home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

इंदौर बना भारत का वुहान : कोरोना वायरस संक्रमितों की संख्या ने तोड़ा रिकार्ड

इंदौर बना भारत का वुहान : कोरोना वायरस संक्रमितों की संख्या ने तोड़ा रिकार्ड

आज वुहान या कोविड-19 महामारी का नाम लेते ही लोग डर जाते हैं, क्योंकि वुहान से फैला कोरोना वायरस का संक्रमण दुनिया भर में लोगों पर कहर बरपा रहा है। शायद ही कोई ऐसा देश हो, जो अपने यहां वुहान जैसा कोई शहर देखना चाहता हो, लेकिन भारत का दुर्भाग्य देखिए कि आज इस देश का एक शहर वुहान जैसा बन गया है। जी हां, कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या के मामले में मध्यप्रदेश का इंदौर शहर आज भारत का वुहान बन गया है। जानिए कैसे भारत का वुहान बना इंदौर।

इंदौर बना भारत का वुहान : कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या ने तोड़ा रिकार्ड

जब से मध्यप्रदेश में कोरोना वायरस का संक्रमण फैला है, तभी से इंदौर में संक्रमित मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है। यही कारण है कि मध्य प्रदेश का इंदौर शहर अब भारत का वुहान बन गया है। मध्यप्रदेश में पिछले कुछ दिनों कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ी है। गुरुवार 16 अप्रैल को मध्य प्रदेश में 361 नए कोरोनो वायरस मरीज मिले। आपको जानकर आश्चर्य होगा कि इनमें से 244 रोगी अकेले इंदौर के थे।

भारत का वुहान-Bharat ka wuhan

ये भी पढ़ेंः कोरोना वायरस फैक्ट चेक: कोरोना वायरस की इन खबरों पर भूलकर भी यकीन न करना, जानें हकीकत

देश में एक दिन में अब तक जितने भी कोरोना संक्रमित मरीज मिले हैं, उनमें यह अब तक का सबसे बड़ा आंकड़ा है। ताजा रिपोर्ट के अनुसार मध्यप्रदेश में अब कोरोना संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 1552 तक पहुंच गई। यह राज्य देश में तीसरे नंबर पर पहुंच गया। इसी कारण कहा जा रहा है कि इंदौर भारत का वुहान बन गया है।

इंदौर बना भारत का वुहान : चार मुख्य कारणों के कारण फैला कोरोना वायरस का संक्रमण

भारत का वुहान कैसे बना इंदौर। इसके बारे में नेत्र रोग विशेषज्ञ आनंद राय ने ट्वीट कर कहा, “मध्यप्रदेश में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। इसी वर्तमान परिस्थिति के कारण इंदौर को “भारत का वुहान” कहा जा सकता है।” डॉ राय ने इंदौर को कोरोना संक्रमण का सबसे बड़ा हॉटस्पॉट बनने और यहां कोरोना मरीजों के बढ़ने के चार मुख्य कारण भी बताए।

ये भी पढ़ेंः कोरोना वायरस की वैक्सीन बनाने में भारत कितना है दूर? बाकी देशों का क्या है हाल, जानें यहां

इंदौर बना भारत का वुहान : बुखार की जांच के लिए उपकरणों की कमी

डॉ. आनंद राय के मुताबिक, “जब कोई व्यक्ति कोरोना वायरस से संक्रमित होता है, तो उसे चार-पांच दिनों के बाद बुखार होने लगता है। बुखार होने के बाद ही रोगी को जांच कराने की जरूरत पड़ती है, लेकिन बुखार की जांच के लिए पर्याप्त मशीन नहीं होने के कारण, सभी रोगी की जांच नहीं हो सकी। यही कारण है कि भारत का इंदौर आज वुहान जैसी परिस्थिति में आ गया है।

इंदौर बना भारत का वुहान : लोगों ने क्वारंटाइन का नहीं किया पालन

उन्होंने यह भी कहा कि इंंदौर भारत का वुहान इसलिए भी बना, क्योंकि यहां के लोगों ने खुद को घर में क्वारंटाइन नहीं किया। बुखार होने के बाद भी लोग सार्वजनिक स्थानों पर जाते रहे। इससे कोरोना वायरस का संक्रमण फैलता गया।

भारत का वुहान-Bharat ka wuhan

ये भी पढ़ेंः कोरोना वायरस से लड़ने में देश के सामने ये है सबसे बड़ी बाधा, कोराेना फेक न्यूज से बचें

इंदौर बना भारत का वुहान : खाने-पीने की कमी के कारण घरों से निकले लोग

डॉ. आनंद के अनुसार, “इंदौर का भारत का वुहान बनने का दूसरा कारण है कि लोगों के घरों तक पर्याप्त मात्रा में राशन नहीं पहुंचना। इस कारण लोग अपने घरों से बाहर निकलने मजबूर हो रहे हैं। लोग घरों के बाहर निकलकर खाने-पीने के सामान तलाश रहे हैं। इस कारण भी इंदौर भारत का वुहान बना है।”

इंदौर बना भारत का वुहान : पर्याप्त टेस्टिंग की व्यवस्था नहीं

डॉ. आनंद ने यह भी बताया, “भारत का इंदौर इसलिए भी वुहान बना, क्योंकि इस शहर में लोगों की पर्याप्त टेस्टिंग नहीं की गई। स्वास्थ्य कर्मियों, पुलिस, सफाई कर्मचारियों और डिलीवरी करने वाले लोंगों की समुचित जांच नहीं की गई।”

भारत का वुहान-Bharat ka wuhan

ये भी पढ़ेंः कोरोना लॉकडाउन : खेलें क्विज और जानिए कि आप हैं कितने जिम्मेदार नागरिक ?

इंदौर बना भारत का वुहान : इंदौर में आपदा वाली स्थिति की चेतावनी

भारत का इंदौर जब वुहान बना तो पूरे देश की मीडिया का ध्यान अब इंदौर के हालात पर आ टिकी है। मीडियाकर्मी कह रहे हैं कि इंदौर कोरोना वायरस के साथ जोखिम भरी लड़ाई लड़ रहा है। चेतावनी दी जा रही है कि इंदौर में आपदा वाली स्थिति है। लोगों से अपील की जा रही है कि लोग इंदौर की संकटपूर्ण स्थिति को समझें। कोरोना वायरस का संक्रमण रोकने के लिए सभी अधिकारियों का सहयोग करें।

इंदौर बना भारत का वुहानःस्वास्थ्य कर्मियों का सहयोग नहीं कर रहे लोग

इंदौर इसलिए भी भारत का वुहान, क्योंकि यहां के कई लोग प्रशासन को सहयोग नहीं कर रहे हैं। अभी कुछ दिनों पहले ही, जब स्वास्थ्य कर्मी इंदौर के हॉटस्पॉट माने जा रहे तातापट्टी बाखल निवासियों में कोरोना वायरस की जांच करने के लिए पहुंचे थे, तब वहां स्वास्थ्य कर्मियों पर पथराव किया गया था। यहां के लोगों ने जांच से इंकार कर दिया था। इस कारण यहां कोरोना वायरस का संक्रमण अधिक फैल गया।

भारत का वुहान-Bharat ka wuhan

ऐसा ही एक वाकया रविवार को देखने को मिला। एनएसए घोषित अपराधी जावेद खान जिसे इंदौर से सेंट्रल जेल जबलपुर लाया गया था कोरोना पॉजिटिव था। उसे जब जबलपुर के हॉस्पिटल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया, तो वह पुलिस वालों को चकमा देकर आइसोलेशन वॉर्ड से ही भाग गया। हालांकि, पुलिस ने उसे नरसिंहपुर के पास तेंदुखेड़ा में गिरफ्तार कर लिया, लेकिन इस तरह की घटना से पता चलता है कि ऐसी गैर जिम्मेदाराना हरकतों से ये बीमारी और तेजी से फैल रही है।

ये भी पढ़ेंः कोरोना के पेशेंट को क्यों पड़ती है वेंटिलेटर की जरूरत, जानते हैं तो खेलें क्विज

जनता कर्फ्यू के दिन निकाला गया जुलूस

भारत का वुहान इसलिए बना इंदौर, क्योंकि यहां के लोगों ने प्रधानमंत्री की अपील का पूरा पालन नहीं किया। जब 22 मार्च को प्रधानमंत्री ने देश भर में जनता कर्फ्यू की अपील की थी, तो यहां के निवासियों ने सड़क पर जुलूस निकाला था। प्रधानमंत्री ने लोगों से घरों से बाहर न निकलने की सलाह दी थी, लेकिन लोग इसके विपरीत सड़क पर निकल आए।

अब आप जान गए होंगे कि इंदौर कैसे वुहान बन गया। अगर अब भी सरकार और लोग इंदौर को लेकर गंभीर नहीं होती है, तो ऐसी स्थिति पैदा हो सकती है कि इसका भुगतान पूरे भारत के लोगों को करना पड़े। हर ओर यह बोला जा रहा है कि इंदौर भारत का वुहान बना है और इसे यही रोकने की जरूरत है। ऐसे में उम्मीद है कि सरकार इस पर ध्यान देगी और कोरोना वायरस का संक्रमण रोकने पर ध्यान देगी। अगर ऐसा नहीं हुआ, तो इंदौर लोगों के जीवन के लिए घातक सिद्ध होगा। कोरोना के लक्षणों को नजरअंदाज न करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप किसी भी तरह की मेडिकल एडवाइस, इलाज और जांच की सलाह नहीं देता है।

और पढ़ेंः

कोरोना वायरस की ग्लोसरी: आपने पहली बार सुने होंगे ऐसे-ऐसे शब्द

कोरोना वायरस के लक्षण तेजी से बदल रहे हैं, जानिए कोरोना के अब तक विभिन्न लक्षणों के बारे में

फार्मा कंपनी ने डोनेट की 34 लाख हाइड्रोक्सी क्लोरोक्वाइन टैबलेट्स, ऐसे होगा इस्तेमाल

कोरोना से होने वाली फेफड़ों की समस्या डॉक्टर्स के लिए बन रही है पहेली

 

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

All accessed on 20/04/2020

Coronavirus-https://www.who.int/health-topics/coronavirus-

IndiaFightsCorona COVID-19 –https://www.mygov.in/covid-

A Surgeon Called Indore “India’s Wuhan”. Is the Situation Really That Dire?
https://www.arre.co.in/coronavirus/a-surgeon-called-indore-indias-wuhan-is-the-situation-really-that-dire/

NSA detainee COVID-19 patient who fled from Jabalpur hospital arrested from adjoining district-https://www.newindianexpress.com/nation/2020/apr/20/nsa-detainee-covid-19-patient-who-fled-from-jabalpur-hospital-arrested-from-adjoining-district-2132707.html

Jabalpur: SHO, 4 guards suspended after COVID-19 patient flees hospital –https://www.aninews.in/news/national/general-news/jabalpur-sho-4-guards-suspended-after-covid-19-patient-flees-hospital20200420042945/

Coronavirus disease (COVID-19) Pandemic –https://www.who.int/emergencies/diseases/novel-coronavirus-2019

India ramps up efforts to contain the spread of novel coronavirus-https://www.who.int/india/emergencies/novel-coronavirus-2019

 

लेखक की तस्वीर badge
Suraj Kumar Das द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 03/06/2020 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x