home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

कोरोना वायरस का संक्रमण अस्त व्यस्त कर चुका है आम जीवन, जानें इसके संक्रमण से बचने के तरीके

कोरोना वायरस का संक्रमण अस्त व्यस्त कर चुका है आम जीवन, जानें इसके संक्रमण से बचने के तरीके

अगर आपको लगता है कि कोरोना वायरस का संक्रमण आपको किसी भी तरह से परेशान नहीं कर सकता है, तो ये आपकी भूल है। यकीन मानिए, पूरी दुनिया में फैला कोरोना वायरस का संक्रमण अचानक से किसी भी इंसान के जीवन में परिवर्तन कर सकता है। नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ एलर्जी एंड इंफेक्शियस डिजीज के निदेशक डॉ. एंथनी फौसी ने मंगलवार को वाइट हाउस में ब्रीफिंग के दौरान ऐसी बात कहीं, जिसे सुनकर परेशान होना जायज है। एंथनी फौसी ने ब्रीफिंग के दौरान कहा कि भले ही आप ऐसे देश में रह रहे हों जहां अभी तक कोरोना वायरस का संक्रमण अभी तक न फैला हो, लेकिन ये चिंता का विषय है।

कोरोना वायरस का संक्रमण हर तरह से खतरनाक

डॉ. एंथनी फौसी ने आगे बताया कि किस तरह 1918 में स्पेनिश फ्लू के कारण करीब 10 करोड़ लोगों की मौत हो गई थी। संक्रमण अचानक से फैल जाता है। ये कहना गलत नहीं होगा कि एक सप्ताह की देरी होने पर सफलता और हार के मायने बदल सकते हैं। अगर फ्लू के लक्षणों को पहचानकर जल्द इलाज न किया गया तो बड़ी संख्या में ये लोगों को बीमार कर सकता है। उन्होंने इटली में तेजी से फैल रहे कोरोना वायरस के बारे में भी जानकारी दी। आपको बताते चले कि इटली में चीन से भी ज्यादा तेजी से कोरोना वायरस फैल रहा है

कोरोना वायरस का संक्रमण इटली में मचा रहा दोगुनी तबाही

इस वक्त दुनिया में कोरोना वायरस तेजी से फैल रहा है। चीन के बाद इटली शहर ऐसा है, जहां सबसे ज्यादा लोग वायरस से संक्रमित हो चुके हैं। इटली में अब तक 10,149 लोग वायरस से संक्रमित हो चुके हैं। साथ ही अब तक इटली में कोरोना वायरस का संक्रमण 631 लोगों की जान ले चुका है। इटली में सड़कें, मॉल और अधिकतर पब्लिक प्लेस खाली हैं। इंसानों के दिखने के बजाय अब जानवर इटली की सड़कों पर अधिक दिख रहे हैं। भारत में चीन के बाद इटली से ही कोरोना वायरस का संक्रमण फैला था।

और पढ़ें- कोरोना वायरस अपडेट : चीन ने वायरस से निपटने के लिए लोगों से मांगी ये चीज

कोरोना वायरस का संक्रमण बना स्टेट ऑफ इमरजेंसी का कारण

किसी प्रकार की प्राकृतिक आपदा आने पर स्टेट ऑफ इमरजेंसी लगाई जाती है। लेकिन कोरोना वायरस का संक्रमण अब स्टेट ऑफ इमरजेंसी का कारण बन रहा है। भले ही सुनने में अजीब लग रहा हो, लेकिन कुछ देशों में संक्रमण के कारण स्थितियां बहुत खराब हो रही हैं। स्टेट ऑफ इमरजेंसी लोगों को अधिक सतर्क करने, सीरियस सिचुएशन से निपटने और परिस्थितियों को काबू करने के लिए लगाई जाती है।

और पढ़ें- सबसे खतरनाक वायरस ने ली थी 5 करोड़ लोगों की जान, जानें 21वीं सदी के 5 जानलेवा वायरस

स्कूल बंद, मॉल, जिम सब बंद

वाइट हाउस ब्रीफिंग के दौरान फौसी ने कहा कि कोरोना वायरस का संक्रमण स्कूल बंद होने का कारण भी बन रहा है। बच्चों की पढ़ाई भी प्रभावित हो रही है। हमे ये देखने की जरूरत है कि वायरस का इंफेक्शन कहां फैल रहा है, और किन लोगों को प्रभावित कर रहा है। एडमिनिस्ट्रेशन ऑफिसियल्स में भी पेरोल टेक्स हॉलीडे का चलन बढ़ रहा है। आपको बताते चलें कि चीन में एक व्यक्ति ने कोरोना वायरस से पीड़ित होने की झूठी खबर फैला दी थी। इस कारण से ऑफिस को तीन दिन तक बंद रखना पड़ा था। जब सच्चाई का पता चला तो व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया गया। उसने झूठ बोलने का अपना जुर्म भी कबूल कर लिया। इसके अलावा कोरोना वायरस से बचाव के लिए दुनिया के सभी देशों और राज्यों में स्कूल, मॉल, जिम और भीड़ एकत्रित होने वाले स्थानों को बंद करने के आदेश दिए गए हैं।

और पढ़ें- कोरोना वायरस के बाद अब देश में स्वाइन फ्लू की दस्तक, जानें क्या हैं H1N1 वायरस के लक्षण

अमेरिका में 500 से ज्यादा लोग कोविड-19 से संक्रमित

अमेरिका में कोरोना से संक्रमित लोगों की संख्या 500 से अधिक हो चुकी है। अमेरिका के करीब 30 प्रांत में कोरोना का इंफेक्शन पहुंच चुका है। अमेरिका में कोरोना वायरस के कारण अब तक 21 लोगों की मौत हो चुकी है। अमेरिकी संसद के निचले सदन ‘हाउस ऑफ रेप्रेजेंटेटिव’ ने कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए 8.3 अबर डॉलर के आपातकालीन कोष से संबंधित विधेयक पारित किया है। जल्द ही इसे सीनेट भेज दिया जाएगा।

ब्रिटेन की स्वास्थ्य मंत्री भी कोविड-19 की चपेट में

कोरोना वायरस की चपेट में ब्रिटेन की स्वास्थ्य मंत्री नदीन डॉरिस भी आ चुकी हैं। आपको बताते चलें कि खुद ब्रिटेन की स्वास्थ्य मंत्री नदीन डॉरिस ने इस बात की पुष्टि की है। उन्होंने कहा कि “मेरी कोरोना जांच पॉजिटिव आई है, और मैंने घर में खुद को अलग रखा है ताकि इंफेक्शन किसी और को न फैले। मीडिया हाउस की रिपोर्ट के मुताबिक स्वास्थ्य मंत्री नदीन डॉरिस प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन समेत सैकड़ों लोगों के संपर्क में थीं। यहीं कारण हैं कि वो संक्रमित हो गईं। ब्रिटेन में अब तक छह लोगों की मौत कोरोना वायरस के कारण हो चुकी है और 373 लोग कोरोना से संक्रमित हैं।

और पढ़ें- तो क्या ये दुर्लभ जानवर है कोरोना वायरस के लिए जिम्मेदार?

कमजोर इम्युन सिस्टम वाले लोग होते हैं जल्दी शिकार

बच्चों और बुजुर्गों में कमजोर इम्युन सिस्टम होता है, जिसके कारण उन्हें जल्दी इंफेक्शन होता है। यहीं कारण है कि इटली में तेजी से इंफेक्शन से फैल रहा है। इटली में अन्य देश के मुकाबले बुजुर्गो की संख्या अधिक है। इसी कारण से चीन के बाद इटली शहर में कोराना वायरस का कहर देखने को मिल रहा है।

डॉक्टर की सलाह के अनुसार कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए पर्याप्त पानी पीएं, अच्छी तरह हाथ धोएं और एल्कोहल बेस्ड सैनिटाइजर का इस्तेमाल करें और अगर आपको कुछ फ्लू जैसे लक्षण दिखते हैं, तो डॉक्टर के पास जाएं। ऐसा करने से दूसरे व्यक्तियों को संक्रमण का खतरा कम हो जाएगा। आप घर में और खासतौर से बाहर जाने पर साफ-सफाई का ध्यान रखें, जिससे कोरोना वायरस की किसी भी संभावना को कम किया जा सके। इस बीमारी को फैलने से रोकने के लिए हर किसी की व्यक्तिगत जिम्मेदारी भी बनती है, जैसे- इस्तेमाल किए गए मास्क या वाइप्स को बंद डस्टबिन के अंदर फेंके। जब भी मास्क हटाएं, पीछे की ओर से उसे खींचे। आगे की ओर मास्क को न छुएं। संक्रमण होने पर लोगों से दूरी बना कर रखें।

हैलो हेल्थ ग्रुप किसी भी प्रकार की चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार मुहैया नहीं कराता।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Coronavirus is about to change your life for a while/https://slviki.org/coronavirus-it-is-about-to-change-your-life-for-a-while-take-it-seriously/(Accessed on 11/3/2020)

Coronavirus – https://www.who.int/health-topics/coronavirus – Accessed on 11/4/2020

Coronavirus (COVID-19) – https://www.cdc.gov/coronavirus/2019-ncov/index.html – Accessed on 11/4/2020

Coronavirus (COVID-19) – https://www.nhs.uk/conditions/coronavirus-covid-19/ – Accessed on 11/4/2020

Coronavirus disease 2019 (COVID-19) – Situation Report – 81 – https://www.who.int/docs/default-source/coronaviruse/situation-reports/20200410-sitrep-81-covid-19.pdf?sfvrsn=ca96eb84_2 – Accessed on 11/4/2020

Novel Corona Virus – https://www.mohfw.gov.in/ – Accessed on 11/4/2020

 

लेखक की तस्वीर badge
Bhawana Awasthi द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 11/06/2020 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x