मधुमेह के रोगियों में बीएमआई और स्वास्थ्य में क्या संबंध है?

    मधुमेह के रोगियों में बीएमआई और स्वास्थ्य में क्या संबंध है?

    मधुमेह के रोगियों में बीएमआई और स्वास्थ्य (BMI and health in diabetic patients) में बहुत गहरा संबंध है? अधिक बीएमाआई में लोगों में मोटापे के साथ डायबिटीज टाइप 2 का कारण भी बन सकता है।इसलिए डायबिटीज के मरीजों के लिए एक्सरसाइज काफी प्रभावकारी मानी जाती है। इंसुलिन की कमी होने पर शरीर में खाना एनर्जी के रूप में कंवर्ट होने की जगह ग्लूकोज के रूप में रक्त में शामिल हो जाता है। जैसा कि डायबिटीज पेशेंट में पर्याप्त एनर्जी नहीं बन पाती है, तो इस लिए उन्हें कई तरह की दिक्कतें आती हैं। इसलिए डायबिटीज पेशेंट के लिए जरूरी है कि वो मेडिकेशन के साथ अच्छी डायट लें और एक्सरसाइज करें। हम यहां बात करने जा रहे हैं। मधुमेह के रोगियों में बीएमआई और स्वास्थ्य (BMI and health in diabetic patients) के बारे में जाने यहां:

    और पढ़ें: टाइप 2 डायबिटीज के लॉन्ग टर्म कॉम्प्लीकेशन में शामिल हो सकती हैं ये समस्याएं!

    डायबिटीज क्या है (What is diabetes)?

    डायबिटीज मेलेटस, जिसे आमतौर पर मधुमेह के रूप में जाना जाता है, एक चयापचय रोग है जो उच्च रक्त शर्करा का कारण बनता है। हार्मोन इंसुलिन रक्त से शर्करा को ऊर्जा के लिए संग्रहीत या उपयोग करने के लिए आपकी कोशिकाओं में ले जाता है। मधुमेह के साथ, आपका शरीर या तो पर्याप्त इंसुलिन नहीं बनाता है या वह जो इंसुलिन बनाता है उसका प्रभावी ढंग से उपयोग नहीं कर सकता है। मधुमेह की उच्च रक्त शर्करा आपकी नसों, आंखों, गुर्दे और अन्य अंगों को नुकसान पहुंचा सकता है।

    डायबिटीज के कुछ अलग प्रकार हैं :

    • टाइप 1 मधुमेह एक ऑटोइम्यून डिजीज है। इसमें प्रतिरक्षा प्रणाली अग्न्याशय में कोशिकाओं पर हमला करती है और उन्हें डैमेज कर देती हैं, जिससे इंसुलिन का निमार्ण होता है। मधुमेह वाले लगभग 10 प्रतिशत लोगों में यह प्रकार होता है।
    • टाइप 2 डायबिटीज तब होता है, जब आपका शरीर इंसुलिन के लिए प्रतिरोधी हो जाता है यानि कि इंसुलिन का निमार्ण तो होता है, लेकिन शरीर उसका इस्तेमाल नहीं कर पाता है। जिसका कारण ग्लूकाेज रक्त में मिल जाता है।
    • प्रीडायबिटीज तब होती है जब आपकी रक्त शर्करा सामान्य से अधिक होती है, लेकिन यह टाइप 2 मधुमेह के निदान के लिए पर्याप्त नहीं है।
    • गर्भावधि मधुमेह गर्भावस्था के दौरान उच्च रक्त शर्करा है। प्लेसेंटा द्वारा उत्पादित इंसुलिन-अवरुद्ध हाॅर्मोन इस प्रकार के मधुमेह का कारण बनते हैं।

    और पढ़ें: डायबिटीज के लिए एक्यूपंक्चर थेरिपी, कंट्रोल हो सकती है आपकी बढ़ी हुई शुगर

    मधुमेह के सामान्य लक्षणों में शामिल हैं:

    • बढ़ी हुई भूख होना
    • अधिक प्यास लगना
    • तेजी से वजन घटना
    • जल्दी-जल्दी पेशाब आना
    • धुंधली दृष्टि
    • अत्यधिक थकान महसूस होना
    • घाव जो ठीक नहीं होते हैं।

    प्रत्येक प्रकार के मधुमेह के विशिष्ट लक्षण, कारण और उपचार डायबिटीज के टाइप और स्टेज पर निर्भर करता है। इसी के साथ यह बात भी महत्पपूर्ण है कि डायबिटीज का लेवल क्या या आपकी डायबिटीज कितनी बढ़ी हुई है।

    और पढ़ें: क्या है पैनक्रियाज और डायबिटीज के बीच संबंध? जानते हैं आप?

    बीएमआई क्या है (What is BMI) ?

    बॉडी मास इंडेक्स, या बीएमआई, शरीर के आकार का एक माप है। यह किसी व्यक्ति के वजन को उसकी ऊंचाई के अनुसार उसके सही वजन के बारे में बताती है। यानि कि बीएमआई माप के परिणाम इस बात का अंदाजा लगा सकते हैं कि किसी व्यक्ति का वजन उसकी ऊंचाई के लिए सही है या नहीं। बीएमआई एक स्क्रीनिंग टूल है, जो यह बता सकता है कि किसी व्यक्ति का वजन कम है या उनका वजन स्वस्थ है, अधिक वजन है या मोटापे के शिकार है। क्योंकि मोटापा डायबिटीज का कारण बन सकता है। यदि किसी व्यक्ति का बीएमआई स्वस्थ सीमा से बाहर है, तो उनके स्वास्थ्य जोखिम में काफी वृद्धि हो सकती है। बहुत अधिक वजन उठाने से कई प्रकार की स्वास्थ्य स्थितियां हो सकती हैं, जैसे कि टाइप 2 डायबिटीज के अलावा, उच्च रक्तचाप और हृदय संबंधी समस्याएं। बहुत कम वजन से कुपोषण, ऑस्टियोपोरोसिस और एनीमिया का खतरा बढ़ सकता है।

    और पढ़ें: टाइप 2 डायबिटीज में सल्फोनिल्युरिएस : डायबिटीज की इस दवा के बारे में जानते हैं आप?

    डायबिटीज और बीएमाआई में संबंध (Relationship between diabetes and BMI)

    उच्चतम बीएमआई समूह (औसत 34.5 किग्रा / एम 2) में सबसे कम बीएमआई समूह (औसत 21.7 किग्रा / एम 2) के प्रतिभागियों की तुलना में मधुमेह का 11 गुना बढ़ा जोखिम था। अधिक बीएमआई वाले लोगों में मोटापे के साथ डायबिटीज टाइप-2 का खतरा अधिक होता है। कई लीड्स विश्वविद्यालय के शोधकर्ता यह समझने की कोशिश कर रहे हैं कि मधुमेह हमारे रक्त वाहिकाओं को कैसे और क्यों नुकसान पहुंचाता है। ताकि इस क्षति को रोकने के लिए उपचार खोजने की उम्मीद की जा सके। जांचकर्ताओं का यह भी मानना है कि उच्च बीएमआई वाले लोगों में मधुमेह की संभावना और भी अधिक होगी यदि वे लंबे समय तक अधिक वजन के साथ रहते हैं, यानि कि अपने मोटापे को कंट्रोल नहीं करते हैं तो डायबिटीज कंट्रोल करना भी मुश्किल होता है।

    और पढ़ें: टाइप 2 डायबिटीज में विटामिन डी सप्लिमेंट्स के उपयोग से बच सकते हैं इन तकलीफों से

    डायबिटीज में एक्सरसाइज को लेकर एक्सपर्ट की राय (Expert opinion about exercise in diabetes)

    डायबिटीज में वेट लिफ्टिंग एक्सरसाइज (Weight lifting exercise in diabetes) की बात करें, तो डायबिटीज पेशेंट को नियमित रूप से एक्सरसाइज जरूर करना चाहिए। एक्सरसाइज, उनके शरीर में इंसुलिन प्रतिरोध को कम करके इंसुलिन के उत्पादन को अच्छा बनाता है। नियमित एकसरसाइज करने के डायबिटीज के मरीजों में कई फायदे हैं। इससे सेल्स (Cells) को शर्करा प्राप्त होती है और ब्लड शुगर भी नियंत्रित रहता है। वेट लिफ्टिंग करने से टाइप 2 डायबिटीज की समस्या में बहुत आराम मिलता है। इतना ही नहीं, डायबिटीज में वेट लिफ्टिंग एक्सरसाइज के कई हेल्थ बेनेफिट (Health Benefits) भी हैं, जैसे कि डायबिटीज एवं अन्य तरह की क्रॉनिक डिजीज (Chronic disease) का रिस्क कम होता है। शारीरिक रूप से आप एक्टिव भी रहते हैं और मांसपेशियां मजबूत बनी रहती है। लेकिन एक्सरसाइज के साथ कुछ बातों का ध्यान रखें, जैसे कि एक्सरसाइज से पहले रक्त शर्करा के स्तर की जांच जरूर करें। शुगर लेवल बहुत कम या बहुत अधिक नहीं होना चाहिए। उन स्तरों के आधार पर दवा या इंसुलिन की खुराक लें, लेकिन डॉक्टर की सलाह के अनुसार ही लेना चाहिए। आप व्यायाम से 30 से 60 मिनट पहले एक प्री-वर्कआउट स्नैक खाएं, ताकि आपके शुगर का लेवल मैंटेन रहे। यदि आप स्ट्रेंथ ट्रेनिंग में नए हैं, तो हफ्ते में कम से कम 2 दिन से स्ट्रेंथ ट्रेनिंग की शुरुआत करें। यह शरीर की सभी प्रमुख मांसपेशियों को मजबूत और टोंड बनाने में मददगार है। अनुभवी लोगों को स्क्वाट, डेडलिफ्ट्स, बेंच प्रेस, लेग प्रेस, पुल-अप्स, बेंट-ओवर रो, शोल्डर प्रेस और डिप्स जैसे वेट लिफ्टिंग एक्सरसाइज करें।

    और पढ़ें: अनियंत्रित डायबिटीज से जुड़ी स्थिति डायबिटिक कोमा का इस तरह से संभव है सही उपचार!

    मधुमेह के रोगियों में बीएमआई, स्वास्थ्य और मृत्यु दर का संघ (Association Of BMI, Fitness, And Mortality In Patients With Diabetes)

    मधुमेह के रोगियों में बीएमआई और मृत्यु दर के बीच संबंध पर फिटनेस के प्रभाव का निर्धारण करने के लिए हेनरी फोर्ड एक्सर्साइज टेस्टिंग प्रोजेक्ट (FIT प्रोजेक्ट) से मधुमेह के 8,528 रोगियों की पहचान की (स्व-रिपोर्ट, दवा का उपयोग, या इलेक्ट्रॉनिक मेडिकल रिकॉर्ड निदान)। बीएमआई <18.5 किग्रा / एम 2 या कैंसर वाले मरीजों को बाहर रखा गया। फिटनेस को चिकित्सक-संदर्भित ट्रेडमिल तनाव परीक्षण के दौरान हासिल किए गए एमईटी के रूप में मापा गया और निम्न (<6), मध्यम (6-9.9), और उच्च (≥10) के रूप में वर्गीकृत किया गया। मृत्यु दर के लिए समायोजित जोखिम अनुपात की गणना मानक बीएमआई (किलोग्राम प्रति मीटर वर्ग) सामान्य कटऑफ (18.5-24.9), अधिक वजन (25-29.9), और मोटापे (≥30) का उपयोग करके की गई थी। निरंतर चर के रूप में बीएमआई की जांच करने के लिए 22.5 किग्रा / एम 2 पर केंद्रित समायोजित स्प्लिन का उपयोग किया गया था। परिणाम: उच्च बीएमआई मुख्य रूप से सबसे कम फिटनेस समूह में कम मृत्यु दर जोखिम के साथ और मध्यम फिटनेस और बीएमआई 30 किग्रा / एम 2 वाले रोगियों में जुड़ा हुआ था।

    जब लोग एक निश्चित बीएमआई सीमा को पार करते हैं, तो उनके मधुमेह की संभावना बढ़ जाती है और वे उसी उच्च जोखिम वाले स्तर पर बने रहते हैं, भले ही उनका वजन कितना भी अधिक क्यों न हो।” इस बारे में एसोसिएट मेडिकल डायरेक्टर, प्रोफेसर जेरेमी पियर्सन ने कहा: “लगभग आधे मिलियन लोगों में मोटापा यानि कि अधिक बीएमआई टाइप 2 मधुमेह के लिए पहले से अधिक महत्वपूर्ण जोखिम कारक है। जब किसी का बीएमआई उनकी व्यक्तिगत सीमा से ऊपर चला जाता है, तो रक्त शर्करा का स्तर बढ़ जाता है, जिससे टाइप 2 मधुमेह की शुरुआत हो जाती है, जिससे रक्त वाहिकाओं को नुकसान हो सकता है और हृदय और संचार संबंधी बीमारियों के विकास का खतरा बढ़ सकता है।तो ऐसे में बीएमआई को नियमित रूप से मापने और ट्रेक करने से डायबिटीज जैसे कई हेल्थ प्रॉब्लम से बचा जा सकता है। मधुमेह के रोगियों में बीएमआई और स्वास्थ्य के बारे में अधिक जानकारी के लिए डॉक्टर से संपर्क करें।

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    सूत्र

    Association Of BMI, Fitness, And Mortality In Patients With Diabetes : https://www.researchgate.net/publication/338647241_Association_of_BMI_Fitness_and_Mortality_in_Patients_With_Diabetes_Evaluating_the_Obesity_Paradox_in_the_Henry_Ford_Exercise_Testing_Project_FIT_Project_Cohort Accessed 3 Feb,2022

    Diabetes Care: https://diabetesjournals.org/care/article/43/3/677/35631/Association-of-BMI-Fitness-and-Mortality-in Accessed 3 Feb,2022

     Association Of BMI, Fitness, And Mortality In Patients With Diabetes: https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/31949085/ Accessed 3 Feb,2022

    Association Of BMI, Fitness, And Mortality In Patients With Diabetes: https://www.diabetesincontrol.com/the-correlation-between-bmi-fitness-and-mortality-in-patients-with-diabetes/ Accessed 3 Feb,2022

    Association Of BMI, Fitness, And Mortality In Patients With Diabetes: https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC8494247/  Accessed 3 Feb,2022

    लेखक की तस्वीर badge
    Niharika Jaiswal द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 03/02/2022 को
    डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड