सामान्य प्रेग्नेंसी से क्यों अलग है मल्टिपल प्रेग्नेंसी?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट फ़रवरी 18, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

मल्टिपल प्रेग्नेंसी क्या है?

जब गर्भ में जुड़वां, तीन या तीन से ज्यादा बच्चे पल रहें हों तो उसे मल्टिपल प्रेग्नेंसी (Multiple Pregnancies) कहते हैं। गर्भ में तीन या तीन से ज्यादा बेबी होने पर इसे हाइयर ऑर्डर प्रेग्नेंसी (Higher Order Pregnancy) कहते हैं। 50 में से 1 महिला को मल्टिपल प्रेग्नेंसी होती है।

यह भी पढ़ें: क्या प्रेग्नेंसी में कोरोना वायरस से बढ़ जाता है जोखिम?

मल्टिपल प्रेग्नेंसी क्यों होती है?

इसके निम्नलिखित कारण हो सकते हैं-

उम्र-

गर्भवती महिला की उम्र 35 वर्ष या इससे ज्यादा होने पर मल्टिपल प्रेग्नेंसी की संभावना बढ़ जाती है।

अनुवांशिक-

रिसर्च के अनुसार अलग-अलग एग से पैदा होने वाले बच्चे फ्रेटरनल कहलाते हैं। ऐसा तब होता है, जब दो या इससे ज्यादा एग स्पर्म से फर्टिलाइज होते हैं। यही नहीं अगर महिला के परिवार में पहले से ही फ्रेटरनल ट्विन्स हैं तो इसकी संभावना बढ़ जाती है। अधिकांश ट्विन्स इसी तरह के होते हैं। ऐसे ट्विन्स एक जैसे भी दिख सकते हैं और अलग-अलग भी दिख सकते हैं।

पुरानी मेडिकल हिस्ट्री-

परिवार में मल्टिपल प्रेग्नेंसी होने की स्थिति में इसकी संभावना ज्यादा हो सकती है।

इन प्राकृतिक कारणों के अलावा मल्टिपल प्रेग्नेंसी के कई अन्य कारण भी हो सकते हैं। जैसे-

यह भी पढ़ें: ऑव्युलेशन टेस्ट किट से जाने कंसीव करने का सही समय 

ऑव्युलेशन के लिए दवाओं का सेवन (Medications for Ovulation)-

हेल्थ एक्सपर्ट ऑव्युलेशन के लिए दवा देते हैं, जिससे ऑव्युलेशन का समय रेगुलर हो जाता है। एग बनने के लिए फॉलिकल स्टिमुलेटिंग हॉर्मोन (FSH) और क्लोमिफेन सिट्रेट (Clomiphene citrate) दिए जाते हैं। इन दवाओं के सेवन से कभी-कभी ज्यादा एग भी बनने लगते हैं। ऐसी स्थिति में फर्टिलाइज्ड एग डिजाइगोट या फ्रेटरनल ट्विन्स बनने लगते हैं।

इन विट्रो फर्टिलाइजेशन (In vitro Fertilization)-

इन विट्रो फर्टिलाइजेशन के दौरान मैच्योर एग्स को ओवरी (अंडाशय, जहां पर एग्स बनते हैं) से बाहर निकालकर प्रयोगशाला में रखा जाता है। इसके बाद स्पर्म के साथ इन्हें फर्टिलाइज कराया जाता है।

यह भी पढ़ें: स्पर्म काउंट किस तरह फर्टिलिटी को करता है प्रभावित?

मल्टिपल प्रेग्नेंसी के लक्षण क्या हैं?

मल्टिपल प्रेग्नेंसी के निम्नलिखित लक्षण होते हैं

मॉर्निंग सिकनेस-

मॉर्निंग सिकनेस किसी भी प्रेग्नेंसी के पहले ट्राइमेस्टर में सामान्य लक्षण है लेकिन, जरूरत से ज्यादा मतली या उल्टी होना या फिर स्तन का अत्यधिक सॉफ्ट होना मल्टिपल प्रेग्नेंसी की निशानी हो सकती है।

वजन बढ़ना-

गर्भावस्था में 11 से 16 किलो तक वजन बढ़ना सामान्य माना जाता है लेकिन, इससे ज्यादा वजन बढ़ना गर्भ में एक, दो या इससे ज्यादा बच्चे होने के संकेत हो सकते हैं। दूसरे ट्राइमेस्टर में बढ़ा हुआ वजन आसानी से समझा जा सकता है।

यह भी पढ़ें: जानें शरीर में बनने वाले महत्वपूर्ण हाॅर्मोन और उनकी भूमिका

गर्भ का आकार बढ़ना-

मल्टिपल प्रेग्नेंसी में गर्भ का साइज सामान्य गर्भावस्था की तुलना में ज्यादा बड़ा होता है। सामान्य भाषा में अगर इसे समझा जाए तो बेबी बम्प बड़ा होता है।

भूख ज्यादा लगना-

ट्विन्स या इससे ज्यादा बेबी गर्भ में होने से गर्भवती महिला को भूख ज्यादा लगने लगती है। इससे परेशान होने की जरूरत नहीं है क्योंकि फीटस (शिशु) को ज्यादा आहार (न्यूट्रिशियन) की जरूरत होती है ।

इन लक्षणों के साथ-साथ अन्य लक्षण भी हो सकते हैं क्योंकि हर गर्भवती महिला के शरीर की बनावट अलग होती है ।

मल्टिपल प्रेग्नेंसी का निदान कैसे किया जाता है?

मल्टिपल प्रेग्नेंसी की शुरुआत से ही एक्स्पर्ट निम्नलिखित तकनीक की मदद लेते हैं। इनमें शामिल हैं-

एचसीजी लेवल (HCG Levels) –

गर्भवती महिलाओं में ह्यूमन कोरिओनिक गोनडोट्रोपिन (human chorionic gonadotropin) हार्मोन अत्यधिक होता है। ऐसी गर्भवती महिलाएं जिनमें एक से ज्यादा फीटस होते हैं तो उनमें HCG लेवल और ज्यादा होता है। गर्भवती महिला के ब्लड में ह्यूमन कोरिओनिक गोनडोट्रोपिन हॉर्मोन की बढ़ी हुई मात्रा मल्टिपल प्रेग्नेंसी को दर्शाती है।

उल्ट्रासाउंड स्कैन-

20 हफ्ते से ज्यादा की गर्भवस्था में अल्ट्रासाउंड की मदद से मल्टिपल प्रेग्नेंसी की जानकारी मिल जाती है।

मल्टिपल प्रेग्नेंसी

ब्लड टेस्ट-

गर्भावस्था के दौरान फीटस से प्रोटीन सिक्रीट होता है, जिसे अल्फा-फिटोप्रोटीन (AFP) कहते हैं। अल्फा-फिटोप्रोटीन शिशु के लिवर से निकलता है और गर्भवती महिला (मां) के ब्लड में मिल जाता है। प्रेग्नेंसी के 15वें हफ्ते और 17वें हफ्ते के दौरान अल्फा-फिटोप्रोटीन की जांच की जाती है। इस दौरान अल्फा-फिटोप्रोटीन की बढ़ी हुई मात्रा गर्भ में एक से अधिक फीटस होने के कारण होता है।

मल्टिपल प्रेग्नेंसी होने पर डिलिवरी कैसे हो सकती है?

गर्भ में पल रहे शिशु और गर्भवती महिला के हेल्थ के कंडिशन को देखते हुए बेबी की डिलिवरी होती है।

1. वजायनल डिलिवरी-

किसी भी तरह की शारीरिक परेशानी अगर गर्भवती महिला को नहीं होती है, तो वजायनल डिलिवरी हो सकती है। यही नहीं बच्चे का सिर भी नीचे की ओर रहने पर वजायनल डिलिवरी में कोई परेशानी नहीं होती है। वजायनल डिलिवरी के दौरान आपको क्या सावधानियां रखनी होंगी इसके बारे में डॉक्टर से पहले ही समझ लें।

2. सी-सेक्शन (ऑपरेशन)-

समय से पहले बच्चे के जन्म होने की स्थिति में सिजेरियन डिलिवरी की जा सकती है। गर्भ में पल रहा शिशु का सिर अगर ऊपर के साइड है तो ऐसी स्थिति में भी सी-सेक्शन किया जाता है। गर्भ में अगर 3 या इससे ज्यादा शिशु के होने की स्थिति में शुरू से ही डॉक्टर सी-सेक्शन डिलिवरी की जानकारी दे देते हैं। ऐसे में परेशान न हो और डॉक्टर को सपोर्ट करें।

मल्टिपल प्रेग्नेंसी में शिशु का जन्म कब हो सकता है?

मल्टिपल प्रेग्नेंसी के दौरान शिशु का जन्म निम्नलिखित समय पर हो सकता है-

  • सिंगगल्टन (Singleton)- गर्भ में पल रहे एक बच्चे का  38वें हफ्ते में या इसके बाद जन्म हो सकता है।
  • ट्वंस (Twin)- गर्भ में पल रहे दो शिशु का 36वें हफ्ते में जन्म हो सकता है।
  • ट्रिप्लेट (Triplet)- गर्भ में पल रहे तीन शिशु का 32वें हफ्ते में जन्म हो सकता है।
  • क्वाड्रुप्लिट (Quadruplet)- गर्भ में पल रहे चार शिशु का जन्म 30वें हफ्ते में हो सकता है।

मल्टिपल प्रेग्नेंसी

मल्टिपल प्रेग्नेंसी की जानकारी मिलने पर परेशान न हों सिर्फ जिन-जिन बातों की डॉक्टर ने सलाह दी है उन्हें जरूर मानें। हम आशा करते हैं कि मल्टिपल प्रेग्नेंसी पर आधारित यह आर्टिकल आपके लिए उपयोगी साबित हुआ होगा। प्रेग्नेंसी मल्टिपल हो या सिंगल महिला को अपना ध्यान एक समान ही रखना चाहिए। हालांकि, मल्टिपल प्रेग्नेंसी में एहतियात ज्यादा रखना बेहतर होगा। इस दौरान पोषण और फिजिकल फिटनेस का विशेष ध्यान रखना आपको हेल्दी प्रेग्नेंसी की और ले जाएगा।

किसी प्रकार की अधिक जानकारी के लिए डॉक्टर से संपर्क करें। हैलो हेल्थ ग्रुप किसी प्रकार की चिकित्सा सलाह, निदान और उपचार प्रदान नहीं करता।

और पढ़ें:

IVF को सक्सेसफुल बनाने के लिए इन बातों का रखें ध्यान

सिजेरियन और नॉर्मल दोनों डिलिवरी के हैं कुछ फायदे, जान लें इनके बारे में

डिलिवरी के बाद बॉडी को शेप में लाने के लिए महिलाएं करती हैं ये गलतियां

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy

संबंधित लेख:

    शायद आपको यह भी अच्छा लगे

    मैटरनिटी लीव एक्ट के बारे में अगर जानते हैं आप तो खेलें क्विज

    मैटरनिटी लीव क्विज के माध्यम से आप मैटरनिटी के जरूरी सवालों का जवाब दे सकते हैं। जानिए मातृत्व अवकाश से संबंधित जरूरी प्रश्न..... maternity leave quiz

    के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi
    क्विज अगस्त 24, 2020 . 2 मिनट में पढ़ें

    गर्भावस्था में खाएं सूरजमुखी के बीज और पाएं ढेरों लाभ

    सूरजमुखी के बीज के लाभ, सूरजमुखी के बीज को गर्भावस्था में खाना सुरक्षित है या नहीं पाएं इस बारे में पूरी जानकारी, Sunflower Seed Pregnancy Benefits in hindi

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
    के द्वारा लिखा गया Anu sharma
    प्रेग्नेंसी स्टेजेस, प्रेग्नेंसी अगस्त 14, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

    गर्भावस्था में आप अखरोट खा सकती हैं या नहीं ?

    गर्भावस्था के दौरान अखरोट खाने के लाभ , गर्भावस्था के दौरान अखरोट खाना गर्भ में पल रहे शिशु के लिए क्या फायदेमंद है, Benefit of walnut during pregnancy.

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
    के द्वारा लिखा गया Anu sharma
    प्रेग्नेंसी स्टेजेस, प्रेग्नेंसी अगस्त 11, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

    महिलाओं में सेक्स हॉर्मोन्स कौन से हैं, यह मासिक धर्म, गर्भावस्था और अन्य कार्यों को कैसे प्रभावित करते हैं?

    महिलाओं में सेक्स हार्मोन कौन से हैं, जानिए सेक्स हार्मोन से क्या प्रभाव पड़ता है और इनके असंतुलन के लक्षण क्या हैं, Sex Hormones in women in hindi

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pooja Daphal
    के द्वारा लिखा गया Anu sharma

    Recommended for you

    ट्विंस प्रेग्नेंसी क्विज, twins

    क्विज : क्या जुड़वा बच्चे या ट्विंस होने के कई कारण हो सकते हैं ?

    के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi
    प्रकाशित हुआ अक्टूबर 31, 2020 . 1 मिनट में पढ़ें
    प्रेग्नेंसी में वैक्सिनेशन क्विज,pregnancy me vaccines

    प्रेग्नेंसी में टीकाकरण की क्यों होती है जरूरत ?

    के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi
    प्रकाशित हुआ अक्टूबर 31, 2020 . 1 मिनट में पढ़ें
    बेबी किक,baby kick

    क्विज : बच्चा गर्भ में लात (बेबी किक) क्यों मारता है ?

    के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi
    प्रकाशित हुआ अक्टूबर 30, 2020 . 1 मिनट में पढ़ें
    गर्भावस्था के दौरान चीज खाना चाहिए या नहीं जानिए

    क्या गर्भावस्था के दौरान चीज का सेवन करना सुरक्षित है?

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
    के द्वारा लिखा गया Anu sharma
    प्रकाशित हुआ अगस्त 27, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें