home

What are your concerns?

close
Inaccurate
Hard to understand
Other

लिंक कॉपी करें

फिंगरिंग के बाद ब्लीडिंग के क्या कारण हो सकते हैं?

फिंगरिंग के बाद ब्लीडिंग के क्या कारण हो सकते हैं?

ऐसी सेक्शुअल एक्टिविटीज जिसमें वजाइना के पार्टिसिपेशन के दौरान थोड़ा-सा ब्लड निकलना आम है। जब कोई व्यक्ति यौन उत्तेजित होता है, तो वजाइना में रक्त का प्रवाह बढ़ जाता है। नतीजतन, महिला को मामूली चोट से भी ब्लीडिंग का अधिक खतरा होता है। फिंगरिंग के बाद खून बहना शुरू होता है लेकिन, अगर यह हल्का है तो घबराने की कोई बात नहीं है। वहीं, अगर फिंगरिंग के बाद ब्लीडिंग ज्यादा है तो यह एक समस्या हो सकती है। इस लेख में, हम फिंगरिंग के बाद ब्लीडिंग के कारणों पर गौर करेंगे। साथ ही इस रक्तस्राव को रोकने में क्या मददगार उपाय किए जा सकते हैं, यह भी जानेंगे।

क्या फिंगरिंग सुरक्षित है?

जब कोई अपने पार्टनर की वजाइना को उत्तेजित करने के लिए अपनी उंगली का उपयोग करता है, तो उसे फिंगरिंग सेक्स (fingering sex) कहते हैं। सेक्शुअल इंटरकोर्स से पहले किया गया यह सेक्शुअल एक्ट (sexual act) सुरक्षित माना जाता है। इससे संक्रमण फैलने की बहुत कम संभावना होती है। इंफेक्शन के जोखिम को कम करने के लिए पहले से ही अपने हाथ धोएं।

और पढ़ें : बोल्ड अंदाज में हों पार्टनर के सामने न्यूड, तो सेक्स लाइफ में आएगा रोमांच

फिंगरिंग के बाद ब्लीडिंग (स्पर्श के बाद खून बहना) के कारण क्या हैं?

हालांकि, फिंगरिंग एक सुरक्षित यौन गतिविधि है। यह शायद ही किसी भी समस्या का कारण बने। वजाइना स्पर्श के बाद ब्लीडिंग के पीछे ये कुछ कारण शामिल हो सकते हैं:

वजाइना में स्क्रैच लगना

आपकी योनि के अंदर एक खरोंच माइनर कट की वजह बन सकती है। दरअसल, वजाइना और उसके आसपास की स्किन नाजुक होती है। फिंगरिंग के दौरान वजाइना के अंदर स्क्रैच ब्लीडिंग की वजह बन सकता है। किसी भी तरह का फोर्स या प्रेशर वजाइनल टियर (vaginal tear) का कारण बन सकती है। नतीजन, फिंगरिंग के बाद खून बहना लाजमी है।

ओव्यूलेशन कैलक्युलेटर

ओव्यूलेशन कैलक्युलेटर

अपने पीरियड सायकल को ट्रैक करना, अपने सबसे फर्टाइल डे के बारे में पता लगाना और कंसीव करने के चांस को बढ़ाना या बर्थ कंट्रोल के लिए अप्लाय करना।

ओव्यूलेशन कैलक्युलेटर

अपने पीरियड सायकल को ट्रैक करना, अपने सबसे फर्टाइल डे के बारे में पता लगाना और कंसीव करने के चांस को बढ़ाना या बर्थ कंट्रोल के लिए अप्लाय करना।

ओव्यूलेशन कैलक्युलेटर

सायकल की लेंथ

(दिन)

28

ऑब्जेक्टिव्स

(दिन)

7

और पढ़ें : First time Sex: महिलाओं के पहली बार सेक्स के दौरान होने वाले शारीरिक बदलाव

ग्रीवा में जलन (Cervical irritation)

सर्विक्स, गर्भाशय का निचला हिस्सा है और यह यूट्रस और योनि के बीच एक सकरा रास्ता बनाता है। पीरियड्स के दौरान इसकी स्थिति बदल जाती है जिससे वजाइना के ऊपर या नीचे की और बढ़ जाता है। इस समय के दौरान जब यह योनि में नीचे की तरफ बढ़ता है, फिंगरिंग करने से जलन हो सकती है। इससे हल्का रक्तस्राव हो सकता है।

गर्भाशय ग्रीवा में सूजन भी हो सकती है, जिसे सर्विसाइटिस (cervicitis) कहा जाता है। हालांकि, कई अन्य समस्याओं की वजह से भी सर्विसाइटिस हो सकता है जैसे- यौन संचारित संक्रमण (एसटीआई)। सर्विसाइटिस के निम्नलिखित लक्षण दिखाई दे सकते हैं:

गर्भावस्था के दौरान, सर्विक्स में ज्यादा ब्लड वेसल्स डेवलप होती हैं, जिससे इर्रिटेशन से फिंगरिंग के बाद खून बहने की अधिक संभावना होती है।

और पढ़ें : प्रेग्नेंसी और सेक्स: प्रेग्नेंसी में सेक्स को लेकर हैं सवाल तो पढ़ें ये आर्टिकल

पीरियड्स के बीच ब्लीडिंग

कभी-कभी, फिंगरिंग या अन्य सेक्शुअल एक्टिविटी के बाद ब्लीडिंग होना एक कोइन्सिडेंस है। ऐसा पीरियड्स के समय या प्री-मेंस्ट्रुअल स्पॉटिंग (pre-menstruation spotting) की वजह से हो सकता है। नियमित रूप से पीरियड्स के बीच स्पॉटिंग आम तौर पर सामान्य नहीं है। यह हार्मोनल परिवर्तन (hormonal changes) या किसी संक्रमण का एक कारण हो सकता है।

और पढ़ें : क्या आपने कभी किया एनल सेक्स? शरमाएं या हिचकिचाएं नहीं जानिए इसके फायदे

योनि का सूखापन

ड्राई वजाइनल टिश्यू में फिंगरिंग के बाद जलन की वजह से ब्लड निकल सकता है। इसके अलावा योनि का सूखापन, दर्दनाक सेक्स (painful sex) की वजह बनता है। योनि में सूखापन होने के कुछ सामान्य कारणों में शामिल हैं:

फिंगरिंग के बाद खून बहना कई तरह के एसटीआई के कारण भी हो सकता है। इससे टिश्यू और अधिक संवेदनशील हो सकते हैं जिससे उंगलियों के मात्र स्पर्श के बाद खून बहना शुरू हो जाता है। हालांकि, एसटीआई के लक्षण और भी हो सकते हैं, जैसे:

  • पेल्विक में दर्द
  • यौन गतिविधि के दौरान दर्द
  • यूरिनेशन के दौरान दर्द
  • असामान्य वजाइनल ब्लीडिंग
  • इनफर्टिलिटी

अन्य संक्रमण, जैसे कि यीस्ट इंफेक्शन और बैक्टीरियल वेजिनोसिस (bacterial vaginosis), वजाइना में असामान्य डिस्चार्ज, जलन या खुजली का कारण बन सकते हैं। इसकी वजह से कुछ महिलाएं यौन गतिविधि के बाद भी रक्तस्राव का अनुभव करती हैं।

और पढ़ें : Anal Sex: एनल सेक्स से जुड़े मिथक और उनके पीछे का सच

मुझे डॉक्टर को कब दिखाना चाहिए?

जब तक रक्तस्राव हल्का और अन्य किसी लक्षण के बिना होता है, तब तक इसके बारे में चिंता की कोई बात नहीं है। इसके बारे में आप अपने डॉक्टर से आगे के अपॉइंटमेंट में बता सकती है। हालांकि, नीचे बताए गए ये लक्षण दिखें तो डॉक्टर से तुरंत परामर्श करना चाहिए:

  • ब्लीडिंग जो अन्य लक्षणों के साथ होती है, जैसे कि खुजली, जलन या दर्द,
  • सेक्स के दौरान दर्द,
  • गर्भावस्था के दौरान रक्तस्राव,
  • किसी नए पार्टनर के साथ या असुरक्षित यौन संबंध बनाने के बाद ब्लीडिंग
  • हेवी ब्लीडिंग जो कुछ मिनटों के बाद बंद न हो
  • तेज दर्द के साथ ब्लीडिंग
  • बुखार या संक्रमण के अन्य लक्षण के साथ ब्लीडिंग आदि।

और पढ़ें : योग सेक्स : योगासन जो आपकी सेक्स लाइफ को बनायेंगे मजबूत

फिंगरिंग के बाद खून बहना रोकना है तो फॉलो करें ये हेल्थ टिप्स

सेक्शुअल कॉन्टैक्ट के दौरान और बाद में ब्लीडिंग के जोखिम को कम करने के लिए ये कुछ टिप्स अपनाए जा सकते हैं जैसे-

  • फिंगरिंग अगर दर्दनाक साबित हो रही है तो पार्टनर को रुकने या धीमा होने को कहें।
  • सेक्शुअल इंटरकोर्स (sexual intercourse) से पहले पूरी तरह से कामोतेज्जित होने के लिए वेट करें।
  • फिंगरिंग सेक्स से पहले यह ध्यान दें कि आपके नाखून बड़े न हों।
  • नियमित एसटीआई टेस्ट (STI test) करवाएं।
  • किसी भी असामान्य या दर्दनाक लक्षणों के बारे में डॉक्टर से बात करें।
  • यदि वजाइनल ड्राइनेस की वजह से फिंगरिंग के बाद ब्लीडिंग हो रही है तो सेक्स लुब्रिकेंट्स का इस्तेमाल करें।
  • पार्टनर और खुद के हाथों को साफ रखें।

फिंगरिंग के बाद थोड़ा खून बहना सामान्य है। लेकिन, खुद के शरीर और उसके विशिष्ट लक्षणों के बार में जानना आपके लिए महत्वपूर्ण है। जैसे कुछ लोगों में यदि वे पर्याप्त रूप से लुब्रिकेशन नहीं करते हैं तो सेक्स के दौरान ब्लीडिंग होती है। ऐसे में ब्लीडिंग इनके लिए सामान्य लक्षण है। वहीं, अगर आपको फिंगरिंग या सेक्स के बाद ब्लीडिंग के पैटर्न में कुछ बदलाव दिखाई देते है, तो डॉक्टर को दिखाना जरूरी हो जाता है। इससे डॉक्टर बता सकते हैं कि आपको होने वाला रक्तस्राव चिंता का कारण है या नहीं। अगर वजाइनल ब्लीडिंग अधिक गंभीर है, तो जल्द ही इसका निदान और उपचार कराना जरूरी है। उम्मीद है कि आपको यह आर्टिकल पसंद आया होगा। इससे जुड़ी अधिक जानकारी के लिए आप अपने डॉक्टर से सलाह ले सकते हैं।

 

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Is fingering safe?. https://www.plannedparenthood.org/learn/teens/ask-experts/is-fingering-safe. Accessed On 26 June 2020

Bleeding During Pregnancy. https://www.acog.org/patient resources/faqs/pregnancy/bleeding-during-pregnancy. Accessed On 26 June 2020

Vaginitis. https://www.plannedparenthood.org/learn/health-and-wellness/vaginitis.Accessed On 26 June 2020

Impact of Contraception on Female Sexual Function. https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/27622561/. Accessed On 26 June 2020

Vaginal bleeding after sex. https://www.healthdirect.gov.au/vaginal-bleeding-after-sex. Accessed On 26 June 2020

लेखक की तस्वीर badge
Shikha Patel द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 16/06/2021 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड