home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

कोरोना वायरस का डर खुद पर हावी न होने दें, ऐसे दूर करें तनाव

कोरोना वायरस का डर खुद पर हावी न होने दें, ऐसे दूर करें तनाव

दिसंबर 2019 से ही चीन से आ रही कोरोना वायरस की खबरें परेशान करने वाली थीं कि इसी बीच 30 जनवरी 2020 को भारत में भी पहले कोरोना वायरस से संक्रमित व्यक्ति की जानकारी मिलती है। चीन की तस्वीरें विचलित करने वाली थीं और भारत में कोरोना वायरस की खबर सुनते ही हमसभी का चिंतित होना लाजमी था। धीरे-धीरे कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या भारत में तेजी से बढ़ने लगी है। ऐसी स्थिति में लोगों की परेशानी, तनाव और चिंता बढ़ती जा रही है। हैलो स्वास्थ्य आप सभी से ऐसे समय में पैनिक न होने की गुजारिश करता है। ऐसे वक्त में एंग्जाइटी जैसी अन्य परेशानियों से कैसे बचा जाए और कोरोना वायरस का डर कैसे खत्म हो ये जानें इस आर्टिकल में।

यह भी पढ़ें- कोरोना वायरस प्रकोप: सुपर-स्प्रेडर क्या होता है और कैसे यह बीमारी को महामारी में बदलता है?

कोराेना वायरस से डरें नहीं, पहले जानें कोरोना वायरस क्या है?

यह वायरस कई वायरस (विषाणु) का एक समूह है जो स्तनधारियों और पक्षियों में रोग के कारण बन जाते हैं। यह RNA (राइबो न्यूक्लिक एसिड) वायरस होते हैं। मनुष्यों में यह श्वास प्रणाली को संक्रमित कर देता है, जो कभी-कभी जानलेवा भी साबित होते हैं। फिलहाल इसकी रोकथाम के लिए कोई टीका (वैक्सीन) या वायरस रोधी (antiviral) अभी उपलब्ध नहीं है। हालांकि, रिसर्च तेजी से की जा रही है और इसका इलाज संभव हो सकता है। कोरोना वायरस होने पर इसके लक्षणों में शामिल डिहाइड्रेशन, बुखार, सर्दी-खांसी आदि का उपचार किया जाता है ताकि संक्रमण से लड़ते हुए शरीर की शक्ति बनी रहे। कोरोना वायरस ने कुछ ही दिनों में दुनिया को बदल कर रख दिया है।

स्वास्थ्य विशेषज्ञों के अनुसार जब कोई भी व्यक्ति कोरोना वायरस से संक्रमित होता है, तो उसके छींकने और खांसने पर इसके विषाणु वातावरण में फैल जाते हैं और अन्य लोगों को भी संक्रमित कर देते हैं।

कोरोना वायरस का डर’ जब इस बारे में मुंबई की रहने वाली 33 वर्षीय तनेजा निगम से हमने बात की तो तनेजा कहती हैं, “कोरोना वायरस का डर अब मेरे मन में घर कर चुका है क्योंकि यहां (महाराष्ट्र) कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या तेजी से बढ़ती जा रही है। कभी-कभी मैं बेहद परेशान भी हो जाती हूं। हालांकि, मैं अपने परिवार के साथ सेल्फ-आइसोलेशन, हाथों को सेनेटाइज करना और घर की साफ-सफाई पर भी विशेष ध्यान रख रहीं हूं।”

कोरोना वायरस का डर : दिल्ली के लोगों में भी खौफ

वहीं दिल्ली के रहने वाले 39 वर्षीय श्याम मुखर्जी से जब हमने कोरोना वायरस का डर उनमें कितना है तो वो कहते हैं “कोरोना वायरस का डर अब थोड़ा ज्यादा सता रहा है क्योंकि इसके मामले बढ़ते जा रहें हैं। हम अपनी ओर से पूरी कोशिश कर रहें हैं कि कोरोना वायरस का डर हमारे अंदर न रहे। इसलिए वर्क फ्रॉम होम के दौरान मैं घर पर रहने के साथ-साथ अपने परिवार की सुरक्षा का भी ध्यान रख रहा हूं। इस वक्त सिर्फ एक परेशानी ज्यादा हो रही है कि मेरा 11 साल का बेटा इस बीमारी को लेकर जरूरत से ज्यादा सोचने लगा है। ऐसी स्थिति में पेरेंट्स होने के नाते कोरोना वायरस का डर या भय उसके दिमाग में न बैठ जाए यह परेशानी शुरू हो रही है।”

