home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

कोरोना महामारी के बाद मुसीबतों से निपटने के लिए इन नियमों पर ध्यान देना है जरूरी, आप भी जानिए

कोरोना महामारी के बाद मुसीबतों से निपटने के लिए इन नियमों पर ध्यान देना है जरूरी, आप भी जानिए

कोरोना महामारी के दौरान लॉकडाउन को बढ़ा दिया गया है। अब लॉकडाउन की कुल समय-सीमा 54 दिन हो गई है। इस दौरान ज्यादातर व्यापार बंद चल रहे हैं। आगे क्या हालात रहते हैं, इस बारे में कहना मुश्किल है। देश में लगातार कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ रही है, ऐसे में बंदी का महौल कब तक रहेगा, इस बारे में किसी के लिए भी कुछ कह पाना मुश्किल लगता है। भले ही हालात कितने भी बिगड़े लेकिन कोरोना महामारी के बाद व्यापार को लेकर रणनीति बनानी बहुत जरूरी है। पोस्ट कोरोनावायरस वर्ल्ड के लिए नियम बनाना और उन पर अमल करना बहुत जरूरी है। कोरोना महामारी के बाद व्यापार के सुचारू रूप से संचालन के लिए नए नियमों की आवश्यकता पड़ेगी और लोगों के लिए इन नियमों की जानकारी भी बहुत जरूरी है।

यह भी पढ़ें :Lockdown 3.0 : दो हफ्ते के लिए बढ़ा दिया गया लॉकडाउन, जानिए किन शर्तों के साथ शुरू होगा तीसरा लॉकडाउन

कोरोना महामारी के बाद व्यापार : ब्रांड को दें नई दिशा

कोरोना महामारी से अब तक दुनियाभर में कई लोगों की जान जा चुकी है, वहीं बहुत से लोग अपनी जॉब गवां चुके हैं। ऐसे में ब्रांड को फिर से स्थापित करना किसी भी उद्यमी के लिए आसान नहीं है। कुछ नियमों पर गौर कर पोस्ट कोरोना वायरस वर्ल्ड में खुद के उद्यम को नई दिशा दी जा सकती है। कुछ बातों पर ध्यान रख ब्रांड को फिर से स्थापित किया जा सकता है।

1. एंटरप्राइज पर रीफोकस

कोरोना महामारी के बाद व्यापार के बेसिक और कॉमन गोल्स पर रिफोकस करना पड़ेगा। सबसे पहले इंटरनल चेंजेस आएंगे। कर्मचारियों के लिए चुनौती होगी कि आखिर ये सब क्या हो रहा है और उनके साथ अब क्या होगा। किसी भी कर्मचारी के लिए महामारी के बाद ये जानना जरूरी हो जाएगा कि आखिर उसके उद्यम प्रवाह में महामारी का क्या असर पड़ा है। टीम फिलहाल यही सोच रही है कि अगले दो सालो में दुनिया कैसी होगी या फिर टीम के सदस्य किस तरह से व्यापार का फायदा उठा पाएंगे। यानि कोरोना महामारी के दौरान ही लोगों को ब्रांड पर रिफोकस शुरू कर देना चाहिए। डिजिटल होना समय की मांग है। अगर समय के साथ बदला जाए तो बहुत से अच्छे परिणाम पाए जा सकते हैं।

2. ब्रांड रिलीवेंस पर देना होगा ध्यान

फिलहाल कोरोना महामारी के कारण लोगों के व्यवहार के साथ ही सोच में भी बदलाव आया है। किसी भी ब्रांड को मार्केट में बना रहने के लिए जरूरी है कि उसकी प्रासंगिकता यानी रिलिवेंस बनी रहनी चाहिए। अब लोगो ऑनलाइन या वर्चुअल मीटिंग में अधिक व्यस्त हैं और आगे आने वाले सालों में भी ऐसा ही होगा। यानी अपने ब्रांड को मार्केट में बनाएं रखने के लिए व्यवहार में बदलाव अब जरूरी हो जाएगा। ग्राहक के व्यवहार में बदलाव आने से लोगों को अपने व्यापार में भी बदलाव करने की जरूरत है। कोरोना वायरस महामारी लोगों की सोच को बदल रही है, उसे पहचानना होगा।

यह भी पढ़ें :कोरोना वायरस डाइट प्लान : लॉकडाउन और क्वारंटाइन के दौरान क्या खाएं और क्या न खाएं?

3. ब्रांड के एक्सपीरियंस को बेकार न जाने दें

कोरोना महामारी के बाद व्यापार करने के तरीके में थोड़ा सा बदलाव कराना जरूरी है। कुछ ब्रांड ऐसे होते हैं, जिनपर लोगों का भरोसा रहता है। ब्रांड की वैल्यू इक्वेशन को बढ़ाने का समय आ गया है। मुश्किल हालात में लोगों को मदद पहुंचाने से लोगों का भरोसा जीता जा सकता है। ये एक अच्छी पहल है। ब्रांड पर लोगों का पहले से विश्वास है, इसलिए उसे बेकार न जाने दें और

4.नए बाजार को बढ़ाना

कुछ समय के लिए बाजार थम सा गया है। आने वाले समय में नए बाजार को प्राथमिकता देनी होगी। अगर नए स्किल को पहचानकर उसका लाभ उठाया जाए तो नए बाजार को बढ़ाने में मदद मिल सकती है। चयन के दौरान लोगों की इंटरनल कैपेसिटी के बारे में भी जरूर पहचान लें। फिलहाल ब्रांडिंग को संभालना भी बहुत जरूरी हो गया है।

यह भी पढ़ें :कोरोना के खिलाफ लड़ाई में देश के इंजीनियर्स ऐसे निभा रहे अहम भूमिका

5. इनोवेशन है जरूरी

फिलहाल बंदी का माहौल है। कुछ समय बाद समय बदलेगा और पोस्ट कोरोनावायरस वर्ल्ड के लिए नियम कुछ अलग होंगे। अगर आपका व्यापार अभी बंदी के माहौल में है तो कोरोना महामारी के बाद इनोवेशन पर ध्यान देना बहुत जरूरी हो जाता है। व्यापार को मजबूत करने के लिए नए आइडिया की जरूरत के साथ ही नए मॉडल की आवश्यकता होगी। अगर इनोवेशन नहीं हुआ तो व्यापार के लिए अधिक घाटे की संभावना बढ़ जाएगी।

यह भी पढ़ें :लॉकडाउन में एंट्रेंस एक्जाम (प्रतियोगी परीक्षा) की तैयारी? न मानें हार और इन 10 तरीकों से पाएं सफलता

पोस्ट कोरोनावायरस वर्ल्ड के लिए नियम: इन बातों का रखें ध्यान

कोरोना महामारी कितने दिनों तक चलेगी, इस बारे में कहना मुश्किल है। लेकिन दुनिया की अर्थव्यवस्था फिलहाल बेहाल है। विश्व व्यापार संगठन (WTO) के प्रमुख रॉबर्टो एजेवेदो ने कोरोना महामारी के दौरान वैश्विक मंदी को लेकर गंभीर बात कही। उन्होंने कहा कि कोई एक देश नहीं बल्कि दुनिया भीषण मंदी की चपेट में आ सकती है। उन्होंने ये भी कहा कि दुनिया में जब मंदी छाएगी तो उस बारे में आंकलन करना भी मुश्किल है। उन्होंने लोगों को अगाह किया कि समस्या से बाहर आने के लिए सभी को आर्थिक वृद्दि के बारे में सोचना बहुत जरूरी हो गया है।

अगर आपको सर्दी, जुकाम या खांसी यानी कोरोना के लक्षण नजर आते हैं तो एक बार अपने डॉक्टर से संपर्क जरूर करें। बिना लापरवाही के अपना इलाज कराएं और अपने साथ ही अपने परिवार की सुरक्षा का भी ध्यान रखें। घर से बाहर तभी निकले, जब जरूरी हो। घर से बाहर निकलते वक्त मास्क और ग्लव्स का प्रयोग करें। घर में जो भी सामान लाएं, उसे सैनिटाइज जरूर करें। 20 सेकेंड तक हाथों को धुलें और सोप न होने पर सैनिटाइजर का प्रयोग करें। हैलो हेल्थ ग्रुप किसी भी तरह की मेडिकल एडवाइस, इलाज और जांच की सलाह नहीं देता है।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Bhawana Awasthi द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 02/05/2020 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x