फ्रारेड थर्मामीटर के फायदे, नॉन कॉन्टेक्ट थर्मामीटर की कीमत क्या है, Non contact thermometer in Hindi.

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Shayali Rekha

कोरोना महामारी में मुंबई का हो रहा है बुरा हाल, जानिए आखिर क्यों न्यूयार्क से ज्यादा गंभीर हो रहे हैं हालात

देश में अगर किसी राज्य में सबसे ज्यादा कोरोना के मामलें पाए जा रहे हैं तो वो है महाराष्ट्र। न्यूयार्क से भी तेज गति से मुंबई में कोरोना के मामलें बढ़ते जा रहे हैं। mumbai me corona ke case in hindi, coronavirus, covid-19

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Bhawana Awasthi

क्या सहलौन जाने की सोच रहे हैं आप, जानें ऐसा करना सेफ है या नहीं?

सहलौन में सेफ्टी - भारत में कुछ क्षेत्रों में शर्तों के साथ नाई की दुकान, सैलून/सहलौन, पार्लर आदि के खुलने की इजाजत दे दी गई है। लेकिन जानते हैं कि, क्या वहां जाना सुरक्षित है?

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Surender Aggarwal

कोरोना वैक्सीन को लेकर इन वैक्सीन की है दावेदारी, क्या आप जानते हैं इनके बारे में ?

कोविड-19 वैक्सीन की दावेदारी में सात से आठ वैक्सीन शामिल हैं। इन वैक्सीन को एफडीए की ओर मंजूरी मिल चुकी है और अभी ट्रायल चल रहा है। coronavirus vaccines

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Bhawana Awasthi