यह 5 स्टेप्स अपनाकर पाएं स्मोकिंग की लत से छुटकारा

Medically reviewed by | By

Update Date जनवरी 27, 2020 . 4 mins read
Share now

आज की तनावभरी जिंदगी और दिखावे के कारण ज्यादातर युवा आसानी से धूम्रपान या नशे का शिकार हो जाते हैं। स्मोकिंग की लत एक  ऐसी बुरी लत है जो कई प्रकार की जानलेवा और खतरनाक बीमारियों को आमंत्रित करती है। यही कारण है कि डॉक्टर्स और हेल्थ एक्सपर्ट हमेशा इससे दूर रहने की सलाह देते हैं, लेकिन यह सच  है की यह एक ऐसी लत है जिससे छुटकारा पाना मुश्किल है लेकिन, नामुमकिन नहीं। किसी भी अन्य कार्य की तरह स्मोकिंग की लत छोड़ने के लिए भी तैयारी की आवश्यकता होती है। तो आइए जानते हैं कि कैसे 5 स्टेप्स में स्मोकिंग की लत को छोड़ा जा सकता है। हालांकि यह अवश्य ध्यान रखें की जब आप सिगरेट खरीदते हैं, तो सिगरेट के बॉक्स पर यह साफ-साफ लिखा होता है सिगरेट पीना सेहत के लिए हानिकारक होता है। यह एक चेतवानी होती हैं लेकिन, लोग धड़ल्ले से इसका सेवन करते हैं। 

वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन (WHO) के अनुसार तंबाकू के सेवन की वजह से ज्यादतर लोग हार्ट डिजीज और स्ट्रोक की समस्या पीड़ित होते हैं और इन लोगों की मौत हो जाती है।

यह भी पढ़ें : Gout : गाउट क्या है? जाने इसके कारण, लक्षण और इलाज

स्मोकिंग की लत से बचने के आसान उपाय 

कारण या प्रेरणा

कुछ भी करने के लिए या उसे छोड़ने के लिए आपको एक वजह चाहिए होती है। अब चाहे वो स्मोकिंग की लत ही क्यों  न हो। एक शक्तिशाली कारण जो आपको प्रेरणा दे। यह कुछ भी हो सकता है। जैसे की आप कैंसर या हृदय रोग जैसी बीमारियों के शिकार नहीं होना चाहते या फिर आप हमेशा युवा दिखना चाहते हैं। या फिर आप एक बेहतर शरीर के मालिक बनना चाहते हैं। या आपके लिए अपनों का साथ बहुत जरुरी है क्योंकि स्मोकिंग से लंग और ओरल कैंसर हो सकता है। कारण कुछ भी हो सकता है। और यही वह पहली वजह है जो इस बुरी लत से लड़ने में आपकी मदद करेगी। इसलिए अगर आपको स्मोकिंग की आदत पड़ चुकी है तो परेशान न हों बस सिगरेट की ओर ध्यान न दें। स्मोकिंग कर रहे व्यक्ति के सामने खड़े न रहें। पैसिव स्मोकिंग भी हानिकारक होता है। 

खुद को तैयार करें 

धूम्रपान छोड़ना कहने या सुनने में जितना आसान लगता है उतना है नहीं। यह एक लत है जिसमें आपका दिमाग पहले से ही निकोटिन का आदि हो चुका है। इसलिए यहां आपको दिमाग पर काबू रखना होगा। इसके लिए अपने डॉक्टर से हर उस तरीके के बारे में जानने की कोशिश करें जो आपकी मदद कर सकते हैं। जैसे कि दवाइयां, योगा, एक्सरसाइज, निकोटिन पैच (यह निकोटिन रिप्लेसमेंट थेरिपी में यूज होता है) इत्यादि। तभी आप अगले स्टेप के लिए पूरी तरह तैयार हो पाएंगे और आप स्मोकिंग की लत से बाहर निकल पाएंगे। 

अपनों की मदद लें 

अपने परिवार, अपने दोस्तों से स्मोकिंग के बारे में चर्चा करें। इसका फायदा यह होगा की जब कभी आपकी इच्छाशक्ति कम पड़ने लगेगी तो यही लोग (आपके करीबी) आपको प्रोत्साहित करेंगे स्मोकिंग न करने के लिए। वैसे आजकल तो ऐसे कई ग्रुप भी बन गए हैं। जहां स्मोकिंग छोड़ने के इच्छुक अनेक लोग मिल जुलकर एक दूसरे की मदद करते हैं और अपना एक्सपीरियंस शेयर करते हैं। आप ऐसे ग्रुप का हिस्सा बन सकते हैं। अपने जैसे दूसरे लोगों को देखकर आपको और हौसला मिलेगा और आप स्मोकिंग की लत से निकल सकते हैं। 

यह भी पढ़ें : Dextromethorphan : डेक्सट्रोमेथोर्फेन क्या है? जानिए इसका उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

खुद के शरीर और दिमाग को राहत दें 

लोग स्मोकिंग क्यों करते है? क्योंकि इससे उन्हें आराम मिलता है और दूसरा आपका शरीर इसका आदि हो चुका होता है। कई लोग स्ट्रेस को कम करने के लिए भी स्मोकिंग करते हैं। तो अगर आप स्मोकिंग छोड़ रहे हैं तो आपको अपने शरीर को राहत देने के अन्य विकल्प सोचने होंगे। ताकि आप फिर से स्मोकिंग की तरफ न मुड़ें। इसके लिए बहुत सारे विकल्प मौजूद हैं जैसे कि व्यायाम करना, पसंदीदा संगीत सुनना, घूमना, मेडिटेशन करना इत्यादि। अपने आपको इन में व्यस्त रखने की कोशिश करें। 

अपना आहार बदलें 

कई अध्ययनों के अनुसार नॉनवेज या कुछ और अन्य फूड प्रोडक्ट्स ऐसे हैं जिसके बाद आपको स्मोकिंग की तलब लग सकती है। वहीं पनीर, फल और सब्जियां सिगरेट के स्वाद को खराब करते हैं। जिससे आपका स्मोकिंग की तरफ आकर्षण खत्म होने लगता है। इसलिए कोशिश करें कि जब आप स्मोकिंग छोड़ने का प्रयत्न कर रहे हैं तो इस दौरान ज्यादा से ज्यादा हरी सब्जियां और फल आपके आहार का हिस्सा हो या ऐसा आहार का ही सेवन करें। इससे आप स्मोकिंग की लत से जल्दी निकल सकते हैं। 

यह भी पढ़ें : Dicyclomine : डाईसाइक्लोमीन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

स्मोकिंग की इच्छा कब होती है यह ध्यान रखें

स्मोकिंग के आदि लोगों को समय-समय पर सिगरेट पीने की जरूरत पड़ती है जैसे- चाय या कॉफी पीने के दौरान, एल्कोहॉल के सेवन के दौरान या फिर अगर किसी परेशानी में होने के दौरान। इस बारे में जब एक प्राइवेट कंपनी में काम कर रहें और मुंबई में रहने वाले 25 साल के प्रियांश कुमार से हमने बात की तो उनका कहना था कि ‘मुझे भी स्मोकिंग की लत लग चुकी थी और कई बार मैं चाह कर भी सिगरेट नहीं छोड़ पा रहा था। ऐसे में मेरी पेशानी बढ़ती जा रही थी। मुझे याद है एक बार मैंने जब दो दिनों तक लगातार स्मोकिंग नहीं किया तो मुझे काफी परेशानी महूसस होने लगी और मैं बेचैनी होने की वजह से बीमार पड़ गया। हालांकि दोस्तों के समझाने पर मैंने छुपा कर सिगरेट पी ली। लेकिन, मुझे एहसास होने लगा था की मैं अब स्मोकिंग की लत से बाहर नहीं निकल सकता हूं। वैसे मेरी ये सोच गलत थी और मैंने धीरे-धीरे स्मोकिंग कम करना शुरू कर दिया। जब कभी भी मुझे ऐसा महूसस होता है की मुझे अब स्मोकिंग करनी है तो इस उस कुछ वक्त के लिए मैं अपने आपको किसी न किसी काम में व्यस्त कर लेता हूं और अब मैं काफी कम स्मोकिंग करता हूं। मुझे स्मोकिंग की लत से बाहर निकलने के लिए दो से तीन महीने का वक्त लगा। अब मुझे सिगरेट न पीने पर भी बेचैनी जैसी कोई भी परेशानी महसूस नहीं होती है।’

यह 5 स्टेप स्मोकिंग की लत को छोड़ने की प्रोसेस में आपकी मदद कर सकते हैं। दृढ़ निश्चय के साथ शुरुआत कीजिए आपको सफलता जरूर मिलेगी। अगर आप स्मोकिंग की लत से छुटकारा नहीं पा रहें हैं तो हेल्थ एक्सपर्ट से सलाह लें। हैलो हेल्थ ग्रुप किसी भी तरह की मेडिकल एडवाइस, इलाज और जांच की सलाह नहीं देता है।

और पढ़ें :-

Diphenhydramine : डाय​फि​नहायड्रामिन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

चमकदार त्वचा चाहते हैं तो जरूर करें ये योग

शिशु की त्वचा से बालों को निकालना कितना सही, जानें क्या कहते हैं डॉक्टर?

कौन-से ब्यूटी प्रोडक्ट्स त्वचा को एलर्जी दे सकते हैं? जानें यहां

हेल्दी स्पर्म चाहते हैं तो ध्यान रखें ये बातें

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

संबंधित लेख:

    क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
    happy unhappy"
    सूत्र

    शायद आपको यह भी अच्छा लगे

    जानें स्मोकिंग छोड़ने के लिए हिप्नोसिस है कितना इफेक्टिव

    स्मोकिंग के नुकसान से उपाय अपनाकर थक गए हैं तो स्मोकिंग छो़ड़ने के लिए हिप्नोसिस का सहारा भी ले सकते हैं, जाने किस व्यक्ति को लेनी चाहिए इसकी मदद

    Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
    Written by Satish Singh

    प्रेग्नेंसी में मसाज के 1 नहीं बल्कि हैं 11 फायदे

    जानिए प्रेग्नेंसी में मसाज के फायदे क्या हैं? मसाज से पहले किन बातों का रखना चाहिए ख्याल? क्या प्रेग्नेंट लेडी खुद से कर सकती हैं अपना मसाज?

    Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
    Written by Nidhi Sinha

    मानिए डॉक्टर्स की इन बातों को ताकि बच्चे में कोरोना वायरस का डर न करे घर  

    बच्चे में कोरोना वायरस के कुछ केस सामनें हैं। ऐसे में जानते हैं इससे बचने के उपाय, bachcho mein corona virus in hindi. क्या बच्चे में कोरोना वायरस लक्षण होते हैं बड़ों से अलग? children exposed to the coronavirus

    Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
    Written by Nidhi Sinha

    फ्लेवर्ड हुक्का सिगरेट जितना ही है खतरनाक, जानें इससे होने वाली बीमारियां

    फ्लेवर्ड हुक्का क्या है, Dangerous effects of flavoured hookah in hindi, No Smoking Day 2020, फ्लेवर्ड हुक्का के नुकसान क्या हैं, flavour hukka ke nuksan kya hain, flavoured hookah se kya hota hai, क्या हुक्का सिगरेट से ज्याादा नुकसान करता है।

    Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
    Written by Surender Aggarwal