आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

null

सर्विक्स पेनिट्रेशन: डीप सेक्स करने से पहले जरूर जान लें ये बातें

    सर्विक्स पेनिट्रेशन: डीप सेक्स करने से पहले जरूर जान लें ये बातें

    आजकल के युवा अपने सेक्स लाइफ में परिवर्तन के लिए कई तरह के नए-नए सेक्स के तरीके आजमाते हैं। ऐसे में नाम आता है, डीप सेक्स जिसमें सेक्स के दौरन पुरूष का पेनिस महिला के गर्भाशय ग्रीवा तक पहुंच जाता है। इसे सर्विक्स पेनिट्रेशन कहते हैं। ज्यादातर लोग डीप सेक्स करने के लिए उस वक्त तैयार होते हैं। जब वह फोरप्ले के दौरान बहुत अधिक उत्तेजित हो जाते हैं। डीप सेक्स यानि सर्विक्स पेनिट्रेशन करते समय दोनों पार्टनर बिना दर्द और किसी बात की परवाह किए अपनी उत्तेजना के झोकें में बहते चले जाते हैं।

    वैसे डीप सेक्स को लोग कई अलग नाम से भी जानते हैं। लेकिन बहुत कम लोग शायद यह जानते हैं, कि डीप सेक्स में क्या होता है। इस दौरान महिलाओं को कैसा महसूस होता है। दरअसल गहरा सेक्स करने के दौरान पुरूष का पेनिस महिला के गर्भाशय ग्रीवा तक पहुंचने से उन्हें दर्द से होकर गुजरना पड़ सकता है। तो इसमें पुरूष जितना अधिक उत्तेजित होते हैं, वहीं कुछ महिलाओं को दर्द और कई तरह की समस्याओं से होकर गुजरना पड़ता है।

    और पढ़ें : लॉकडाउन में बढ़ी सेक्स टॉय की बिक्री, एक सर्वे में सामने आई कई चौंकाने वाली बातें

    सर्विक्स पेनिट्रेशन क्या है?

    सर्विक्स पेनिट्रेशन या गहरा सेक्स का मतलब होता है, पुरूष पेनिस या सेक्स टॉयज को सर्विक्स के अंदर प्रवेश कराना। लोगों का ऐसा मानना है कि गहरा सेक्स यानि सर्विक्स पेनिट्रेशन कराने से महिलाओं को ऑर्गेज्म मिलता है। आपको बता दें की यह केवल एक गलतफहमी है। सर्विक्स पेनिट्रेशन कराने से महिलाओं को ऑर्गेज्म नहीं प्राप्त होता इससे उनको दर्द महसूस होता है। किसी प्रकार की उत्तेजना नहीं होती है। आपको यह पता होना चाहिए की सर्विक्स पेनिट्रेशन से नहीं बल्कि सर्विक्स को स्टिमुलेट करने से उसके ऊपरी भाग को स्पर्श करने से महिलाओं को उत्तेजना महसूस होती है।

    health-tool-icon

    बीएमआई कैलक्युलेटर

    अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की जांच करने के लिए इस कैलक्युलेटर का उपयोग करें और पता करें कि क्या आपका वजन हेल्दी है। आप इस उपकरण का उपयोग अपने बच्चे के बीएमआई की जांच के लिए भी कर सकते हैं।

    पुरुष

    महिला

    और पढ़ें : बढ़ती उम्र और सेक्स में क्या है संबंध, जानें बुजुर्गों को सेक्स के दौरान किन-किन बातों का रखना चाहिए ख्याल

    गर्भाशय ग्रीवा कहां स्थित होता है?

    आपका गर्भाशय ग्रीवा, गर्भाशय से शुरू होकर योनि तक फैला होता है। पेल्विक टेस्ट के दौरान आपका गायनोलॉजिस्ट जो देखता है, उसे एक्टोसर्विक्स कहा जाता है, जो गर्भाशय ग्रीवा का हिस्सा होता है। यदि आपको आईयूडी है, तो यह वह जगह है जहां तार आमतौर पर होते हैं। एक लिंग या डिल्डो आपकी योनि से आपके गर्भाशय ग्रीवा में प्रवेश कराया जाता है। यह वह जगह है जहां शुक्राणु गर्भाशय से गुजर सकता है।

    वजाइनल कैनल कितना बड़ा होता है?

    यदि आप सेक्शुअली एक्टिव नहीं हैं,तो यह आमतौर पर लगभग 3 से 4 इंच गहरा होता है। यह आपके हाथ की चौड़ाई जितना होता है। लेकिन जब आप टर्न ऑन होते हैं, तो आपके वजाइना की जगह कई गुना बड़ा हो जाता है।

    और पढ़ें : सेक्स को लेकर हमेशा रहे जागरूक, ताकि सुरक्षित सेक्स कर बीमारियों से कर सकें बचाव

    गर्भाशय ग्रीवा उत्तेजना बनाम गर्भाशय ग्रीवा पेनिट्रेशन

    संभोग के दौरान, एक लिंग (या डिल्डो) गर्भाशय ग्रीवा को हिट और उत्तेजित कर सकता है। कुछ लंबी उंगलियां भी उस तक पहुंचने का एक और तरीका है। बहुत कम महिलाओं के लिए, ग्रीवा उत्तेजना काफी सुखद होता है, वहीं कुछ लोगों के लिए यह असहज अनुभूति होता है। जिन लोगों ने गहरा सेक्स करने की कोशिश की होगी, वो यह समझ सकते हैं। महिला सर्विक्स के अंदर का हिस्सा बहुत ही पतला होता है। जिसमें पेनिस या डिल्डो आसानी से प्रवेश नहीं कर सकता है। इस दौरान महिलाओं को असहनीय दर्द हो सकता है।

    और पढ़ें : सेक्स कब और कितनी बार करें, जानें बेस्ट सेक्स टाइम

    तो क्या गर्भाशय ग्रीवा प्रवेश संभव है?

    वैसे तो संभोग के दौरान ग्रीवा में प्रवेश करना महिलाओं के लिए दर्दनाक हो सकता है। लेकिन संभव है या नहीं इस बारे में बात करें तो यदि आप स्वंय गहरा सेक्स (सर्विक्स पेनिट्रेशन) करने की कोशिश करना चाहते हैं, तो यह आपके लिए संभव नहीं है। लेकिन कई बार बहुत अधिक उत्तेजना के कारण संभोग के दौरान पेनिस महिला के गर्भाशय ग्रीवा तक पहुंच जाता है। यदि आप स्वंय आराम से यह करना चाहते हैं, तो इसके लिए आपको डॉक्टर से किसी प्रकार की क्रीम या दवा लेने की सलाह दी जा सकती है। जिससे आपके ग्रीवा का शुरूआती भाग खुल सके।

    और पढ़ें : सेक्स स्टैमिना बढ़ाने के इन उपायों को आजमाएं और सेक्स-लाइ‍व को रिजूवनेट करें

    क्या गर्भाशय ग्रीवा पेनिट्रेशन के कारण रक्तस्राव हो सकता है?

    लोग अक्सर पूछते हैं कि क्या गर्भाशय ग्रीवा से टकराने से रक्तस्राव हो सकता है। तो इसका जवाब है हां, गर्भाशय ग्रीवा पेनिट्रेशन से रक्तस्त्राव होना पूरी तरह से संभव है। कई बार यह रक्त लंबे समय तक नहीं रूकता है। इसके लिए आपको चिकित्सक मदद लेने की आवश्यकता होती है। वास्तव में, लिंग या डिल्डो के साथ संभोग करने से गर्भाशय ग्रीवा में सूजन हो सकती है। यदि आप लंबे लिंग या डिल्डो से आक्रामक रूप से योनि संभोग कर रहे हैं, तो उस दौरान भी चोट या खून आ सकता है। यह कहा जा रहा है, सेक्स के बाद कम मात्रा में रक्त आने का कोई वास्तविक कारण नहीं है। योनि और गर्भाशय ग्रीवा दोनों काफी मजबूत संरचनाएं हैं। यह बच्चे के जन्म के दौरान शिशु के सिर के आकार तक फैल जाते हैं।

    कोरोना और सेक्स लाइफ के बीच कनेक्शन को जानने के लिए पढ़ें : क्या कोरोना वायरस और सेक्स लाइफ के बीच कनेक्शन है? अगर जानते हैं इस बारे में तो खेलें क्विज

    क्या गहरा सेक्स करने से चोट लग सकती है?

    संभोग के दौरान यह महसूस करना बेहद जरूरी होता है कि आपका शरीर इस क्रिया में क्या महसूस कर रहा है। यदि यह आपको असहनीय दर्द दे रहा है,तो जाहिर है यह आपके अंदरुनी चोट का कारण बन सकता है। योनि प्रवेश के दौरान दर्द का अनुभव करना असामान्य नहीं है, खासकर जब कोई चीज आपके गर्भाशय ग्रीवा को हिट कर रहा है। वास्तव में, लगभग 60 प्रतिशत महिलाएं डिस्परेयूनिया से निपटती हैं, जो दर्दनाक सेक्स के कारण होता है। जब ऐसा होता है, तो आप सेक्स के दौरान, उसके पहले या बाद में लगातार, दर्द महसूस कर रहे होते हैं।

    वैसे, गर्भाशय ग्रीवा पर दबाव ही डिस्परेयूनिया का एकमात्र कारण नहीं है, इसलिए यदि आप इसके लक्षणों का अनुभव कर रहे हैं तो अपने स्त्री रोग विशेषज्ञ से बात करें। वे यह पता लगाने में मदद कर सकते हैं कि आपके ग्रीवा में क्या समस्या है।

    और पढ़ें: प्रेग्नेंसी में STD से बचाव: प्रेग्नेंसी में यौन संचारित रोगों से बचने के टिप्स

    क्या सर्वाइकल ऑर्गेज्म पाना संभव है?

    यह निश्चित रूप से सभी के लिए मुमकिन नहीं है। कई महिलाओं को ऑर्गेज्म के लिए पेनिट्रेशन की नहीं बल्कि क्लिटोरल और स्टीमुलेट की आवश्यकता होती है। क्लिटोरल ऑर्गेज्म तीव्र हो सकता है, वे आम तौर पर आपकी योनि के आस-पास केंद्रित होते हैं और केवल कुछ सेकेंड में यह हो भी सकता है। यदि आप अपने गर्भाशय ग्रीवा को उत्तेजित कर रहे हैं, तो आप अपने पूरे शरीर में फैले दबाव को महसूस कर सकते हैं। कुछ महिलाओं के लिए, यह लंबे समय तक रह सकता है क्योंकि उनके लिए यह सुखद हो सकता है।

    और पढ़ें: प्रेग्नेंसी में STD से बचाव: प्रेग्नेंसी में यौन संचारित रोगों से बचने के टिप्स

    क्या यह सुरक्षित है?

    हां, यह पूरी तरह से सुरक्षित है। लेकिन यह महत्वपूर्ण है कि आप गर्भाशय ग्रीवा द्वारा संभोग को करने से पहले गहरे सेक्स के बारे में अच्छी तरह समझ लें कि यह आप कर सकते हैं या नहीं। यदि आप रिलैक्स महसूस नहीं कर रहे हैं, तो आपको आरामदायक या आनंद महसूस करने में समस्या हो सकती है। जिससे आप एक बेहतर सेक्स नहीं कर पाएंगे।

    इसलिए किसी भी सेक्स पोजिशन करने, दवा या सप्लिमेंट का इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर से परामर्श जरूर करें।

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    सूत्र

    Hysterectomy improves sexual response? Addressing a crucial omission in the literature

    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3090744/

    accessed on 29-07-2020

    The Cervix and Uterus in Sterility

    https://www.fertstert.org/article/S0015-0282(16)32467-0/pdf

    accessed on 29-07-2020

    In vivo and in vitro sperm penetration in cervical mucus

    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/397707/

    accessed on 29-07-2020

    Can a guy ever “go in too far” and cause pain?

    https://www.plannedparenthood.org/learn/teens/ask-experts/can-a-guy-ever-go-in-too-far-and-cause-pain

    accessed on 29-07-2020

    Sexual Health: Female Pain During Sex (Dyspareunia)

    https://my.clevelandclinic.org/health/diseases/12325-sexual-health-female-pain-during-sex-dyspareunia

    accessed on 29-07-2020

    लेखक की तस्वीर badge
    shalu द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 16/06/2021 को
    Dr. Ruby Ezekiel के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड