home

आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

डायबिटीज और वेट लॉस के लिए मेडिकेशन : वेट मैनेजमेंट के लिए जानें ये बातें

डायबिटीज और वेट लॉस के लिए मेडिकेशन : वेट मैनेजमेंट के लिए जानें ये बातें

क्या टाइप 2 डायबिटीज की दवाएं हैं लोगों को अपना वजन कम करने में मदद कर सकती हैं? कंपनी द्वारा की गई एक स्टडी से पता चलता है कि टाइप 2 डायबिटीज के इलाज के लिए इस्तेमाल की जाने वाली दवाओं का एक ग्रुप वेट लॉस के लिए इफेक्टिव हो सकता है। ये दवाएं न केवल ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करती है बल्कि वजन कम (weight loss) करने के लिए भी जानी जाती है। लेकिन, क्या इन डायबिटीज और वेट लॉस के लिए मेडिकेशन (Medication for diabetes and weight loss) के क्या कुछ साइड इफेक्ट्स भी है? डायबिटीज और वेट लॉस के लिए मेडिकेशन (Medication for diabetes and weight loss) से कितना वजन कम हो सकता है? आइये, जानते है सबकुछ इस आर्टिकल में ।

और पढ़ें: टाइप 2 डायबिटीज का ट्रीटमेंट आसान बनाती हैं ये दवाएं, ब्लड शुगर को कम करने में करती हैं मदद

डायबिटीज और वेट लॉस के लिए मेडिकेशन (Medication for diabetes and weight loss) : क्या कहती है रिपोर्ट?

डायबिटीज, ओबेसिटी और मेटाबॉलिज्म जर्नल में पब्लिश हुई एक स्टडी में बताया गया है कि सेमाग्लूटाइड (semaglutide) गैस्ट्रिक एम्प्टयिंग (gastric emptying) में देरी नहीं कर रही थी, लेकिन प्लेसबो लेने वालों की तुलना में दवा लेने वालों में एनर्जी इन्टेक 35 प्रतिशत कम हो गया था।

स्टडी में यह भी बताया गया कि जिन लोगों ने डायबिटीज और वेट लॉस के लिए मेडिकेशन लिया था, उन्हें कम भूख लगी और खाने में उनकी दिलचस्पी भी कम थी, साथ ही खाने के बाद उन्हें फुल महसूस हुआ। सेमाग्लूटाइड लेने वाले एक स्टडी ग्रुप के बीच 15-18 प्रतिशत वजन घटाने की रिपोर्ट मिली थी। साथ ही जो लोग ओबेसिटी और ज्यादा वजन वाले थे, ऐसे लोगों ने वेट लॉस ज्यादा अच्छी तरह से किया था।

रिपोर्ट में यह भी मिला कि सेमाग्लूटाइड (Semaglutide), डायबिटीज के इलाज के लिए 1 मिलीग्राम की तुलना में, साप्ताहिक 2.4 मिलीग्राम की डोज जब पेशेंट्स को दी गई तो उनकी भूख सरप्रेस हो गई थी। साथ फ़ूड क्रेविंग्स की स्ट्रेंथ को भी कमजोर कर दिया। ओबेसिटी और वेट मैनेजमेंट (weight management) वाले लोगों में फूड क्रेविंग्स (food cravings) अक्सर उन्हें अनहेल्दी और ओवरईटिंग (overeating) करने की ओर ले जाती है।

और पढ़ें: डायबिटीज टाइप 2 में इंसुलिन इंजेक्शन से जुड़ी जानकरी!

डायबिटीज और वेट लॉस के लिए मेडिकेशन : ये दवाएं हो सकती हैं कारगर (These drugs can be effective)

टाइप 2 डायबिटीज की दवाओं का एक ग्रुप है जो न केवल ब्लड शुगर कंट्रोल में सुधार करता है बल्कि वजन घटाने का कारण भी बन सकता है। दवाओं के इस ग्रुप को आमतौर पर ग्लूकागन लाइक पेप्टाइड 1 (जीएलपी -1) एगोनिस्ट (glucagon-like peptide 1 (GLP-1) agonists) कहा जाता है। वेट कम करने और बेहतर ब्लड शुगर कंट्रोल से जुड़ी दवाओं का एक अन्य ग्रुप सोडियम ग्लूकोज कोट्रांसपोर्टर 2 (एसजीएलटी -2) इन्हिबिटर्स (sodium glucose cotransporter 2 (SGLT-2) inhibitors) है। इनमें कैनाग्लिफ्लोजिन/canagliflozin (इनवोकाना/Invokana), डैपाग्लिफ्लोज़िन/dapagliflozin (फ़ार्क्सिगा/Farxiga) और एम्पाग्लिफ़्लोज़िन/empagliflozin (जार्डियन्स/Jardiance) शामिल हैं।

और पढ़ें: टाइप 2 डायबिटीज में सल्फोनिल्युरिएस : डायबिटीज की इस दवा के बारे में जानते हैं आप?

डायबिटीज और वेट लॉस के लिए मेडिकेशन से कितना वजन कम (Weight Control) हो सकता है?

आपके द्वारा उपयोग की जाने वाली GLP-1 मेडिकेशन और आपकी डोज के आधार पर वेट लॉस सबके लिए अलग-अलग हो सकता है। लेकिन इन दवाओं का उपयोग करते समय वजन घटाने का औसत लगभग 3 से 5.5 पाउंड (1.5 से 2.5 किलोग्राम या किग्रा) हो सकता है। यदि आप एक्टिव तरीके से लाइफस्टाइल में बदलाव के जरिए अपना वजन कम करने की कोशिश कर रहे हैं और इनमें से किसी एक दवा का उपयोग कर रहे हैं, तो शोध से पता चला है कि दवाओं से लगभग 6 से 9 पाउंड (2.8 से 4.2 किग्रा) अतिरिक्त वजन घट सकता है।

डायबिटीज और वेट लॉस के लिए मेडिकेशन में शामिल हैं ये दवाएं, GLP-1 एगोनिस्ट क्लास में डायबिटीज की दवाओं में शामिल हैं:

  • ड्यूलग्लूटाइड/Dulaglutide (ट्रुलिसिटी/Trulicity), साप्ताहिक इंजेक्शन द्वारा लिया जाता है

  • एक्सेनाटाइड/Exenatide एक्सटेंडेड रिलीज (Bydureon), साप्ताहिक इंजेक्शन द्वारा लिया जाता है

  • एक्सेनाटाइड/Exenatide (बाइटा/Byetta), इंजेक्शन द्वारा दिन में दो बार लिया जाता है

  • सेमाग्लूटाइड/Semaglutide (ओज़ेम्पिक/Ozempic), साप्ताहिक रूप से इंजेक्शन द्वारा लिया जाता है

  • सेमाग्लूटाइड/Semaglutide (Rybelsus/रयबेलसस), दिन में एक बार ओरली लिया जाता है

  • लिराग्लूटाइड/Liraglutide (विक्टोज़ा/Victoza), प्रतिदिन इंजेक्शन द्वारा लिया जाता है

  • लिक्सिसेनाटाइड/Lixisenatide (Adlyxin/एडलीक्सिन), प्रतिदिन इंजेक्शन द्वारा लिया जाता है

  • और पढ़ें: Banana in diabetes: डायबिटीज में केला खाना चाहिए या नहीं?

    डायबिटीज और वेट लॉस के लिए मेडिकेशन : किस तरह दवाएं (Medication) काम करती है?

    ये दवाएं ग्लूकागन-लाइक पेप्टाइड 1 (glucagon-like peptide 1) नामक एक हार्मोन की क्रिया की तरह कार्य करती हैं। जब किसी के खाने के बाद ब्लड शुगर लेवल बढ़ना शुरू हो जाता है, तो ये मेडिसिन शरीर को अधिक इंसुलिन सेक्रेट करने के लिए स्टिमुलेट करती हैं। एक्स्ट्रा इंसुलिन ब्लड शुगर के लेवल को कम करने में मदद करता है।

    ब्लड शुगर का कम हुआ लेवल टाइप 2 डायबिटीज को कंट्रोल करने में हेल्पफुल होता है, लेकिन यह बिल्कुल स्पष्ट नहीं है कि जीएलपी -1 दवाएं वजन घटाने में कैसे मददगार होती हैं। वैसे एक्सपर्ट्स की मानें तो GLP-1s भूख को दबाने में मदद करती हैं। ये दवाएं पेट से छोटी आंत में फूड मूवमेंट को भी धीमा कर देती हैं। नतीजतन, आपका पेट लंबे समय तक भरा हुआ महसूस करता है, इसलिए आप कम खाते हैं।

    और पढ़ें: डायबिटीज में नेटेल टी या नेटल लीफ के क्या होते हैं फायदे, जानिए यहां!

    डायबिटीज और वेट लॉस के लिए मेडिकेशन के अन्य फायदे (Benefits) क्या हैं?

    ब्लड शुगर को कंट्रोल करने और वेट कम करने को बढ़ावा देने में मदद करने के साथ-साथ, GLP-1s और SGLT-2 इन्हिबिटर्स के अन्य लाभ भी हैं। स्टडी में पाया गया है कि दवाओं के इन क्लास में कुछ दवाएं हार्ट डिजीज के रिस्क को कम कर सकती हैं, जिसमें हार्ट फेलियर (heart failure), स्ट्रोक (stroke), किडनी डिजीज (kidney disease) भी शामिल है। इन दवाओं को लेने वाले लोगों ने अपने ब्लड प्रेशर और कोलेस्ट्रॉल के लेवल में सुधार देखा है, हालांकि यह स्पष्ट नहीं है कि ये बेनेफिट्स दवा से हैं या वजन घटाने से हैं।

    और पढ़ें: डायबिटीज के लिए नारियल पानी फायदेमंद है, जानिए इसके हेल्थ बेनिफिट्स के बारे में

    डायबिटीज और वेट लॉस के लिए मेडिकेशन (GLP-1) के साइड इफेक्ट्स क्या हैं?

    GLP-1 दवाओं का नेगेटिव साइड यह है कि एक को छोड़कर सभी को इंजेक्शन द्वारा लेना पड़ता है। और, किसी भी दवा की तरह, इनके भी साइड इफेक्ट का खतरा होता है, जिसमें से कुछ गंभीर भी हो सकते हैं। कुछ समय तक दवा लेने के बाद ज्यादा कॉमन साइड इफेक्ट्स आमतौर पर सुधर जाते हैं। अधिक सामान्य दुष्प्रभावों में से कुछ हैं:

    लो ब्लड शुगर लेवल (हाइपोग्लाइसीमिया/hypoglycemia) डायबिटीज और वेट लॉस के लिए मेडिकेशन GLP-1 क्लास की दवाओं से जुड़ा एक ज्यादा सीरियस रिस्क है। लेकिन लो ब्लड शुगर लेवल का रिस्क आमतौर पर केवल तभी बढ़ जाता है जब आप एक ही समय में ब्लड शुगर को कम करने के लिए कोई अन्य दवा ले रहे हों, जैसे कि सल्फोनिलूरियस (sulfonylureas) या इंसुलिन।

    और पढ़ें: डायबिटीज में गुडुची: ब्लड शुगर को कंट्रोल करने के साथ ही डायबिटीज कॉम्प्लिकेशन्स को कम करने में भी मददगार!

    डायबिटीज और वेट लॉस के लिए मेडिकेशन (GLP-1) : इनके लिए है मनाही

    यदि आपको मेडुलरी थायरॉयड कैंसर (medullary thyroid cancer) या मल्टीपल एंडोक्राइन नेओप्लासिया (multiple endocrine neoplasia) की पर्सनल या फैमिली हिस्ट्री इतिहास है, तो दवाओं के GLP-1 क्लास की रेकमेंडेशन आपको नहीं की जाएगी। लैब स्टडीज ने इन दवाओं के इस्तेमाल को चूहों में थायरॉयड ट्यूमर (thyroid tumors) से लिंक किया है। हालांकि, जब तक इन दवाओं के इस्तेमाल का कोई भी रिस्क इंसान पर पता नहीं चलता है, तब तक इनका सेवन डॉक्टर की सलाह से किया जा सकता है। पैंक्रिअटिटिस (pancreatitis) के पेशेंट्स को भी इस ड्रग्स ग्रुप को रेकमेंड नहीं किया जाता है।

    और पढ़ें: डायबिटीज में एल्कोहॉल का सेवन नुकसानदायक हो सकता है या नहीं, जानने के लिए पढ़ें यह आर्टिकल

    ऊपर बताई गई दवाएं उन लोगों के लिए डिजाइन की गई हैं जिन्हें टाइप 2 डायबिटीज है। एक ऐसी दवा भी है जिसमें लिराग्लूटाइड/liraglutide (सक्सेंडा/Saxenda) की हाई डोज होती है जो उन लोगों में ओबेसिटी के इलाज के लिए एप्रूव्ड है जिन्हें डायबिटीज नहीं है। यदि आपको डायबिटीज है और आपको शंका है कि इनमें से कौन-सी दवा आपके लिए हेल्पफुल हो सकती है, तो अपने डॉक्टर से बात करें। किसी भी तरह की प्रिस्क्रिप्शन और नॉन-प्रिस्क्रिप्शन वाली दवाओं का सेवन डॉक्टर की सलाह के बिना न लें।

    health-tool-icon

    बीएमआई कैलक्युलेटर

    अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की जांच करने के लिए इस कैलक्युलेटर का उपयोग करें और पता करें कि क्या आपका वजन हेल्दी है। आप इस उपकरण का उपयोग अपने बच्चे के बीएमआई की जांच के लिए भी कर सकते हैं।

    पुरुष

    महिला

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    लेखक की तस्वीर badge
    Niharika Jaiswal द्वारा लिखित आखिरी अपडेट कुछ हफ्ते पहले को
    और Hello Swasthya Medical Panel द्वारा फैक्ट चेक्ड