ये 7 बातें बताती हैं सेक्स की लत के शिकार हैं आप

Medically reviewed by | By

Update Date जून 30, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
Share now

एडिक्शन यानी कीसी चीज की लत लग जाना। लत किसी भी चीज की अच्छी नहीं होती है। किसी को सिगरेट की लत होती है तो किसी को हर वक्त खाना खाने की। इसी तरह कुछ लोगों में सेक्स की लत होती है। आज इस लेख में हम सेक्स एडिक्शन यानी सेक्स की लत की बात करेंगे। हम सभी इस बात से अच्छे से वाकिफ है कि सेक्स कई तरह से हमारे स्वास्थ्य के लिए लाभदायक होता है, लेकिन इसकी ज्यादा लत होने पर यह शरीर के लिए नुकसानदायक हो सकता है।

सेक्स की लत (Sex Addiction) क्या है?

जिन लोगों को हर समय सेक्स की क्रेविंग होती है। बार बार सेक्स के बारे में सोचना, हर वक्त दिमाग में सेक्स के ख्याल आना, किसी महिला को देखने भर से आपका उत्तेजित हो जाना सेक्स की लत कहलाता है। सेक्स एडिक्शन को प्रोगरेसिव इंटिमेसी डिसऑर्डर के रूप में वर्णित किया गया है।

एक शोध के अनुसार, जिन लोगों को सेक्स की लत होती है वो चाह कर भी खुद पर काबू नहीं कर पाते हैं। हर वक्त सेक्स के ख्याल आने से उनके काम, रिलेशनशिप और रोमर्रा के काम पर भी असर पड़ता है। अमेरिकन एसोसिएशन ऑफ सेक्सुअलिटी एजुकेटर, काउंसलर और थेरेपिस्ट में छपे दिशा निर्देशों के अनुसार, सेक्स एडिक्शन और पोर्न एडिक्शन जैसे साइकोलॉजिकल डिसऑर्डर को डायग्नोज नहीं किया जा सकता है।

और पढ़ें : सेक्स के फायदे हैं लाजवाब, तो एक बार ध्यान दें जनाब

दूसरी किसी चीज की लत की तरह सेक्स की लत का भी परिवार के लोगों पर बुरा असर होता है। कुछ सेक्स एडिक्ट्स लोग मास्ट्रबेशन, प्रोनोग्राफी का अत्यधिक इस्तेमाल और फोन या कंप्यूटर पर सेक्स सेवाओं तक रहते हैं। कुछ लोग लत में गैरकानूनी गतिविधियों में शामिल हो सकते हैं, जैसे ओब्सीन फोन कॉल, चाइल्ड मोलेस्टेशन, रेप आदि।

सेक्स की लत (Sex Addiction) के लक्षण

पोर्न देखने की बार-बार इच्छा होना (Pornography)

जिन लोगों को सेक्स की लत होती है उन्हें बार-बार पोर्न देखने की इच्छा होती है। इन लोगों को कई तरह के सेक्स बिहेवियर की आदत हो जाती है।

हस्तमैथुन (Masturbation)

मास्टरबेशन करना एक नैचुरल प्रोसेस है। लेकिन जरूरत से ज्यादा मास्टरबेशन करने का मतलब है कि वो व्यक्ति सेक्स एडिक्ट हो चुका है।

और पढ़ें : तांत्रिक सेक्स क्या है? जानिए रेगुलर सेक्स और इसमें क्या अंतर है?

अकेलापन (Loneliness)

सेक्स एडिक्ट लोग अक्सर अकेलेपन के शिकर होते हैं। इनका सारा वक्त सेक्स के बारे में सोचकर गुजरता है।

डिप्रेशन और चिंता (Stress and Anxiety)

जो लोग सेक्स के आदि होते हैं वो सेक्स करते समय तो अच्छा महसूस करते हैं। लेकिन कहीं न कहीं मन में ये लोग खालीपन महसूस करते हैं। ये कहीं न कहीं खुद को गुनेहकार मानते हैं। इन लोगों में बेचैनी, चिंता और डिप्रेशन की परेशानी होती है।

किसी के साथ सेक्स करने की इच्छा होना (Fantasy)

ये लोग किसी को भी देखकर अपने मन में उनके साथ सेक्स करने के ख्याल बना लेते हैं। यह भी सेक्स एडिक्शन के लक्षण में से एक है।

और पढ़ें : शादी के बाद सेक्स में कैसे लगाएं तड़का, जानें

सेक्स की लत के इमोशनल लक्षण (Emotional Symptoms of Sex Addiction)

जिन लोगों को सेक्स की लत होती है उनमें ज्यादातर अकेलेपन का डर होता है। उन्हें लगता है कि उनका पार्टन उन्हे छोड़ देगा। अकेलेपन के डर से वे उन रिश्तों में भी जबरदस्ती रहने को मजबूर हो जाते हैं, जिनमें वे खुश नहीं होते हैं। अकेले होने के डर से वे खाली या अधूरा महसूस कर सकते हैं।

सेक्स की लत के शारीरिक लक्षण (Physical Symptoms of Sex Addiction)

सेक्स की लत या पोर्नोग्राफी की लत कई शारीरिक दुष्प्रभाव पैदा कर सकते हैं। हालांकि सेक्स की लत का सबसे आम शारीरिक लक्षण सेक्सुअल और इमोश्नल ओब्सेशन के कारण स्थिर महसूस करना होता है।

सेक्स की लत के क्या प्रभाव होते हैं? (Effects of Sex Addiction)

  • यूएसडी के डिपार्टमेंट मैनेजमेंट के अनुसार, सेक्स एडिक्टिड लोगों में लगभग 38% पुरुष और 45% महिलाओं को उनके व्यवहार के कारण जननांग रोग होता है।
  • प्रेग्नेंसी भी एक कॉमन साइड इफेक्ट है जो जोखिम भरे व्यवहार के कारण हो सकता है। एक सर्वेक्षण में, सेक्स की लत वाले लगभग 70% महिलाओं ने अपनी लत के परिणामस्वरूप कम से कम एक अनचाही प्रेग्नेंसी का अनुभव किया।
  • इसके साथ ही सेक्स की लत एक इंसान की जिंदगी को कई तरह से प्रभावित करता है। इससे पर्सनल रिलेशनशिप, सोशल सर्कल और परिवार के लोगों संग रिश्तों में खटास आ जाती है। काम में मन नहीं लगता जिस कारण प्रोडक्टिविटी पर असर पड़ता है। इसके अलावा यौन रोग या यौन संचारित रोग (एसटीडी) की संभावना अधिक होती है।

और पढ़ें : बच्चों के बाद सेक्स लाइफ को कैसे बनाएं ‘हॉट’?

क्या मुझे सेक्स की लत है?

सेक्स की लत के बारे में पता लगाने के लिए बेहतर होगा कि आप अपने डॉक्टर से कंसल्ट करें। हालांकि आप निम्नलिखित संकेतों पर भी एक नजर डाल सकते हैं:

  • आप सेक्सुअली कैसे एक्ट करते हैं इसे लेकर आप पावरलेस महसूस करते हैं
  • आपकी सेक्सुअल चॉइस आपकी लाइफ को असहनीय बना रही है
  • आपको अपने सेक्सुअल एक्ट्स पर शर्मिंदगी या खुद से नफरत महसूस होती है
  • आप अपने आप से वादा करते हैं कि आप खुद बदलेंगे लेकिन वादों को निभाने में फेल हो जाते हैं
  • आप सेक्स में खुद को इतना इन्वॉल्व रखते हैं कि यह आपके लिए अनुष्ठान बन गया हो

यदि आपको इनमें से कोई लक्षण नजर आते हैं तो हो सकता है कि आपको सेक्स की लत के लिए इलाज की जरूरत है। यदि आप इससे जुड़ी अन्य कोई जानकारी पाना चाहते हैं तो अपने डॉक्टर से कंसल्ट करें।

और पढ़ें – रिलेशनशिप टिप्स : हर रिलेशनशिप में इंटिमेसी होनी क्यों जरूरी है?

क्या सेक्स एडिक्ट लोगों को काउंसलिंग की जरूरत होती है?

यदि आप या आपके पार्टनर को सेक्स की लत है तो उन्हें सेक्स काउंसलिंग की जरूरत होती है। एक्सपर्ट्स की मानें तो, इसका कोई इलाज नहीं है लेकिन थेररेपिसिट या सेल्फ हेल्प किताबों से इस परेशानी को नियंत्रित किया जा सकता है। यदि आप रिलेशनशिप में हो और आपको अपने पार्टनर का बिहेवियर हर्ट कर रहा है तो आप उनके बिहेवियर में तुरंत बदलाव नहीं ला सकते। लेकिन आप उनको बदलने में मदद कर सकते हैं। सेक्स एडिक्ट इंसान से प्यार करना मुश्किल है, क्योंकि आप उनकी लत बन जाते हैं। ऐसे पार्टनर्स के साथ अपनी सीमाओं को निर्धारित करना मुश्किल होता है, लेकिन आपको इसका पूरा अधिकार है। अपने पार्टनर से शेयर करें कि आप कैसा महसूस करते हैं। उन्हें बताएं कि आप किन चीजो में कंफर्टेबल है और किन चीजों को करने में तैयार नहीं हैं। सेक्स एडिक्ट इंसान को भी अपने पार्टनर को अच्छा और सुरक्षित महसूस कराना चाहिए।

 अगर आपको किसी भी तरह की समस्या हो तो आप अपने डॉक्टर से जरूर पूछ लें।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

संबंधित लेख:

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy"
सूत्र