home

आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

हाय कोलेस्ट्रॉल में फायब्रेट्स कैसे करती हैं काम, जानिए यहां!

हाय कोलेस्ट्रॉल में फायब्रेट्स कैसे करती हैं काम, जानिए यहां!

फायब्रेट्स मेडिसिन ट्रायग्लीसराइड के लेवल को कम करने के लिए इस्तेमाल की जाने वाली दवाइयां हैं।ट्रायग्लीसराइड फैट का टाइप होता है, जो ब्लड में पाया जाता है।हाय कोलेस्ट्रॉल में फायब्रेट्स (Fibrates in High Cholesterol) का इस्तेमाल करने से जहां एक ओर कोलेस्ट्रॉल के लेवल में कमी आती है, वहीं शरीर में अच्छे कोलेस्ट्रॉल यानी एचडीएल की मात्रा भी बढ़ जाती है। अगर शरीर में हाय ट्रायग्लिसराइड (High triglyceride) की समस्या बनी रहती है और साथ ही गुड कोलेस्ट्रॉल का स्तर गिरता जाता है, तो ऐसे में व्यक्ति में स्ट्रोक के साथ ही हार्ट डिजीज का खतरा भी बढ़ जाता है। आज इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको ट्रायग्लीसराइड को कम करने की दवा या हाय कोलेस्ट्रॉल में फायब्रेट्स (Fibrates in High Cholesterol) के रूप में इस्तेमाल की जाने वाली दवाओं के बारे में जानकारी देंगे।

और पढ़ें: कोलेस्ट्रॉल एब्जार्पशन इंहिबिटर्स: बड़े हुए कोलेस्ट्रॉल को कंट्रोल में ला सकते हैं ड्रग्स

हाय कोलेस्ट्रॉल में फायब्रेट्स (Fibrates in High Cholesterol)

फायब्रेट्स या फायब्रिक एसिड (Fibric acid) लिवर से प्रोड्यूस होने वाले वीएलडीएल को कम करने का काम करता है। अगर ये कहा जाए कि फायब्रेट्स (Fibrates) LDL कोलेस्ट्रॉल को कम करने का काम करते हैं, तो ये सही नहीं होगा। शरीर में अधिक मात्रा में ट्रायग्लीसराइड बनने पर पैंक्रियाज में सूजन का खतरा भी बढ़ जाता है। अगर शरीर में अधिक कोलेस्ट्रॉल बन रहा है, तो व्यक्ति को हार्ट अटैक का खतरा (Heart attack risk) भी हो सकता है। ऐसे में सही समय पर जांच के बाद दवाओं का सेवन बड़ी बीमारी से बचाने का काम करता है। जानिए हाय कोलेस्ट्रॉल में फायब्रेट्स (Fibrates in High Cholesterol) से संबंधित कुछ ब्रांड्स के बारे में जानकारी।

और पढ़ें: कोलेस्ट्रॉल में नेचुरल सप्लीमेंट्स का सेवन करना कितना है फायदेमंद, जानिए!

बढ़ जाए ट्रायग्लिसराइड (Triglyceride), तो इन दवाओं को खाने की सलाह देते हैं डॉक्टर्स

हाय कोलेस्ट्रॉल में फायब्रेट्स

अगर शरीर में ट्रायग्लीसराइड की मात्रा बढ़ जाती है, तो डॉक्टर कुछ दवाओं को खाने की सलाह देते हैं। ये दवाएं फायब्रिक एसिड (Fibric acid) होती हैं, जिन्हें फायब्रेट्स भी कहा जाता है। हम आपको यहां ऐसी ही कुछ दवाओं के नाम बता रहे हैं। जानिए हाय कोलेस्ट्रॉल में फायब्रेट्स (Fibrates in High Cholesterol) से संबंधित कुछ ब्रांड्स और उनसे संबंधित जानकारी के बारे में।

लिपिकार्ड 160 टैबलेट (Lipicard 160 Tablet)

लिपिकार्ड टैबलेट शरीर में बढ़े हुए ट्रायग्लिसराइड के लेवल को कम करने का काम करती है। साथ ही ये दवा शरीर में अच्छे कोलेस्ट्रॉल (Good cholesterol) को बढ़ाती है। दवा का सेवन हार्ट अटैक या स्ट्रोक के खतरे को भी कम करता है। इस दवा में एक्टिव इंग्रीडिएंट के रूप में फेनोफिब्रेट (Fenofibrate) होता है। इसकी एक स्ट्रिप की कीमत 118 रु है।

हाय कोलेस्ट्रॉल में फायब्रेट्स: फेनोलिप 145 टैबलेट (Fenolip 145 Tablet)

फेनोलिप टैबलेट हाय ट्रायग्लिसराइड को कम करने के लिए इस्तेमाल की जाती है। ये दवा शरीर में एचडीएल (HDL) यानी गुड कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाने का काम करती है। फेनोलिप टैबलेट का सेवन हार्ट अटैक या स्ट्रोक के खतरे (Stroke) को भी कम करता है। इस दवा में एक्टिव इंग्रीडिएंट के रूप में फेनोफिब्रेट (Fenofibrate) होता है। इसकी एक स्ट्रिप की कीमत 155 रु है।

नोट – हैलो हेल्थ किसी भी प्रोडक्ट या ब्रांड्स का प्रचार नहीं कर रहा है। ब्रांड्स का प्राइज थोड़ा कम या फिर ज्यादा हो सकता है। आप जहां से प्रोडक्ट खरीद रहे हैं, वहां का प्राइज अन्य जगह से अलग हो सकता है।

और पढ़ें: हाय कोलेस्ट्राल का महिलाओं की हेल्थ पर क्या होता है असर? जानिए यहां

एडिलिप 135 टैबलेट (Adilip 135 Tablet)

एडिलिप 135 टैबलेट शरीर में हाय कोलेस्ट्रॉल के लेवल को कम करके अच्छे कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाती है। दवा का सेवन बिना डॉक्टर की सलाह के नहीं करना चाहिए। अगर आपको इस दवा का सेवन करने से किसी प्रकार का साइडइफेक्ट दिखे, तो डॉक्टर को बताएं। इस दवा में एक्टिव इंग्रीडिएंट के रूप में कोलाइन फेनोफिब्रेट (Choline fenofibrate ) होता है। इसकी एक स्ट्रिप की कीमत 149 रु है।

हाय कोलेस्ट्रॉल में फायब्रेट्स: फाइनेट 160 टैबलेट (Finate 160 Tablet)

शरीर में ट्रायग्लीसराइड बढ़ जाने पर विभिन्न प्रकार के लक्षण दिखने लगते हैं। अगर हाय कोलेस्ट्रॉल की समस्या पर ध्यान न दिया जाए, तो हार्ट से संबंधित घातक बीमारियों का सामना करना पड़ सकता है। डॉक्टर ट्रायग्लीसराइड के लेवल को कम करने के लिए फाइनेट 160 टैबलेट लेने की सलाह दे सकते हैं। इस दवा में एक्टिव इंग्रीडिएंट के रूप में फेनोफिब्रेट (Fenofibrate) होता है। इसकी एक स्ट्रिप की कीमत 100 रु है।

टीजीआर टैबलेट (TGR Tablet)

ट्रायग्लीसराइड के लेवल को कम करने के लिए डॉक्टर टीजीआर टैबलेट (TGR Tablet) लेने की सलाह दे सकते हैं। इस दवा का सेवन बिना डॉक्टर की सलाह के नहीं करना चाहिए। टीजीआर टैबलेट (TGR Tablet) में एक्टिव इंग्रीडिएंट के रूप में फेनोफिब्रेट (Fenofibrate) होता है। इसकी एक स्ट्रिप की कीमत 113 रु है। इस दवा का सेवन आपको खाने के पहले करना है या फिर खाने के बाद, आपको इस बारे में डॉक्टर से जानकारी लेनी चाहिए। दवा खाने के बाद भी अगर कोलेस्ट्रॉल के लेवल में सुधार नहीं हो रहा है, तो डॉक्टर दवाएं बदल देते हैं। अगर आप बिना डॉक्टर की सलाह के दवाओं का सेवन बंद कर देंगे, तो आपकी कंडीशन बिगड़ सकती है। आपको समय-समय पर कोलेस्ट्रॉल के लेवल को चेक करने की जरूरत है।

हाय कोलेस्ट्रॉल में फायब्रेट्स: फेनो-टीजी टैबलेट (Feno-TG Tablet)

बढ़े हुए ट्रायग्लीसराइड की समस्या को कम करने के लिए फेनो-टीजी टैबलेट के सेवन की सलाह दी जा सकती है। इस दवा में एक्टिव इंग्रीडिएंट के रूप में फेनोफिब्रेट (Fenofibrate) होता है। इसकी एक स्ट्रिप की कीमत 145 रु है। आपको दवा का सेवन करने के साथ ही रेगुलर एक्सरसाइज के साथ ही खाने में हेल्दी फूड्स को शामिल करना होगा। अगर आप सिर्फ दवा का ही सेवन करेंगे, तो आपके उतने बेहतर परिणाम नहीं मिलेंगे, जो दवाओं के साथ लाइफस्टाइल चेंज करने पर मिलेंगे।

और पढ़ें: हाय कोलेस्ट्रॉल की है समस्या, तो ये दवाएं आपकी परेशानी को कर देंगी छूमंतर!

फायब्रेट्स (Fibrates) से हो सकते हैं ये साइडइफेक्ट

दवाओं का सेवन भले ही आपको बीमारी से बचाने का काम करता हो लेकिन इससे साइडइफेक्ट भी हो सकते हैं। फायब्रेट्स (Fibrates) का सेवन करने से मितली, चक्कर आना (Dizziness), अपसेट स्टमक के साथ ही डायरिया की समस्या (Diarrhea problem) भी हो सकती है। अगर साथ ही में पेशेंट ब्लड थिनर्स (Blood thinners) भी ले रहा है, तो उसकी प्रभाविता बढ़ सकती है। ये दवाएं अगर स्टेटिन मेडिकेशन (Statin medication) के साथ ही ली जाएं, तो मसल्स डैमेज (Muscle damage) का कारण भी बन सकती हैं। अगर आपको हाय कोलेस्ट्रॉल में फायब्रेट्स (Fibrates in High Cholesterol) का सेवन करने की सलाह दी गई है, तो बेहतर होगा कि आप इस बारे में एक बार डॉक्टर से जानकारी जरूर लें।

किसी भी दवा का सेवन बिना डॉक्टर की सलाह के नहीं करना चाहिए। अगर आपको हाय कोलेस्ट्रॉल की समस्या रहती है, तो डॉक्टर से जांच कराएं और समय पर दवाओं का सेवन करें। बिना सलाह के दवाओं का सेवन बंद न करें वरना हार्ट संबंधी समस्याओं का खतरा बढ़ सकता है।

हैलो हेल्थ किसी भी प्रकार की चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार उपलब्ध नहीं कराता। इस आर्टिकल में दिए गए ब्रांड्स आपकी जानकारी के लिए है। अगर आपको हार्ट या कोलेस्ट्रॉल से संबंधित कोई भी समस्या है, तो पहले डॉक्टर से जांच कराएं और इसके बाद ही किसी दवा का सेवन करें। इस आर्टिकल में हमने आपको हाय कोलेस्ट्रॉल में फायब्रेट्स (Fibrates in High Cholesterol) के बारे में जानकारी दी है। उम्मीद है आपको हैलो हेल्थ की दी हुई जानकारियां पसंद आई होंगी। अगर आपको इस संबंध में अधिक जानकारी चाहिए, तो हमसे जरूर पूछें। हम आपके सवालों के जवाब मेडिकल एक्स्पर्ट्स द्वारा दिलाने की कोशिश करेंगे।

health-tool-icon

बीएमआई कैलक्युलेटर

अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की जांच करने के लिए इस कैलक्युलेटर का उपयोग करें और पता करें कि क्या आपका वजन हेल्दी है। आप इस उपकरण का उपयोग अपने बच्चे के बीएमआई की जांच के लिए भी कर सकते हैं।

पुरुष

महिला

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Bhawana Awasthi द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 22/09/2021 को
डॉ. हेमाक्षी जत्तानी के द्वारा मेडिकली रिव्यूड