कोरोना वायरस का डर लोगों में साफ समझा जा सकता है। लेकिन, मुंबई के अस्तपाल से चेकअप के दौरान लोगों का भाग जाना तो दिल्ली के सबदरगंज अस्पताल से सस्पेक्टेड कोरोना वायरस के कारण हॉस्पिटल में एडमिट किए जाने पर 23 वर्षीय युवक के आत्महत्या की खबरें कुछ वक्त के लिए भी हमसभी के मन में कोरोना वायरस का डर पैदा कर देती हैं।

यह भी पढ़ें- सबसे खतरनाक वायरस ने ली थी 5 करोड़ लोगों की जान, जानें 21वीं सदी के 5 जानलेवा वायरस

सेंटर और डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (CDC) के अनुसार संक्रमित बीमारी के बारे अत्यधिक पढ़ने, सुनने या देखने के वजह से आप तनाव में आ सकते हैं। जिस वजह से निम्नलिखित परेशानी शुरू हो सकती है। जैसे-

  • खुद और परिवार के सदस्यों के हेल्थ के बारे में अत्यधिक सोचना जिस वजह से डर की शुरुआत होती है
  • हाउस अरेस्ट जैसी परिस्थिति की वजह से नियमित दिनचर्या में बदलाव होना
  • नींद न आना और किसी भी काम पर फोकस न कर पाना
  • कोई पुरानी बीमारी होने पर परेशानी ज्यादा होना
  • एल्कोहॉल, स्मोकिंग और ड्रग्स का सेवन ज्यादा करना

यह भी पढ़ें: कोरोना की वजह से अपनों को छूने से डर रहे लोग, जानें स्किन को एक टच की कितनी है जरूरत

कोरोना वायरस से डरें नहीं, करें ये उपाय

इन परेशानियों के अलावा अन्य परेशानी भी हो सकती है। इसलिए कोरोना वायरस का डर मन में न लाएं। इस बीमारी से बचने का इलाज डर कर न करें सिर्फ समझदारी से करें। जैसे-

यह भी पढ़ें: स्वच्छ भारत अभियान और कोरोना वायरस : क्या सिर्फ साफ-सफाई से होगा हमारा बचाव

कोरोना वायरस का डर लोगों में कितना है इस बारे में हमने कुछ डॉक्टर्स से भी की। मुंबई के एसीएस हेल्थ के फिजीशियन डॉ. आशीष तिवारी से बात की तो उनका कहना है कि “इस समय सामान्य से ज्यादा पेशेंट आ रहें हैं। सर्दी-खांसी या सिर्फ बुखार होने पर भी लोग डरे हुए हैं। कोरोना वायरस का डर लोगों को जरूर लग रहा है लेकिन, यह वक्त डरने या घबराने का नहीं है बल्कि साफ-सफाई का ध्यान रखकर और इम्यून सिस्टम को स्ट्रॉन्ग बनाये रखने का है। इसलिए पौष्टिक आहार का सेवन करें।”

यह भी पढ़ें: कोरोना वायरस अपडेट : चीन ने वायरस से निपटने के लिए लोगों से मांगी ये चीज

कोरोना वायरस का डर मन में न रहें इसलिए रिसर्च के अनुसार कुछ खास बातों का ध्यान रखें और निम्नलिखित टिप्स फॉलो करें।

कोरोना वायरस का डर न हो इसलिए फॉलो करें ये टिप्स : एंग्जाइटी से बचें

अगर आपको एंग्जाइटी की परेशानी तो ऐसे वक्त में परेशान न हों। आप अपने घर और पड़ोसियों के साथ बात कर सकते हैं। वर्क फ्रॉम होम होने की वजह से आप अपने करीबी साथियों से नहीं मिल सकते हैं लेकिन, उनसे आप वॉइस कॉल या वीडियो कॉल पर बात कर सकते हैं। कोरोना वायरस की चर्चा और इससे जुड़ी खबरें देखकर या पढ़कर परेशान न हों बल्कि ऐसी खबरों को हमेशा ट्रस्टेड सोर्स पर ही पढ़ें। अपने अंदर नकारात्मक विचारधारा न आने दें क्योंकि ऐसी विचारधारा आपको परेशान करने के साथ-साथ आपके आसपास रह रहें लोगों की चिंता बढ़ा सकती है।

कोरोना वायरस का डर न हो इसलिए फॉलो करें ये टिप्स : कठिन वक्त का सामना करें

यह बेहद जरूरी है की इस समय जब आप घर से बाहर नहीं जा रहें और बाहर की दुनिया में क्या हो रहा है इसकी जानकारी के लिए न्यूज देखते हैं, पढ़ते हैं या सुनते हैं तो ऐसे में इस बारे में अत्यधिक दिमाग पर दवाब डालना आपको परेशानी में डाल सकता है। नॉर्थ वेस्टर्न यूनिवर्सिटी से जुड़े साइकोलॉजिस्ट आपको सिर्फ या हमेशा कोरोना वायरस से जुड़े खबरों को जानने की जरूरत नहीं है। कुछ वक्त के लिए अपनी जानकारी के लिए अवश्य पढ़ें या देखें। इस कठिन वक्त का सामना करें और संक्रमण से बचने के उपाय करते रहें।

