home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

अब यह समस्या भी हो सकती है कोरोना का नया लक्षण, हो जाएं सावधान

अब यह समस्या भी हो सकती है कोरोना का नया लक्षण, हो जाएं सावधान

कोरोना वायरस महामारी (Coronavirus Pandemic) लगभग दुनिया के हर कोने में पहुंच चुकी है और इसकी वजह से दुनियाभर में अबतक लाखों लोग संक्रमित हो चुके हैं और 1.5 लाख से ज्यादा लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। अभी तक कोविड- 19 इंफेक्शन का इलाज और रोकथाम खोजने में वैज्ञानिक और शोधकर्ता विफल रहे हैं, लेकिन कोरोना की अनसुलझी पहले को सुलझाने के लिए दिन-रात एक्सपर्ट की टीम अध्ययन कर रही है। इन्हीं अध्ययनों के बाद दुनिया को कोरोना वायरस के प्रमुख लक्षणों के बारे में पता चला है, जिन्हें पहचानकर वह अपना टेस्ट, सावधानी या इलाज शुरू करवा सकते हैं। ऐसे ही अब रिसर्च के मुताबिक पैरों में घाव, निशान आदि को भी कोरोना का नया लक्षण माना जा रहा है। आइए, जानते हैं आखिर ऐसा क्यों कहा जा रहा है।

यह भी पढ़ें: कोविड-19: दिन रात इलाज में लगे एक तिहाई मेडिकल स्टाफ को हुई इंसोम्निया की बीमारी

कोरोना का नया लक्षण क्या है? (Coronavirus New Symptom)

कोरोना वायरस की टेस्टिंग, इलाज और रोकथाम को आसान बनाने के लिए दुनियाभर के शोधकर्ता इस महामारी पर अध्ययन कर रहे हैं। पिछले कुछ दिनों में कई कोरोना के नए लक्षणों के बारे में पता चला है और इसी कड़ी में अब पैरों खासकर तलवों या पंजों में छोटे-छोटे घाव, निशान या धब्बे (Foot lesions, sores or bruises) होने को भी कोरोना का नया लक्षण बताया जा रहा है। स्पेनिश जनरल काउंसिल ऑफ ऑफिशियल पोडियाट्रिस्ट कॉलेज ने बताया कि, यह निशान और धब्बे बैंगनी रंग के हो सकते हैं, जो कि चिकनपॉक्स, मीजल्स आदि इंफेक्शन में आमतौर पर देखे जाते हैं।

यह भी पढ़ें: चेहरे के जरिए हो सकता है इंफेक्शन, कोरोना से बचने के लिए चेहरा न छूना

किन मरीजों में देखा गया कोरोना का नया लक्षण? (Covid- 19 New Symptoms)

स्पेनिश जनरल काउंसिल का कहना है कि, पैरों में ऐसे बैंगनी घाव या निशान इटली, फ्रांस और स्पेन में कोरोना वायरस से संक्रमित हुए युवा मरीजों में देखे गए हैं। काउंसिल के मुताबिक, सभी पेशेंट्स और संभावित मरीजों में अगर पैरों में ऐसे रंग के घाव या निशान दिखते हैं, तो उस पर गौर करते रहें। अगर आपको पैरों में इन घावों या निशानों के साथ बुखार, सूखी खांसी, सांस संबंधी समस्या का सामना करना पड़ता है, तो तुरंत अस्पताल से संपर्क करें। आपको बता दें कि, पिछले महीने इटली में एक 13 वर्षीय बच्चे के पैरों में भी ऐसे बैंगनी रंग के निशान आदि देखने को मिले थे, जिसे मकड़ी का डंक मान लिया गया था। लेकिन धीरे-धीरे बच्चे में बुखार, मसल्स पेन और सिरदर्द जैसी समस्या दिखने लगी और उसकी मां और बहन को भी यही लक्षण दिखने लगे। हालांकि, अभी तक बच्चा कोविड-19 इंफेक्शन से संक्रमित नहीं बताया गया है।

यह भी पढ़ें: Lockdown 2.0- भारत में 3 मई तक बढ़ा लॉकडाउन, 20 अप्रैल के बाद सशर्त मिल सकती है छूट

कोरोना का नया लक्षण : हर जानकारी रखना जरूरी

देखिए, अभी वर्तमान संकट के रूप में मौजूद कोरोना वायरस की बीमारी कोविड- 19 के बारे में एकदम सटीक जानकारी किसी भी देश के पास नहीं है और लगातार इसके ऊपर शोध जारी है। जिससे इसके नए लक्षणों आदि का पता चल रहा है। SARS-CoV-2 को फैलने से रोकने के लिए इसके लक्षणों को पहचानकर सही समय पर सेल्फ आइसोलेशन और ट्रीटमेंट जरूरी है, जो कि आपको इसके नए-नए लक्षणों के बारे में जानकारी रखने के बाद ही मुमकिन हो पाएगा। लक्षणों को सही समय पर पहचानकर डॉक्टरों को सही समय पर टेस्टिंग, बचाव और इलाज में मदद मिलेगी, जिसे मरीज की जान को बचाया जा सकेगा।

SARS-CoV-2 के नए लक्षण क्या हैं? (SARS-CoV-2 New Symptoms)

SARS-CoV-2 यानी कोरोना के नए लक्षणों में कई शारीरिक समस्या शामिल हो चुकी हैं, लेकिन शुरुआत में कोविड- 19 के प्रमुख लक्षणों में सूखी खांसी, बुखार, सांस संबंधित समस्या, सिरदर्द, छाती में जकड़न, मसल्स पेन आदि देखा जा रहा था। लेकिन, समय के साथ इसमें सूंघने या टेस्ट करने की क्षमता में कमी आना, डायरिया जैसी पाचन प्रक्रिया में समस्या, लिवर डैमेज आदि समस्याएं भी शामिल हो गई हैं। यह सभी समस्याएं कोरोना वायरस की वजह से इम्युन सिस्टम और फेफड़ों को पहुंचे नुकसान की वजह से होती हैं।

यह भी पढ़ें: सोशल डिस्टेंसिंग को नजरअंदाज करने से भुगतना पड़ेगा खतरनाक अंजाम

यह भी पढ़ें: क्या हवा से भी फैल सकता है कोरोना वायरस, क्या कहता है WHO

कोरोना का नया लक्षण: कोरोना वायरस से बचाव कैसे करें?

कोरोना वायरस इंफेक्शन से बचने के लिए भारत सरकार ने लोगों के लिए कुछ सलाह दी है। सोशल डिस्टेंसिंग और लॉकडाउन के साथ इन एहतियात रूपी सलाह को फॉलो करने से आप कोरोना वायरस संक्रमण से काफी हद तक बच सकते हैं।

  1. कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए हाथों को दिन में कई दफा साबुन और पानी से साफ करें।
  2. घर से बाहर निकलने से परहेज करें। कहीं भी भीड़ भाड़ वाली जगहों पर न जाएं।
  3. चेहरे को टच करने से कोरोना वायरस संक्रमण हो सकता है। इसलिए आंखों, नाक और मुंह को छूने से बचें।
  4. अगर आपको कोविड-19 के लक्षण जैसे बुखार, खांसी या सांस लेने में दिक्कत हो रही है, तो जितनी जल्दी हो सके डॉक्टर से मिलें।
  5. कोरोना का नया लक्षण और उससे संबंधित जानकारी रखने के अलावा अपने हेल्थ केयर प्रोवाइडर की हर सलाह मानें और पूरी जानकारी प्राप्त करते रहें।
  6. भारत सरकार का कहना है कि अगर आप मास्क लगा रहे हैं तो उससे पहले अपने हाथों को एल्कोहॉल बेस्ड हैंड रब या फिर साबुन और पानी से अच्छी तरह धोएं।
  7. मास्क लगा रहे हैं तो अपने मुंह और नाक को पूरी तरह कवर करें। मास्क और आपमें किसी भी तरह का गैप न रहे।
  8. एक बार इस्तेमाल किए गए मास्क को दोबारा इस्तेमाल करना मना है। एक मास्क को एक दफा ही प्रयोग करना चाहिए।
  9. मास्क को उतारते वक्त इस बात का ध्यान रखें। इसे हमेशा पीछे से हटाएं। कभी भी मास्क का इस्तेमाल करने के बाद आगे से न छूएं।
  10. इस्तेमाल के बाद मास्क को तुरंत एक बंद डस्टबिन में फेंक दें।

हैलो स्वास्थ्य किसी भी तरह की मेडिकल सलाह नहीं दे रहा है। अगर आपको किसी भी तरह की समस्या हो तो आप अपने डॉक्टर से जरूर पूछ लें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Coronavirus – https://www.who.int/health-topics/coronavirus – Accessed on 17/4/2020

Coronavirus (COVID-19) – https://www.cdc.gov/coronavirus/2019-ncov/index.html – Accessed on 17/4/2020

Coronavirus (COVID-19) – https://www.nhs.uk/conditions/coronavirus-covid-19/ – Accessed on 17/4/2020

Coronavirus disease 2019 (COVID-19) – Situation Report – 87 – https://www.who.int/docs/default-source/coronaviruse/situation-reports/20200416-sitrep-87-covid-19.pdf?sfvrsn=9523115a_2 – Accessed on 17/4/2020

Novel Corona Virus – https://www.mohfw.gov.in/ – Accessed on 17/4/2020

लेखक की तस्वीर
Dr. Pranali Patil के द्वारा मेडिकल समीक्षा
Surender aggarwal द्वारा लिखित
अपडेटेड 19/04/2020
x