कोरोना वायरस अपडेट : चीन ने वायरस से निपटने के लिए लोगों से मांगी ये चीज

By Medically reviewed by Dr. Pranali Patil

नोवेल कोरोना वायरस का इलाज ढूंढने के लिए चीन के साथ कई देशों के डॉक्टर और वैज्ञानिकों की टीम लगी हुई है। सभी का लक्ष्य है कि जल्द से जल्द नोवेल कोरोना वायरस का इलाज ढूंढा जाए, जिससे व्यापक स्तर पर संक्रमित हो रहे मरीजों की जिंदगी को बचाया जा सके। लेकिन, अभी इस नए कोरोना वायरस की वजह से संक्रमित मरीजों और मौतों की संख्या के अलावा कुछ नहीं बदल रहा है। लेकिन, उम्मीद जताई जा रही है कि, जारी रिसर्च की मदद से बहुत जल्द इससे बचाव या इलाज का तरीका खोजा जा सकेगा। इसी क्रम में चीन ने अपने नागरिकों से मदद मांगी है। इस आर्टिकल में जानें कि चीन ने नागरिकों से क्या मदद मांगी है और अभी तक कोरोना वायरस से जुड़ी क्या ताजा जानकारी है।

यह भी पढ़ें- सबसे खतरनाक वायरस ने ली थी 5 करोड़ लोगों की जान, जानें 21वीं सदी के 5 जानलेवा वायरस

कोरोना वायरस अपडेट : चीन ने लोगों से मांगी ये मदद

कोरोना वायरस अपडेट में यह जानकारी है कि चीन के एक वरिष्ठ स्वास्थ्य अधिकारी ने कोरोना वायरस COVID-19 से संक्रमित मरीजों के इलाज के लिए उन लोगों से मदद मांगी है, जो पहले इस बीमारी से ग्रसित थे, लेकिन अब ठीक हो चुके हैं। उनका कहना है कि, जो लोग COVID-19 से ठीक हो चुके हैं, वो लोग अपना ब्लड प्लाज्मा डोनेट कर सकते हैं। क्योंकि, यह मानना है कि उन लोगों का शरीर प्राकृतिक रूप से कुछ एंटीबॉडीज का उत्पादन करता है, जो कि अभी भी संक्रमित मरीजों के इलाज में अहम और महत्वपूर्ण योगदान निभा सकता है।

यह भी पढ़ें- तो क्या ये दुर्लभ जानवर है कोरोना वायरस के लिए जिम्मेदार?

अभी तक की COVID-19 कोरोना वायरस अपडेट

आपको बता दें कि, भारतीय स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से यह बयान जारी हुआ है कि, जापान के एक शिप पर मौजूद दो भारतीय क्रू मेंबर्स को नोवेल कोरोना वायरस से संक्रमित पाया गया है। इसके साथ ही आपको बता दें कि, कोलकाता एयरपोर्ट पर चीन से आए तीन लोगों को कोरोना वायरस की जांच के लिए अस्पताल भेज दिया गया है, क्योंकि उन्हें सस्पेक्ट माना गया है। इसके अलावा, कुछ दिन पहले यूएई में भी एक भारतीय को कोविड-19 से संक्रमित पाया गया है। अब अगर वैश्विक स्तर पर बात करें तो, दुनियाभर में नोवेल कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या कुल 46997 हो चुकी है, जिसमें से 46550 सिर्फ चीन में हैं। नोवेल कोरोना वायरस की वजह से हुई मौतों की संख्या दुनियाभर में 1369 हो चुकी है, जिसमें से सिर्फ चीन में ही 1368 लोग मारे गए हैं। पिछले 24 घंटों में वैश्विक स्तर पर 1826 मामले नए पाए गए हैं और 254 जान जा चुकी हैं।

यह भी पढ़ें- कोरोना वायरस का शिकार लोगों पर होता है ऐसा असर, रिसर्च में सामने आई ये बातें

कोरोना वायरस अपेडट : पैंगोलिन से कोरोना वायरस होने की संभावना पाई गई

चीन की साउथ चाइना एग्रीकल्चरल यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों ने एक शोध किया है। जिसमें नोवेल कोरोना वायरस के केंद्र को समझने के लिए एक हजार जंगली जानवरों के सैंपल लिए गए। इस अध्ययन में सामने आ रहा है कि, इस कोरोना वायरस का स्त्रोत यह दुर्लभ जानवर पैंगोलिन हो सकता है। पैंगोलिन से कोरोना वायरस फैलने की संभावना इसलिए जताई जा रही है, क्योंकि कोरोना वायरस के नए प्रकार और पैंगोलिन में मौजूद एक वायरस के जीनोम सिक्वेंस 99 प्रतिशत तक एक जैसे हैं। हालांकि, यह रिपोर्ट अभी अविकसित है और प्रकाशित होना बाकी है। लेकिन, यह जानकारी वैज्ञानिकों की तरफ से लोकल न्यूज एजेंसी ने दी है। अगर, वैज्ञानिकों की यह जानकारी सही साबित होती है कि, पैंगोलिन से कोरोना वायरस फैला है, तो इस बीमारी के इलाज में जल्द ही कामयाबी हासिल हो सकती है।

Sick China GIF by xponentialdesign

कोरोना वायरस अपडेट : जामा की रिसर्च

कोरोना वायरस अपडेट है कि पैंगोलिन से कोरोना वायरस की संभावना मिलने से पहले संक्रमित व्यक्तियों पर कोरोना वायरस के असर को देखने के लिए 138 संक्रमित मरीजों पर अध्ययन किया गया था। यह अध्ययन जर्नल ऑफ अमेरिकन मेडिकल एसोसिएशन यानी जामा (Journal of American Medical Assosication; JAMA) में प्रकाशित किया गया है। इस अध्ययन में देखा गया है कि नोवेल कोरोना वायरस के असर में सबसे आम बुखार, थकान और सूखी खांसी के लक्षण शामिल हैं। इसके बाद कोरोना वायरस के असर में एक तिहाई मरीजों को मसल्स पेन और सांस लेने में दिक्क्त का सामना करना पड़ा है। जबकि करीब 10 प्रतिशत संक्रमित लोगों में डायरिया और जी मिचलाने की समस्या देखी गई है।

यह भी पढ़ें- कोरोना वायरस से बचाव संबंधित सवाल और उनपर डॉक्टर्स के जवाब

कोरोना वायरस अपडेट : भारत सरकार की एडवाइजरी

कोरोना वायरस अपडेट यह है कि भारत सरकार ने कुछ दिनों पहले भी संशोधित एडवाइजरी जारी की थी और उससे पहले भी एक एडवाइजरी जारी की गई थी। जिसमें, भारतीय नागरिकों को कुछ स्वास्थ्य संबंधी सलाह भी दी गई हैं। जो कि, खासकर चीन या चीन के वुहान शहर या उसके आसपास या फिर कोरोना वायरस के मामले पाए गए दूसरे देशों में यात्रा करने वाले लोगों के लिए बहुत जरूरी है। इसके अलावा, अन्य भारतीय नागरिकों को भी इन एहतियातों को बरतने के बारे में सुझाव दिया गया है। भारतीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी एडवाइजरी कुछ इस प्रकार है-

  • कोरोना वायरस के असर और खतरे से बचाव के लिए भारत के स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से बताया गया है कि आप जब भी घर से बाहर निकलें तो मुंह पर मास्क का प्रयोग करके निकलें
  • इसके अलावा, चीन की यात्रा करने वाले लोग अपने स्वास्थ्य के बारे में बारीकी से नजर रखें और उसमें जरा-सा भी बदलाव आने पर डॉक्टर को तुरंत दिखाएं।
  • अगर चीन या उसके आसपास के देशों की यात्रा करने के दौरान या उसके बाद आपको छींक, खांसी, बुखार या शारीरिक थकान महसूस हो तो तुरंत डॉक्टर की मदद लें।
  • यदि चीन जा रहे हैं या उससे आ रहे विमान में किसी भी नागरिक की तबियत खराब हो, तो इसकी सूचना तुरंत एयरहोस्टेस को दें और उससे मास्क लें। इसके बाद एयरपोर्ट हेल्थ अथॉरिटी से संपर्क करें।
  • घर से बाहर जाने पर अपने साथ ताजा खाना रखें और बाहर का खाना न खाएं।
  • किसी से भी हाथ मिलाने से बचें और यदि जरूरी भी है तो हाथ मिलाने के बाद हाथों को साबुन से धोएं।
  • छींक या खांसी आने पर मुंह को ढक लें।
  • खांसी और छींक से परेशान मरीज से थोड़ी एहतियात के साथ मिलें या जिसकी तबियत ठीक न हो उससे दूरी बनाकर रखें।
  • जानवरों के संपर्क से दूर रहें और मीट का सेवन भी कम करें।
  • किसी भी तरह के जानवरों के फार्म, पशुओं के बाजार और बूचड़खाने में जाने से बचें।

हैलो हेल्थ ग्रुप किसी भी प्रकार की चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार मुहैया नहीं कराता।

और पढ़ें:

Corona virus: कोरोना वायरस से संबंधित कुछ महत्वपूर्ण जानकारियां

इलाज के बाद भी कोरोना वायरस रिइंफेक्शन का खतरा!

जल्द ही आ सकती है कोरोना वायरस की वैक्सीन

Novel Coronavirus: जानें क्यों बेहद खतरनाक है चीन में फैल रहा कोरोना वायरस

Share now :

रिव्यू की तारीख फ़रवरी 14, 2020 | आखिरी बार संशोधित किया गया फ़रवरी 14, 2020

सूत्र
शायद आपको यह भी अच्छा लगे