अस्थमा से राहत पाने के लिए ये घरेलू उपाय हैं कारगर

Medically reviewed by | By

Update Date मई 22, 2020
Share now

अस्थमा एक क्रॉनिक कंडीशन है, जो फेफड़ों के एयरवेज को ब्लॉक करती है, जिससे सांस लेने में कठिनाई होती है। यह जानलेवा भी हो सकती है। अस्थमा से पीड़ित लोग आमतौर पर नेबुलाइजर का सहारा लेते हैं जबकि, कुछ ऑक्सिजन थेरिपी की ओर मुड़ते हैं। हालांकि, अस्थमा के घरेलू उपाय भी हैं, जिनकी मदद से इसकी रोकथाम की जा सकती है।

विभिन्न प्रकार के अस्थमा के लक्षण फेफड़ों में जाने वाले एयरवेज के इंफ्लमेशन के कारण होते हैं। इन्हें लाइफस्टाइल में बदलाव करके और घरेलू उपचारों की मदद से कम किया जा सकता है। यहां तक कि नियमित आहार में कुछ एडिशन करके आप अस्थमा और इसके सभी लक्षणों को कम कर सकते हैं। आइए जानते हैं अस्थमा के घरेलू उपाय और इसके अटैक को नियंत्रित या स्थिर करने के लिए कुछ प्रभावी घरेलू उपचार:

ये भी पढ़े Levosalbutamol : लेवोसालबूटामॉल क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

 1. नीलगिरी का तेल 

नीलगिरी के तेल में नीलगिरी मौजूद होता है और यह अवरुद्ध नाक मार्ग को साफ करने के लिए बहुत अच्छा माना जाता है क्योंकि, इसमें बलगम को तोड़ने की क्षमता होती है। एक तौलिया या नैपकिन पर इस तेल की कुछ बूंदें डालें और जब आप सो रहे हों, तो इसे अपनी नाक के करीब रखें। आप उबले हुए गर्म पानी की एक कटोरी में तेल की कुछ बूंदें डालकर सीधे भांप ले सकते हैं और ब्रीदिंग को आसान कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें : Dyslexia: डिस्लेक्सिआ क्या है? जानें इसके कारण लक्षण और उपचार

2 .अदरक 

यह सुपरफूड अस्थमा के खिलाफ लड़ाई में बेहद कुशल है। सभी प्रकार की श्वसन स्थितियों के उपचार के लिए आप इसे सूखे, कच्चे और ताजे रूप में उपयोग कर सकते हैं। इसमें एंटी-ऑक्सिडेंट और दर्द को दूर करने वाले गुण होते हैं। इसमें एंटी-इंफ्लमेटरी गुण भी होते हैं, जो इसे नॉन -स्टेरॉयडल एंटी-इंफ्लमेटरी ड्रग्स (एनएसएआईडी) के रूप में इंफ्लमेशन को कम करने वाला बनाते हैं। यह फेफड़ों में जाने वाले मार्ग से अतिरिक्त बलगम और सूजन को साफ करता है और उन्हें आराम भी देता है।

3. ओमेगा-3 फैटी एसिड

यह विभिन्न प्रकार की मछली, नट और बीज में स्वाभाविक रूप से पाया जाता है। ओमेगा-3 फैटी एसिड अस्थमा के लिए एक और उपाय है, जो कि पूरी तरह से प्राकृतिक है और आप इसे घर पर स्वयं कर सकते हैं। ओमेगा-3 फैटी एसिड पहले से ही कई मानसिक और शारीरिक स्थितियों जैसे कि मूड डिसऑर्डर, हृदय रोग आदि में मदद करने की अपनी क्षमता के लिए प्रसिद्ध है। अब अध्ययनों में पाया गया है कि यह एयरवेज की सूजन को कम करने के साथ-साथ इम्यून सिस्टम को एक्टिव रखता है। 

यह भी पढ़ें :Fibromyalgia :फाइब्रोमायल्जिया क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

4. लहसुन

अगर आप घरेलू उपचार की तलाश कर रहे हैं, तो आप लहसुन का उपयोग कर सकते हैं, जो अस्थमा के लक्षणों से तुरंत राहत दिलाता है। अस्थमा के लिए लहसुन लेने का एक तरीका यह है कि इसकी 10-12 कलियों को आधा कप पानी में उबालें और इसे दिन में एक बार पिएं। लहसुन में काफी मात्रा में एंटी इंफ्लमेटरी गुण होते हैं जो अस्थमा से राहत दिलाने में मदद कर सकते हैं, क्योंकि अस्थमा एक इंफ्लमेटरी डिसीज है। अध्ययन बताते हैं कि लहसुन न केवल अस्थमा के लक्षणों को कम करने के लिए अच्छा है बल्कि, समय के साथ इसे ठीक भी कर सकता है।

आप अस्थमा के ऊपर बताए गए घरेलू उपाय अपना सकते हैं, जो कुछ हद तक आपको इस समस्या से राहत दिलाने में मदद कर सकते हैं। हालांकि, अपनी स्थिति की जांच के लिए डॉक्टर से मिलते रहना भी उतना ही जरूरी है।

और पढ़ें : Flu: फ्लू क्या है ? जाने इसे कारण , लक्षण और उपाय

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy"
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

Beclomethasone: बेक्लोमेथासोन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

बेक्लोमेथासोन के उपयोग की जानकारी in hindi. बेक्लोमेथासोन के साइड-इफेक्ट्स, कितना इस्तेमाल करें? कैसे करें? कितना मात्रा में लें। beclomethasone का यूज इनहेलर के रूप में किया जाता है।

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Anoop Singh

Nasal polyps: नेसल पोलिप्स क्या है? जानिए इसके लक्षण, कारण और उपचार

जानिए नेसल पोलिप्स क्या है in hindi, नेसल पोलिप्स के कारण, लक्षण और निदान क्या है, nasal polyps का उपचार कैसे किया जाता है।

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Kanchan Singh

Beclomethasone: बेक्लोमेथाजोन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

जानिए बेक्लोमेथाजोन की जानकारी in hindi, फायदे, लाभ, बेक्लोमेथाजोन उपयोग, इस्तेमाल कैसे करें, कब लें, कैसे लें, कितना लें, खुराक, beclomethasone डोज, ओवरडोज, साइड इफेक्ट्स, नुकसान, दुष्प्रभाव और सावधानियां।

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Mona Narang

प्रेग्नेंसी में उल्टी के उपचार के लिए अपनाएं ये 8 उपाय

प्रेग्नेंसी में उल्टी के उपचार की जानकारी in hindi. प्रेग्नेंसी में उल्टी के उपचार के लिए कुछ घरेलू उपाय अपनाए जा सकते हैं। आइए जानते हैं उनके बारे में। Vomiting during pregnancy के कारण क्या हैं?

Medically reviewed by Dr Sharayu Maknikar
Written by Nidhi Sinha