home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

कोरोना के डर से बच्चों को कैसे रखें स्ट्रेस फ्री?

कोरोना के डर से बच्चों को कैसे रखें स्ट्रेस फ्री?

कोरोना और लॉकडाउन यह शब्द बच्चों के मन में घर करता जा रहा है। बच्चे भी कई दिनों से लगातार घर पर हैं लेकिन, जिस तरह से चीन, इटली, अमेरिका और अब भारत में भी इसके बढ़ते आकड़ें को देखकर बड़ों के साथ-साथ बच्चे भी परेशान हो रहें हैं। कई वीडियोस भी इन दिनों वायरल हो रहें हैं, जिसमें छोटे-छोटे बच्चे हाथों की सफाई और स्टे एट होम की बाते कहते नजर आ रहें हैं। लॉकडाउन के स्थिति में बच्चे में कोरोना के डर न हों ऐसे में क्या किया जाए? आज इस आर्टिकल में जानेंगे पेरेंट्स कैसे अपने बच्चे को कोरोना के डर से दूर और स्ट्रेस फ्री रख सकते हैं।

बच्चे में कोरोना के डर की वजह से होने वाले स्ट्रेस से बचने के उपाय?

जब कहीं जाना न हो तो ऐसे में हमारी दिनचर्या थोड़ी सी बदल जाती है लेकिन, अगर आपके घर में बच्चें हैं तो लॉकडाउन होने के बावजूद अपना टाइमटेबल तय रखें। कोरोना के डर की वजह से बच्चे भी स्ट्रेस में आ जाते हैं। ऐसी स्थिति में उन्हें स्ट्रेस फ्री रखने के लिए पेरेंट्स के लिए कुछ आसान टिप्स फॉलो कर सकते हैं। इन टिप्स में शामिल है:-

कोरोना के डर से होने वाले स्ट्रेस को दूर करने के उपाय 1. शेड्यूल तय करें

डेली शेड्यूल (डेली रूटीन) फॉलो करने से चिंता, तनाव या एंग्जाइटी से निपटने का एक प्रभावी तरीका हो सकता है। यह बच्चों के साथ-साथ पेरेंट्स के लिए भी बेहद जरूरी है। इसलिए सुबह जागने, सुबह का नाश्ता, लंच, इवनिंग स्नैक्स और डिनर समय पर करें और साथ ही समय से सोने की आदत डालें। ऐसा करने से बच्चे डिसिप्लिन में रहना सीखेंगे।

और पढ़ें : मानिए डॉक्टर्स की इन बातों को ताकि बच्चे में कोरोना वायरस का डर न करे घर

कोरोना के डर से होने वाले स्ट्रेस को दूर करने के उपाय 2. डीजिटल माध्यम का इस्तेमाल करें

लॉकडाउन की स्थिति में हॉउस एरेस्ट पर सभी हैं लेकिन, इसका ये मतलब नहीं है की आप फोन या डीजिटल माध्यम से लोगों से नहीं जुड़ सकते। बच्चों को टेंशन फ्री रखने के लिए वीडियो कॉल की मदद से उनके दोस्तों से बात करवायें या परिवार के सदस्यों से बात करवाएं। दोस्तों से बात करने के दौरान बच्चे को समझाएं की वो अपने फ्रेंड्स से पूछें की उन्होंने आज दिन कैसे बिताया या वो आज क्या करने वाले हैं। ऐसी छोटी-छोटी एक्टिविटी से बच्चे एक्टिव रहेंगे और वो अपने दोस्तों से दूर भी नहीं होंगे। वहीं परिवार के सदस्यों से बात कर वो क्या कर रहें यह बच्चे आसानी से जान सकते हैं। इस तरह से बात-चीत करने से उन्हें भी यह समझ आएगा सभी लोग घर पर हैं।

और पढ़ें : कोरोना वायरस की सही जानकारी ही बचा सकती है इस संक्रमण से, जानिए

कोरोना के डर से होने वाले स्ट्रेस को दूर करने के उपाय 3. एप की सहायता लें

वैसे तो हम सभी यही कहते हैं की बच्चों को मोबाइल या टैब जैसे गेजेट्स का इस्तेमाल नहीं करने देना चाहिए। अगर आपका बच्चा लगातार कई-कई घंटे तक गेजेट्स से चिपका रहता है, तो यह गलत है। ऐसा नहीं करना चाहिए। आप उन्हें कुछ वक्त ऐसे एप पर बिताने दें जिससे उन्हें उनकी पढ़ाई से जुड़ी जानकारी हासिल हो सके। अगर पेरेंट्स ऐसा करेंगे तो बच्चे आपसे गेजेट्स न देने की शिकायत भी नहीं करेंगे और बच्चे स्ट्रेस फ्री भी रह सकेंगे।

कोरोना के डर से होने वाले स्ट्रेस को दूर करने के उपाय 4. एक्सपेरिमेंट या DIY करने दें

अपने बच्चों को कभी भी किसी एक्क्सपरिमेंट करने या DIY (डू इट योरसेल्फ) करने का वक्त दें। यह एक बहुत अच्छा वक्त है जब आप अपने बच्चे को एक्क्सपरिमेंट करने या DIY करने के लिए प्रोत्साहित करेंगे। इस दौरान आप बच्चों को क्राफ्ट या ड्रॉइंग करने का वक्त दें। आप इस दौरान बच्चों को प्लांटिंग कैसे करते हैं यह भी बताएं। इन एक्टिविटी में बच्चे के व्यस्त रहने से कोरोना के डर से होने वाले टेंशन से भी बचे रहेंगे।

कोरोना के डर से होने वाले स्ट्रेस को दूर करने के उपाय 5. फेमली बॉन्डिंग बढ़ाएं

जिस तरह से जब शिशु गर्भ में होता है, तो उस दौरान भी बच्चे से पेरेंट्स बॉन्डिंग बनाते हैं लेकिन, जब बच्चा स्कूल जाने लगता है तो सभी सदस्य संडे के अलावा जल्दी एक साथ वक्त नहीं बिता पाते हैं। इसलिए इस दौरान जब आप दोनों (पेरेंट्स) घर पर हैं और आपका बच्चा भी आप सभी को एक साथ बैठकर बातें करनी चाहिए, गेम खेलना चाहिए या घर में आप अपने जमाने के खेल जैसे चोर, सिपाही, राजा, मंत्री वाले अन्य खेल खेलना चाहिए या आपस में क्विज खेलें। इन तरह की एक्टिविटी आपको हैपी रहने में मददगार होगी।

कोरोना के डर से होने वाले स्ट्रेस को दूर करने के उपाय 6. बच्चों के लिए स्टडी कॉर्नर बनायें

लॉकडाउन की वजह से घर पर ही रहना है, तो बच्चे के लिए स्टडी ऑवर भी तय करें। उनके लिए स्टडी कॉर्नर बनाये। स्टडी कॉर्नर टीवी या गेम्स वाली जगहों के पास न रखें। इस दौरान उन्हें यह भी समझाएं की उन्हें स्टडी टेबल पर खाना नहीं खाना चाहिए।

और पढ़ें : वर्क फ्रॉम होम : कोरोना वायरस की वजह से घर से कर रहे हैं काम, लेकिन आ रही होंगी ये मुश्किलें

कोरोना के डर से होने वाले स्ट्रेस को दूर करने के उपाय 7. योग, म्यूजिक और मेडिटेशन

योग, म्यूजिक और मेडिटेशन तीनों ही स्ट्रेस बस्टर कहलाता है। बच्चे को सुबह-सुबह योग या मेडिटेशन की आदत डालें। शुरुआत में शायद वो न कर पाएं लेकिन, धीरे-धीरे वे सीख जाएंगे। सिर्फ उनसे उनके उम्र के अनुसार ही किये जाने वाले योग या एक्सरसाइज करवाएं। कुछ देर उन्हें मेडिटेशन करने की भी आदत डालें। मेडिटेशन से किसी भी काम में ध्यान केंद्रित करना आसान होता है। वहीं आप अपने बच्चे को उनकी पसंदीदा म्यूजिक सुनने की आजादी भी दें। अगर आपका बच्चा म्यूजिक में इंट्रेस्टेड नहीं रहता है, तो उसका आकर्षण इस ओर बढ़ाएं।

और पढ़ें : कोरोना वायरस (कोविड-19) के बारे में क्या ये सबकुछ जानते हैं आप ? खेलें क्विज

कोरोना के डर से होने वाले स्ट्रेस को दूर करने के ये आसान से सात उपाय नियमित करें। ऐसा करने से बच्चे घर पर बोर नहीं होंगे। इस दौरान नकारात्मक खबरों से उन्हें दूर ही रखें। हेल्दी डायट और हेल्दी माइंड बनाने के इससे अच्छा मौका और कोई नहीं हो सकता है। अगर बच्चे के पेरेंट्स वर्क फ्रॉम होम कर रहें हैं, तो टाइम टेबल फॉलो कर आप अपना काम भी आसानी से कर सकते हैं और स्ट्रेस से खुद को बचाने के साथ-साथ बच्चों को भी बचा सकते हैं। अगर घर में कोई बीमार हों या बच्चे की तबीयत ठीक न हो तो डॉक्टर से संपर्क करें। वहीं कोरोना के डर से बचने के लिए कोई हेल्दी उपाय जानना चाहते हैं, तो इससे विशेषज्ञों से समझना बेहतर होगा।

कोरोना से बचाव के लिए बच्चों को बताएं ये जरूरी बातें

इन सावधानी रूपी एडवाइस को फॉलो करने से आप और आपका बच्चा कोरोना वायरस संक्रमण से काफी हद तक बच सकते हैं:

  1. दोनों हाथों की साफ-सफाई का अच्छी तरह ध्यान रखें
  2. बेवजह किसी भीड़भाड़ वाली जगह न जाएं।
  3. अपने चेहरे और आंखों, नाक व मुंह को छूने से बचें।
  4. अगर आपको बुखार, खांसी या सांस लेने में दिक्कत हो रही है, तो जितनी जल्दी हो सके डॉक्टर से मिलें।
  5. अपने डॉक्टर की हर बात मानें और उससे पूरी जानकारी प्राप्त करते रहें।
  6. भारत सरकार का कहना है कि अगर आप मास्क लगा रहे हैं तो उससे पहले अपने हाथों को एल्कोहॉल बेस्ड हैंड रब या फिर साबुन और पानी से अच्छी तरह धोएं।
  7. छींकने या खांसने के दौरान मुंह और नाक को ढककर रखें। इसके लिए किसी टिश्यू पेपर या फिर कोहनी की सहायता ले सकते हैं।
  8. अपने मुंह और नाक को मास्क से अच्छी तरह कवर करें कि उसमें किसी भी तरह का गैप न रहे।
  9. मास्क को पीछे से हटाएं और उसे इस्तेमाल करने के बाद आगे से न छूएं।
  10. इस्तेमाल के बाद मास्क को तुरंत एक बंद डस्टबिन में फेंक दें।
  11. एक बार इस्तेमाल किए गए मास्क को दोबारा इस्तेमाल न करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र
लेखक की तस्वीर
Dr. Pooja Daphal के द्वारा मेडिकल समीक्षा
Nidhi Sinha द्वारा लिखित
अपडेटेड 03/04/2020
x