home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

क्या आप जानते हैं गर्भावस्था में टहलने के फायदे?

क्या आप जानते हैं गर्भावस्था में टहलने के फायदे?

पैदल चलना आपको स्वस्थ और फिट रखता है। टहलने के फायदे तो हमेशा ही होते हैं, लेकिन प्रेग्नेंसी के दौरान टहलना आपके लिए बेहतर अनुभव लेकर आता है। टहलने के लिए गर्भावस्था सबसे अच्छा समय इसलिए है क्योंकि इस दौरान दूसरी एक्सरसाइज करना मुश्किल होता है। वॉकिंग प्रेग्नेंसी के शुरुआत से डिलिवरी तक और डिलिवरी के बाद भी शरीर को स्वस्थ रखने में सहायक है। आइए जानते हैं टहलने के फायदे क्या- क्या हैं।

गर्भावस्था में टहलना:

प्रेग्नेंसी के दौरान टहलना सबसे सुरक्षित और बेस्ट एक्सरसाइज माना जाता है। गर्भावस्था के दौरान भी एक्सरसाइज करना गर्भवती महिला के लिए जरूरी होता है। जब डॉक्टर बेड रेस्ट की सलाह देते हैं, तो ऐसी स्थिति में एक्सरसाइज नहीं करना चाहिए या डॉक्टर से सलाह से ही कोई फिजिकल एक्टिविटी करनी चाहिए।

गर्भावस्था में टहलने के फायदे निम्नलिखित हैं

1. गर्भावस्था में टलहने के फायदे: फिजिकल फिटनेस मिलती है

गर्भावस्था में टहलना शरीर को फिट रखने के साथ-साथ एक्टिव रखता है। वॉकिंग को कंप्लीट एक्सरसाइज माना जाता है। इससे हार्ट हेल्दी रहता है और मसल्स टोन होते हैं।

2. गर्भावस्था में टलहने के फायदे: हेल्दी बेबी

वॉकिंग करने से गर्भवती महिला के साथ-साथ गर्भ में पल रहे शिशु का वजन भी संतुलित रहता है। जिससे बेबी के हेल्दी होने के चांजेस बढ़ जाते हैं।

3. गर्भावस्था में टलहने के फायदे: जेस्टेशनल डायबिटीज का खतरा कम होता है

प्रेग्नेंसी के दौरान शुगर लेवल बढ़ने के कारण डायबिटीज टाइप-2 होने की आशंका बनी रहती है। गर्भ में पल रहे शिशु का वजन भी बढ़ सकता है। इसलिए इस दौरान टहलने से जेस्टेशनल डायबिटीज का खतरा भी कम रहता है और नवजात का वजन भी संतुलित रहता है।

4. गर्भावस्था में टलहने के फायदे: प्री-एक्लेम्पसिया का खतरा होता है कम

गर्भवती महिला में हाई ब्लड प्रेशर और यूरिन में प्रोटीन की बढ़ी हुई मात्रा प्री-क्लेम्पिसया (Pre-eclampsia) कहलाती है। वॉकिंग से कॉलेस्ट्रॉल और ब्लड प्रेशर नियंत्रित रहता है। समय से पहले डिलिवरी का खतरा न के बराबर रहता है।

और पढ़ें: डिलिवरी पेन को लेकर महिलाओं ने शेयर किए अपने एक्सपीरियंस

5. गर्भावस्था में टलहने के फायदे: तनाव कम होता है

प्रेग्नेंसी के दौरान स्ट्रेस सामान्य परेशानी है। ऐसा हॉर्मोन में हो रहे बदलाव के कारण होता है। हॉर्मोन में बदलाव के कारण मूड स्विंग, एंग्जाइटी या डिप्रेशन की भी परेशानी हो सकती है। इसलिए नियमित वॉकिंग स्ट्रेस बस्टर की तरह काम करती है।

6. गर्भावस्था में टलहने के फायदे: नॉर्मल डिलिवरी की संभावना ज्यादा होती है

प्रेग्नेंसी के दौरान नियमित रूप से टहलने से नॉर्मल डिलिवरी की संभावना ज्यादा होती है। गर्भावस्था में टहलने से बॉडी फ्लेक्सिबल रहती है, हिप मसल्स टोन होते हैं और डिलिवरी के दौरान होने वाला लेबर पेन कम होता है। सुबह-सुबह टहलने से डिलिवरी के वक्त परेशानी कम होती है। यानि गर्भावस्था में टहलने के कई फायदे हैं।

7. गर्भावस्था में टलहने के फायदे: दर्द और बेचैनी से मिलती है राहत

प्रेग्नेंसी के दौरान बैक पेन जैसी अन्य परेशानियों का होना तय माना जाता है लेकिन, वॉकिंग करने से इस दौरान होने वाले दर्द और बेचैनी से राहत मिलती है क्योंकि वॉकिंग से मसल्स में मूवमेंट हो जाता है जो कि पेन में राहत दे सकता है।

8. अन्य फायदे

नियमित वॉकिंग से प्रेग्नेंसी में होने वाले परेशानी जैसे मॉर्निंग सिकनेस, चक्कर की समस्या, क्रैंप, कब्ज और नींद न आने की परेशानी दूर होती है।

और पढ़ें: प्रेग्नेंसी के दौरान बॉडी में दिखाई देते हैं ऐसे 6 बदलाव, न हो परेशान

गर्भावस्था में टहलने के फायदे तो हैं लेकिन, कुछ बातों का ध्यान रखें। जैसे-

  • गर्भावस्था में टलहने के फायदे लेने के लिए सही जूते का चुनाव करना है जरूरी

टहलने के दौरान कंफर्टेबल शूज पहनें। ध्यान रखें कि आपके जूते का साइज ठीक हो। प्रेग्नेंसी के दौरान पैरों का साइज भी बढ़ जाता है। इसलिए इस समय नए जूते खरीदें। उनके रख-रखाव का भी ध्यान रखें।

  • स्किन का ख्याल रखें

वॉकिंग पर जाने से पहले अपनी त्वचा का ख्याल रखें। गर्भावस्था की शुरुआत के साथ-साथ एक्ने की समस्या भी शुरू हो जाती है। इसलिए बाहर निकलने से पहले सनस्क्रीन का इस्तेमाल करें। कॉटन और हल्के रंग के कपड़े से फेस कवर किया जा सकता है।

  • गर्भावस्था में टलहने के फायदे लेना चाहते हैं तो हाइड्रेटेड रहें

टहलने के दौरान हमेशा अपने पास पानी से भरा एक बोतल रखें और जितने देर तक आप वॉकिंग कर रही हैं उस दौरान भी पानी पीती रहें। इससे शरीर में पानी की कमी नहीं होगी। वॉकिंग के बाद भी कोशिश करें ज्यादा से ज्यादा पानी पी पाएं। शरीर को डिहाइड्रेट होने से बचाएं।

  • आहार

नियमित वॉकिंग वर्कआउट से कम नहीं है। इसलिए पौष्टिक आहार का सेवन करें क्योंकि आपके आहार से ही गर्भ में पल रहा शिशु आहार ग्रहण करेगा। किसी डॉक्टर या डायटीशियन से पूछकर डायट प्लान भी आप अपना सकती हैं।

और पढ़ें: डिलिवरी के बाद बॉडी को शेप में लाने के लिए महिलाएं करती हैं ये गलतियां

गर्भावस्था के दौरान सुरक्षित वॉकिंग के टिप्स क्या हैं?

  • वॉकिंग पर जाने से पहले मेटर्निटी बेल्ट का उपयोग करें। इससे शरीर का पॉश्चर ठीक रहेगा।
  • वॉकिंग पर जाने से पहले आधे गिलास दूध का सेवन हेल्थ के लिए अच्छा रहेगा या फिर वॉकिंग से आने के बाद नारियल पानी पीना सेहत के लिए अच्छा रहेगा।
  • सामने देखकर ही वाक करें इससे गिरने का डर नहीं रहेगा।
  • गर्भवती महिला को अत्यधिक तेज नही चलना चाहिए और आराम से टहलना चाहिए।
  • सकारात्मक विचार रखने वाले लोगों के साथ टहलें या वैसे लोग या दोस्त जो आपको मोटिवेट करें
  • टहलने के दौरान यदि ज्यादा गर्मी महसूस हो, तो थोड़ी देर के लिए रुक जाएं और आराम से सांस लें फिर वॉक करें।
  • नियमित रूप से 20 से 30 मिनट वॉक करें और योगा एक्सपर्ट की सहायता लेकर योगा भी करने से प्रेग्नेंसी में फायदा मिलता है

और पढ़ें: डिलिवरी पेन को लेकर महिलाओं ने शेयर किए अपने एक्सपीरियंस

क्या गर्भावस्था के दौरान बहुत अधिक चलना बुरा है?

पैदल चलना सबसे अच्छे व्यायामों में से एक है और गर्भावस्था के दौरान अधिक चलने से भी नुकसान नहीं होता है। आपको वॉक करने की कितनी जरूरत है यह आपकी हेल्थ कंडिशन और प्रेग्नेंसी से रिलेटेड कॉम्प्लिकेशन पर निर्भर करता है।

हम उम्मीद करते हैं कि गर्भावस्था में टलहने के फायदों पर आधारित यह आर्टिकल आपको पसंद आया होगा। गर्भावस्था में टहलते वक्त ऊपर बताई गई बातों का ध्यान रखें। साथ प्रेग्नेंसी में वॉकिंग से जुड़े सवाल हो या कोई परेशानी है, तो डॉक्टर से संपर्क करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Accessed on 19/10/2019

Exercise During Pregnancy/https://www.acog.org/patient-resources/faqs/pregnancy/exercise-during-pregnancy/Accessed on 21/05/2020
Walking and pregnancy/https://www.tommys.org/pregnancy-information/im-pregnant/exercise-pregnancy/what-kind-exercises-can-i-do/walking-and-pregnancy/Accessed on 21/05/2020

Physical Activity and Pregnancy: Past and Present Evidence and Future Recommendations/https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3563105/Accessed on 21/05/2020

लेखक की तस्वीर
Dr. Pranali Patil के द्वारा मेडिकल समीक्षा
Nidhi Sinha द्वारा लिखित
अपडेटेड 20/10/2019
x