कोरोना वायरस के 80 प्रतिशत मरीजों को पता भी नहीं चलता, वो कब संक्रमित हुए और कब ठीक हो गए

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट जून 3, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

हर देश में कोरोना वायरस (COVID- 19) के मरीजों की संख्या और स्थिति बिगड़ती जा रही है। चीन के बाद इटली और अमेरिका में कोरोना वायरस के मरीज के आंकड़ों में लगातार बढ़ोतरी होती जा रही है। हर दिन हजारों की संख्या में नए संक्रमित मरीज बढ़ते जा रहे हैं। वहीं, भारत की बात करें तो देश महामारी कोरोना वायरस के संक्रमण के दूसरे स्टेज में है और यहां भी बेशक धीरे-धीरे ही लेकिन कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या में इजाफा हो रहा है। इन आंकड़ों के बढ़ने के साथ ही, कई सवाल उठाए जा रहे हैं और लोगों के मन में शंका है कि क्या भारत में कोरोना वायरस के मरीज की जांच करने के लिए पर्याप्त व्यवस्था या लैब मौजूद है या नहीं। इसी तरह के कई सवालों का जवाब देने के लिए आईसीएमआर के महानिदेशक बलराम भार्गव (ICMR DG Balram Bhargava) ने प्रेस वार्ता आयोजित की थी। भार्गव ने यह भी बताया कि, कोरोना वायरस के 80 प्रतिशत मरीजों को इस बीमारी के होने और उससे ठीक होने का भी पता नहीं चलता।

यह भी पढ़ें- नए कोरोना वायरस टेस्ट को अमेरिका से मिली ‘इमरजेंसी’ मान्यता, 10 गुना तेजी से लगाएगा संक्रमण का पता

कोरोना वायरस के मरीज : कोरोना वायरस टेस्ट को लेकर क्या बोले आईसीएमआर के महानिदेशक

आईसीएमआर (इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च) के महानिदेशक, बलराम भार्गव ने प्रेस वार्ता में कहा कि, “हमने मास स्क्रीनिंग थर्मल में जिन लोगों का शारीरिक तापमान ज्यादा था, उन्हें अलग कर दिया था। मगर कोरोना वायरस का जो टेस्ट होता है, वो स्वैब टेस्ट होता है, जिसमें हम आरएनए को एक्स्ट्रैक्ट वायरस को टेस्ट करते हैं। भारत में यह जांच करने के लिए हम लोगों ने क्षमता भी बढ़ाई है।” इस बात का ध्यान रखें कि कोरोना के लक्षणों के दिखते ही तुरंत जांच कराएं और अन्य लोगों की भी सुरक्षा करें।

80 प्रतिशत कोरोना वायरस के मरीज को पता ही नहीं चलता बीमारी का

महानिदेशक भार्गव ने आगे बताया कि, वायरस के संपर्क में आने के 2 दिन से 14 दिन बाद तक इस जांच के वह पोजिटिव आ सकता है। इसका मतलब है कि, अगर किसी व्यक्ति को वायरस के संपर्क में आने के 2 या 3 दिन भी जांच में नेगेटिव रिजल्ट मिलते हैं, तो भी वह 14 दिन तक कभी भी करवाए गए टेस्ट में पोजिटिव पाया जा सकता है। इसके आगे उन्होंने बताया कि, इस बीमारी में 80 प्रतिशत लोगों को हल्का जुकाम और हल्का बुखार होगा और ठीक हो जाएंगे। उन्हें पता भी नहीं चलेगा कि कब इस बीमारी से बीमार हुए और ठीक हो गए। वहीं 20 प्रतिशत मरीजों में सूखी खांसी, जुकाम या तेज बुखार हो सकता है। जिसमें से 5 प्रतिशत को अस्पताल में भर्ती करने की जरूरत पड़ती है। इन 5 प्रतिशत कोरोना वायरस के मरीज को सपोर्टिव ट्रीटमेंट दिया जाता है और कुछ लोगों में इलाज करने के लिए नई दवा का इस्तेमाल किया जाता है। भार्गव ने कहा कि, इससे बचने का सबसे अच्छा तरीका 14 दिनों तक आइसोलेट रहना है।

यह भी पढ़ें- Coronavirus Predictions: क्या बिल गेट्स समेत इन लोगों ने पहले ही कर दी थी कोरोना वायरस की भविष्यवाणी

भारत एक हफ्ते में 70 हजार कोरोना वायरस के मरीज की जांच कर सकता है

भारत में कोरोना वायरस के मरीज की जांच में कमी और अव्यवस्था को लेकर उठ रहे सवालों का जवाब देते हुए आईसीएमआर के महानिदेशक बलराम भार्गव ने कहा कि, “अभी तक हमने 15 से 17 हजार लोगों की टेस्टिंग कर रखी है और हमारे पास एक दिन में 10 हजार लोगों की कोरोना वायरस की जांच करने की क्षमता है। जिसका मतलब है कि हम एक हफ्ते में 50 से 70 हजार टेस्ट कर सकते हैं और इस क्षमता को और भी बढ़ा सकते हैं। हम हमारे पास 111 लैब हैं जांच के लिए और कई प्राइवेट लैब हमारे साथ रजिस्टर कर रही हैं। उनसे अपील है कि वह कोरोना वायरस की जांच फ्री ऑफ कोस्ट प्रदान करें।” इसके साथ ही उन्होंने बताया कि, हरियाणा के झज्जर में स्थित एम्स बिल्डिंग में मौजूद 800 बेड सिर्फ कोरोना वायरस के मरीजों के लिए इस्तेमाल किए जा रहे हैं। वहीं, केंद्रीय सरकार ने सुझाव दिया था कि, किसी भी प्राइवेट लैब में कोरोना वायरस की जांच की कीमत 4,500 रुपए से ज्यादा नहीं होनी चाहिए। जिसमें 1500 रुपए सस्पेक्ट मरीज की स्क्रीनिंग की कीमत और अतिरिक्त 3000 रुपए कंफर्मेशन टेस्ट की कीमत होगी।

यह भी पढ़ें- कोरोना वायरस से लड़ने के लिए चाहिए हेल्दी इम्यूनिटी, क्या आप जानते हैं इस बारे में

कोरोना वायरस अपडेट (latest news on corona)

वर्ल्ड ओ मीटर वेबसाइट के मुताबिक, दुनियाभर में कोरोना वायरस के मरीज की संख्या 3, 39, 710 हो गई है और कोरोना वायरस से मौत का आंकड़ा 15 हजार के पास यानी 14,704 हो चुका है और श्वास तंत्र को नुकसान पहुंचाने वाली इस महामारी के फैलाव को देखते हुए यह आंकड़ा किसी भी समय 15 हजार के पार जा सकता है। अगर नोवेल कोरोना वायरस से ठीक हो चुके मरीजों की बात करें, तो विश्व में डॉक्टर्स द्वारा ऐसे 99 हजार लोगों को इस बीमारी से निजात मिल गई है। इसके अलावा, कुल 2,25,992 मामले सक्रिय है, जिसमें से 2,15,433 लोग की स्थिति नियंत्रण में है, जबकि 10,559 लोगों की हालत नाजुक बनी हुई है।

भारत कोरोना वायरस की स्थिति (How many cases of coronavirus in India?)

भारत के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय (Ministry of health and family welfare) द्वारा 23 मार्च 2020 को सुबह 10.30 बजे जारी जानकारी के मुताबिक मुताबिक, देश में अबतक 415 संक्रमित मरीजों की पहचान की जा चुकी है। जिसमें से 23 लोगों का इलाज या डिस्चार्ज कर दिया गया है। इसके अलावा, 1 मरीज को माइग्रेट कर दिया गया है, जबकि कोरोना वायरस से मौत का आंकड़ा 7 हो गया है। भारतीय एयरपोर्ट पर अबतक कुल 15,17,327 लोगों की स्क्रीनिंग की जा चुकी है। भारत के राज्यों में कोरोना वायरस के मरीज की संख्या की बात करें, तो देश के 23 राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों में कोरोना वायरस से संक्रमित मामले पाए जा चुके हैं।

यह भी पढ़ें- कोरोना वायरस पर बने ये मजेदार मीम्स, लेकिन अब ‘ करो-ना ‘

क्या कोरोना वायरस से हैंड सैनिटाइजर ही बचा सकता है?

लोगों के बीच यह भ्रम फैल गया है कि, कोरोना वायरस से बचाव के लिए सिर्फ सैनिटाइजर का ही इस्तेमाल एकमात्र रास्ता है। लेकिन, यह केवल एक मिथ है। भारतीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने ट्वीट कर जानकारी दी थी, कि कोरोना वायरस  से बचने का सबसे प्रभावशाली तरीका साबुन और पानी से अच्छी तरह हाथ धोना है। लेकिन, अगर आपके पास पानी और साबुन उपलब्ध नहीं है, इसलिए आप एल्कोहॉल बेस्ड हैंड सैनिटाइजर का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। इसलिए, कोशिश करें कि आप साबुन अथवा लिक्विड सोप और पानी से अच्छी तरह कम से कम 20 सेकेंड तक हाथ धोयें।

हैलो स्वास्थ्य किसी भी तरह की मेडिकल सलाह नहीं दे रहा है। अगर आपको किसी भी तरह की समस्या हो तो आप अपने डॉक्टर से जरूर पूछ लें।

और पढ़ें :

सबसे खतरनाक वायरस ने ली थी 5 करोड़ लोगों की जान, जानें 21वीं सदी के 5 जानलेवा वायरस

कोरोना वायरस से बचाव संबंधित सवाल और उनपर डॉक्टर्स के जवाब

Coronavirus 2020: इन सेलिब्रिटी को कोरोना वायरस की पुष्टि, रोनाल्डो ने खुद को किया अलग तो बिग बी ने सुनाई कविता

क्या प्रेग्नेंसी में कोरोना वायरस से बढ़ जाता है जोखिम?

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

ब्रिटेन में जल्‍द शुरू होगा कोरोना का वैक्‍सीनेशन (COVID-19 vaccine), सरकार ने दिया ग्रीन सिग्नल

ब्रिटेन में जल्‍द शुरू होगा कोविड-19 वैक्सीन प्रोग्राम। गवर्मेंट ने दी ग्रीन सिग्नल। UK has become the first country in the world to approve the Pfizer/BioNTech coronavirus vaccine

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Nidhi Sinha
कोविड 19 की रोकथाम, कोविड-19 दिसम्बर 3, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

कोविड-19 और सीजर्स या दौरे पड़ने का क्या है संबंध, जानिए यहां

कोविड-19 और सीजर्स का संबंध: कोविड-19 के पेशेंट में दौरे के लक्षण देखने को मिले हैं। विशेषज्ञों का मानना है कि कोरोना वायरस दिमाग पर अटैक कर रहा है, जिस कारण सीजर्स के लक्षण देखने को मिल रहे हैं।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi
कोरोना वायरस, कोविड-19 नवम्बर 5, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

इस दिवाली घर में जलाएं अरोमा कैंडल्स, जगमगाहट के साथ आपको मिलेंगे इसके हेल्थ बेनिफिट्स भी

इस दिवाली में अरोमा कैंडल से घर को करें रोशन करें। ऐसा करने से अच्छी खुशबू के साथ ही आपको रिलेक्स भी महसूस होगा। इस आर्टिकल के माध्यम से जानिए अरोमा कैंडल के फायदे।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi
हेल्थ टिप्स, स्वस्थ जीवन नवम्बर 3, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

हाथों की स्वच्छता क्यों है जरूरी, जानिए एक्सपर्ट की राय

जो लोग नियमित हाथों की सफाई रखते हैं उन्हें कोल्ड और फ्लू की समस्या कम होती है। जानिए हाथों की सफाई क्यों है जरूरी। HAND WASH

के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi
हेल्थ टिप्स, स्वस्थ जीवन अक्टूबर 15, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

कोरोना वायरस वैक्सीनेशन गाइडलाइन्स

सरकार के दिशा-निर्देश के अनुसार कोविड-19 वैक्सीनेशन के लिए इन लोगों को अभी करना होगा इंतजार!

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया AnuSharma
प्रकाशित हुआ जनवरी 18, 2021 . 5 मिनट में पढ़ें
कोरोना वायरस वैक्सीनेशन (Coronavirus Vaccination)

क्यों कोरोना वायरस वैक्सीनेशन हर एक व्यक्ति के लिए है जरूरी और कैसे करें रजिस्ट्रेशन?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Nidhi Sinha
प्रकाशित हुआ जनवरी 11, 2021 . 5 मिनट में पढ़ें
कोविड-19 वैक्सीनेशन

अधिकतर भारतीय कोविड-19 वैक्सीनेशन के लिए हैं तैयार, लेकिन कुछ लोग अभी भी करना चाहते हैं इंतजार

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया AnuSharma
प्रकाशित हुआ जनवरी 8, 2021 . 5 मिनट में पढ़ें
यूके में मिला कोरोना वायरस-Coronavirus new variant found in United Kingdom

यूके में मिला कोरोना वायरस का नया वेरिएंट, जो है और भी खतरनाक! 

के द्वारा लिखा गया Toshini Rathod
प्रकाशित हुआ दिसम्बर 21, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें