backup og meta

नाखून में कालापन और दिल की बीमारी के बीच के कनेक्शन को जानते हैं आप?

के द्वारा मेडिकली रिव्यूड Sayali Chaudhari · फार्मेकोलॉजी · Hello Swasthya


Manjari Khare द्वारा लिखित · अपडेटेड 15/06/2022

नाखून में कालापन और दिल की बीमारी के बीच के कनेक्शन को जानते हैं आप?

नाखून में कालापन और दिल की बीमारी (Black lines in nails and heart disease) का कोई संबंध हो सकता है शायद आपने इस बारे में कभी सोचा ना हो, लेकिन यह सच है। बता दें कि नाखून के अंदर वर्टिकली बनने वाली काली लाइन्स को स्पिलिंटर हेमरेज कहा जाता है। ये कई कारणों से बन सकती हैं। यह नुकसानदायक होने के साथ ही कभी कभी परेशानी का कारण नहीं भी बनती। इस स्थिति को स्प्लिंटर हेमरेज कहा जाता है क्योंकि यह आपके नाखून के वुड स्पिंटर जैसा लग सकता है। यह स्थिति आपके नाखून के नीचे क्षतिग्रस्त छोटी रक्त वाहिकाओं के कारण होती है।

कभी कभी ये लाइन काली, लाल या कथई कलर की हो सकती है। यह नाखून के अंदर एक या ज्यादा जगह पर भी हो सकती हैं। चलिए अब जान लेते हैं कि नाखून में कालापन और दिल की बीमारी के बीच क्या संबंध है?

नाखून में कालापन और दिल की बीमारी (Black lines in nails and heart disease)

नाखून में कालापन या काली लाइन्स कई कंडिशन्स के परिणामस्वरूप हो सकती हैं। ट्रॉमा इसका सबसे कॉमन कारण है। जब कोई चीज आपको नाखून को बुरी तरह चोट पहुंचाती है तो इससे नाखून के अंदर की ब्लड वेसल्स डैमेज हो जाती हैं। इसके अलावा हार्ट कंडिशन एंडोकार्डिटिस भी स्पिलिंटर हेमेरेज का कारण बन सकता है। 15 प्रतिशत एंडोकार्डिटिस से प्रभावित लोगों को स्पिलिंटर हेमेरेज की समस्या होती है।

एंडोकार्डिटिस की समस्या तब होती है जब हार्ट के इनर चैम्बर्स में इंफेक्शन होता है। जिसकी वजह से गंभीर हार्ट कंडिशन का सामना भी करना पड़ सकता है। एंडोकार्डिटिस आम तौर पर उन लोगों में होता है जो पहले से मौजूद हृदय स्थितियों के साथ होते हैं।

सोरायसिस भी स्प्लिंटर हेमरेज का कारण बन सकता है। सोरायसिस एक पुरानी त्वचा की स्थिति है जिसमें त्वचा पर सफेद दाग या धब्बे हो जाते हैं। सोरायसिस से पीड़ित 50 प्रतिशत तक स्प्लिंटर हेमरेज और अन्य नाखून स्थितियों का अनुभव करते हैं। यानी कि नाखून में कालापन और दिल की बीमारी (Black lines in nails and heart disease) के संबंध के साथ ही इसकी वजह दूसरी स्थितियां भी हो सकती हैं।

इसके कारणों में निम्न भी शामिल है।

  • इंफेक्शन्स (Infections)
  • ल्यूपस (Lupus)
  • नेल फंगस (Nail Fungus)
  • किडनी, लंग या सर्कुलेटरी डिजीज (Kidney, lung or circulatory disease)

और पढ़ें: रयुमाटिक एंडोकार्डाइटिस : पाएं इस हार्ट कंडीशन के बारे में पूरी जानकारी विस्तार से !

नाखून में कालापन और दिल की बीमारी (Nail darkening and heart disease) के बारे में पता कैसे करें?

अगर आपको यकीन है कि नाखून में दिखाई देने वाली काली लाइन ट्रॉमा की वजह से नहीं हुई हैं तो इसके बारे में डॉक्टर से बात करें। अगर ट्रॉमा किसी और वजह से हुआ है और कई हफ्तों से ठीक नहीं हो रहा है तो आपको डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। अगर आपके नाखून में कालापन और दिल की बीमारी (Black lines in nails and heart disease) के बीच संबंध है यानी एंडोकार्डिटिस की वजह से नाखून में काली लाइन्स दिखाई दे रही हैं तो इसके साथ ही आपको थकान, बुखार, स्किन का पीला पड़ना, जॉइंट पेन और सांस लेने में परेशानी जैसे लक्षण दिखाई दे सकते हैं। अगर इसका कारण सोरायसिस है तो नाखून में काली लाइंस के साथ ही स्किन पर रैशेज, पैचेस भी दिखाई देंगे।

जब आप डॉक्टर के पास जाएंगे तो वे मेडिकल हिस्ट्री और लक्षणों के आधार पर फिजिकल एग्जामिन करेंगे और इसका कारण पता करने की कोशिश करेंगे। अगर उन किसी बीमारी की आशंका होती है तो टेस्ट भी लिख सकते हैं।

और पढ़ें: बैक्टीरियल एंडोकार्डाइटिस (Bacterial endocarditis): हार्ट में होने वाला ये इंफेक्शन हो सकता है जानलेवा!

नाखून में कालापन और दिल की बीमारी (Nail darkening and heart disease) : कैसे किया जाता है इस कंडिशन का इलाज

स्प्लिंटर हेमरेज का उपचार स्थिति के अंतर्निहित कारण के आधार पर अलग-अलग होगा। कुछ मामलों में, आपको किसी उपचार की आवश्यकता नहीं होगी तो वही किसी के लिए उपचार की जरूरत पड़ सकती है।

यदि स्प्लिंटर हेमरेज किसी अन्य चिकित्सा स्थिति का संकेत है, तो आपको इलाज के लिए अपने डॉक्टर के पास जाना चाहिए। स्प्लिंटर हेमरेज के कारण होने वाली स्वास्थ्य स्थितियां काफी भिन्न होती हैं, इसलिए नाखून की स्थिति में सुधार के लिए कोई मानक उपचार नहीं है। उदाहरण के लिए, एंडोकार्टिटिस के लिए एंटीबायोटिक्स और संभवतः सर्जरी की आवश्यकता होती है। सोरायसिस एक जीवनपर्यंत चलने वाली स्थिति है जिसके लिए कई टॉपिकल और ओरल ट्रीटमेंट के साथ-साथ रोकथाम रणनीतियों की आवश्यकता होती है।

नाखून में कालापन और दिल की बीमारी (Black lines in nails and heart disease) का संबंध तो आप समझ गए होंगे। बता दें कि नाखूनों में होने वाले ये परिवर्तन सिर्फ दिल की बीमारी का ही संकेत नहीं देते। नेल्स पर दिखाई देने वाले ऐसे और कई साइन हैं जो बीमारियों की तरफ इशारा करते हैं। चलिए उनके बारे में भी जान लेते हैं।

यलो और मोटे नाखून हो सकते हैं फंगल इंफेक्शन (Fungal infection) का संकेत

नाखून में कालापन और दिल की बीमारी (Black lines in nails and heart disease) के बाद बता दें कि अगर आपके नाखून पीले और मोटे दिखाई दे रहे हैं तो यह इस बात का संकेत हो सकता है कि आपके नाखून के नीचे फंगस विकसित हो रही है। इसकी वजह से किसी प्रकार का दर्द नहीं होता। फंगल इंफेक्शन के बारे में फिजिकल एग्जामिनेशन के बाद पता लगाया जा सकता है।

नाजुक नाखून हो सकते हैं एनीमिया (Anemia) और थायरॉइड (Thyroid) का संकेत

अगर आपके नाखून बहुत नाजुक है और बिना किसी कारण के बार-बार टूटते हैं तो यह एनीमिया का संकेत हो सकता है। एनीमिया वह स्थिति है जिसमें आपकी बॉडी में हीमोग्लोबिन की कमी हो जाती है। हीमोग्लोबिन एक प्रोटीन है जो ऑक्सिजन को फेफड़ों से पूरी बॉडी में लेकर जाता है। एनीमिया का सामान्य लक्षण थकान है, लेकिन नाजून और बार-बार टूटते नाखून भी इसका संकेत माने जाते हैं।

और पढ़ें: जान लीजिए इस गंभीर हार्ट इंफेक्शन के कारण, ताकि समय रहते कर सकें बचाव

वाइट लाइंस और किडनी डिजीज (White lines and kidney disease)

नाखूनों के नीचे मौजूद सफेद लाइन किडनी डिजीज (Kidney disease) और लिवर प्रॉब्लम का संकेत हो सकती है। आपके शरीर में अपशिष्ट उत्पादों के निर्माण के कारण ये दोनों कंडिशन आपके नाखूनों को खराब कर सकती हैं। आपकी किडनी और लिवर को आपके शरीर को उन चीजों से मुक्त करना चाहिए जिनकी उसे आवश्यकता नहीं है, लेकिन जब वे ठीक से काम नहीं कर रहे हैं, तो आपके नाखून के नीचे सफेद रेखाएं बन सकती हैं।

काले धब्बे हो सकते हैं स्किन कैंसर (Skin cancer) का संकेत

नाखून की त्वचा पर काले धब्बे स्किन कैंसर मेलेनोमा का संकेत हो सकता है। यह एक प्रकार का त्वचा कैंसर है। मेलेनोमा आपके नाखून के नीचे एक गहरे रंग की लकीर के रूप में प्रकट हो सकता है, जिससे उसका रंग विकृत हो सकता है। कभी-कभी यह आपके नाखून के आसपास के छल्ली को भी काला कर देगा, जो एग्रेसिव मेलेनोमा का संकेत हो सकता है।

मेलेनोमा जानलेवा है, इसलिए अपने नाखूनों के नीचे किसी भी तरह की डार्क लाइन की तुरंत जांच करवाना जरूरी है। निदान में एक शारीरिक परीक्षा और एक बायोप्सी शामिल हो सकती है, और मेलेनोमा के उपचार में सर्जरी, कीमोथेरेपी, रेडिएशन थेरिपी, इम्यूनोथेरिपी आदि शामिल हो सकते हैं।

और पढ़ें: सनफ्लावर ऑयल और ग्राउंडनट ऑयल में से कौन सा तेल है हार्ट के लिए हेल्दी?

उम्मीद करते हैं कि नाखून में कालापन और दिल की बीमारी (Black lines in nails and heart disease) से संबंधित जरूरी जानकारियां मिल गई होंगी। अधिक जानकारी के लिए एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें। अगर आपके मन में अन्य कोई सवाल हैं तो आप हमारे फेसबुक पेज पर पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

डिस्क्लेमर

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

के द्वारा मेडिकली रिव्यूड

Sayali Chaudhari

फार्मेकोलॉजी · Hello Swasthya


Manjari Khare द्वारा लिखित · अपडेटेड 15/06/2022

ad iconadvertisement

Was this article helpful?

ad iconadvertisement
ad iconadvertisement