home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

Gurmar for diabetes: डायबिटीज के लिए गुड़मार का सेवन क्या होता है फायदेमंद?

Gurmar for diabetes: डायबिटीज के लिए गुड़मार का सेवन क्या होता है फायदेमंद?

गुड़मार का नाम सुनते ही आपके मन में ये सवाल आ रहा होगा कि ये एक दवा का नाम है, जो मधुमेह के रोगियों के लिए फायदेमंद होती है। आपको बताते चले कि गुड़मार एक पौधे का नाम है, जो जिमनेमा सिल्वेस्ट्रे एपोकिनेसी ( Gymnema Sylvestre) परिवार से संबंधित है। ये आयुर्वेद में पॉपुलर हर्ब के नाम से जानी जाती है और कई मेडिसनल क्वालिटी से भरपूर है। इस पौधे की पत्तियां लंबी और अंडाकार होती है। गुड़मार की पत्तियां स्वास्थय के लिए लाभकारी होती है। इनकी पत्तियों में जिम्नेमिक एसिड ( Gymnemic acids) होता है, जो पावरफुल बायोएक्टिव कम्पाउंड है। ये शुगर के लेवल को कम करने का काम करता है। डायबिटीज के कारण ब्लड में शुगर लेवल गड़बड़ हो जाता है। ऐसे में उन मेडिसिंस की जरूरत पड़ती है, जो ब्लड में शुगर लेवल को संतुलित रखने का काम कर सके। आइए इस आर्टिकल के माध्यम से जानें डायबिटीज के लिए गुड़मार (Gurmar for diabetes) के फायदों के बारे में।

और पढ़ें: टाइप 2 डायबिटीज में न्यू ड्रग ट्रीटमेंट : जानिए क्या है ये खास ट्रीटमेंट?

डायबिटीज के लिए गुड़मार (Gurmar for diabetes)

डायबिटीज के लिए गुड़मार (Gurmar for diabetes) की पत्तियों का इस्तेमाल किया जाता है। गुड़मार की लीफ में औषधीय गुण होते हैं। इसका लाभ पाने के लिए ताजी पत्तियों को चबाया जा सकता है। गुड़मार का इस्तेमाल मुख्य रूप से यूनानी होम्योपैथी दवाओं में किया जाता है। इससे बनी दवाएं डायबिटीज से बचाव, यूरिनरी डिसऑर्डर (Urinary disorders), मोटापे के दौरान ( Obesity), सांस लेने में समस्या, अल्सर की समस्या, खांसी (cough), आंख संबंधी समस्या और स्नेक बाइट (Snakebite) में इस पौधे की पत्तियों का इस्तेमाल किया जा सकता है।

डायबिटीज के लिए गुड़मार (Gurmar for diabetes) के फायदे के बारे में जानने से पहले आपको गुड़मार लीव्स के बायोकैमिकल कंटेंट के बारे में जानना होगा। इसकी पत्तियों में जिम्नेमिक एसिड ए, बी, सी और डी के ट्राइटरपेनॉइड सैपोनिन (Triterpenoid saponin) उपस्थित होते हैं। साथ ही गैलेक्टुरोनिक एसिड (Galacturonic acid),फेरुलिक और एंजेलिक एसिड (Ferulic and angelic acids) आदि पाए जाते हैं। इसके अलावा पत्तियों में बीटाइन (Betaine), कोलीन (Choline), जिम्नामिन एल्कलॉइड (gymnamine alkaloids) भी पाया जाता है। जानिए डायबिटीज के लिए गुड़मार (Gurmar for diabetes) के फायदे के बारे में।

और पढ़ें: टाइप 2 डायबिटीज और GI इशूज : क्या है दोनों के बीच में संबंध, जानिए

कम करता है शुगर क्रेविंग को

गुड़मार (Gurmar) का सेवन करने से शुगर क्रेविंग में रोक लगती है और बार-बार मीठा खाने का मन भी नहीं होता है। ट्रेडिशनल मेडिसिन में पेशेंट को कोटोसिस के साथ गुड़मार के पत्ते का सेवन कराया जाता है। अगर आप भी डायबिटीज के लिए गुड़मार (Gurmar for diabetes) का इस्तेमाल या गुड़मार का सेवन करना चाहते हैं, तो आपको डॉक्टर से इस बारे में जानकारी लेनी चाहिए और बिना सलाह किए किसी भी दवा का सेवन नहीं करना चाहिए।

एंटीडायबिटिक गुणों से भरपूर

जर्नल ऑफ हर्ब्स, स्पाइसेस एंड मेडिसिनल प्लांट्स में प्रकाशित रिपोर्ट की मानें, तो गुड़मार (Gurmar) एंटीडायबिटिक गुणों से भरपूर है। ब्लड में बढ़े हुए शुगर लेवल को कम करने के लिए गुड़मार की पत्तियों से बनी दवा का इस्तेमाल किया जाता है। ये ब्लड शुगर को कंट्रोल करने के साथ ही मेटाबॉलिक सिंड्रोम को भी रेगुलेट करने का काम करता है। ये भोजन के लिए इंसुलिन की प्रतिक्रिया को बढ़ाने का काम करता है। जो लोग इसका सेवन करते है, उन्हें इंसुलिन थेरिपी (Insulin therapy) के साथ ही हायपोग्लाइकेमिक दवाओं ( Hypoglycaemic drugs) की आवश्यकता कम पड़ती है। गुड़मार (Gurmar) इंटेस्टाइन में भी रिसेप्टर्स को ब्लॉक करती है और शुगर के अवशोषण को कम करती है। गुड़मार के पत्ते पैंक्रियाटिक बीटा सेल्स में इंसुलिन सिकरीशन को रीस्टोर करने का काम करती है।

और पढ़ें: टाइप 2 डायबिटीज और जंक फूड : यह स्वादिष्ट आहार कहीं बन ना जाए जी का जंजाल!

खाने के बाद पत्तियों का सेवन पहुंचाता है फायदा

आपको मार्केट में गुड़मार (Gurmar) की पत्तियों का पाउडर मिल जाएगा। आप चाहे तो एक्सर्ट से जानकारी ले सकते हैं कि गुड़मार का पाउडर कैसे मिल सकता है। दोपहर और रात के खाने के आधे घंटे बाद एक चम्मच गुड़मार के पत्तों का पाउडर पानी के साथ लेना चाहिए। ऐसा करने से शरीर में कार्बोहाइड्रेट के एब्जॉर्बशन को कंट्रोल करने में मदद मिल सकती है। गुड़मार (Gurmar) की पत्तियों में जिम्नेमिक एसिड होता है, जो आपकी जीभ पर शुगर रिसेप्टर्स को ब्लॉक करने का काम करता है, जो मिठास लेने की क्षमता को कम करता है। आपको गुड़मार के सेवन के बारे में डॉक्टर से अधिक जानकारी लेनी चाहिए।

और पढ़ें: टाइप 2 डायबिटीज का आयुर्वेदिक उपचार: क्या इसे जड़ से खत्म किया जा सकता है, जानें एक्सपर्ट की राय

डायबिटीज के लिए गुड़मार: मोटापा घटाने के भी आता है काम

डायबिटीज के कारणों में बिगड़ी हुई जीवनशैली के साथ ही मोटापे की समस्या भी शामिल है। जिन लोगों को मोटापे की समस्या होती है, उनमें डायबिटीज का खतरा (Risk of diabetes) अधिक होता है। गुड़मार (Gurmar) की पत्तियों का पाउडर वेट लॉस (Weight loss) में भी मदद करता है। अगर इसे खाने के पहले लिया जाए, तो ये फूड इनटेक को कम कर सकता है। जिन लोगों को जल्दी-जल्दी भूख लगती है, उनके लिए ये पाउडर लाभदायक साबित हो सकता है। एक बात का ध्यान रखें कि अगर आप वजन कम करना चाहते हैं, तो आपको बिना एक्सपर्ट से सलाह लिए इसका सेवन नहीं करना चाहिए।

और पढ़ें: क्या टाइप 2 डायबिटीज होता है जेनेटिक? जानना है जवाब तो पढ़ें यहां

गुड़मार का सेवन करने से होने वाले दुष्प्रभाव (Possible Side Effects)

अगर आप डायबिटीज से संबंधित अन्य दवाओं का सेवन कर रहे हैं और साथ ही गुड़मार (Gurmar) पाउडर का सेवन भी कर रहे हैं, तो आपके ब्लड में शुगर का लेवल तेजी से कम होने की संभावना बढ़ जाती है। इस कारण से व्यक्ति को कुछ समस्याओं का सामना भी करना पड़ सकता है। गुड़मार (Gurmar) पाउडर का सेवन करने से साइड इफेक्ट्स के रूप में सिरदर्द (Headache), मितली, अचानक से आंखों के सामने अंधेरा छा जाना, शरीर में झुनझुनाहट और चक्कर (Dizziness) आदि की संभावना अधिक रहती है। आपको डॉक्टर से जानकारी लेने के बाद ही दवा का सेवन करना चाहिए और ब्लड शुगर की दवाओं को लेने के साथ गुड़मार पाॉउडर का सेवन नहीं करना चाहिए।

गुड़मार पाॉउडर शरीर में इंसुलिन के लेवल को ठीक करने के साथ ही डायबिटीज की समस्या से राहत पहुंचाता है लेकिन पाउडर का सेवन सही मात्रा में नहीं करने पर आपको परेशानियों का सामना भी करना पड़ सकता है। आप चाहे तो दो दवाओं के बीच अंतर रख कर भी दवा का सेवन कर सकते हैं। हैलो हेल्थ किसी भी प्रकार की चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार उपलब्ध नहीं कराता हैं।

नैचुरल प्रोडक्ट का इस्तेमाल डॉक्टर से सलाह किए बगैर लेना आपके लिए हानिकारक हो सकता है। बिना डॉक्टर से परामर्श किए किसी भी औषधी का सेवन न करें। अगर औषधी के सेवन के बाद किसी प्रकार की समस्या हो रही हो, तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। अगर आप पहले से कोई मेडिसिन ले रहे हैं, तो डॉक्टर को जरूर बताएं। हैलो हेल्थ किसी भी प्रकार की चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार उपलब्ध नहीं कराता हैं। इस आर्टिकल के माध्यम से हमने आपको डायबिटीज के लिए गुड़मार (Gurmar for diabetes) के बारे में जानकारी दी है। उम्मीद है आपको हैलो हेल्थ की दी हुई जानकारियां पसंद आई होंगी। अगर आपको इस संबंध में अधिक जानकारी चाहिए, तो हमसे जरूर पूछें। हम आपके सवालों के जवाब मेडिकल एक्सर्ट्स द्वारा दिलाने की कोशिश करेंगे।

health-tool-icon

बीएमआई कैलक्युलेटर

अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की जांच करने के लिए इस कैलक्युलेटर का उपयोग करें और पता करें कि क्या आपका वजन हेल्दी है। आप इस उपकरण का उपयोग अपने बच्चे के बीएमआई की जांच के लिए भी कर सकते हैं।

पुरुष

महिला

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Bhawana Awasthi द्वारा लिखित आखिरी अपडेट कुछ हफ्ते पहले को
Sayali Chaudhari के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड
x