प्रेग्नेंसी में एनीमिया की परेशानी है तो जरूर पढ़ें ये आर्टिकल

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट अगस्त 3, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

प्रेग्नेंसी में एनीमिया की समस्या होना सामान्य है। हो सकता है कि प्रेग्नेंसी के दौरान आपने चेकअप कराया और डॉक्टर बताए कि आपको एनीमिया है। ये सुनकर घबराने की जरूरत नहीं है। प्रेग्नेंसी में एनीमिया यानि खून की कमी होने पर उसे बैलेंस किया जा सकता है। कुछ घरेलू उपाय अपनाकर इस समस्या से निजात पाई जा सकती है। प्रेग्नेंसी में एनीमिया होने पर सही डायट लेना जरूरी है जो शरीर में आयरन को बढ़ाने का काम करती है।

और पढ़ें : दूसरी तिमाही में गर्भवती महिला को क्यों और कौन से टेस्ट करवाने चाहिए?

प्रेग्नेंसी में एनीमिया के ये लक्षण दिख सकते हैंः

प्रेग्नेंसी में एनीमिया होने पर महिलाओं को कुछ लक्षण दिखाई दे सकते हैं। इस दौरान थकान के साथ ही चक्कर महसूस हो सकते हैं।

  • प्रेग्नेंसी में एनीमिया की वजह से कमजोरी
  • तेज धड़कन
  • काम में ध्यान न दे पाना
  • सांस लेने में कमी महसूस होना
  • प्रेग्नेंसी में एनीमिया की वजह से पीली त्वचा
  • सीने में दर्द महसूस होना
  • चक्कर आना
  • हाथ-पैर ठंडे होना
  • थकान होना

 और पढ़ें : प्रेग्नेंसी के दौरान हो सकती हैं ये 10 समस्याएं, जान लें इनके बारे में

शरीर में आयरन को कैसे बढ़ाएं?

प्रेग्नेंसी में एनीमिया को दूर करने के लिए शरीर में आयरन, फोलेट, B12 के लेवल का सही होना बहुत जरूरी है। ये सभी जब सही डायट के जरिए शरीर में पहुंचते हैं तो शरीर में आयरन की मात्रा संतुलित रहती है। प्रेग्नेंसी में एनीमिया कम करने के लिए आप आयरन सप्लीमेंट भी ले सकती हैं।

शरीर में दो तरह के आयरन पाए जाते हैं।

1. हीम आयरन

हीम आयरन के लिए आपको रेड मीट, सीफूड और पॉल्ट्री को अपनाना पड़ेगा। जो लोग नॉन-वेजिटेरियन हैं उनके लिए आयरन की कमी को पूरा करने के लिए ये सबसे असरदार तरीका है। हीम आयरन से प्रेग्नेंसी में एनीमिया की परेशानी को कम किया जा सकता है।

2. नॉनहीम आयरन

नॉनहीम आयरन प्लांट फूड जैसे पालक, मसूर की दाल, बींस आदि में पाया जाता है। नॉनहीम आयरन बाॅडी में आसानी से अब्जॉर्व नहीं होता है। नॉनहीम आयरन को शरीर में घुलने में समय लगता है। प्रेग्नेंसी में एनीमिया को कम करने के लिए डॉक्टर आयरन सप्लीमेंट भी देते हैं।

और पढ़ें : प्रेग्नेंसी में खाएं ये फूड्स नहीं होगी कैल्शियम की कमी

 प्रेग्नेंसी में एनीमिया के घरेलू उपाय

शरीर में आयरन की मात्रा को बढ़ाने के लिए रोजाना की डायट में आपको कुछ चीजों को शामिल करना होगा। साथ ही उन खाद्य पदार्थो को भी अवाॅयड करना होगा जो आयरन के अवशोषण को बाधित करने का काम करते हैं। प्रेग्नेंसी में एनीमिया को कम करने के लिए सही डायट लेना जरूरी है।

  •  आयरन की अधिकता अंडे, मछली, लाल मांस, साबुत अनाज, फोर्टिफाइड (fortified ) अनाज, फलियां, दूध, पनीर, सोयाबीन और शहद में होती है। शरीर में आयरन की मात्रा को बढ़ाने के लिए इन्हें खाने में शामिल करें।
  • आयरन की मात्रा को शरीर में बढ़ाने के लिए विटामिन सी की भी आवश्यकता होती है। खाने में खट्टे फल को भी शामिल करें।
  • खाने में गुड़ को शामिल करें। इसमें आयरन की अच्छी मात्रा पाई जाती है।

और पढ़ें : प्रेग्नेंसी की पहली तिमाही में अपनाएं ये डायट प्लान

प्रेग्नेंसी में एनीमिया के लिए इन बातों पर भी दें ध्यान

  • चुकंदर और पालक को खाने में जरूर शामिल करें। आपको जिस भी तरह से इसे खाना पसंद हो, इसे ले सकते हैं। उबालकर या फिर सब्जी बनाकर भी इसे खाने में शामिल किया जा सकता है।
  • प्रेग्नेंसी में एनीमिया के घरेलू उपाय के दौरान कैफीन से दूरी बनाना बेहतर रहेगा। कैफीन शरीर में आयरन के अवशोषण को कम करने का काम करती है। अगर आपको कैफीन लेना बहुत जरूरी लग रहा है तो खाने के बीच में इसे बिलकुल न लें।
  • पहले के समय में ज्यादातर लोग खाना बनाने के लिए लोहे के बर्तन का इस्तेमाल करते थे। आज भी कुछ लोग ऐसा करते हैं। आप भी शरीर में आयरन की मात्रा को बढ़ाने के लिए लोहे के बर्तन का इस्तेमाल करें।
  • सिंहपर्णी साग ( Dandelion greens) में लोहे की अधिक मात्रा पाई जाती है। आप चाहे तो इसकी पत्तियों का प्रयोग (करीब आधा या एक चम्मच) चाय बनाने में कर सकते हैं।
  • शरीर में आयरन की मात्रा बढ़ाने के लिए अंजीर का इस्तेमाल करें। अंजीर में अधिक मात्रा में आयरन पाया जाता है।
  • अगर आपको यलो डॉक रूट (yellow dock root) आसानी से मिल जाए तो इसका काढ़ा बनाकर पिया जा सकता है। प्रेग्नेंसी के दौरान एनीमिया से छुटकारा पाने का ये भी एक तरीका है।
  • आप जेंटियन फ्लोर (gentian flour) का इस्तेमाल खाने के एक घंटे पहले कर सकते हैं। ये शरीर में खाने की अवशोषण क्षमता को बढ़ाने का काम करता है।

सब नहीं कर पाते हैं आसानी से आयरन का अवशोषण

आप वेजीटेरियन हैं या नहीं, ये बात ध्यान रखें कि पौधों में पाया जाने वाला आयरन, मांस में पाए जाने वाले आयरन के समान अवशोषित नहीं होता है। आयरन युक्त चीजें खाते समय अच्छे अवशोषण के लिए विटामिन सी युक्त खाद्य पदार्थ लेना भी उतना ही जरूरी है। कुछ महिलाएं जो आयरन का अवशोषण करने में पूर्ण रूप से सक्षम नहीं होती हैं, उन्हें डॉक्टर आयरन सप्लिमेंट्स देते हैं।

आयरन के अवशोषण के लिए अपनाएं ये

भले ही आपने खाने में आयरन को शामिल किया हो, लेकिन उसका अवशोषण सही तरह से होना बहुत जरूरी है। आयरन के अवशोषण को बढ़ाने के लिए खाने में खट्टे फल, स्ट्रॉबेरी, कीवी, तरबूज, पत्तेदार हरी सब्जियां, टमाटर और हरी मिर्च खाने से भी आयरन के अवशोषण में वृद्धि होती है।

जब घरेलू उपाय न करें काम

शरीर में आयरन की मात्रा को बढ़ाने के लिए आप घरेलू उपाय कर चुकी हैं और फिर भी शरीर में आयरन की कमी बनी हुई है तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। हो सकता है कि आपके शरीर में आयरन का सही अवशोषण न हो रहा हो। कई बार डॉक्टर पेप्टिक अल्सर या अन्य ट्रीटमेंट भी आपको दे सकते हैं। किसी भी स्थिति में डॉक्टर से सलाह लेने के बाद ही अपनी डायट में बदलाव करें।

प्रेग्नेंसी के दौरान अगर आपको उपरोक्त लक्षण दिखें तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। डॉक्टर आपको आयरन युक्त आहार का डायट प्लान बनाकर देगा। आप बताई गई डायट को फॉलो करें। किसी भी प्रकार की अन्य समस्या होने पर तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।

उम्मीद करते हैं कि आपको यह आर्टिकल पसंद आया होगा और प्रेग्नेंसी में एनीमिया से संबंधित जरूरी जानकारियां मिल गई होंगी। अधिक जानकारी के लिए एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें। अगर आपके मन में अन्य कोई सवाल हैं तो आप हमारे फेसबुक पेज पर पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

संबंधित लेख:

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy"
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

Neurobion plus tablet : न्यूरोबियन प्लस टैबलेट क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

न्यूरोबियन प्लस टैबलेट जानकारी in hindi, फायदे, लाभ, न्यूरोबियन प्लस टैबलेट का उपयोग, इस्तेमाल कैसे करें, कब लें, कैसे लें, कितना लें, खुराक, neurobion plus tablet डोज, ओवरडोज, साइड इफेक्ट्स, नुकसान, दुष्प्रभाव और सावधानियां।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
दवाइयां A-Z, ड्रग्स और हर्बल जुलाई 10, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

Livogen XT tablet : लिवोजेन एक्सटी टैबलेट क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

लिवोजेन एक्सटी टैबलेट जानकारी in hindi, फायदे, लाभ, लिवोजेन एक्सटी टैबलेट का उपयोग, इस्तेमाल कैसे करें, कब लें, कैसे लें, कितना लें, खुराक, Livogen XT tablet डोज, ओवरडोज, साइड इफेक्ट्स, नुकसान, दुष्प्रभाव और सावधानियां।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
दवाइयां A-Z, ड्रग्स और हर्बल जुलाई 8, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

Autrin: ऑट्रिन क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

ऑट्रिन दवा की जानकारी in hindi. डोज, साइड इफेक्ट्स, उपयोग, सावधानियां और चेतावनी के साथ रिएक्शन जानने के लिए पढ़ें यह आर्टिकल।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish Singh
दवाइयां A-Z, ड्रग्स और हर्बल जून 24, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

Tetrafol Plus: टेट्राफोल प्लस क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

टेट्राफोल प्लस दवा की जानकारी in hindi इसके डोज, उपयोग, सावधानियां और चेतावनी जानने के साथ साइड इफेक्ट्स और रिएक्शन को जानने के लिए पढ़ें यह आर्टिकल।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish Singh
दवाइयां A-Z, ड्रग्स और हर्बल जून 23, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

पीलिया के घरेलू उपाय कौन से हैं

पीलिया के घरेलू उपाय कौन से हैं? पीलिया होने पर क्या करें, क्या न करें

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Anu Sharma
प्रकाशित हुआ अगस्त 13, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
टोनोफेरॉन सिरप

Tonoferon Syrup : टोनोफेरॉन सिरप क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
प्रकाशित हुआ जुलाई 29, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें
चेहरे के बाल हटाने के घरेलू उपाय

चेहरे से अनचाहे बालों को है हटाना, तो आजमाएं कुछ आसान घरेलू उपाय

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Hemakshi J
के द्वारा लिखा गया Anu Sharma
प्रकाशित हुआ जुलाई 28, 2020 . 8 मिनट में पढ़ें
Meganeuron मेगान्यूरॉन

Meganeuron : मेगान्यूरॉन क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha
प्रकाशित हुआ जुलाई 13, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें