home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

सुना है कभी सत्तू का नाम? तो जानिए अब सत्तू के फायदे

सुना है कभी सत्तू का नाम? तो जानिए अब सत्तू के फायदे

अगर आप ग्रामीण क्षेत्रों से संबंध रखते हैं, तो आपने सत्तू का नाम भी सुना होगा और सत्तू खाया भी होगा। लेकिन, क्या आप सत्तू के फायदे जानते हैं? अगर आप अभी भी सत्तू के बारे में या सत्तू के फायदे नहीं जानते हैं, तो चलिए आज हम आपको सत्तू के सेवन के बारे में बताते हैं।

क्या है सत्तू?

सत्तू को ग्रामीण स्तर पर सतुआ भी कहा जाता है। आमतौर पर इसे ग्रामीण क्षेत्रों में ज्यादा खाया जाता है, जहां पर इसे एक ‘सुपरफूड‘ की कैटेगरी में रखा गया है। इसे सुपरफूड इसलिए कहा गया है क्योंकि इसमे फाइबर, कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, कैल्शियम, मैग्नीशियम पाया जाता है। कहा जाता है कि सत्तू ऐसा फूड है जिसे गरीब से लेकर राजा तक अपने खाने में शामिल करते हैं। सत्तू को कम्प्लीट फूड और एनर्जी ड्रिंक के रूप में लिया जाता है। सत्तू का आटा हार्ट के लिए फायदेमंद है। साथ ही ये गर्मियों के दिनों में ये लू से भी बचाता है।

और पढ़ें : ई-सिगरेट पीने से अमेरिका में सैकड़ों लोग बीमार, हुई 5 लोगों की मौत

कैसे बनता है सत्तु?

सत्तु को लोग अलग-अलग तरीके से खाना पसंद करते हैं। या तो चने को भून के पीस लिया जाता है या फिर सात प्रकार के अनाजों को मिलाकर इसे बनाया जाता है। इसमें मक्का, जौ, चना, अरहर, मटर, खेसरी और कुलथा को भून कर पीस लिया जाता है। सत्तू बनाने के लिए सबसे पहले इसके लिए अनाजों को धो कर सुखा लिया जाता है। फिर इन्हें भून कर, इन्हें पीस कर इनका आटा बनाया जाता है। जिसे लोग अलग-अलग तरह से खाते और शरबत की तरह पीते भी हैं।

सत्तू के फायदे क्या हैं?

पोषक तत्वों से भरपूर सत्तू बच्चों के लिए भी फायदेमंद फूड है। आप इसे बच्चों को घोल के रूप में दे सकते हैं। पानी की कम मात्रा सत्तू के पाचन में समस्या खड़ी कर सकती है। कोशिश करें कि इसे घोल के रूप में ही तैयार करें। सत्तू के फायदे अलग-अलग तरीकों से मिलते हैं, जिसके लिए इसका सेवन भी अलग-अलग तरह से कर सकते हैं।

और पढ़ें : लाफ लाइंस से छुटकारा दिलाएंगी ये एक्सरसाइज

1.पाचन क्रिया में सुधार लाए

अगर आपको पेट खराब रहने की समस्या रहती है, तो सत्तू के फायदे आपको जरूर उठाने चाहिए। खाली पेट सत्तू का सेवन करने से पाचन क्रिया में सुधार होता है। इसमें सॉल्ट, आयरन और फाइबर के गुण पाए जाते हैं, जो पेट से जुड़ी समस्याओं को कम करता हैं और मल त्यागने की प्रक्रिया को बेहतर बनाते हैं।

2.सत्तू के शरबत से शरीर को मिले ऊर्जा

सत्तू का शरबत पीने से भी सत्तू के फायदे मिलते हैं। गर्मियों के मौसम में शरीर को ठंडा बनाए रखने के लिए आप सत्तू का शरबत पी सकते हैं। सत्तू का शरबत न सिर्फ शरीर को ठंडा बनाए रखता है, बल्कि शरीर को कार्य करने की ऊर्जा भी प्रदान करता है। साथ ही, गर्मियों के मौसम में शरीर से अत्यधिक पसीना बहता है और ऐसे में शरीर डिहाइड्रेट भी हो सकता है। तो अगर आप शरीर को हाइड्रेट बनाना चाहते हैं, तो सत्तू के फायदे आपके काम आ सकते हैं। सत्तू का शरबत शरीर हो ठंडा और हाइड्रेट करने में आपकी भरपूर मदद करेगा।

और पढ़ें : नींबू पानी से दिन की शुरुआत करती हैं मलाइका अरोड़ा, जानिए उनके फिटनेस सीक्रेट

3.शरीर से विषाक्त पदार्थों को नष्ट करे

सत्तू एक डिटॉक्सीफाइंग एजेंट के तौर पर भी कार्य करता है, जो से विषाक्त पदार्थों को नष्ट करने में मददगार होता है। यह शरीर को स्वस्थ बनाए रखने में भी मदद करता है और शरीर को बीमारियों से लड़ने में भी मदद करता है।

4.वजन घटाने में मदद करे

शरीर में जमा एक्ट्रा फैट को सत्तू घटाने में मदद करता है। यह मेटाब्लॉजिम को बढ़ाता है और शरीर को उचित तरीके से कैलोरी बर्न करने में मदद प्रदार करता है।

5.महिलाओं को लिए अधिक फायदेमंद

प्रेग्नेंसी या पीरियड्स के दौरान महिलाओं के शरीर से पोषक तत्वों की हानि होती है। तो अगर महिलाओं सत्तू का शरबत पीएं, तो उन्हें सत्तू के फायदे मिल सकते हैं। गर्भावस्था और मासिक धर्म के दौरान महिलाओं के शरीर में खोए हुए पोषक तत्वों की सत्तू भरपाई करता है। सत्तू में विटामिन और खनिज की अच्छी मात्रा होती है, जो शरीर को प्रोटीन प्रदान करते हैं।

6.त्वचा और बालों के लिए सत्तू के फायदे

बढ़ती उम्र के लक्षणों को सत्तू की मदद से कम किया जा सकता है। उम्र बढ़ने के साथ ही त्वचा की चमक कम होने लगती है और बाल झड़ने की समस्या भी आम भी हो जाती है। ऐसे में सत्तू का सेवन करना लाभकारी हो सकता है। सत्तू के फायदे पाने के लिए आप सत्तू का शरबत या सत्तू के पराठे भी खा सकते हैं। यह त्वचा में चमक लाता है और बालों का झड़ना कम करके उन्हें लंबा बनाने में भी मदद करता है। सत्तू शर्बत त्वचा को चमकदार और हाइड्रेट रखता है। सत्तू का उपयोग पारंपरिक रूप से बालों की समस्याओं के इलाज के लिए भी किया जाता है क्योंकि यह बालों के रोम को भरपूर पोषक तत्व प्रदान करता है। सत्तू में मौजूद आयरन एनर्जी मिलती है और ये आपके चेहरे को ग्लो देता है।

7.डायबिटीज और ब्लड प्रेशर में भी पाएं सत्तू के फायदे

सत्तू का नियमित सेवन प्राकृतिक तौर ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने का कार्य करता है। इसमें ग्लाइसेमिक इंडेक्स की कम मात्रा होती है इसलिए, यह डायबिटीज (मधुमेह) रोगियो के लिए फायदेमंद होता है। सत्तू के फायदे आपके ब्लड शुगर के लेवल को नियंत्रित कर सकते हैं।

और पढ़ें : Japanese Mint: जापानी पुदीना क्या है?

100 ग्राम सत्तू में मिलने वाले पोषक तत्व

  • 20.6 % प्रोटीन
  • 7.2 % वसा
  • 1.35 % फाइबर
  • 65.2 % कार्बोहाइड्रेट
  • 2.7 % कुल एश
  • 2.95 % नमी
  • 406 कैलोरी

ऐसे बनाएं सत्तू का घोल

ताजे सत्तू को पानी में घोल लें। आप अपने स्वाद के अनुसार इसमे चीनी या फिर नमक मिला सकते हैं। आप चाहें तो कुछ मसाले भी स्वादानुसार मिला लें। सत्तू को पानी, काला नमक और नींबू के साथ भी लिया जा सकता है। ये डायजेस्टिव सिस्टम के लिए फायदेमंद है। अब तैयार है आपका सुपरफूड।

इन समस्याओं में भी पाएं सत्तू के फायदे

सत्तू का सेवन उल्टी, आंखों के रोग, गले के रोग,भूख न लगने जैसी कई समस्याओं से निजात दिलाता है। यह शरीर को ठंडक पहुंचाता है।

ऊपर दी गई सत्तू के फायदे की सलाह किसी भी चिकित्सा को प्रदान नहीं करती हैं। सत्तू के फायदे क्या-क्या हैं, इसके बारे में अधिक जानकारी के लिए कृपया अपने डॉक्टर से जरूर सलाह लें।

health-tool-icon

बीएमआर कैलक्युलेटर

अपनी ऊंचाई, वजन, आयु और गतिविधि स्तर के आधार पर अपनी दैनिक कैलोरी आवश्यकताओं को निर्धारित करने के लिए हमारे कैलोरी-सेवन कैलक्युलेटर का उपयोग करें।

पुरुष

महिला

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Sattu Sharbat: The Desi Summer Cooler from Bihar You Must Try. https://food.ndtv.com/food-drinks/sattu-sharbat-the-desi-summer-cooler-you-must-try-1692135. Accessed on 20 December, 2019.

Weight loss and other benefits of having sattu. https://timesofindia.indiatimes.com/life-style/health-fitness/weight-loss/weight-loss-and-other-benefits-of-having-sattu/articleshow/70057824.cms. Accessed on 09/12/2019

Benefits of Sattu: What are the benefits of consuming Sattu on an empty stomach. https://www.lifealth.com/nature-and-health/healthy-drink/benefits-sattu-benefits-consuming-sattu-empty-stomach-av/78023/. Accessed on 09/12/2019

Cool quotient: Here’s how you can combat harsh summer with Sattu. https://www.hindustantimes.com/more-lifestyle/cool-quotient-here-s-how-you-can-combat-harsh-summer-with-sattu/story-613sMAqwUKdzN67kniaj5M.html. Accessed on 20 December, 2019.

my son is fond of eating chana sattu with milk Is it good for him? https://parenting.firstcry.com/qna/q/my-son-is-fond-of-eating-chana-sattu-with-milk-is-it-good-for-him-10questionidbe35093e19042. Accessed on 20 December, 2019.

लेखक की तस्वीर
Bhawana Awasthi द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 02/10/2020 को
Dr Sharayu Maknikar के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड
x