backup og meta

Goa Powder: गोवा पाउडर क्या है?

के द्वारा मेडिकली रिव्यूड Dr Sharayu Maknikar


Sunil Kumar द्वारा लिखित · अपडेटेड 08/01/2020

Goa Powder: गोवा पाउडर क्या है?

परिचय

गोवा पाउडर (Goa Powder) क्या है?

गोवा पाउडर ब्राजील के एंडीरा अर्रोबा (Anidra Araroba) पेड़ की सूखी रबड़-क्षीर है। इसका इस्तेमाल औषधियां बनाने में होता है। इसे अराओबा, बाहिया पाउडर, ब्राजील पाउडर, क्रायसोरोबीन, क्रूड क्रायसारोबी, पोल्वो गोवा, रिंगवॉर्म पाउडर के नाम से भी जाना जाता है। इसमें क्राइसोफेनिक एसिड (Chrysophanic Acid), एमोडिन (Emodin) और एमोडिन मोनोमिथायल (Emodin Monomethyl) नामक केमिकल्स होते हैं जो दाद, सोरायसिस और एक्जिमा के इलाज के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है।

यह भी पढ़ेंः बच्चों में मोलोस्कम कन्टेजियोसम बन सकता है खुजली वाले दानों की वजह

उपयोग

गोवा पाउडर (Goa Powder) का इस्तेमाल किस लिए होता है?

आमतौर पर इस पाउडर का इस्तेमाल सोरियासिस और फंगल इंफेक्शन के इलाज में होता है। इन दोनों ही स्थितियों में इसे सीधे त्वचा पर लगाया जाता है। हालांकि, त्वचा पर इसके सीधे इस्तेमाल को लेकर कई सुरक्षा चिंताएं हैं।

कैसे कर सकते हैं गोवा पाउडर का इस्तेमाल?

गोवा पाउडर का इस्तेमाल दवाओं के साथ-साथ घरेलू तरीकों से भी किया जा सकता हैः

  • इस पाउडर को पतला करने के लिए सिरके या नींबू के रस में मिलाकर इसका पतला पेस्ट बना कर इसका इस्तेमाल किया जा सकता है।
  • या फिर आप इसका पेस्ट बनाने के लिए ग्लिसरीन या स्टार्च का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। इस पेस्ट को आप दिन में एक या दो बार, 5 से 8 दिनों के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • अगर आप इस पेस्ट का इस्तेमाल चेहरे पर कर रहे हैं, तो ध्यान रखें कि पेस्ट ज्यादा गाढ़ा न हो। क्योंकि इसके कारण चेहरे में जलन का अनुभव हो सकता है।
  • इसके पेस्ट के अलावा इसका इस्तेमाल मौखिक गोलियों के रूप में भी किया जा सकता है।
  • इसका इस्तेमाल मलहम के तौर पर भी किया जा सकता है।
  • साथ ही, मार्केट से आप इसका साबुन भी खरीद सकते हैं। हालांकि, आपको इसका इस्तेमाल किस प्रकार से करना चाहिए, इसके बारे में अधिक जानकारी के लिए कृपया अपने डॉक्टर से परामर्श करें।
  • यह भी पढ़ेंः गर्भावस्था में होने वाली खुजली में इन घरेलू उपचारों से मिल सकता है आराम

    गोवा पाउडर (Goa Powder) कैसे कार्य करता है?

    गोवा पाउडर कैसे कार्य करता है, इस संबंध में पर्याप्त जानकारी उपलब्ध नहीं है। इसकी अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर या हर्बलिस्ट से सलाह लें। हालांकि, कुछ अध्ययनों में बताया गया है कि इसके कुछ केमिकल्स सोरायसिस के इलाज में इस्तेमाल होने वाली दवाइयों के समान गुण वाले होते हैं। सामान्य भाषा में सोरियासिस के इलाज में इस्तेमाल होने वाली दवाइयों के जैसे ही गोवा पाउडर के केमिकल्स कार्य करते हैं। इसलिए गोवा पाउडर का इस्तेमाल सोरियासिस और फंगल इंफेक्शन में किया जाता है।

    सावधानियां और चेतावनी

    गोवा पाउडर (Goa Powder) का इस्तेमाल करने से पहले मुझे क्या पता होना चाहिए?

    निम्नलिखित परिस्थितियों में इसका इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर या हर्बलिस्ट से सलाह लें:

    • यदि आप प्रेग्नेंट या ब्रेस्टफीडिंग करा रही हैं। दोनों ही स्थितियों में सिर्फ डॉक्टर की सलाह पर ही दवा खानी चाहिए।
    • यदि आप अन्य दवाइयां ले रही हैं। इसमें डॉक्टर की लिखी हुई और गैर लिखी हुई दवाइयां शामिल हैं, जो मार्केट में बिना डॉक्टर के प्रिस्क्रिप्शन के खरीद के लिए उपलब्ध हैं।
    • यदि आपको गोवा पाउडर के किसी पदार्थ या अन्य दवा या औषधि से एलर्जी है।
    • यदि आपको कोई बीमारी, डिसऑर्डर या कोई अन्य मेडिकल कंडिशन है।
    • यदि आपको फूड, डाई, प्रिजर्वेटिव्स या जानवरों से अन्य प्रकार की एलर्जी है।

    अन्य दवाइयों के मुकाबले औषधियों के संबंध में रेग्युलेटरी नियम अधिक सख्त नहीं हैं। इनकी सुरक्षा का आंकलन करने के लिए अतिरिक्त अध्ययनों की आवश्यकता है। गोवा पाउडर का इस्तेमाल करने से पहले इसके खतरों की तुलना इसके फायदों से जरूर की जानी चाहिए। इसकी अधिक जानकारी के लिए अपने हर्बलिस्ट या डॉक्टर से सलाह लें।

    यह भी पढ़ें: स्तनपान छुड़ाने के बाद ब्रेस्ट को लूज होने से कैसे बचाएं?

    गोवा पाउडर (Goa Powder) कितना सुरक्षित है?

    गोवा पाउडर का सेवन असुरक्षित हो सकता है। मौखिक रूप से इसका सेवन नहीं किया जाना चाहिए।

    विशेष सावधानियां और चेतावनी

    प्रेग्नेंसी और ब्रेस्टफीडिंग: गर्भावस्था और स्तनपान दोनों ही ऐसी स्थितियां हैं, जिनमें बिना डॉक्टर की सलाह के किसी भी दवा या औषधि का सेवन नहीं करना चाहिए। ऐसे में गोवा पाउडर प्रेग्नेंसी और ब्रेस्टफीडिंग में सुरक्षित है या नहीं, इस संबंध में विश्वसनीय और अधिक जानकारी उपलब्ध नहीं है। सुरक्षा के लिहाज से दोनों ही स्थितियों में इसका सेवन करने से बचें।

    यह भी पढ़ें: बच्चों में स्किन की बीमारियां, जो बन जाती हैं पेरेंट्स का सिरदर्द

    साइड इफेक्ट्स

    गोवा पाउडर (Goa Powder) से मुझे क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?

    त्वचा पर गोवा पाउडर का इस्तेमाल करने पर यह काफी तकलीफदेह हो सकता है। इससे त्वचा पर लालिमा पड़ना, सूजन और मुंहासे या फुंसी निकल सकती है। स्किन पर लगाने से यह त्वचा में सोखकर बॉडी में प्रवेश कर सकता है। इससे आपको उल्टी, डायरिया और गुर्दे की समस्याएं हो सकती हैं।

    हालांकि, हर व्यक्ति को यह साइड इफेक्ट्स नहीं होते हैं। उपरोक्त दुष्प्रभाव के अलावा भी गोवा पाउडर के कुछ साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं, जिन्हें ऊपर सूचीबद्ध नहीं किया गया है। यदि आप इसके साइड इफेक्ट्स को लेकर चिंतित हैं तो अपने डॉक्टर या हर्बलिस्ट से सलाह लें।

    यह भी पढ़ें: किन मेडिकल कंडिशन्स में पड़ती है आईवीएफ (IVF) की जरूरत?

    रिएक्शन

    गोवा पाउडर (Goa Powder) से मुझे क्या रिएक्शन हो सकता है?

    गोवा पाउडर आपकी मौजूदा दवाइयों के साथ-साथ स्वास्थ्य स्थिति के साथ भी रिएक्शन कर सकता है। इसके रिएक्शन से बचने के लिए इसका उपयोग करने से पहले अपने डॉक्टर या हर्बलिस्ट से सलाह अवश्य लें। अपने डॉक्टर को अपने स्वास्थ्य और पारिवारिक स्वास्थ्य के इतिहास के बारे में जरूर बताएं। अगर आपको किसी पदार्थ या भोजन से एलर्जी है या गोवा पाउडर में पाए जाने वाले किसी भी एसिड से आपको एलर्जी है, तो इसके बारे में अपने डॉक्टर से बात करें।

    डोसेज

    उपरोक्त जानकारी चिकित्सा सलाह का विकल्प नहीं हो सकती। इसका इस्तेमाल करने से पहले हमेशा अपने डॉक्टर या हर्बलिस्ट से सलाह लें।

    गोवा पाउडर (Goa Powder) का सामान्य डोज क्या है?

    हर मरीज के मामले में गोवा पाउडर का डोज अलग हो सकता है। जो डोज आप ले रहे हैं वो आपकी उम्र, हेल्थ और दूसरे अन्य कारकों पर निर्भर करता है। औषधियां हमेशा ही सुरक्षित नहीं होती हैं। गोवा पाउडर के उपयुक्त डोज के लिए अपने हर्बलिस्ट या डॉक्टर से सलाह लें।

    गोवा पाउडर (Goa Powder) किन रूपों में उपलब्ध है?

    गोवा पाउडर निम्नलिखित रूप में उपलब्ध है:

    • पाउडर

    हैलो हेल्थ किसी भी प्रकार की चिकित्सा सलाह, निदान या इलाज मुहैया नहीं कराता।

    और पढ़ें:-

    हल्दी दूध (Turmeric latte) पीने के क्या फायदे हैं?

    Garlic: लहसुन क्या है?

    क्या जानते हैं सांस लेने के ये 13 रोचक तथ्य?

    Kidney Stones : गुर्दे की पथरी क्या है? जानें इसके कारण लक्षण और उपाय

    डिस्क्लेमर

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    के द्वारा मेडिकली रिव्यूड

    Dr Sharayu Maknikar


    Sunil Kumar द्वारा लिखित · अपडेटेड 08/01/2020

    ad iconadvertisement

    Was this article helpful?

    ad iconadvertisement
    ad iconadvertisement