लॉकडाउन : दुकानों में भीड़ लगाना नहीं है समस्या का समाधान, जानकारी से रहें अपडेट और खेलें क्विज

By

कल रात 8 बजे (24 मार्च) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को संबोधित करते हुए कहा कि रात 12 बजे के बाद पूरे देश में लॉकडाउन होगा। इसका मतलब है कि सभी लोगों को घर में रहना पड़ेगा। इस खबर को सुनते ही लोगों में ज्यादा से ज्यादा राशन के सामान को घर में जमा करने की होड़ सी मच गई है। देश में लगातार कोरोना वायरस (कोविड-19) के पीड़ितों की संख्या बढ़ती जा रही है, बचाव ही एकमात्र विकल्प बचा है। महामारी तेजी से एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैल रही है। आपकी जानकारी के लिए बता दें प्रधानमंत्री ये भी कह रहे हैं कि लोगों को घबराने की नहीं बल्कि अपने घरों में सुरक्षित रहने की जरूरत है। यानी लॉकडाउन के दौरान भी लोगों को राशन के साथ ही मेडिकल की सुविधा मिलती रहेंगी। प्रधानमंत्री ने पैनिक बाइंग न अपनाने की सलाह दी है।

कोरोना वायरस महामारी भले ही चीन से फैली हो, लेकिन इस वक्त इटली में सबसे ज्यादा मरने वालों की संख्या दर्ज की गई है। भारत में इस तरह के हालात न हों, इसके लिए भारत सरकार हर संभंव प्रयास कर रही है। सरकार के द्वारा समय-समय पर लोगों को एडवाइज दी जा रही है और संक्रमण से बचाव के संभव तरीकों के बारे में भी जानकारी दी जा रही है। सरकार के अनुसार कोरोना वायरस को खत्म करने और फैलने से रोकने के लिए लोगों से दूरी ही एक उपाय है। लॉकडाउन के बाद अगर आपको भी लग रहा है कि ज्यादा से ज्यादा सामान खरीदने से समस्या का समाधान हो जाएगा तो आप गलत हैं। अगर आप पैनिक बाइंग को लेकर अवेयर हैं तो क्विज खेलें और अपना नॉलेज भी बढ़ाएं।

और पढ़ें :

कोरोना वायरस से बचाव संबंधित सवाल और उनपर डॉक्टर्स के जवाब

दिल्ली में कोरोना वायरस के 2 मामले, पांच बच्चों के भी लिए गए सैंपल

कोरोना वायरस का शिकार लोगों पर होता है ऐसा असर, रिसर्च में सामने आई ये बातें

कोरोना वायरस (Coronavirus) से जुड़ चुके हैं कई मिथ, न खाएं इनसे धोखा

Share now :

रिव्यू की तारीख मार्च 25, 2020 | आखिरी बार संशोधित किया गया मार्च 26, 2020

शायद आपको यह भी अच्छा लगे