कोरोना वायरस से जंग में शरीर का साथ देगा विटामिन-डी, फायदे हैं अनेक

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट June 3, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

कोरोना वायरस के संक्रमण के चलते पूरी दुनिया में हाहाकार मचा हुआ है। तेजी से ह्यूमन टु ह्यूमन ट्रांसफर होने वाले इस वायरस से हर जगह लोग घबराए हुए हैं। कई देशों ने इस वायरस के चलते लॉकडाउन किया हुआ है। हर देश में सरकार से लेकर डॉक्टर तक सभी अलग-अलग तरीके से लोगों को कोरोना से बचाने के लिए जागरूक कर रहे हैं। कोविड-19 से लड़ने के लिए मनुष्‍य के शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को काफी महत्‍वपूर्ण माना जाता है। इस वायरस से जिन लोगों की मौत हुई है उनमें ज्यादातर में इम्यूनिटी सिस्टम की समस्या देखने को मिली थी। इसलिए बार-बार डायट पर खास ख्याल देने की सलाह दी जा रही है। एक ताजा शोध के अनुसार, कोरोना वायरस और विटामिन-डी के कनेक्शन के बारे में बताया गया है। इस शोध में कोरोना से होने वाली मौतों का प्रमुख कारण विटामिन-डी की कमी को बताया जा रहा है। आइए जानते हैं कोरोना वायरस और विटामिन-डी के कनेक्शन के बारे में…

यह भी पढ़ें: चाइना की ऑर्गेनाइजेशन ने कोरोना महामारी से निपटने के लिए भारत को दिए प्रोटेक्टिव इक्विपमेंट

कोरोना वायरस और विटामिन-डी (Coronavirus and Vitamin-D)

कोरोना वायरस को लेकर दुनियाभर में शोधकर्ता शोध करके इसके बारे में ज्यादा से ज्यादा जानकारी जुटाने में लगे हैं। हाल ही में एक रिपोर्ट में यह पाया गया है कि विटामिन-डी की स्थिति को बेहतर करके हम कोविड-19 के खतरे को कम कर सकते हैं। शोधकर्ताओं ने इस शोध के लिए 12 फरवरी से 16 मार्च तक भर्ती हुए मरीजों पर अध्ययन किया। इसमें उन मरीजों की रिपोर्ट को बारीकी से जांचा गया जिनकी स्थिति गंभीर होने के चलते आईसीयू में रखा गया था। इनमें जिन लोगों की मौत हुई उनमें विटामिन-डी की कमी प्रमुख कारण मिली।

अमेरिका, यूरोप, ईरान में कोविड-19 के कारण हुई मौतों में 80 फीसदी मरीज 65 वर्ष से अधिक आयु के थे। वहीं इनमें 16 से 54.5 फीसद मृतकों में विटामिन-डी की मात्र न्यूनतम से भी कम मिली है। इस शोध को अंतरराष्ट्रीय जर्नल में 24 मार्च को प्रकाशित किया गया है। इन देशों के आधार पर विटामिन-डी (25 हाइड्रोक्सी-डी) का शरीर में मानक 25 नैनो मोल प्रति लीटर मानकर यह स्टडी की गई।

यह भी पढ़ें: सवालों से हैं परेशान तो कुछ इस अंदाज में दे सकते हैं बच्चों को कोरोना वायरस की जानकारी

कोरोना वायरस और विटामिन-डी में क्या है कनेक्शन

विटामिन-डी का हमारे शरीर में मल्टीपल रोल है। यह खासतौर पर इम्यून सिस्टम को दुरुस्त रखने के लिए बेहद जरूरी है। जैसा कि हम सभी जानते हैं कि फिलहाल कोविड-19 की कोई वैक्सीन नहीं तैयार की गई है। अभी इससे बचने के लिए हाइजीन मेंटेन और सोशल डिस्टेंसिग की सलाह दी जा रही है। कुछ रिपोर्ट इस बात का दावा कर रही है कि विटामिन-डी के लेवल को मेंटन करके इससे बचा जा सकता है। क्योंकि विटामिन डी इम्यून सिस्टम को हेल्दी रखता है। बता दें, हमारे इम्यून सिस्टम का सही तरीके से काम करना बहुत जरूरी है क्योंकि ये ही किसी भी इंफेक्शन और बीमारी को होने से हमें सबसे पहले बचाता है। इसके साथ ही फेफड़े का फंक्शन दुरुस्त रखने में मददगार है, जो कि संक्रमण से भी बचाने में कारगर साबित होता है। शरीर में यदि विटामिन-डी की कमी होती है तो उससे कई तरह की बीमारी, इंफेक्शन और इम्यून संबंधित परेशानी होने का खतरा होता है।

विटामिन-डी का लेवल कम होने से वायरल और बैक्टीरियल रेस्पिरेटरी डिजीज जैसे टीबी, अस्थमा, क्रॉनिक ऑब्सट्रक्टिव पल्मोनरी डिजीज (COPD) होने का खतरा अधिक होता है। विटामिन-डी का सीधा कनेक्शन फेफड़ों के फंक्शन से है जो आपके शरीर को श्वसन संक्रमण से लड़ने की क्षमता को प्रभावित कर सकता है।

यह भी पढ़ें: लॉकडाउन में ‘कोरोना वायरस पॉर्न’ की बढ़ी मांग, जानें क्यों

क्या विटामिन-डी को लेने से कोविड-19 से बचा जा सकता है?

फिलहाल कोविड-19 का कोई इलाज नहीं है। विटामिन-डी सप्लीमेंट्स का कोरोना वायरस पर क्या असर होता है इसे लेकर अभी कोई शोध नहीं किया गया है। लेकिन विटामिन-डी की कमी इम्यून सिस्टम को नुकसान पहुंचाती है और रेस्पिरेटरी डिजीज होने का कारण बनती है। लोगों को प्रतिरोधक क्षमता मेनटेन करने के लिए विटामिन-डी की कमी को पूरा करना जरूरी है। विटामिन-डी कोरोना वायरस के प्रति संवेदनशील बना सकती है। यह मुख्य रूप से रेस्पिरेटरी डिजीज जैसे फ्लू, जुकाम और निमोनिया से बचाव करने में कारगर है। यह शरीर की इम्यूनिटी को बढ़ाता है जो शरीर को वायरस और बैक्टीरिया से लड़ने में कारगर बनाता है।

विटामिन-डी डेफिशियेंसी के कारण क्या हैं?

भारत के लिए यह स्टडी बेहद महत्वपूर्ण है क्योंकि देश के ज्यादातर लोग विटामिन-डी की कमी से जूझ रहे हैं। आइए जानते हैं विटामिन-डी की कमी के कारण के बारे में…

धूप से दूर रहना: हमारा ज्यादातर समय दफ्तर में निकलता है। यदि हम धूप में नहीं जाते हैं तो भी शरीर में विटामिन-डी डेफिशियेंसी भी हो सकती है। सूर्य की किरणें विटामिन डी का सबसे उच्च स्त्रोत होती हैं। इसके लिए आप सुबह की सूर्य की किरणों में कुछ समय तक रह सकते हैं।

यह भी पढ़ें: कोरोना वायरस से बचने के लिए 5 मिनट में घर पर ही बनाएं हैंड सैनिटाइजर

शुध्द शाकाहारी होना

आहार के तौर पर विटामिन-डी डेफिशियेंसी को पूरा करने के सबसे बेहतर स्त्रोत पशु आधारित आहार होता है। हालांकि, ऐसे लोग जो शुध्द शाकाहारी हैं, उनमें विटामिन डी की कमी के जोखिम ज्यादा होते हैं। क्योंकि मछली और मछली के तेल, अंडे की जर्दी, फॉर्टफाइड मिल्क (Fortified Milk) और मीट विटामिन डी के एक अच्छे स्त्रोत होते हैं।

कमजोर मेटाबॉलिज्म

कुछ कारणों के चलते कुछ लोगों का मेटाबॉलिज्म विटामिन डी के स्त्रोतों को अच्छी मात्रा में नहीं पचा पाता है, जिसकी वजह से भी शरीर में धीरे-धीरे विटामिन-डी डेफिशियेंसी हो सकती है।

किडनी का सही तरीके से काम न करना: बढ़ती उम्र के साथ ही शरीर के अलग-अलग अंगों के कार्य करने की क्षमता भी प्रभावित होने लगती है। इसकी तरह किडनी विटामिन डी को उसके सक्रिय रूप में परिवर्तित करने में कम सक्षम होने लगता है, जिसके कारण भी शरीर में विटामिन-डी डेफिशियेंसी का खतरा बढ़ सकता है।

यह भी पढ़ें: कोरोना वायरस वैक्सीन का ह्युमन ट्रायल, 60 लोग प्री-क्लीनिकल स्टेज में

विटामिन-डी की कमी को दूर करने के लिए धूप को प्राकृतिक स्त्रोत है। इसलिए 30 मिनट तक धूप में रोजाना बैठने की कोशिश करें। फिलहाल जैसा कि सभी लोग लॉकडाउन के चलते घरों में रहने को मजबूर है तो ऐसे समय में आप अपने लिए थोड़ा वक्त निकालकर धूप में बैठ सकते हैं। इसके अलावा कुछ लोग स्पलीमेंट्स लेते हैं तो कुछ इसकी कमी को दूर करने के लिए इंजेक्शन लगवाते हैं। इसके बारे में अपने डॉक्टर से कंसल्ट करें। इसकी टैबलेट, सीरप औऱ पाउडर आते हैं। जिसकी खुराक आपकी रिपोर्ट देखने के बाद आपके डॉक्टर ही तय करेंगे।

फिलहाल पूरी दुनिया इस महामारी से लड़ रही है। ऐसे समय में सोशल डिस्टेंसिंग, हाथों की साफ सफाई के साथ खुद को स्वस्थ रखना भी उतना ही जरूरी है। यदि आप किसी वायरस के शिकार हो भी जाते हैं तो हमारा शरीर उससे लड़ने के लिए तैयार होना चाहिए। हम आशा करते हैं आपको हमारा यह लेख पसंद आया होगा। हैलो हेल्थ के इस आर्टिकल में कोरोना वायरस और विटामिन-डी से जुड़ी हर जानकारी देने की कोशिश की गई है। यदि आपका इससे जुड़ा कोई सवाल है तो आप कमेंट सेक्शन में पूछ सकते हैं।

COVID-19 Outbreak updates
Country: India
Data

1,435,453

Confirmed

917,568

Recovered

32,771

Death
Distribution Map

और पढ़ें:

मास्क पर एक हफ्ते से ज्यादा एक्टिव रह सकता है कोरोना वायरस, रिसर्च में हुआ चौंकाने वाला खुलासा

रैपिड एंटीबॉडी ब्लड टेस्ट से जल्द होगी कोरोना पेशेंट की जांच

सच या झूठः क्या आपको भी मिला है कोरोना लॉकडाउन फेज का ये मैसेज?

कोरोना के दौरान कैंसर मरीजों की देखभाल में रहना होगा अधिक सतर्क, हो सकता है खतरा

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

Was this article helpful for you ?
happy unhappy
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

सरकार के दिशा-निर्देश के अनुसार कोविड-19 वैक्सीनेशन के लिए इन लोगों को अभी करना होगा इंतजार!

कोरोना वायरस वैक्सीनेशन गाइडलाइन्स के मुताबिक किन लोगों को वैक्सीन मिलेगी और किन लोगों को अभी नहीं मिलेगी, पाइए इस बारे में पूरी जानकारी

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया AnuSharma
कोरोना वायरस, कोविड 19 उपचार January 18, 2021 . 5 मिनट में पढ़ें

क्यों कोरोना वायरस वैक्सीनेशन हर एक व्यक्ति के लिए है जरूरी और कैसे करें रजिस्ट्रेशन?

कोरोना वायरस वैक्सीनेशन की शुरुआत 16 जनवरी 2021 से की जायेगी। लेकिन कोरोना वायरस वैक्सीनेशन के लिए कैसे करें रजिस्ट्रेशन और इससे जुड़ी और भी जानकारियों के लिए यह आर्टिकल पढ़ें। Coronavirus Vaccination

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Nidhi Sinha
कोरोना वायरस, कोविड 19 उपचार January 11, 2021 . 5 मिनट में पढ़ें

अधिकतर भारतीय कोविड-19 वैक्सीनेशन के लिए हैं तैयार, लेकिन कुछ लोग अभी भी करना चाहते हैं इंतजार

कोविड-19 वैक्सीनेशन को लेकर लोगों की क्या राय है, कितने लोग कोविड-19 वैक्सीनेशन कराना चाहते हैं, जानिए और अधिक, Covid-19 vaccination in Hindi

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया AnuSharma
कोरोना वायरस, कोविड-19 January 8, 2021 . 5 मिनट में पढ़ें

यूके में मिला कोरोना वायरस का नया वेरिएंट, जो है और भी खतरनाक! 

यूके में कोरोना वायरस पर ब्रेक लगा नहीं कि अब कोरोना वायरस के नय प्रकार ने लोगों को शिकार बनाना शुरू कर दिया है। कैसे खुद को बचाएं संक्रमण? Coronavirus new variant found in United Kingdom details in Hindi.

के द्वारा लिखा गया Toshini Rathod
कोरोना वायरस, कोविड 19 और शासन खबरें December 21, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

महिलाओं में होने वाली बीमारी (Women illnesses)

Women illnesses: इन 10 बीमारियों को इग्नोर ना करें महिलाएं

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Nidhi Sinha
प्रकाशित हुआ March 4, 2021 . 8 मिनट में पढ़ें
बच्चों के लिए वीगन डायट (Vegan diet for children)

बच्चों के लिए वीगन डायट प्लान करने से पहले क्या और क्यों जानना है जरूरी?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Nidhi Sinha
प्रकाशित हुआ February 18, 2021 . 5 मिनट में पढ़ें
इरेक्‍टाइल डिसफंक्‍शन और विटामिन-erectile-dysfunction-aur-vitamins

पुरुषों में होने वाले इरेक्‍टाइल डिसफंक्‍शन की समस्या को विटामिन के सेवन से कर सकते हैं कम

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Niharika Jaiswal
प्रकाशित हुआ February 9, 2021 . 5 मिनट में पढ़ें
covid 19 vaccine - कोविड 19 वैक्सीन

जल्द से जल्द लोगों तक कोविड 19 वैक्सीन पहुंचाने की पहल, जाग रही है एक नयी उम्मीद

के द्वारा लिखा गया Toshini Rathod
प्रकाशित हुआ January 25, 2021 . 5 मिनट में पढ़ें