home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

कोविड-19 (कोरोना वायरस): जानें क्यों पुरुषों को महिलाओं की तुलना में है संक्रमण का अधिक खतरा!

कोविड-19 (कोरोना वायरस): जानें क्यों पुरुषों को महिलाओं की तुलना में है संक्रमण का अधिक खतरा!

दुनिया भर में कोरोना वायरस महामारी से ढाई लाख से अधिक लोगों की मृत्यु हो चुकी है। इस वायरस से पूरी दुनिया में 36 लाख से अधिक लोग संक्रमित हो चुके हैं। यही कारण है कि इस भयंकर बीमारी के बारे में लोगों को रोज नई-नई तरह की खबरें मिल रही हैं। अब नई जानकारी यह मिली है कि महिलाओं की तुलना में पुरुषों में कोविड-19 संक्रमण का अधिक खतरा होता है। कई आंकड़े भी इसी ओर इशारा कर रहे हैं कि पुरुषों में महिलाओं की अपेक्षा कोरोना वायरस संक्रमण का अधिक खतरा होता है। आपने भी ऐसी कई खबरें देखी होंगी। आइए जानते हैं कि इस खबर की सच्चाई क्या है।

पुरुषों में कोविड-19 (कोरोना वायरस) संक्रमण का खतराः चीन में महिलाओं से अधिक पुरुषों की मृत्यु दर

चीन में कोरोना वायरस के कारण हजारों लोगों की मृत्यु हो गई। मृत्यु के बाद चीनी सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (सीडीसी) ने आंकड़े जुटाए। इन उपलब्ध आंकड़ों के अनुसार, चीन में जितने लोगों की कोरोना वायरस के कारण मौत हुई है, उनमें पुरुषों की संख्या महिलाओं से काफी अधिक है। चीन में कोविड-19 के कारण महिलाओं की मृत्यु दर केवल 1.7% रही है, जबकि पुरुषों की 2.8% मृत्यु दर दर्ज की गई है। इसी संस्था ने यह भी बताया कि पुरुष और महिला, दोनों कोरोना वायरस से समान रूप से संक्रमित हो रहे हैं, लेकिन दोनों की मृत्यु में काफी अंतर है।

पुरुषों में कोविड-19 संक्रमण-male me covid-19 sankraman-infection ka khata

ये भी पढ़ेंः कोविड-19 के खिलाफ वरदान साबित हो सकते हैं ये 7 ईटिंग हैक्स

पुरुषों में कोविड-19 (कोरोना वायरस) संक्रमण का खतराः अमेरिका में भी पुरुषों की मृत्यु दर महिलाओं से अधिक

अमेरिका में कोरोना के कहर के बाद जब पुरुषों और महिलाओं में कोविड-19 संक्रमण संबंधित रिपोर्ट बनाई गई, तो वहां भी कुछ ऐसी ही जानकारी मिली। वर्ल्डोमीटर द्वारा उपलब्ध इस जानकारी से आप अमेरिका के आंकड़े देख सकते हैः-

लिंग मृत्यु मृत्यु दर कोरोना वायरस की पुष्टि वाले मामले औसत मृत्यु दर ऐसे मामले, जिनमें कोई लक्षण नहीं दिखा औसत मृत्यु दर
पुरुष 4,095 61,8% 3,087 62,2% 96 72.2%
महिला 2,530 38.2% 1.873 37.8% 37 27.8%

वर्ल्डोमीटर के इस दूसरे आंकड़े में भी पुरुषों में कोरोना वायरस संक्रमण का अधिक खतरा होने की बात बताई गई है।

लिंग कोरोना वायरस की पुष्टि वाले मामले ऐसे मामले, जिनमें कोई लक्षण नहीं दिखा
पुरुष 4.7% 2.8%
महिला 2.8% 1.7%

पुरुषों में कोविड-19 (कोरोना वायरस) संक्रमण का खतराः पुरुषों के संक्रमित होने के पीछे होते हैं कई कारण

अब आप सोच रहे होंगे कि जब पुरुष और महिला, दोनों समान रूप से कोरना वायरस से संक्रमित होते हैं, तो फिर पुरुषों की मृत्यु दर महिलाओं की तुलना में अधिक क्यों है। पुरुषों में कोरोना वायरस संक्रमण का खतरा अधिक क्यों है। जानकारों का मानना है कि पुरुषों में कोविड-19 संक्रमण का अधिक खतरा होने के कई कारण हो सकते हैं। इनमें पुरुषों की जीवनशैली, दैनिक जीवन की गतिविधियां और रोग प्रतिरक्षा शक्ति की कमी आदि जैसे कारण हो सकते हैं।

ये भी पढ़ेंः कोविड-19 और अल्जाइमर मरीजः जानिए रोगी की देखभाल के लिए विशेषज्ञ डॉक्टरों के बताए हुए उपाय

पुरुषों में कोविड-19 (कोरोना वायरस) संक्रमण का खतराः पुरुषों के अंडकोष में कोरोना वायरस होने की खबर

एक अध्ययन यह बताता है कि पुरुषों का अंडकोष कोरोना वायरस को शरीर में बनाए रखने का सुरक्षित माध्यम हो सकता है। इस कारण से पुरुषों में महिलाओं की तुलना में कोरोना वायरस संक्रमण की संभावना अधिक होती है। जब कोविड-19 किसी के शरीर में प्रवेश करता है, तो वह एसीई 2 प्रोटीन, या एंजियोटेंसिन एंजाइम 2 को बदलने वाली कोशिकाओं से जाकर चिपक जाता है।

पुरुषों में कोविड-19 संक्रमण-male me covid-19 sankraman-infection ka khata

ये कोशिकाएं फेफड़ों, हृदय और आंतों में पाए जाते हैं। इसके अलावा पुरुषों के अंडकोष में भी यह प्रोटीन बड़ी मात्रा में पाया जाता है, जबकि महिलाओं के ओविरेयन टिश्यू में यह प्रोटीन बहुत कम मात्रा में पाया जाता है। यही कारण है कि पुरुषों में कोरोना वायरस संक्रमण का खतरा अधिक होता है।

ये भी पढ़ेंः क्या कोविड-19 के कारण समाज में धीरे-धीरे जन्म ले रही अकेलेपन की समस्या?

पुरुषों में कोविड-19 (कोरोना वायरस) संक्रमण का खतराः ब्रिटेन में पुरुषों की मृत्यु दर महिलाओं से दोगुनी

इस अध्ययन में यह भी बताया गया है कि महिला और पुरुष, दोनों कोरोना वायरस से समान रूप से संक्रमित होते हैं, लेकिन संक्रमित होने के बाद पुरुषों की स्थिति महिलाओं से ज्यादा गंभीर हो सकती है। इस संबंध में ऑफिस फॉर नेशनल स्टैटिस्टिक्स (ONS) ने ब्रिटेन में शोध किया। ऑफिस फॉर नेशनल स्टैटिस्टिक्स (ONS) के शोध रिपोर्ट के अनुसार, ब्रिटेन में पुरुषों की मृत्यु दर, महिलाओं की मृत्यु दर से दोगुनी है। ब्रिटेन में नोवल कोरोना वायरस के कारण प्रति 100,000 पुरुष मरीजों में से 1,728.2 की मृत्यु हुई, जबकि महिलाओं के लिए यही आंकड़ा प्रति 100,000 में से 840.9 था।

ये भी पढ़ेंः कोरोना वायरस का ड्रग : क्या सिर की जूं (लीख) की दवाई आइवरमेक्टिन कोविड-19 को खत्म कर सकती है?

पुरुषों में कोविड-19 (कोरोना वायरस) संक्रमण का खतराः मुंबई में 68 लोगों पर किया गया शोध

शोधकर्ताओं ने ऐसा ही एक और अध्ययन मुंबई में भी किया। मुंबई के अध्ययन में भाग लेने वाले प्रतिभागियों की आयु तीन से 75 वर्ष की थी। इनकी औसत आयु 37 थी। इस अध्ययन में मुंबई में रहने वाले 48 पुरुषों और 20 महिलाओं को शामिल किया गया, जो सभी नोवल कोरोना वायरस से संक्रमित थे।

पुरुषों में कोविड-19 संक्रमण-male me covid-19 sankraman-infection ka khata

अध्ययन में यह देखने को मिला कि महिलाओं को संक्रमण से मुक्त होने में केवल चार दिन लगे, जबकि पुरुषों को कोरोना वारयस से मुक्ति पाने में छह दिन लग गए।

ये भी पढ़ेंः डब्ल्यूएचओ ने कोविड-19 के दौरान आवश्यक स्वास्थ्य सेवाओं के लिए जारी किए ये दिशानिर्देश

पुरुषों में कोविड-19 (कोरोना वायरस) संक्रमण का खतराः अंडकोष में वायरस के पहुंचने का कोई तथ्य नहीं

ब्रोंक्स के मोंटेफोर मेडिकल सेंटर की ऑन्कोलॉजिस्ट डॉ. अदिति शास्त्री ने भी ऐसा ही एक शोध अपनी मां जयंती शास्त्री पर किया। हालांकि इससे संबंधित कोई तथ्य साबित नहीं किया गया। इतने सारे शोध यह बता रहे हैं कि पुरुषों में कोरोना वायरस संक्रमण का खतरा महिलाओं से अधिक होता है, क्योंकि कोविड-19 पुरुषों के अंडकोष को अपना घर जैसा बना लेता है, लेकिन ऐसे भी की अध्ययन हैं, जो इस तरह के शोध को सीधे नकार रहे हैं।

ये भी पढ़ेंः पालतू जानवरों से कोरोना वायरस न हो, इसलिए उनका ऐसे रखें ध्यान

पुरुषों में कोविड-19 (कोरोना वायरस) संक्रमण का खतराः फेफड़ों को नुकसान पहुंचाता है कोरोना

यूनिवर्सिटी ऑफ रीडिंग में वायरोलॉजी विभाग के प्रोफेसर इयान जोन्स ने पुरुषों के अंडकोष में कोरोना वायरस की मौजूदगी का पूरी तरह से खंडन किया है। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस शरीर में प्रवेश करने के बाद रक्त प्रवाह के जरिए ही अंडकोष तक पहुंच सकता है, लेकिन कोरोना वायरस के बारे में अभी तक जो तथ्य सामने आए हैं, उससे यह बात सच नहीं लगती।

पुरुषों में कोविड-19 संक्रमण-male me covid-19 sankraman-infection ka khata

जब कोई व्यक्ति कोविड-19 से संक्रमित होता है, तो वायरस सीधे उसके श्वसन नली में पहुंच जाता है और यह धीरे-धीरे रोगी के फेफड़ों को नुकसान पहुंचाने लगता है। ऐसी कोई जानकारी उपलब्ध नहीं है, जिसमें यह कहा गया हो कि यह शरीर के दूसरे अंगों में भी पहुंच रहा हो। रक्त प्रवाह के जरिए अंडकोष में पहुंचने संबंधी तथ्य भी मौजूद नहीं है।

ये भी पढ़ेंः कोरोना वायरस से जुड़े सवाल और उनके जवाब, डायबिटीज और बीपी के रोगी जरूर पढ़ें

पुरुषों में कोविड-19 (कोरोना वायरस) संक्रमण का खतराः एक्स क्रोमोसोम के कारण महिलाओं की इम्यूनिटी बेहतर

प्रोफेसर इयान जोन्स ने यह भी कहा कि आमतौर पर महिलाओं की तुलना में पुरुषों की रोग प्रतिरक्षात्मक शक्ति कम होती है। ऐसा संभवतः एक्स क्रोमोसोम के कारण होता है। पुरुषों में एक एक्स क्रोमोसोम होता है, जबकि महिलाओं में दो एक्स क्रोमोसोम होते हैं। मुझे लगता है कि यही मुख्य कारण है, जिससे पुरुषों में कोविड-19 संक्रमण का खतरा अधिक होता है और महिलाओं को कोरोना का खतरा कम होता है।

पुरुषों में कोविड-19 संक्रमण-male me covid-19 sankraman-infection ka khata

ये भी पढ़ेंः सावधान ! क्या आप कोरोना वायरस के इन लक्षणों के बारे में भी जानते हैं? स्टडी में सामने आई ये बातें

पुरुषों में कोविड-19 (कोरोना वायरस) संक्रमण का खतराः कोरोना मरीज के वीर्य में नहीं मिला वायरस

यूनिवर्सिटी ऑफ नॉटिंघम में मोलिक्यूलर वायरोलॉजी विभाग के प्रोफेसर जोनाथन बॉल के अनुसार, पुरुषों के अंडकोष में नोवल कोरोना वायरस की मौजूदगी को लेकर एक दूसरा शोध किया गया। इस अध्ययन में रोगी के वीर्य में कोरोना वायरस की मौजूदगी नहीं मिली। इससे यही साबित होता है कि कोरोनो वायरस व्यक्ति के अंडकोष में नहीं पहुंचता है।

प्रोफेसर जोनाथन बॉल ने यह भी कहा इसके अलावा भी कई शोध किए गए। एक शोध में कोरोना संक्रमित कुछ रोगी बीमारी से उबर रहे थे। इन सभी मरीजों की जांच की गई। इसमें भी अंकडोष में कोरोना वायरस की मौजदूगी नहीं पाई गई। इनमें से एक मरीज की मृत्यु भी हुई और मृत्यु के बाद भी मरीज के वीर्य की जांच की गई तो उसमें कोविड-19 नहीं मिला।

ये भी पढ़ेंः कोरोना का असरः वर्क फ्रॉम होम से परिवारों में होने लगी खटपट!

पुरुषों में कोविड-19 (कोरोना वायरस) संक्रमण का खतराः नतीजों तक पहुंचने के लिए होने चाहिए और शोध

यूनिवर्सिटी कॉलेज लंदन के मेडिकल इमेजिंग विभाक के प्रोफेसर डेरेक हिल के अनुसार, इन सभी अध्ययनों से इस बात का सबूत नहीं मिलता है कि संक्रमित होने के बाद कोविड-19 वायरस इंसान के अंडकोष तक पहुंचता है। इससे संबंधित सटीक जानकारी के लिए और अधिक शोध की जानी चाहिए।

पुरुषों में कोविड-19 संक्रमण-male me covid-19 sankraman-infection ka khata

ये भी पढ़ेंः कोरोना वायरस से दूर रखेगा इम्यूनिटी बढ़ाने वाले फूड का सेवन

यहां भारत सहित विश्व के अलग-अलग देशों के वैज्ञानिकों के शोध रिपोर्ट शामिल किए गए हैं। कुछ रिपोर्ट में यह कहा जा रहा है कि पुरुषों के अंडकोष में कोरोना वायरस पहुंच सकता है, इसलिए पुरुषों में कोविड-19 संक्रमण का खतरा अधिक होता है, जबकि कई वैज्ञानिक ऐसे शोध को नकार रहे हैं। उम्मीद की जानी चाहिए कि इस संबंध में जल्द से जल्द लोगों को सटीक जानकारी मिलेगी।

हैलो हेल्थ ग्रुप किसी भी तरह की मेडिकल एडवाइस, इलाज और जांच की सलाह नहीं देता है।

और पढ़ेंः

कोरोना लॉकडाउन और क्वारंटाइन के दौरान पुरुष इन तरीकों से रखें अपनी त्वचा का ख्याल

कोरोना वायरस डाइट प्लान : लॉकडाउन और क्वारंटाइन के दौरान क्या खाएं और क्या न खाएं?

कोरोना वायरस और इम्यूनिटी पावरः एक चीज आपकी इम्यूनिटी पावर को कम कर सकती है

कोविड-19 और मानसिक स्वास्थ्य : महामारी में नशीले पदार्थों से बचना बेहद जरूरी

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

All accessed on 05/05/2020

1.Do testicles make men more vulnerable to coronavirus? Study suggests testes harbour Covid-19 giving virus sanctuary from immune system-https://www.dailymail.co.uk/health/article-8232889/Study-suggests-testes-harbour-Covid-19-giving-virus-sanctuary-immune-system.html

2.Coronavirus: Why are there more male than female patients-
https://timesofindia.indiatimes.com/life-style/health-fitness/health-news/coronavirus-why-are-there-more-male-than-female-patients/articleshow/74674351.cms

3.Coronavirus-https://www.who.int/health-topics/coronavirus-
4.Coronavirus disease (COVID-19) Pandemic –https://www.who.int/emergencies/diseases/novel-coronavirus-2019
5.India ramps up efforts to contain the spread of novel coronavirus-https://www.who.int/india/emergencies/novel-coronavirus-2019
6.#IndiaFightsCorona COVID-19 –https://www.mygov.in/covid-19
7.Age, Sex, Existing Conditions of COVID-19 Cases and Deaths-https://www.worldometers.info/coronavirus/coronavirus-age-sex-demographics/

लेखक की तस्वीर badge
Suraj Kumar Das द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 06/05/2020 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x