home

आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

प्रेग्नेंसी में आयोडीन का सेवन है फायदेमंद, लेकिन इसे सही मात्रा में लेना है आवश्यक!

प्रेग्नेंसी में आयोडीन का सेवन है फायदेमंद, लेकिन इसे सही मात्रा में लेना है आवश्यक!

प्रेग्नेंसी यानी महिला के जीवन का बेहद महत्वपूर्ण चरण। इस समय होने वाली मां के लिए अपनी और अपने शिशु की देखभाल करना आवश्यक है। ताकि, शिशु का शारीरिक और मानसिक विकास उचित प्रकार से हो सके। इसके लिए पोषक तत्वों से युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन अनिवार्य है। प्रेग्नेंसी के दौरान आपको क्या खाना चाहिए और किन चीजों का सेवन नहीं करना चाहिए, इसके बारे में जानकारी होना जरूरी है। आज हम एक ऐसे ही एक मिनरल के बारे में आपको बताने वाले हैं जिसे आयोडीन के नाम से जाना जाता है। प्रेग्नेंसी में आयोडीन युक्त फूड्स का सेवन लाभदायक है। आइए जानें क्या है आयोडीन और प्रेग्नेंसी में आयोडीन (Iodine in Pregnancy) के फायदे क्या हैं? प्रेग्नेंसी में आयोडीन (Iodine in Pregnancy) की सही मात्रा के बारे में जानना न भूलें।

आयोडीन (Iodine) क्या है?

हमें अधिकतर आयोडीन समुद्र से मिलता है। यह एक केमिकल एलिमेंट है। हमारे शरीर को आयोडीन की जरूरत होती है, लेकिन हमारा शरीर इसे स्वयं बना नहीं पाता है। हमारे शरीर की आयोडीन की जरूरत को सही डायट से पूरा किया जा सकता है। लेकिन, खाद्य पदार्थों से भी आपको कम मात्रा में आयोडीन प्राप्त होता है। हालांकि फ़ूड की प्रोसेसिंग दौरान उसमें अतिरिक्त आयोडीन मिला कर आप इसकी पर्याप्त मात्रा को पा सकते हैं। यानी, प्रोसेस्ड फूड में अतिरिक्त आयोडीन होता है। हमारे थायरॉइड ग्लैंड (Thyroid gland) को हॉर्मोन्स बनाने के लिए आयोडीन की जरूरत होती है। इसके साथ ही यह वो जरूरी न्यूट्रिएंट है, जिसकी आवश्यकता भ्रूण के ब्रेन डेवलपमेंट (Brain development) और फिजिकल ग्रोथ (Physical growth) के लिए होती है। इसके अलावा भी इसके कई लाभ हैं।

आयोडीन डेफिशियेंसी (Iodine deficiency) एक सामान्य हेल्थ प्रॉब्लम है। दुनिया भर में आयोडीन की कमी को मेंटल रेटार्डेशन (Mental retardation) का सबसे आम कारण माना जाता है। बीसवीं सदी की शुरुआत में, दुनिया के कई हिस्सों में आयोडीन डेफिशियेंसी (Iodine deficiency) की समस्या सामान्य थी। लेकिन, इसके बाद नमक में आयोडीन मिलाने से स्वास्थ्य में सुधार हुआ था। आयोडीन की कमी से थायरॉइड ग्रंथि के फंक्शन में समस्या आती है, जिससे या तो इस ग्रंथि का आकार बढ़ जाता है या उसका फंक्शन सही से नहीं हो पाता है। इस ग्रंथि के फंक्शन में कम होने को हाइपोथायरॉइडिज्म (Hypothyroidism) कहते हैं। इससे पीड़ित लोगों का वजन बढ़ता रहता और इस वजन को कम करने में समस्या होती है।

इसके साथ ही प्रभावित व्यक्ति को बहुत थकावट भी महसूस होती है। प्रेग्नेंसी में आयोडीन (Iodine in Pregnancy) की कमी से मां और बच्चे दोनों के लिए हानिकारक है। यही नहीं, कुछ मामलों में गर्भपात भी हो सकता है। हालांकि, आयोडीन की अधिक कमी से गर्भपात की संभावना की दर लगभग 100 में से 6 की है।अब जानिए प्रेग्नेंसी में आयोडीन (Iodine in Pregnancy) क्यों जरूरी है ?

और पढ़ें: सावधान! गर्भावस्था में है थैलेसिमिया, तो लापरवाही आपको पड़ सकती है भारी!

प्रेग्नेंसी में आयोडीन (Iodine in Pregnancy) क्यों आवश्यक होता है?

सेंटर फ्रॉम डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (Centers for disease control and prevention) के अनुसार प्रेग्नेंट महिलाओं को अपनी आयोडीन इन्टेक को मॉनिटर करना चाहिए। क्योंकि, आयोडीन डेफिशियेंसी (Iodine deficiency) एक गंभीर समस्या है। आयोडीन, थायरॉइड के सामान्य फंक्शन के लिए जरूरी है जो नैक का बेस होता है। थायरॉइड मेटाबोलिज्म (Metabolism), हार्ट रेट (Heart rate), बॉडी टेम्प्रेचर (Body Temperature) और अन्य बॉडी फंक्शन्स को नियंत्रित करके हॉर्मोन्स को कंट्रोल करता है। पर्याप्त मात्रा में आयोडीन का सेवन करने से शिशु का विकास सही से होता है। इसके साथ ही यह लेक्टेशन के लिए भी जरूरी है। क्योंकि, मां अपने ब्रेस्ट मिल्क (Breast Milk) के माध्यम से आयोडीन को अपने बच्चे तक पास कर सकती है। जानिए एक गर्भवती महिला को कितनी मात्रा में आयोडीन की जरूरत होती है?

और पढ़ें: गर्भावस्था के लिए आवश्यक हैं गोनाडोट्रॉपिन्स, जानिए इनके प्रकार के बारे में

गर्भवती महिला को कितनी मात्रा में आयोडीन की आवश्यक होती है? (Right amount of Iodine in Pregnancy)

जैसा की आप जानते ही हैं कि भूर्ण के स्वास्थ्य के लिए आयोडीन बेहद जरूरी है। ऐसे में गर्भवती महिला को कितनी मात्रा में आयोडीन लेनी चाहिए, इसके बारे में जानकारी होना आवश्यक है। प्रेग्नेंसी और ब्रेस्टफीडिंग के दौरान इतनी मात्रा में आयोडीन लेना जरूरी है:

  • प्रेग्नेंट वीमेन : 220 मायक्रोग्राम्स (mcg)/ डे
  • ब्रेस्टफीडिंग वीमेन: 290 मायक्रोग्राम्स (mcg)/ डे
  • नॉन-प्रेग्नेंट वीमेन: 150 मायक्रोग्राम्स (mcg)/ डे

अगर आप प्रेग्नेंट हैं तो इस दौरान आपको कितनी मात्रा में आयोडीन लेनी चाहिए, इसके बारे में अपने डॉक्टर से बात करना न भूलें। इसके साथ ही समय-समय पर आयोडीन इंटेक को भी मॉनिटर करें। क्योंकि इसकी कमी आपके और आपके शिशु के लिए गंभीरता का कारण बन सकती है। यह तो थी प्रेग्नेंसी में आयोडीन (Iodine in Pregnancy) की मात्रा के बारे में जानकारी। अब जानते हैं कि कौन से फूड्स में आयोडीन की मात्रा अधिक होती है और किनमें आयोडीन कम होती है?

और पढ़ें: मूड स्विंग्स केवल गर्भावस्था ही नहीं, बल्कि टाइप 1 डायबिटीज का संकेत भी हो सकता है

फूड्स जिनमें आयोडीन की मात्रा अधिक होती है

प्रेग्नेंसी में आयोडीन (Iodine in Pregnancy) की पर्याप्त मात्रा प्राप्त करने के लिए एक हेल्दी डायट लेना आवश्यक है और इसके साथ ही आयोडीन युक्त आहार का सेवन भी जरूरी है। ऐसे में आपको ऐसी चीजों का सेवन करने पर फोकस करना चाहिए। जिनमें पर्याप्त मात्रा में आयोडीन हो। यह खाद्य पदार्थ इस प्रकार हैं:

  • सादा, लो फैट दही (Plain, low-fat yogurt)
  • लो फैट दूध (Low-fat milk)
  • फिश स्टिक्स (Fish sticks)
  • एनरिच्ड ब्रेड (Enriched bread)
  • अंडे (Egg)
  • केन्ड टूना (Canned tuna)
  • चेडर चीज (Cheddar cheese)
  • राइसिन ब्रान सीरियल (Raisin bran cereal)
  • एपल जूस (Apple juice)

इसके साथ ही आप खाद्य पदार्थों को आयोडाइज्ड साल्ट (Iodized salt) के साथ कुक करके भी अतिरिक्त आयोडीन प्राप्त कर सकते हैं। लेकिन, बहुत अधिक मात्रा में भी इस साल्ट का सेवन न करें। क्योंकि इससे आपका ब्लड प्रेशर (Blood Pressure) बढ़ सकता है और आपको सूजन जैसी समस्या से गुजरना पड़ सकता है। अब जानिए किन खाद्य पदार्थों में आयोडीन कम मात्रा में होती है?

और पढ़ें: महिलाओं में सेक्स हॉर्मोन्स कौन से हैं, यह मासिक धर्म, गर्भावस्था और अन्य कार्यों को कैसे प्रभावित करते हैं?

खाद्य पदार्थ जिनमें आयोडीन की मात्रा कम होती है

जैसे कुछ खाद्य पदार्थों में आयोडीन की मात्रा अधिक होती है, वहीं कुछ फूड्स में इसकी मात्रा कम होती है। इनके बारे में भी आपको जानकारी होनी चाहिए, ताकि आप जान पाएं कि आप सही मात्रा में इस मिनरल को ले रहे हैं या नहीं। यह खाद्य पदार्थ इस प्रकार हैं:

यह तो थी जानकारी प्रेग्नेंसी में आयोडीन युक्त आहार के बारे में। अब जानते हैं प्रेग्नेंसी में आयोडीन सप्लीमेंट (Iodine Supplement) के बारे में।

और पढ़ें: गर्भावस्था में अंडे खाने से पहले जरूर जानें, गर्भावस्था में अंडा खाना सही या गलत ?

क्या प्रेग्नेंसी में आयोडीन सप्लिमेंट्स लेना जरूरी है? (Iodine Supplement in Pregnancy)

अगर आपके प्रीनेटल विटामिन्स में आयोडीन होता है और आपकी बैलेंस्ड डायट लेते हैं, तो आपको प्रेग्नेंसी में सप्लीमेंट्स को लेने की जरूरत नहीं है। लेकिन, आपको यह सुनिश्चित करने के लिए नियमित रूप से यह नोटिस करने की जरूरत है कि आप पर्याप्त मात्रा में इसे ले रहे हैं या नहीं। अगर आपको लगता है कि आपको पर्याप्त मात्रा में सप्लीमेंट नहीं मिल रहे हैं, तो आप डॉक्टर कि सलाह के बाद आयोडीन सप्लीमेंट ले सकते हैं। आयोडीन की कमी (Iodine deficiency) को पूरा करने के लिए आयोडीन युक्त नमक का सेवन करना सही माना जाता है। अब जानिए न लक्षणों के बारे में जिससे आप प्रेग्नेंसी में आयोडीन (Iodine in Pregnancy) डेफिशियेंसी के बारे में जान सकते हैं।

और पढ़ें: Povidone Iodine: पोविडोन आयोडीन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

प्रेग्नेंसी में आयोडीन डेफिशियेंसी के लक्षण (Symptoms of Iodine deficiency in Pregnancy)

हालांकि, आयोडीन डेफिशियेंसी (Iodine deficiency) सामान्य नहीं है। लेकिन, प्रेग्नेंसी में इसकी कमी से भ्रूण का शारीरिक और मानसिक विकास नहीं से नहीं हो पाता है। यही नहीं, इससे बच्चे को कई अन्य समस्याएं भी हो सकती हैं।, अगर आपको प्रेग्नेंसी में आयोडीन की कमी (Iodine deficiency in Pregnancy) है, तो आपको कई समस्याएं हो सकती हैं और इसकी कम के लक्षण इस प्रकार हैं:

अगर आपको यह चिंता है कि आपको प्रेग्नेंसी में आयोडीन की कमी (Iodine deficiency in Pregnancy) हो सकती है, तो अपने डॉक्टर से बात करें। ताकि वो आयोडीन की कमी (Iodine deficiency), इसके लक्षणों और इसके स्त्रोतों के बारे में सही जानकारी दे पाएं। हालांकि, अपने शरीर में आयोडीन की मात्रा के बारे में जानने के लिए कोई टेस्ट नहीं है। लेकिन, डॉक्टर इसके लिए आपको थायरॉइड हॉर्मोन्स लेवल (Thyroid hormone levels) की जांच कराने की सलाह देंगे। थायरॉइड हॉर्मोन्स लेवल (Thyroid hormone levels) की जांच ब्लड टेस्ट्स के माध्यम से होती है। ऐसा माना जाता है कि जो महिलाएं वीगन हैं और फिश और डेयरी का सेवन नहीं करती हैं, उन्हें आयोडीन डेफिशियेंसी (Iodine deficiency) की जांच के लिए यूरिन टेस्ट के लिए कहा जा सकता है।

Quiz: प्रेग्नेंसी के बारे में कितना जानते हैं आप?

(function() { var qs,js,q,s,d=document, gi=d.getElementById, ce=d.createElement, gt=d.getElementsByTagName, id="typef_orm", b="https://embed.typeform.com/"; if(!gi.call(d,id)) { js=ce.call(d,"script"); js.id=id; js.src=b+"embed.js"; q=gt.call(d,"script")[0]; q.parentNode.insertBefore(js,q) } })()
powered by Typeform

और पढ़ें: क्या आप जानते हैं गर्भावस्था के दौरान शहद का इस्तेमाल कितना लाभदायक है?

यह तो थी प्रेग्नेंसी में आयोडीन (Iodine in Pregnancy) के बारे में जानकारी। आयोडीन शिशु और मां दोनों के लिए हेल्दी डायट का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। लेकिन, अधिक मात्रा में इसे लेने के भी अपने नुकसान हैं। रिपोर्ट्स के अनुसार अधिक मात्रा में इसे लेने से बच्चे को थायरॉइड विकार हो सकते हैं। इसलिए, इसे सही मात्रा में लेना ही फायदेमंद है। इसके बारे में अधिक जानकारी के लिए आपको अपने डॉक्टर से राय लेनी चाहिए। ताकि आप जान पाएं कि अगर आपके शरीर में आयोडीन की कमी (Iodine deficiency) है, तो आपको किन चीजों या सप्लीमेंट्स को लेना चाहिए। इसके साथ ही इसकी सही मात्रा के बारे में पता होना भी आवश्यक है।

अगर आपके मन में कोई भी सवाल है तो आप हमारे फेसबुक पेज पर भी अपने सवालों को पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

health-tool-icon

ड्यू डेट कैलक्युलेटर

अपनी नियत तारीख का पता लगाने के लिए इस कैलक्युलेटर का उपयोग करें। यह सिर्फ एक अनुमान है - इसकी गैरेंटी नहीं है! अधिकांश महिलाएं, लेकिन सभी नहीं, इस तिथि सीमा से पहले या बाद में एक सप्ताह के भीतर अपने शिशुओं को डिलीवर करेंगी।

सायकल लेंथ

28 दिन

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
डॉ. हेमाक्षी जत्तानी द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 18/10/2021 को