यह भी पढ़ें: कोरोना वायरस के इलाज में प्रभावी हो सकती है रेमडेसिवीर दवा, जानें इसके बारे में

कोरोना वायरस का डर न हो इसलिए फॉलो करें ये टिप्स : अच्छी नींद लें

हेल्दी रहने के लिए साउंड स्लीप बेहद जरूरी है। 7 से 8 घंटे की नींद आपको रिलैक्स रहने में मददगार होती है। यही नहीं नेशनल सेंटर फॉर बायोटक्नोलॉजी इंफॉर्मेशन (NCBI) के अनुसार रोजाना 7 से 8 घंटे की नींद अवश्य लेनी चाहिए। अच्छी नींद सेहत के लिए बेहतर होने के साथ-साथ किसी भी संक्रमण से बचाने में मददगार है। अच्छी नींद के लिए बेडरूम को साफ रखें, समय पर सोने की आदत डालें, सोने के कम से कम 2 घंटे पहले डिनर करें और बेडरूम में रेड लाइट (नाइट बल्ब) अच्छी नींद लाने में मददगार होती है। आप चाहें तो स्लीपिंग म्यूजिक का भी सहारा ले सकते हैं। कोरोना वायरस का डर अपने मन में न रखें।

यह भी पढ़ें: क्या सचमुच विटामिन डी के सेवन से कम होगा कोरोना वायरस का खतरा?

कोरोना वायरस का डर न हो इसलिए फॉलो करें ये टिप्स : हेल्दी खाना खाएं

पौष्टिक आहार इम्यून सिस्टम को सट्रॉन्ग बनाये रखने में सबसे पहली और अहम भूमिका निभाता है। इसलिए कोरोना वायरस का डर मन में न लाएं और पौष्टिक आहार जैसे विटामिन-सी युक्त फलों का सेवन करें, साबुत आनाज, डेयरी प्रोडक्ट, हरी सब्जियां, नट्स और 2 से 3 लीटर तक रोजाना पानी पीएं। इस समय अत्यधिक मीठा और अल्ट्रा प्रोसेस्ड फूड के सेवन से बचें। आप चाहें तो इस दौरान नारियल पानी का सेवन करें, हल्के गर्म पानी में नींबू, शहद, अदरक मिलाकर पानी का सेवन करना आपके स्वास्थ्य के लिए बेहतर होगा। यही नहीं इसके सेवन से डिहाइड्रेशन की समस्या से बचने के साथ-साथ आप हेल्दी भी रह सकते हैं।

कोरोना वायरस का डर न हो इसलिए फॉलो करें ये टिप्स : वर्कआउट करें

स्वस्थ रहने के लिए जिस तरह से हेल्दी फूड की अहम भूमिका होती है ठीक वैसे ही एक्सरसाइज करना भी जरूरी है। कोरोना वायरस न फैले इसलिए जिम और स्वीमिंग पूल जैसी जगह बंद कर दी गई है। ऐसे घर पर ही रहकर वर्कआउट करना बेहतर विकल्प तनाव से बचने के लिए और स्वस्थ्य रहने के लिए।

यह भी पढ़ें: कोरोना वायरस से ब्लड ग्रुप का है कनेक्शन, रिसर्च में हुआ खुलासा

कोरोना वायरस का डर न हो इसलिए फॉलो करें ये टिप्स : हाथों को संक्रमण से बचाएं

इंफेक्शन का खतरा न हो या इससे कैसे बचा जाए इसलिए हमने मुंबई के जसलोक हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर के इन्फेक्शन डिजीज के डायरेक्टर डॉ. ओम श्रीवास्तव की बात। डॉ. श्रीवास्तव के अनुसार हैंड वॉश का सही तरीका अपना बेहद जरूरी है। डॉ. श्रीवास्तव के अनुसार हाथों को कीटाणुओं से फ्री रखने के लिए ज्यादा मेहनत करने की जरूरत भी नहीं है सिर्फ निम्नलिखित स्टेप्स को फॉलो कर इंफेक्शन से बचा जा सकता है।

स्टेप 1- सबसे पहले पानी का नॉब खोलें

स्टेप 2- पानी का टेम्प्रेचर हल्का गर्म हो

स्टेप 3- हाथ को पानी से गीला करें

स्टेप 4- फिर सोप लगाएं

स्टेप 5- अब दोनों हाथों को अच्छी तरह 20 सेकेंड आपस में आगे-पीछे और उंगलियों के बीच में आराम से रगड़े

स्टेप 6- अंत में हाथों को अच्छी तरह धो लें

कोरोना वायरस का डर न हो इसलिए सोप और सेनेटाइजर का चयन भी समझदारी से करना चाहिए। हॉवर्ड (हार्वर्ड) मेडिकल स्कूल के एक रिपोर्ट के अनुसार एल्कोहॉल युक्त सेनेटाइजर एंटीबैक्टेरिअल सोप से ज्यादा प्रभावशाली होते हैं। हाथों को कीटाणुओं से बचाने के लिए सिर्फ पानी और प्लेन सोप का इस्तेमाल करना सही विकल्प नहीं हो सकता है।

कोरोना वायरस का डर न हो इसलिए फॉलो करें ये टिप्स : सोशल मीडिया से थोड़ा ब्रेक लें

सोशल मीडिया से हमसभी जुड़े हुए रहते हैं लेकिन, जुड़ने और इसकी लत पड़ना आपको परेशानी में डाल सकता है। कोरोना वायरस की चर्चा और इससे जुड़ी नेगेटिव खबरें भी सोशल मीडिया में खूब बनी हुई हैं। इस बारे में हमने मुंबई की रहने वाली 27 वर्षीय अल्का देशमुख से बात की, अल्का कहती हैं कि “मैं सोशल मीडिया में काफी एक्टिव रहती हूं लेकिन, इनदिनों बार-बार कोरोना वायरस के बारे में पढ़कर मैं परेशान रहने लगी हूं और धीरे-धीरे मैं सोशल मीडिया पर समय कम बिता रही हूं।” इसलिए अगर आपभी अपना ज्यादा वक्त सोशल मीडिया को देते हैं, तो इससे बचें।

इन टिप्स को फॉलो कर आप फिट रह सकते हैं और ऐसा करने से कोरोना वायरस आपसे डर सकता है।

यह भी पढ़ें: कोरोना की जांच को लेकर न हों कंफ्यूज, सरकार ने जारी की 52 लैब की लिस्ट

कोरोना वायरस का डर लोगों में न फैले इसलिए स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से ऐसे कंट्रोल रूम भी बनाए गए हैं जो 24 घंटे लोगों की सेवा के लिए उप्लब्ध हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा दिए गए फोन नंबर 011-23978046 पर संपर्क किया जा सकता है। फोन नंबर के साथ-साथ आप [email protected] पर मेल करके भी कोरोना वायरस के लक्षणों या किसी भी तरह की इससे जुड़ी जानकारी हासिल कर सकते हैं।

कोरोना वायरस का डर अगर आपको भी सता रहा है इस डर को मन से निकल दें। कोरोना वायरस से जुड़े किसी तरह के कोई सवाल जानना चाहते हैं तो विशेषज्ञों से समझना बेहतर होगा। कोरोना वायरस से सावधानी ही इस बीमारी का मात्र इलाज है।हैलो हेल्थ ग्रुप किसी भी तरह की मेडिकल एडवाइस, इलाज और जांच की सलाह नहीं देता है।

और पढ़ें :

इलाज के बाद भी कोरोना वायरस रिइंफेक्शन का खतरा!

कोरोना वायरस से बचाव संबंधित सवाल और उनपर डॉक्टर्स के जवाब

वर्क फ्रॉम होम : कोरोना वायरस की वजह से घर से कर रहे हैं काम, लेकिन आ रही होंगी ये मुश्किलें

क्या प्रेग्नेंसी में कोरोना वायरस से बढ़ जाता है जोखिम?

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Pandemic Panic? These 5 Tips Can Help You Regain Your Calm/https://www.npr.org/sections/health-shots/2020/03/03/811656226/pandemic-panic-these-5-tips-can-help-you-regain-your-calm/Accessed on 19/03/2020

Coronavirus Anxiety – Helpful Expert Tips and Resources/https://adaa.org/finding-help/coronavirus-anxiety-helpful-resources/Accessed on 19/03/2020

Coronavirus Anxiety: Coping with Stress, Fear, and Uncertainty/https://www.helpguide.org/articles/anxiety/coronavirus-anxiety.htm/Accessed on 19/03/2020

Manage Anxiety & Stress/https://www.cdc.gov/coronavirus/2019-ncov/prepare/managing-stress-anxiety.html/Accessed on 19/03/2020

Coronavirus anxiety: Why the outbreak feeds worries and five simple ways to reduce coronavirus anxiety/https://www.uchealth.org/today/coronavirus-anxiety-tips-for-reducing-worries/Accessed on 19/03/2020

The impact of daily sleep duration on health: a review of the literature./https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pubmed/15133379/Accessed on 19/03/2020

The handiwork of good health/https://www.health.harvard.edu/newsletter_article/The_handiwork_of_good_health/Accessed on 19/03/2020

लेखक की तस्वीर badge
Nidhi Sinha द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 03/06/2020 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x