home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

जानिए तिल के अनमोल फायदे, जिसे अपनाकर आप भी हो जाएंगे हैरान

जानिए तिल के अनमोल फायदे, जिसे अपनाकर आप भी हो जाएंगे हैरान

सर्दियों में तिल खाना सेहत के लिए फायदेमंद माना जाता है। इसे विंटर का सुपर फूड भी कहते हैं। हड्ड‍ियों की मजबूती से लेकर हेल्दी स्किन के लिए तिल का प्रयोग बेमिसाल माना जाता है। इसमें सेसमीन नाम का एक एन्टी-ऑक्सिडेंट पाया जाता है, जो कैंसर जैसी बीमारी को पनपने से भी राेकता है। यही वजह है कि डॉक्टर इसे लंग कैंसर, पेट के कैंसर, ल्यूकेमिया, प्रोस्टेट कैंसर, ब्रेस्ट कैंसर जैसे बीमारी से बचने के लिए तिल के सेवन की सलाह देते हैं। तिल शरीर में गर्माहट बनाए रखने का काम करता है। इस वजह से ठंड के मौसम में इसका अधिक सेवन किया जाता है। तिल प्रकार का होता है- सफेद, काला, लाल आदि। ये सभी तिल फायदेमंद है स्वास्थ्य के लिए। जानिए तिल के हेल्थ बेनिफिट्स (Sesame health benefits) के बारे में।

तिल के हेल्थ बेनिफिट्स (Sesame health benefits) जानिए इसमें मौजूद पोषक तत्व

तिल के बीज ज्यादातर भारत और अफ्रीका के उष्णकटिबंधीय क्षेत्रों में पाया जाता है। इसमें जिंक, कॉपर, मैग्नीशियम और कैल्शियम जैसे आवश्यक खनिजों की भरपूर मात्रा पायी जाती है। इसमें कई विटामिन-बी कॉम्प्लेक्स और उच्च संख्या में एंटीऑक्सिडेंट, फाइबर, और प्रोटीन भी शामिल हैं।

नीचे दिए गए तिल के 100 ग्राम पोषक तत्वों की जानकारी दी गई है-

  • फॉस्फोरस – 570 मिलीग्राम
  • जस्ता – 12.20 मिलीग्राम
  • ऊर्जा – 563 किलो कैलोरी
  • वसा – 43.3 ग्राम
  • कार्बोहाइड्रेट – 25 ग्राम
  • आहार फाइबर – 16.8 जी
  • प्रोटीन – 18.3 ग्राम
  • कैल्शियम – 1450 मिलीग्राम
  • आयरन – 9.3 मिलीग्राम
  • कॉपर – 2.29 मिलीग्राम

और पढ़ें: लिवर और स्किन को हेल्दी बनाता है तिल का तेल, जानें फायदे

एक्सपर्ट की राय

तिल में टोकोफेरॉल्स और एंटी-ऑक्सिडेंट्स खूब पाए जाते हैं। काले तिल के तेल में प्रोटीन, सिसेमोलिन, लाइपेज, पामिटिक, लिनोलीक एसिड तथा कई प्रकार के ग्लिसराइडस पाए जाते हैं इसलिए भी इसे दिल के खास माना जाता है। हृदय विकारों की बात हो या रक्त दबाव से जुड़ी बातें, तिल तो खास है ही लेकिन इसके अलावा इसके कई ऐसे नायाब उपयोग भी हैं, जिन्हें आज भी आययुर्वे के रूप में अपनाया जाता है। इसमें एक शोध भी हाे चुका है, जोकि हाय ब्लड प्रेशर के मरीजों पर हुआ था। शोध हुए लोगों का ब्ल्ड प्रेशर, सामान्य लोगों की तुलना में ज्यादा था। पूरी शोध प्रक्रिया के लिए एक माह की समय लगा था और लोगों को दो ग्रुप में बाट लिया गया था। इस शोध समय सीमा के दौरान रोगियों ने किसी अन्य दवाओं या इलाज को नहीं अपनाया था। एक ग्रुप के तमाम लोगों को तिल के 430 मिली ग्राम वाले छह कैप्सूल प्रतिदिन दिन में तीन बार दिए गए थें।

यानि कि पूरे दिन में 2.5 ग्राम तिल हर मरीज को रोज दिया जाता था। अब दूसरे ग्रुप में मौजूद रोगियों को तिल के कैप्सूल नहीं दिए गए और चार हफ्तों के बाद इन दोनों समूह के रोगियों के ब्लड प्रेशर की जांच की गई। शोध के परिणामों से ज्ञात हुआ कि तिल दिए गए प्री-हाईपरटेंशन के रोगियों के ब्लड प्रेशर कंट्रोल हो चुका था। इसके अलावा तिल का सेवन करने वाले रोगियों के रक्त में मेलोंडायएल्डिहाइड का स्तर भी सही रहता है। जिनमें विटामिन-ई की कमी होती है, उसे भी ये पूरा करता है। यह हार्ट डिजीज वालों के लिए भी काफी फायदेमंद है।

जानें तिल के हेल्थ बेनिफिट्स (Sesame health benefits)

तिल के हेल्थ बेनिफिट्स: शरीर में एनर्जी को बढ़ाता है

कई विटामिन और खनिजों के साथ, तिल का बीजशरीर में ऊर्जा के लिए भी एक अच्छा स्रोत हैं, क्योंकि इसमें मुख्य रूप से ओमेगा 3 पाया जाता है। इसके अलावा इसमें फाइबर, आयरन, कैल्शियम, मैग्नीशियम और फॉस्फोरस की उच्च मात्रा भी होती है,जो कि शरीर में ऊर्जा के स्तर को बढ़ाती हैं। तिलों में प्रोटीन भी बहुत होता है इससे मस्तिष्क के स्नायु एवं मांसपेशियां शक्तिशाली होती हैं। इसमें मौजूद विटामिन बी-काम्पलैक्स भी शरीर को मिलता है। अच्छी एनर्जी और वॉर्मअप के लिए सर्दियों में तिल को गुड़ के मिलाकर लड्डू के तौर पर भी खाया जा सकता है। अगर आप ये सुबह खाते हैं, तो भी आपमें दिन भर एनर्जी बनी रहती है।

त्वचा और बालों की समस्या में

क्या आपके बाल भी झड़ रहे हैं या आपकी त्वचा की चमक कम हो रही है? अगर ऐसा है, तो तिल का सेवन आपके लिए काफी प्रभावकारी है। ये बालों और चमकदार त्चचा दोनों के लिए फायदेमंद है। इसके बीज और उसके तेल में जबरदस्त कार्बनिक गुण होते हैं, जो त्वचा की चमक और बालों की मजबूती को बनाए रखने में मद्दगार हैं। इसमें मौजूद विटामिन बी कॉम्प्लेक्स, जैसे कि थायमिन, नियासिन, फोलिक एसिड, पाइरिडोक्सिन और राइबोफ्लेविन के साथ, त्वचा और बालों के लिए सबसे अच्छा कार्बनिक विकल्प हैं। तिल के तेल में बना खाना भी फायदेमंद है। इससे त्चचा और बालों में अंदर से चमक आती है।

तिल के हेल्थ बेनिफिट्स: अच्छे मानसिक स्वास्थ्य के लिए

तिल के तेल में एक एमिनो एसिड और टायरोसिन होता है, जो सेरोटोनिन गतिविधि को प्रभावित करता है। यह एक न्यूरोट्रांसमीटर है, जो हमारे मूड को प्रभावित करता है। सेरोटोनिन के असंतुलन से अवसाद या तनाव हो सकता है, और तिल के बीज का तेल सेरोटोनिन के उत्पादन में मदद करता है, तनाव की संभावना को कम करता है। इसके अलावा ये डिप्रेशन की समस्या में भी सुधार करता है।

तिल के हेल्थ बेनिफिट्स: बवासीर की समस्या में फायदेमंद

बवासीर की समस्या में भी ये काफी प्रभावकारी है। इसके लिए आप इसके 50 ग्राम काले तिल इतने पानी में भिगोएं कि उस पानी को तिल ही सोख लें। इसके बाद इसे आधा घंटा पानी में भिगोकर पीस लें। फिर इसमें एक चम्मच मक्खन, दो चम्मच पिसी हुई मिश्री मिलाकर सुबह-शाम दो बार खाएं। इससे आपको बवासीर की समस्या में भी आराम मिलेगा और रक्त आने की समस्या में भी ।

और पढ़ें: साल 2021 में भी फॉलो करें ये हेल्दी आदतें और रहें फिट

तिल के हेल्थ बेनिफिट्स: कैल्शियम की कमी को पूरा करता है

अगर आपको कैलशियम की कमी हो गई है, तो इसका सेवन आपके लिए काफी लाभकारी है। इसे प्राप्त करने के लिए आप प्रतिदिन 50 ग्राम तिल का सेवन कर सकते हैं। सफेद तिल से सेवन से भी आपके शरीर में जल्दी कैल्शियम की कमी पूरी होगी

तिल के हेल्थ बेनिफिट्स: कब्ज की समस्या होने पर

कब्ज की समस्या होने पर आप तिल का सेवन शुरू कर दें। इससे आपको इस समस्या में काफी आराम मिलेगा। तिल में मौजूद फाइबर खाने को असानी से पचाने में मदद करता है। जिससे भाेजन आसानी से पच जाता है और कब्ज की समस्या जल्दी नहीं होती है।

अल्प मासिक धर्म

अगर आपके मासिक धर्म में भी समस्या है, तो तिल का सेवन आपके लिए फायदेमंद है। इसके लिए आप आठ चम्मच तिल, थोड़ा पानी और इसमें स्वादाअनुसार गुड़ व 10 काली मिर्च पिसी हुई मिलाकर उबाल लें। जब पानी आधा रह जाए तो इसे पियें। यह मासिक धर्म की डेट आने के 15 दिन पहले से मासिक स्त्राव काल तक पीती रहें इससे मासिक धर्म खुलकर पर्याप्त मात्रा में साफ आएगा।

डायबिटीज को कंट्रोल करता है

कई अध्ययनों का दावा है कि तिल या उनके तेल खाने से रक्त शर्करा को कंट्रोल करने में मदद मिलती है, खासकर मधुमेह के लोगों के लिए। इसमें मौेजूद लो कार्बोहाइड्रेट, उच्च प्रोटीन और हेल्दी फेट के कारण, इसमें कार्बनिक रक्त शर्करा के रूप में कार्य करता है। इसके तिल का सेवन डायबिटीज वालों के लिए और भी प्रकार से फायदेमंद है। इसका सेवन आप सर्दियों में हल्के से गुड़ के साथ लड्डू के तौर पर भी कर सकते हैं।

तिल के हेल्थ बेनिफिट्स: दांतों की सुरक्षा (Tooth protection)

हेल्दी दांतों के लिए तिल का सेवन भी सबसे अच्छा माना जाता है। इसमें कई ऐसे पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो दांतों को मजबूत बनाए रखने का काम करते हैं। दातों के लिए तिल का सेवन आप विभिन्न रूप से कर सकते हैं। आप 62 ग्राम काले तिल को सुबह खाली पेट धीरे-धीरे खूब चबाकर खाएं। इसमें गुड़ या चीनी जैसा कुछ भी न मिलाएं। खाली तिल का सेवन करें। जरूरत होने पर आप थोड़ा-थोड़ा पानी लेते रहें। इसके अलावा अगर पहले से ही आपके दांत कमजोर है, तो आप तिल को रात में पानी में भी भीगोकर छोड़ दें। इससे ये मुलायम हो जाएगा और आपको खाने में भी आसानी होगी। लेकिन ध्यान रखें कि दांतों के लिए तिल तभी फायदेमंद है, जब इसमें गुड़ या चीनी जैसा मीठा न पड़ा हो।

तिल के हेल्थ बेनिफिट्स: खांसी से राहत

सर्दी के मौसम में खासी और जुकाम की समस्या से बचने के लिए तिल का प्रयोग काफी फायदेमंद माना जाता है। ये शरीर रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी बढ़ाने के काम करता है। इसके अलावा ये शरीर में गर्माहट भी बनाए रखता है। यदि आपको सर्दी में सूखी खांसी की समस्या हो कई है तो चार चम्मच तिल और इतनी ही मिश्री मिलाकर एक गिलास पानी में उबालें कि पानी जब आधा हो जाए, तो फिर इसे पिएं। इसका सेवन सर्दियों के मौसम में तो रोज करना फायदेमंद हेाता है।

और पढ़ें: हेल्दी एंड टेस्टी लो कैलोरी फूड रेसिपी

ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करें (Control blood pressure)

जिन लोगों को ब्डल प्रेशर की समसया है, उन्हें भी तिल का सेवन नियमित रूप से करते रहना चाहिए। इसमें मौजूद मैग्नीशियम तिल को कंट्रोल करने का काम करता है इसमें मौजूद पॉलीअनसेचुरेटेड वसा और तिल के तेल में मौजूद यौगिक को रक्तचाप के स्तर को जांच में रखने के लिए जाना जाता है। इससे हायपोटेंशन की समस्या भी काफी कम होती है। इसका सेवन आप दिन में एक बार कर सकते हैं।

तिल के हेल्थ बेनिफिट्स: रूसी की समस्या में

अगर आपके बालों में रूसी की समस्या है तो और आप उससे परेशान हैं, तो तिल के सेवन के साथ बालों की तिल के तेल की मालिश करें। मालिश के आधे घंटे बाद तौलिया गर्म पानी में डुबोकर व निचोड़कर सिर पर लपेट लें, ठंडा होने पर पुन: गर्म पानी में डुबोकर व निचोड़कर सिर पर लपेट लें इस प्रकार पांच मिनट गर्म तौलिया लपेटे रखें, फिर ठंडे पानी से सिर धो लें बालों की रूसी दूर हो जाएगी

दर्द और एलर्जी से राहत (Pain and allergy relief)

तिल आवश्यक खनिजों में समृद्ध है और आपके शरीर को तांबा, मैग्नीशियम और कैल्शियम की बहुत आवश्यक खुराक प्रदान करता है। जबकि तांबा संधिशोथ वाले लोगों के लिए उपयुक्त है, श्वसन संबंधी समस्याओं वाले लोगों के लिए मैग्नीशियम आदर्श है।

तिल के हेल्थ बेनिफिट्स: आपका थायरॉइड स्वास्थ्य के लिए अच्छा है

थायराइड हमारे शरीर का एक महत्वपूर्ण हॉर्मोन है। इसमें होने वाला असंतुलन शरीर को बिगाड़ देता है। यह हार्मोन बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। थारयाइड के लिए तिल का बिज काफी प्रभावकारी है। तिल को थायरॉयड की समस्या के लिए काफी प्रभावकारी माना जाता है। इसके बीजों में कई आवश्यक पोषक तत्व पाए जाते हैं, जैसे कि आयरन, कॉपर, जिंक और विटामिन बी 6। यह सभी थोयरायड को आराम देते हैं।

तिल के हेल्थ बेनिफिट्स:प्रतिरोधक क्षमता में सुधार

दुनिया भर में सभी कोरोनोवायरस की चर्चा के साथ, प्रतिरक्षा एक ट्रेंडिंग विषय बन गया है। तिल के बीज आपको उनकी शक्ति से भरे खनिजों और विटामिनों के साथ आपकी प्रतिरक्षा बनाने में मदद करते हैं। उदाहरण के लिए, जस्ता का सेवन टी-लिम्फोसाइटों को विकसित करने और सक्रिय करने में मदद करता है जो शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली का हिस्सा हैं जो हमलावर रोगाणुओं को पहचानते हैं और हमला करते हैं।

और पढ़ें: इन 6 फूड्स के सेवन से आयोडीन की कमी को दूर किया जा सकता है

तिल के बीज के स्वस्थ व्यंजनों की रेसिपी

1. तिल के लड्डू या तिल के लड्डू

सामग्री

  • 1 कप तिल के बीज
  • 0.75 कप मूंगफली
  • 0.75 कप कटा नारियल
  • 1.75 कप चूर्ण / कद्दूकस किया हुआ गुड़
  • कटी हुई खजूर / सूखी अंजीर
  • पानी (आवश्यकतानुसार)
  • 1 टी स्पून इलायची पाउडर
  • हथेली को चिकना करने के लिए तेल

विधि

  • एक पैन गरम करें और हल्के से भुने हुए तिल को कुछ मिनटों के लिए भूनें। एक प्लेट में निकालें और एक तरफ सेट करें।
  • उसी पैन में, मूंगफली और नारियल को एक के बाद एक भूनें और प्लेट में निकाल लें। एक बार जब यह ठंडा हो जाए, तो कुचलना या पीसना और अलग करना।
  • उसी पैन में, कटा हुआ नारियल डालें और धीमी आंच पर तब तक भूने जब तक इसका रंग हल्का भूरा न हो जाए। एक प्लेट पर नारियल निकालें और इसे एक तरफ रख दें।
  • अब एक पैन में पिसा हुआ गुड़ लें और उसमें 3 टीस्पून पानी डालें। इसे धीमी आंच पर रखें और इसे उबलने दें।
  • मिश्रण को उबालना जारी रखें जब तक कि यह एक गेंद में ढाला न जाए।
  • अब भुने हुए मूंगफली के मिश्रण को गुड़ के घोल के साथ अच्छी तरह मिलाएं।
  • पल्स खजूर / सूखी अंजीर, कुचल मूंगफली, भुना हुआ नारियल, तिल, और इलायची पाउडर को अच्छी तरह से मिला देता है। हथेलियों को पकड़ें और छोटे लड्डू बेल लें।
  • एक एयरटाइट कंटेनर में लड्डू रखें।

2. तिल बीज स्मूदी

सामग्री

  • 2 छोटे केले
  • 1 सेब, मर गया
  • 0.25 कप जई
  • 0.25 कप बादाम और काजू
  • 1 चम्मच शहद
  • 1 गिलास ठंडा दूध
  • 1 बड़ा चम्मच तिल
  • बर्फ (पसंद के अनुसार)

तैयारी के निर्देश

  • ग्राइंडर में सूखे मेवे, ओट्स, शहद, ड्राई फ्रूट्स, आधा टेबलस्पून तिल और दूध डालकर अच्छे से मिक्स करें। आप चाहें तो इसमें बर्फ भी डाल सकते हैं।
    सुनिश्चित करें कि परिणामी मिश्रण गाढ़ा है।
  • इसे एक गिलास में डालें और कुरकुरे और पौष्टिक स्वाद के लिए शेष तिल के साथ शीर्ष करें।
  • अपने स्वस्थ ठग का आनंद लें।
  • तिल या तिल के बीज ऊर्जा और गर्मी का एक बिजलीघर हैं। इनमें कई खनिज होते हैं, जैसे जस्ता, तांबा, लोहा, मैग्नीशियम और फ्लोराइड। वे मल्टीविटामिन के लिए सबसे अच्छा
  • कार्बनिक स्रोत हैं। विटामिन बी और डी, तिल के बीज में मानव शरीर के लिए आवश्यक कई तत्व होते हैं। ये सभी खनिज और विटामिन आपको स्वस्थ बनने और बीमारियों और
  • बीमारियों से लड़ने के लिए आपकी प्रतिरक्षा का निर्माण करने में सहायता करते हैं। इसके अतिरिक्त, तिल के बीज शरीर को स्वस्थ वसा प्रदान करते हैं, जो आपके मोटापे को नहीं जोड़ता है लेकिन आपके अंगों को सही ढंग से काम करने के लिए संतुलित एसिड स्तर बनाए रखता है।

इस तहर से आपने तिल के कई फायदे जान लिए हैं। अगर आगर आप भी चाहते हैं घरेलू उपायों से फिट रहना, तो तिल को अपनी डायट में शामिल करें।

health-tool-icon

बीएमआर कैलक्युलेटर

अपनी ऊंचाई, वजन, आयु और गतिविधि स्तर के आधार पर अपनी दैनिक कैलोरी आवश्यकताओं को निर्धारित करने के लिए हमारे कैलोरी-सेवन कैलक्युलेटर का उपयोग करें।

पुरुष

महिला

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Niharika Jaiswal द्वारा लिखित आखिरी अपडेट कुछ हफ्ते पहले को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x