सेक्स के दौरान पूप: जानिए क्यों होता है ऐसा और इससे कैसे बचें

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट सितम्बर 15, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

सेक्स के दौरान पूप ये पढ़कर या सुनकर आपको भले ही अजीब लगे, लेकिन यह इतना भी विचित्र नहीं है। कई लोग इस परेशानी का अनुभव करते हैं। अच्छी बात ये है कि कुछ चीजाें को मैनेज करके इसके रिस्क को कम किया जा सकता है। एक स्टडी के अनुसार 23 प्रतिशत महिलाएं जिन्होंने फीकल इनकॉटिनेंस (fecal incontinence) का अनुभव किया था उनकी सेक्स डिजायर लो थी साथ ही उन्हें सेक्शुअल एक्टिविटीज में संतुष्टि नहीं थी और उन्हें वजायनल लुब्रिकेशन और ऑर्गेज्म प्राप्त करने के लिए भी संघर्ष करना पड़ा था।

हैलो स्वास्थ्य का न्यूजलेटर प्राप्त करें

मधुमेह, हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर, मोटापा, कैंसर और भी बहुत कुछ...
सब्सक्राइब' पर क्लिक करके मैं सभी नियमों व शर्तों तथा गोपनीयता नीति को स्वीकार करता/करती हूं। मैं हैलो स्वास्थ्य से भविष्य में मिलने वाले ईमेल को भी स्वीकार करता/करती हूं और जानता/जानती हूं कि मैं हैलो स्वास्थ्य के सब्सक्रिप्शन को किसी भी समय बंद कर सकता/सकती हूं।

सेक्स के दौरान पूप के क्या कारण हैं?

सामान्यत: पूपिंग एनल सेक्स के दौरान होती है, लेकिन ये वजायनल पेनिट्रेशन या स्ट्रॉन्ग ऑर्गेज्म के दौरान भी हो सकती है। इसके कुछ और कारण भी हैं। जानते हैं इनके बारे में।

और पढ़ें: ये 7 आरामदायक सेक्स पोजीशन (पुजिशन) जिसे महिलाएं करती हैं पसंद

सेक्स पॉजिशन

सेक्स के दौरान आपकी पॉजिशन एब्डोमिन पर प्रेशर डाल सकती है जिसकी वजह से लोअर इंटेस्टाइन और रेक्टम पर प्रेशर पड़ता है। जो कभी-कभी सेक्स के दौरान पूप का कारण बन सकता है। इसका मतलब ऐसा नहीं है कि आपको हमेशा टॉयलेट जाना होगा, लेकिन आपको ऐसा महसूस जरूर होगा कि जाने की आवश्यकता है। इसके साथ ही अगर सेक्स की शुरुआत के पहले अगर आपको बाथरूम जाने का मौका नहीं मिला था तो सेक्स के दौरान एक्सीडेंटली पूपिंग हो सकती है। वो भी तब जब आप रिलैक्स महसूस कर रहे हों और एंजॉय कर रहे हो।

और पढ़ें: आखिर जी स्पॉट है क्या? इससे कैसे मिल सकता है ऑर्गेज्म का प्लेजर

ऑर्गेज्म

आपने अक्सर सुना होगा कि चाइल्ड बर्थ के दौरान महिलाओं का स्टूल पास हो जाता है। ऐसा ही वजायनल सेक्स के दौरान भी होता है जब इंटेंस ऑर्गेज्म की अनूभूति होती है। क्योंकि ऑर्गेज्म गर्भाशय के संकुचन का कारण बनता है यही लेबर के दौरान भी होता है पूप स्लिप आउट होने का कारण बनता है।

जब आप ऑर्गेज्म फील करते हैं, तो प्रोस्टाग्लैंडिंस नामक हॉर्मोन यौगिक जारी होते हैं। ये आपके गर्भाशय को सिकुड़ने का कारण बनते हैं, साथ ही चिकनाई में मदद करने के लिए आपके लोअर पेल्विस में रक्त के प्रवाह को बढ़ाते हैं। यह एक्सट्रा लूब्रिकेशन कई बार पूप और पी को होल्ड नहीं कर पाता और यह सेक्स के दौरान पूप का कारण बन जाता है।

और पढ़ें: Anal Sex: एनल सेक्स से जुड़े मिथक और उनके पीछे का सच

एनल सेक्स

एनल सेक्स के दौरान पूप की इच्छा महसूस हो सकती है। साथ ही एनल सेक्स के दौरान पूपिंग भी हो सकती है क्योंकि बॉडी के इस पार्ट में बहुत सारी नर्व एंडिंग हैं। जब आपका इंटरनल एनल स्पिंगटर रिलैक्स होता है ऐसा फील होता है कि आप पूप करने वाले हैं। साथ ही जब आप किसी एनल सेक्स में इनवॉल्व होते हैं तो कामोत्तेजना एनल टिशूज के बीच ब्लड फ्लो को बढ़ा देती है। जिससे एनल कैनाल में नमी आ जाती है जिससे पूप बाहर आ सकता है।

इस स्थिति में भी हो सकती है ये परेशानी

नर्व डैमेज और एनल स्फिंगटर में इंजरी के कारण भी सेक्स के दौरान पूपिंग हो सकती है। इस प्रकार की इंजरी से लगातार होने वाला कब्ज, चाइल्ड बर्थ के दौरान या सेक्शुअल एसॉल्ट की वजह से हो सकती हैं। हेमरॉइड्स भी एनल लीकेज का कारण बन सकते हैं।

और पढ़ें: जानिए, बेहतर सेक्स के लिए क्या खाएं और क्या नहीं?

डॉक्टर को कब दिखाना चाहिए?

अगर यह एक बार हुआ है स्पेशली स्ट्रॉन्ग ऑर्गेज्म फील करने के बाद तो आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है, लेकिन अगर ऐसा बार-बार हो रहा है और आप इसको लेकर चिंतिंत है तो अच्छा होगा कि डॉक्टर या किसी प्रोफेशनल से बात करें। वे आपकी ये जानने में मदद करेंगे कि क्या इसके पीछे कोई कारण जिम्मेदार हैं? साथ ही वे आगे क्या करना चाहिए ये भी गाइड करेंगे।

सेक्स के दौरान पूपिंग से कैसे बच सकते हैं?

इसके लिए सबसे आसान उपाय है जिससे आप इस कंडिशन से बच सकते हैं इसके लिए किसी भी सेक्शुअल एक्टिविटी में बिजी होने से पहले टॉयलेट जाकर बॉवेल को क्लीन कर लें। जितना कम वेस्ट मटेरियल आपके कोलन में होगा उतना ही कम सेक्स के दौरान इसके बाहर आने की संभावना होगी।

इसके साथ ही आपको एक हेल्दी बॉवेल रूटीन फॉलो करने की जरूरत है जिसके लिए फाइबर रिच फूड्स का सेवन करें और एक्सरसाइज करें। अगर एनल सेक्स के दौरान पूपिंग को लेकर चिंतिंत है तो आप इसके पहले एनिमा का उपयोग भी कर सकते हैं, लेकिन इसका उपयोग करने से पहले डॉक्टर या फर्मासिस्ट से सलाह जरूर लें।

अगर सेक्स के दौरान ऐसा हो तो क्या करें?

अगर आपके या आपको पार्टनर के साथ ऐसा कोई एक्सपीरियंस होता है तो पैनिक न हो और बुरा बिहेव न करें। हो सकता है कि वह किसी मेडिकल कंडिशन से जूझ रहा हो इसलिए उसकी बात को सुनें और समझें। अगली बार इस सिचुएशन से बचने के लिए प्लान और पॉजिशन के बारे में बात करें।

इसके साथ ही सेक्स के दौरान हमेशा कुछ सेक्शुअल हाइजीन को फॉलो करना चाहिए। जानते हैं उनके बारे में।

और पढ़ें: सेक्स हाइजीन टिप्स : यौन संबंध बनाने से पहले और बाद में जरूर करें इन नियमों का पालन

सेक्स के दौरान कुछ हाइजीन टिप्स को जरूर फॉलो करें

  • महिलाओं को यीस्ट इंफेक्शन आदि से बचाव के लिए अपने जेनेटाइल्स को वाॅश करना जरूरी है। वजायना से एनस तक कीटाणुओं के ट्रांसफर को रोकने के लिए दोनों पार्ट्स को क्लीन करने की सिफारिश की जाती है।
  • साथ ही पुरुषों को पेनिस को गुनगुने पानी से धोने की सलाह दी जाती है।
  • दोनों पार्टनर को सेक्स के बाद और उसके पहले हाथ और नेल्स को धोना चाहिए ताकि जर्म और बैक्टीरिया ट्रांसफर न हों।
  • गर्मियों और नमी के दौरान प्राइवेट पार्ट्स को ट्रिम करना जरूरी है क्योंकि पसीने से फोड़े या स्किन प्रॉब्लम्स हो सकती हैं।
  • पीरियड्स के शुरुआती दो दिन सेक्स करने से बचना चाहिए।
  • ओरल सेक्स से बचें यदि आपके साथी को मुंह या जेनेटाइल पार्ट में कोई घाव हो क्योंकि यह आप तक ट्रांसफर हो सकता है।
  • सेक्स के बाद बेडशीट को बदल देना चाहिए।
  • किसी प्रकार के लूब्रिकेंट का उपयोग कर रहे हैं तो उसको अप्लाई करने के बाद हाथों को साफ करना चाहिए।

उम्मीद करते हैं कि आपको यह आर्टिकल पसंद आया होगा और सेक्स के दौरान पूप से संबंधित जरूरी जानकारियां मिल गई होंगी। अधिक जानकारी के लिए एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें। अगर आपके मन में अन्य कोई सवाल हैं तो आप हमारे फेसबुक पेज पर पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

पुरुषों के लिए सेक्स टिप्स: जानें हेल्दी सेक्स लाइफ के लिए क्या करना चाहिए और क्या नहीं?

पुरुषों के लिए सेक्स टिप्स, सेक्स के दौरान क्या करें और क्या नहीं, इस दौरान होने वाली स्वास्थ्य समस्याओं के बारे में जानकारी,Healthy sex tips for men

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr Ruby Ezekiel
के द्वारा लिखा गया Anu sharma

Quiz : खेलकर पता लगाएं कॉन्डोम के बारे में कितना जानते हैं आप?

कॉन्डोम विषय पर क्विज खेलकर पता लगाएं कि, इसके बारे में कितनी जानकारी है आपको। इससे पहले और बाद में क्या करना चाहिए और क्या नहीं... तो टेस्ट करते हैं आपका ज्ञान...

के द्वारा लिखा गया Satish singh
क्विज अगस्त 24, 2020 . 1 मिनट में पढ़ें

LGBT कम्युनिटी में 60 प्रतिशत लोग होते हैं डिप्रेशन का शिकार, जानें क्या है इसकी वजह?

LGBT में डिप्रेशन का क्या हैं मुख्य कारण? क्या है मनोचिकित्सक की राय? किन बातों को ध्यान रखना है आवश्यक? Depression Among Lesbian, Gay, Bisexual and Queer.

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Nidhi Sinha
मेंटल हेल्थ, स्वस्थ जीवन अगस्त 19, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

कॉन्डोमलेस सेक्स के क्या होते हैं रिस्क, बीमारियों से बचाव के लिए यह जानना है जरूरी

कॉन्डोमलेस सेक्स काफी घातक होता है, इसका इस्तेमाल करने वाले लोग कई बीमारियों से बच जाते हैं। वहीं जो इस्तेमाल नहीं करते उन्हें बीमारी का खतरा रहता है।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh

Recommended for you

महिलाओं में हाई सेक्स ड्राइव

पुरुषों में ही नहीं महिलाओं में भी होती है हाई सेक्स ड्राइव, जानें क्या होती हैं उनकी चुनौतियां

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Manjari Khare
प्रकाशित हुआ अक्टूबर 29, 2020 . 7 मिनट में पढ़ें
सेक्स क्विज: sex quiz

Quiz: क्या आप सेक्स करने के लिए दिमागी रूप से हैं तैयार?

के द्वारा लिखा गया Surender aggarwal
प्रकाशित हुआ अक्टूबर 17, 2020 . 1 मिनट में पढ़ें
सेक्स ड्राइव क्विज -sex drive quiz

क्या आपकी सेक्स ड्राइव है कम? ऐसे लगाएं पता

के द्वारा लिखा गया Surender aggarwal
प्रकाशित हुआ अक्टूबर 16, 2020 . 1 मिनट में पढ़ें
हर्पीस के साथ सेक्स

हर्पीस के साथ सेक्स संभव है या नहीं, जानने के लिए पढ़ें यह आर्टिकल

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh
प्रकाशित हुआ अगस्त 28, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें