home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

सेक्शुअल हिस्ट्री के बारें में अपने पार्टनर से बात करना है जरूरी, जानिए क्यों

सेक्शुअल हिस्ट्री के बारें में अपने पार्टनर से बात करना है जरूरी, जानिए क्यों

सेक्शुअल हेल्थ का ध्यान रखना भी उतना ही महत्वपूर्ण है जितना कि फिजिकल और मेंटल हेल्थ का और इसके लिए जरूरी है कि कपल्स एक-दूसरे से अपनी सेक्शुअल हिस्ट्री न छुपाएं। हालांकि सेक्शुअल हिस्ट्री के बारे में बात करना आसान नहीं है, लेकिन याद रखिए कि यह आपके रिश्ते और सेहत दोनों के लिए जरूरी है। कुछ बातों का ध्यान रखकर आप सकारात्मक तरीके से आप अपनी बीती हुई सेक्स लाइफ के बारे में पार्टनर से बात कर सकते हैं।

सेक्शुअल हिस्ट्री के बारे में बात करने से क्यों झिझकते हैं कपल्स?

हमारा सामाजिक ढांचा ही ऐसा है कि बचपन से ही सेक्स के मुद्दे पर खुलकर बात करने को अच्छा नहीं माना जाता है और हमेशा इसे शादी से जोड़कर देखा जाता है। ऐसे में यदि शादी से पहले कोई व्यक्ति किसी के साथ संबंध बनाता है तो इसे लेकर उसके मन में गिल्ट और शर्म की भावना रहती है और उसे लगता है कि यदि वह अपने वर्तमान पार्टनर से इस बारे में बात करेगा तो उसका रिश्ता बिगड़ सकता है। पार्टनर की नजरों में उसकी इज्जत कम हो जाएगी और हो सकता है उसके साथी का उसपर से विश्वास भी उठ जाए।

कैसे दूर करें झिझक?

सबसे पहले तो आपको यह समझना होगा यदि आप अपने एक्स के साथ इंटिमेट हुए हैं तो इसमें आपने कोई गुनाह नहीं किया है। इसके लिए गिल्टी फील न करें और न ही उसे किसी गलती की तरह देखें। जब आप बीती बातों के प्रति अपना नजरिया बदल लेंगे तो इस बारे में पार्टनर से पूरे आत्मविश्वास के साथ बात कर पाएंगे। इस मामले में महिला और पुरुष दोनों पार्टनर को एक-दूसरे को समझना होगा और साथी को इस बात का यकीन दिलाना होगा कि अतीत जानने के बाद उनके रिश्तों पर कोई असर नहीं होगा।

यह भी पढ़ें- महिलाओं के लिए सेक्स वियाग्रा के उपयोग और साइड इफेक्ट्स क्या हैं?

सेक्शुअल हिस्ट्री के बारे में कैसे करें पार्टनर से बात?

सच तो यह है कि आप अपने पार्टनर से कितना भी प्यार क्यों न करते हों या उनके दिल के कितने भी करीब क्यों न हो, जब बात सेक्शुअल हिस्ट्री की आती है तो कहीं न कहीं आपके अंदर एक डर रहता है कि बीती बातें कहीं आपका आज न बिगाड़ दें, लेकिन इस डर को दूर रखकर पार्टनर से बात करना जरूरी है, क्योंकि सेक्स प्रति ईमानदारी आपके रिश्ते को मजबूत बनाती है। लेकिन बात करने का भी अपना एक तरीका होता है यूं ही अचानक से पार्टनर का मूड देखे बिना ही पुराने सारे सेक्शुअल सीक्रेट उनके सामने जाहिर करना ठीक नहीं है।

हिंट दें- पहले तो आप यह सुनिश्चित कर लें कि क्या पार्टनर आपकी बात समझेंगे, क्या उनके अंदर इतनी अंडरस्टैंडिंग डेवलप हो चुकी है? और फिर जिस दिन उनका मूड अच्छा दिखे उन्हें अपनी बीती हुई सेक्स लाइफ से जुड़ी कोई छोटी सी बात बोलकर हिंट लें, फिर देखें कि उनका रिएक्शन कैसा है? यदि उनकी भौंहे तन जाती हैं तो बात को वहीं खत्म कर दें और पुराने राज न खोलें, लेकिन पार्टनर यदि नॉर्मल बिहेव करते हैं और हिंट देने के बाद आपसे सवाल करते हैं तो सीमित शब्दों में उसका जवाब देते जाएं। सवाल-जवाब के माध्यम से बातचीत आसान हो जाती हैं और आप ज्यादा असहज भी नहीं होते हैं। एक बाद ध्यान रखें कि पार्टनर जितना सवाल करें बस उतना ही जवाब दें और यह न दर्शाएं कि आपको उस दौरान बहुत मजा आया था या आप अपने एक्स सेक्स पार्टनर को मिस कर रही हैं।

बैठकर आराम से बात करें- यदि आप अपने वर्तमान पार्टनर के साथ ज्यादा सहज हैं तो आमने-सामने बैठकर भी बात कर सकते हैं, लेकिन यह पूरी तरह से आप पर निर्भर करता है कि आप बीती सेक्स लाइफ के बारे में क्या और कितना शेयर करना चाहते हैं। जरूरी नहीं है कि आप अपने सारे बेडरूम सीक्रेट शेयर करें, लेकिन हां अपनी बात शेयर करने के बाद सामने वाले पार्टनर की सेक्शुअल हिस्ट्री में भी दिलचस्पी दिखाएं ताकि वह आपसे खुलकर बात कर सके और आप दोनों एक दूसरे के बारे में अधिक जान पाएं। इससे न सिर्फ आप दोनों एक-दूसरे के और करीब आ जाएंगे, बल्कि बीती बातों को लेकर मन जो गिल्ट फीलिंग होती है वह भी निकल जाती है।

यह भी पढ़ें- लेस्बियन सेक्स कैसे होता है? जानें शुरू से लेकर अंत तक

सेक्शुअल हिस्ट्री के बारे में बात करना क्यों जरूरी है?

सेक्सुअल हिस्ट्री के बारे में कपल्स का एक-दूसरे से बात करना उनके रिश्ते के विश्वास को तो गहरा करता ही है साथ ही वह अपनी सेक्शुअल हेल्थ को लेकर भी जागरुक रहते हैं।

सेक्शुअल हेल्थ- जब कपल्स एक-दूसरे से अपनी बीती सेक्स लाइफ पर चर्चा करते हैं तो वह STD, कॉन्ट्रासेप्शन और एचआईवी जैसे मुद्दों पर भी बात करते हैं, क्योंकि कई लोगों के साथ संबंध बनाने पर STD और HIV का खतरा रहता है। ऐसे में जब कपल्स एक-दूसरे के एक्स सेक्स पार्टनर के बारे में जान जाते हैं और यदि किसी के एक्स को सेक्सुअली ट्रांसमिटेड डिसीज रहा हो तो कपल्स अपना टेस्ट करवा सकते हैं, लेकिन यदि वह इस मुद्दे पर बात नहीं करेंगे तो उन्हें इस बारे में पता ही नहीं चलेगा, इसलिए ईमानदारी से बात करना जरूरी है।

एक-दूसरे को अच्छी तरह समझ पाते हैं- सेक्शुअल हिस्ट्री डिस्कस करने से कपल्स एक-दूसरे की सेक्शुअल डिजायर और फैंटसी को अच्छी तरह समझ पाते हैं, जिससे वह अपनी सेक्स लाइफ को और बेहतर बना सकते हैं। इससे उनकी सेक्स लाइफ का रोमांच बढ़ जाता है।

विश्वास बढ़ता है- जब आप पार्टनर से ईमानदारी से अपने बीते कल के बारे में बात करके हैं तो उनका विश्वास आप पर बढ़ जाता है, उन्हें यकीन हो जाता है कि आप आगे भी उनसे कुछ नहीं छुपाएंगे और किसी भी रिश्ते को मजबूत बनाने के लिए विश्वास बहुत जरूरी चीज है।

यह भी पढ़ें- सेक्स ऑर्गेज्म फैक्ट्स क्या हैं? क्या आपको है सही जानकारी

न करें यह गलतियां

बीती सेक्स लाइफ के बारे में बात करना जरूरी है, लेकिन पार्टनर से ऐसे बात न करें जैसे आप अपने दोस्तों से करते हैं, क्योंकि इसका आपके रिश्ते पर असर पड़ सकता है। इसलिए बहुत समझदारी और सयंमित लहजे में इस बारे में उनसे बात करें और इन गलतियों से बचेः

  • कभी पार्टनर से झगड़ा हो जाए तो गुस्से में अपनी बीती सेक्स लाइफ के बारे में उन्हें न बताएं।
  • यदि पार्टनर अपनी सेक्शुअल हिस्ट्री आपसे शेयर कर चुका है, तो कभी मनमुटाव होने पर उस बात को लेकर उनपर कमेंट न करें।
  • बीती सेक्स लाइफ के बारे में उतना ही शेयर करें जितना आपको जरूरी लगे, आपके कितने पार्टनर थे या आप कितनों के साथ हमबिस्तर हुए हैं, आपको किस पार्टनर का कौन सा मूव्स रोमांचित करता था, जैसी बातें शेयर करने की गलती न करें।
  • बीती बातों के आधर पर पार्टनर को जज न करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Kanchan Singh द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 13/08/2020 को
डॉ. पूजा दाफळ के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड
x