home

आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

डायबिटीज और स्ट्रेस का क्या है संबंध, क्या तनाव के कारण हो सकती है ये गंभीर बीमारी?

डायबिटीज और स्ट्रेस का क्या है संबंध, क्या तनाव के कारण हो सकती है ये गंभीर बीमारी?

हम सभी ने सुना है कि अच्छी लाइफ स्टाइल अपनाने से शरीर लंबे समय तक स्वस्थ रहता है और कई बीमारियों से दूर रहता है। अगर लाइफस्टाइल बेहतर नहीं है, तो आपको एक नहीं बल्कि 100 बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है। आजकल की भाग दौड़ भरी जिंदगी में सभी को आगे निकलना है। रेस का हिस्सा तो सभी लेकिन सभी को स्ट्रेस दूर रहने की सलाह दी जाती है। हालांकि यह बहुत ही कठिन काम है क्योंकि जिस तरह से लोग दिन-रात काम करते हैं, स्ट्रेस होना लाजमी है। स्ट्रेस को कम करने के लिए कई तरीके अपनाएं जा सकते हैं लेकिन अगर आप इस पर ध्यान नहीं देते हैं, तो आपको अन्य कई बीमारियों का सामना करना पड़ सकता है। स्ट्रेस के कारण डायबिटीज (Diabetes due to stress) या तनाव के कारण डायबिटीज का खतरा भी बढ़ जाता है।

हो सकता है कि आपको सुनकर हैरानी महसूस हो रही हो, लेकिन ये बात बिल्कुल सच है। स्ट्रेस और डायबिटीज एक दूसरे से संबंधित हैं। जिन लोगों को पहले से ही डायबिटीज की समस्या है, अगर उन लोगों को अधिक स्ट्रेस रहता है, तो ऐसे में डायबिटीज में सुधार की संभावना कम हो जाती है। आज इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको स्ट्रेस के कारण डायबिटीज या तनाव के कारण डायबिटीज संबंधित परेशानियों के बारे में जानकारी देंगे और साथ ही इस स्ट्रेस और डायबिटीज को कैसे रोका जाए, इस बारे में भी बताएंगे।

और पढ़ें: टाइप 2 डायबिटीज में मेटफॉर्मिन और एक्सरसाइज एक दूसरे को कर सकती हैं प्रभावित! जानिए कैसे

स्ट्रेस के कारण डायबिटीज (Diabetes due to stress)

स्ट्रेस के कारण डायबिटीज

हम सभी यह जानते हैं कि डायबिटीज की बीमारी खानपान की खराबी या फिर खराब लाइफस्टाइल के कारण होती है। कम ही लोगों को यह जानकारी है कि डायबिटीज की बीमारी का कारण स्ट्रेस भी हो सकता है। अगर किसी व्यक्ति को डायबिटीज की समस्या है और ऐसे में अगर वह अधिक तनाव में रहता है, तो उसके ब्लड में शुगर का लेवल (Blood sugar level) बढ़ता है। यानी डायबिटीज पेशेंट की हालत ज्यादा खराब हो जाती है। जिन लोगों को डायबिटीज की समस्या नहीं है लेकिन वह अधिक तनाव में रहते हैं, तो उनमें डायबिटीज होने की संभावना बढ़ जाती है। स्ट्रेस के कारण टाइप 2 डायबिटीज (Type 2 diabetes) का खतरा अधिक पड़ जाता है

तनाव शारीरिक या फिर मानसिक हो सकता है। तनाव का मतलब है किसी भी बात को लेकर चिंता करना या फिर किसी भी चीज को लेकर बहुत ज्यादा विचार करना। ऐसे में व्यक्ति को प्रेशर न झेल पाने की स्थिति में पाता है। इस कारण से शरीर में हॉर्मोन पैदा होते हैं और शरीर अधिक ग्लूकोस का इस्तेमाल करता है। शारीरिक और मानसिक दोनों प्रकार के तनाव डायबिटीज की बीमारी को बढ़ा सकते हैं। स्ट्रेस के कारण डायबिटीज (Diabetes due to stress) या तनाव के कारण डायबिटीज की गंभीर स्थिति का सामना करना पड़ सकता है।

और पढ़ें:ह्यूमिनसुलिन 50/50: डायबिटीज में इस इंसुलिन के इस्तेमाल के बारे में क्या जानकारी है आपको?

स्ट्रेस किन कारणों से हो सकता है?

तनाव के एक नहीं बल्कि कई कारण होते हैं। व्यक्ति के ऊपर घर परिवार के जिम्मेदारी होती है। ऑफिस में काम को लेकर जिम्मेदारी भी कहीं न कहीं तनाव का कारण बन सकती है। ऑफिस में सही से काम न कर पाने पर तनाव, घर में सुखद माहौल न होने के कारण तनाव, खुद की इच्छाओं की पूर्ति ना हो पाना या फिर किसी काम का ना हो पाना, बच्चों की जिम्मेदारी का दबाव, आर्थिक स्थिति को लेकर तनाव, मन का न हो पाने पर तनाव आदि परेशानियां तनाव का कारण बन सकती हैं। यदि आप शारीरिक तनाव का अनुभव करते हैं, जैसे कि आप बीमार हैं या घायल हैं, तो भी ब्लड शुगर का लेवल बढ़ने लगता है। कई बार गुड स्ट्रेस (Good stress) भी आपकी समस्याओं को बढ़ाने का काम कर सकता है। स्ट्रेस के कारण डायबिटीज (Diabetes due to stress) या तनाव के कारण डायबिटीज की समस्या का सामना किसी को भी करना पड़ सकता है।

और पढ़ें: क्या किया जा सकता है डायबिटीज में शुगर एल्कोहॉल का इस्तेमाल? पढ़ें और करें तय!

स्ट्रेस के कारण डायबिटीज: स्ट्रेस को करें ट्रेक (Track your stress)

तनाव के कारण आपके ब्लड में शुगर का लेवल बढ़ रहा है या फिर नहीं, यह आपको ब्लड शुगर लेवल की जांच करने के बाद ही पता चलेगा। आपको जब भी कभी स्ट्रेस की समस्या रहती हो या फिर आप बहुत ज्यादा परेशान हो जाते हैं,तो ऐसे समय में अपना ब्लड शुगर लेवल (Blood sugar level) जरूर चेक करना चाहिए। आप जब नॉर्मल महसूस करते हैं, तब भी अपना ब्लड शुगर लेवल चेक कर सकते हैं। ऐसा करने से आपको बढ़े हुए ब्लड शुगर के बारे में जानकारी मिल जाएगी। आप चाहे तो इस बारे में डॉक्टर से परामर्श कर सकते हैं कि कैसे ब्लड शुगर लेवल को चेक किया जाए।

क्या डायबिटीज के कारण हो सकता है स्ट्रेस?

जी हां! डायबिटीज के कारण भी स्ट्रेस की समस्या हो सकती है। डायबिटीज या फिर कोई अन्य गंभीर बीमारी व्यक्ति को तनाव दे सकता है। ऐसे में ब्लड में शुगर का लेवल अधिक बढ़ जाता है और डायबिटीज भी अधिक गंभीर बन जाती है। ऐसी स्थिति में ब्लड ग्लूकोज को कंट्रोल में रखना कठिन हो जाता है। अधिक स्ट्रेस होने पर कोर्टिसोल स्ट्रेस हॉर्मोन रिलीज होता है, जो ब्लड में शुगर के लेवल को बढ़ाने का काम करता है। कोर्टिसोल का शरीर में लेवल बढ़ने पर कुशिंग सिंड्रोम (Cushing’s syndrome) जैसी स्थितियों को जन्म दे सकता है, जो डायबिटीज का कारण भी हो सकता है।

और पढ़ें: टाइप 2 डायबिटीज मैनेजमेंट हो सकता है आसान, अगर आप रखेंगे इन 7 बातों का ध्यान

स्ट्रेस के कारण डायबिटीज: इन बातों को रखें ध्यान!

डायबिटीज या फिर स्ट्रेस की समस्या को दूर करने के लिए आपको अपनी लाइफ स्टाइल में कुछ बदलाव करना जरूरी है। अगर आप कुछ बातों का ध्यान रखते हैं, तो डायबिटीज के साथ-साथ तनाव की समस्या से भी आपको राहत मिल सकती है। आपको अपने खाने में हेल्दी फूड्स को शामिल करना चाहिए। बाजार से मिलने वाले पैकेट बंद फूड्स या फिर बाहर के खाने को एवॉइड करें और घर में बना हेल्दी खाना ही खाएं।

  • आपको अगर हेल्दी शरीर चाहिए तो उसके लिए बेहद जरूरी है कि आप पूरी नींद लें। कुछ लोग बहुत कम नींद लेते हैं, जिसके कारण उनके शरीर को आराम नहीं मिल पाता है। कहीं ना कहीं ये भी स्ट्रेस का एक कारण बन जाता है।
  • अगर आपको तनाव की समस्या है और आपको नींद नहीं आ रही है, तो ऐसे में आपको मेडिटेशन का सहारा लेना चाहिए। रोजाना एक्सरसाइज करने से भी आप ब्लड शुगर को कंट्रोल में रख सकते हैं।
  • अगर आपको स्ट्रेस के साथ ही डायबिटीज है, तो बहुत जरूरी हो जाता है कि आप अपने खानपान में ध्यान रखने के साथ ही मेडिटेशन (Meditation) भी जरूर करें।
  • तनाव को दूर करने का बेहतर तरीका है कि आपको जिस भी चीज से परेशानी हो रही है या फिर आपको जो भी बात परेशान कर रही है वह आप अपने फ्रेंड या अपनों से जरूर शेयर करें ऐसा करने से आपका तनाव काफी हद तक कम हो जाएगा

और पढ़ें: डायबिटीज में ड्रैगन फ्रूट के फायदे जानते हैं आप?

इस आर्टिकल में हमने आपको स्ट्रेस के कारण डायबिटीज (Diabetes due to stress) या तनाव के कारण डायबिटीज के बारे में बारे में जानकारी दी है। उम्मीद है आपको हैलो हेल्थ की दी हुई जानकारियां पसंद आई होंगी। अगर आपको स्ट्रेस के कारण डायबिटीज के संबंध में अधिक जानकारी चाहिए, तो हमसे जरूर पूछें। हम आपके सवालों के जवाब मेडिकल एक्स्पर्ट्स द्वारा दिलाने की कोशिश करेंगे।

health-tool-icon

बीएमआई कैलक्युलेटर

अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की जांच करने के लिए इस कैलक्युलेटर का उपयोग करें और पता करें कि क्या आपका वजन हेल्दी है। आप इस उपकरण का उपयोग अपने बच्चे के बीएमआई की जांच के लिए भी कर सकते हैं।

पुरुष

महिला

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Bhawana Awasthi द्वारा लिखित आखिरी अपडेट एक हफ्ते पहले को
Sayali Chaudhari के द्वारा मेडिकली रिव्यूड