Kiwi : कीवी क्या है?

Medically reviewed by | By

Update Date जनवरी 17, 2020
Share now

परिचय

कीवी (Kiwi) क्या है?

कीवी दिखने में एक छोटा सा फल होता है, जो कि पोषण के मामले में काफी बड़ा है। यह विटामिन के, विटामिन सी, विटामिन ई, फोलेट, पोटेशियम आदि का अच्छा स्त्रोत है। इसका बोटेनिकल नाम एक्टिनिडिया डेलिसिओसा (Actinidia deliciosa) नाम है, जो कि एक्टिनिडियाएसी (Actinidiaceae) फैमिली से आता है। यह दिखने में हल्के भूरे रंगा का होता है। इस फल में अधिक मात्रा में एंटी ऑक्सीडेंट होता है। यह एंटी ऑक्सीडेंट शरीर की रोगप्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है जिसकी मदद से शरीर बीमारियों से खुद को सुरक्षित बनाए रखा सकता है। जिन व्यक्तियों में रोग प्रतिरोधक छमता कम होती है उन्हें डेंगू, मलेरिया या फिर किसी भी तरह के संक्रमण होने का जोखिम भी अधिक रहता है, ऐसे लोगों को नियमित रूर से उचित मात्रा में यह फल खाना चाहिए। इस फल में सेरोटोनिन होता है जो अनिद्रा की समस्या दूर करता है।

यह भी पढ़ें: Dill: डिल क्या है?

कीवी का परिचय

कीवी (Kiwi) किसलिए इस्तेमाल किया जाता है ?

कीवी (Kiwi) हमारी सेहत के लिए बहुत ही फायदेमंद फल है। इसके औषधीय गुणों की बात की जाए तो यह अस्थमा के इलाज में मदद करता है। कीवी का इस्तेमाल मीट टेंडेराइजर के रुप में किया जाता है और कई स्पोर्ट्स ड्रिंक में इसे इन्ग्रेड्रियेंट के रूप में शामिल किया जाता है। ज्यादातर इसे फल के रूप में ही खाया जाता है।

निम्न स्थितियों में इस फल का लाभ मिल सकता हैः

नींद की गुणवत्ता में सुधार लाए

इसमें प्राकृतिक रूप से एंजाइम की उच्च मात्रा होती है, जो नींद ही गुणवत्ता में सुधार लाता है। इसमें पाए जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट स्वास्थ्य को स्वस्थ बनाये रखने में और नींद न आने की समस्या को दूर करने में सहायता करता है।

वजन घटाने में मददगार

इस फल में प्रचुर मात्रा में प्रोटीन होता है। जो शरीर में फैट की मात्रा को बढ़ने से रोकता है।

ब्लड प्रेशर घटाए

इसमें कई तरह के विटामिन्स और एंटीऑक्सीडेंट तत्व होते हैं। जो हाई बल्ड प्रेशर को नियंत्रण करने में मदद करते हैं।

प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाए

इसके एंटीऑक्सीडेंट तत्व शरीर की इम्युनिटी सिस्टम को मजबूत रखने में सहायता करता है।

आंखो के लिए है फायदेमंद

इस फल के नियमित सेवन से आंखो की रोशनी शक्ति बढ़ती है।

कीवी कैसे काम करता है?

यह हर्बल सप्लीमेंट कैसे काम करता है, इसके संबंध में अभी कोई ज्यादा शोध उपलब्ध नहीं है। इस बारे में और अधिक जानकारी के लिए किसी हर्बलिस्ट या फिर किसी डॉक्टर से सम्पर्क करें। हालांकि कुछ शोध यह बताते हैं कि कीवी में विटामिन सी के अलावा दूसरे पदार्थ भी अधिकता में पाए जाते हैं, जिसकी वजह से कीवी अस्थमा से पीड़ित लोगों के लिए फायदेमंद होता है।

यह भी पढ़ें : Pumpkin : कद्दू क्या है?

कीवी से जुडी सावधानियां और चेतावनी

कीवी के सेवन से पहले मुझे इसके बारे में क्या-क्या जानकारी होनी चाहिए?

इसका इस्तेमाल करने से पहले आपको डॉक्टर या फार्मसिस्ट या फिर हर्बलिस्ट से सलाह लेनी चाहिए, यदि

  • आप गर्भवती हैं या स्तनपान कराती हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि जब आप बच्चे को फीडिंग कराती हैं तो अपने डॉक्टर के मुताबिक ही आपको दवाओं का सेवन करना चाहिए।
  • आप कोई दूसरी दवा लेते हैं जो कि बिना डॉक्टर की पर्ची के आसानी से मिल जाती हों जैसे कि हर्बल सप्लीमेंट।
  • अगर आपको कीवी और उसके दूसरे पदार्थों से या फिर किसी और दूसरे हर्ब्स से एलर्जी हो।
  • आप पहले से किसी तरह की बीमारी आदि से पीड़ित हों।
  • आपको पहले से ही खाने पीने वाली चीजों से, डाई से या किसी जानवर आदि से किसी तरह की एलर्जी हो।

हर्बल सप्लीमेंट के उपयोग से जुड़े नियम दवाओं के नियमों जितने सख्त नहीं होते हैं। इनकी उपयोगिता और सुरक्षा से जुड़े नियमों के लिए अभी और शोध की जरुरत है। इस हर्बल सप्लीमेंट के इस्तेमाल से पहले इसके फायदे और नुकसान की तुलना करना जरुरी है। इस बारे में और अधिक जानकारी के लिए किसी हर्बलिस्ट या आयुर्वेदिक डॉक्टर से संपर्क करें।

कीवी का सेवन कितना सुरक्षित है ?

इसको खाने के रूप में उपयोग करना पूरी तरह सुरक्षित है।

यह भी पढ़ें : Pear: नाशपाती क्या है?

कीवी से जुड़ी विशेष सवाधानी और चेतावनी

प्रेग्नेंसी और स्तनपान के दौरान: अगर कोई गर्भवती महिला या स्तनपान कराने वाली महिला इसका इस्तेमाल खाने में करती है तो यह बिल्कुल सुरक्षित है।

ब्लीडिंग की समस्या में: इसका इस्तेमाल ब्लड क्लॉटिंग को कम करके ब्लीडिंग को बढ़ा सकता है। आपको बता दें कि कीवी ब्लीडिंग डिसऑर्डर (Bleeding disorder) को और अधिक खराब कर देता है।

एलर्जी में: जिन लोगों को फल, मसालों जैसे एवोकैडो, बिर्च पॉलेन, अंजीर, अखरोट, लैटेक्स, पोस्ते का बीज,राई, सीसम का बीज या गेंहू आदि से एलर्जी है तो उन्हें इसका इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।

सर्जरी: आपको बता दें कि कीवी ब्लड क्लॉटिंग को कम करके ब्लीडिंग के खतरे को और अधिक बढ़ा देता है। इसलिए सर्जरी से दो हफ्ते पहले ही इसको खाना या उससे जुड़े किसी प्रोडक्ट्स को इस्तेमाल करना बंद कर देना चाहिए।

यह भी पढ़ें : Olive Oil : जैतून का तेल क्या है?

कीवी के साइड इफेक्ट

कीवी के सेवन से मुझे क्या साइड इफेक्ट हो सकते हैं?

जिन लोगों को इससे एलर्जी है उनके लिए इसका सेवन दिक्कत कर सकता है जैसे निगलने में दिक्कत, उल्टी, हीव्स आदि हो सकता है।

हालांकि हर किसी को ये साइड इफेक्ट हों ऐसा जरुरी नहीं है। कुछ ऐसे भी साइड इफेक्ट हो सकते हैं जो ऊपर बताए नहीं गए हैं। अगर आपको इनमें से कोई भी साइड इफेक्ट महसूस हो या आप इनके बारे में और जानना चाहते हैं तो नजदीकी डॉक्टर से संपर्क करें।

यह भी पढ़ेंः Moringa: सहजन क्या है?

कीवी से जुड़े परस्पर प्रभाव / कीवी से पड़ने वाले प्रभाव

कीवी के सेवन से अन्य किन-किन चीजों पर प्रभाव पड़ सकता है?

कीवी के सेवन से आपकी बीमारी या आप जो वतर्मान में दवाइयां खा रहे हैं उनके असर पर प्रभाव पड़ सकता है। इसलिए सेवन से पहले डॉक्टर से इस विषय पर बात करें।

यह भी पढ़ेंः Evodia: इवोडिया क्या है?

कीवी की खुराक

यहां पर दी गई जानकारी को डॉक्टर की सलाह का विकल्प ना मानें। किसी भी दवा या सप्लीमेंट का इस्तेमाल करने से पहले हमेशा डॉक्टर की सलाह जरुर लें।

आमतौर पर कितनी मात्रा में कीवी खाना चाहिए ?

इस हर्बल सप्लीमेंट की खुराक हर मरीज के लिए अलग हो सकती है। आपके द्वारा ली जाने वाली खुराक आपकी उम्र, स्वास्थ्य और कई चीजों पर निर्भर करती है। हर्बल सप्लीमेंट हमेशा सुरक्षित नहीं होते हैं। इसलिए सही खुराक की जानकारी के लिए हर्बलिस्ट या डॉक्टर से चर्चा करें।

कीवी किन रूपों में उपलब्ध है?

कीवी निम्नलिखित रूप में उपलब्ध है।

  • फल
  • फ्लूइड एक्सट्रेक्ट
  • पाउडर

हैलो हेल्थ किसी भी प्रकार की मेडिकल सलाह, निदान या सारवार नहीं देता है न ही इसके लिए जिम्मेदार है।

और पढ़ें:-

Peppermint : पुदीना क्या है?

Fig: अंजीर क्या है?

Guava: अमरूद क्या है?

 Chikungunya : चिकनगुनिया क्या है? जाने इसके कारण लक्षण और उपाय

संबंधित लेख:

    क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
    happy unhappy"
    सूत्र

    शायद आपको यह भी अच्छा लगे

    पीरियड्स के रंग खोलते हैं सेहत के राज

    जानिए पीरियड्स के रंग से सेहत का हाल in hindi. पीरियड्स के रंग अगर लाल रंग से अलग हैं, तो क्या Period Blood Color अस्वस्थ्य सेहत की ओर इशारा करता है?

    Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
    Written by Nidhi Sinha

    प्लास्टिक कुकवेयर के नुकसान से बचने के लिए क्या करें? जानें यहां

    प्लास्टिक कुकवेयर के नुकसान क्या हो सकते हैं in hindi. प्लास्टिक कुकवेयर के नुकसान से कैसे बचा जा सकता है? इसके के अलावा कैसे बर्तन खतरनाक होते हैं?

    Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
    Written by Nidhi Sinha

    12 प्रकार की दाल और उनके फायदे, खाते वक्त इनके बारे में सोचा भी नहीं होगा आपने

    जानिए दाल के अलग-अलग प्रकार in hindi. दाल के फायदे, क्या आप जानते हैं दाल के सेवन से कैंसर जैसी कौन-कौन सी बीमारियों से बचा जा सकता है?

    Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
    Written by Nidhi Sinha

    Glutathione Glow: ग्लूटाथियोन ग्लो से बढ़ाएं शादी के दिन चेहरे की रौनक

    जानिए ग्लूटाथियोन से कैसे चेहरे पर लाएं ग्लो in hindi. ग्लूटाथियोन को ब्राइडल पिल के नाम से क्यों जाना जाता है? Glutathione का सेवन कैसे करना चाहिए?

    Written by Nidhi Sinha