10 फूड्स जिनमें कम होती है कार्बोहाइड्रेट (Carbohydrate) की मात्रा

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट August 27, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

शुगर से बने प्रोडक्ट्स, पास्ता, ब्रेड आदि से वजन बढ़ने की संभावना ज्यादा होती है। वजन कम करने के लिए कार्बोहाइड्रेट की मात्रा कम करना सही है लेकिन, शरीर को कम मात्रा में ही सही लेकिन कार्बोहाइड्रेट की जरुरत होती है। लंच या डिनर में कार्बोहाइड्रेट की मात्रा इन बातों पर निर्भर करती है कि आप कितने स्वस्थ हैं, कितना व्यायाम करते हैं और कितना वजन कम करना चाहते हैं।  

फूड्स जिनमें कम होती है कार्बोहाइड्रेट (Carbohydrate) की मात्रा:

  1. ओट्स

दिन के पहले आहार अर्थात ब्रेकफास्ट में ओट्स खाने की आदत डालें। ओट्स में  फाइबर की मात्रा अच्छी होती है जिससे वजन नियंत्रित भी रह सकता है और यह हेल्थ के लिए अच्छा भी होता है। 

  1. पिस्ता

पिस्ता सबसे बेस्ट स्नैक्स है जिसमें प्रोटीन पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है। इसे डाइट में शामिल कर बिना वजन बढ़ाए अपने शरीर को स्वस्थ बनाए रखा जा सकता है।

  1. अखरोट

अखरोट न्यूट्रिशन से भरपूर फूड है, जिसमें प्रोटीन की पर्याप्त मात्रा सेहत के लिए फायदेमंद हो सकती है। इससे संतुलित रखा जा सकता है।

  1. मूंग दाल

लंच या डिनर में दाल का सेवन नियमित रूप से किया जाना चाहिए। कोशिश करें की पीले या हरे रंग की मूंग दाल ही खाएं इससे वजन संतुलित रखा जा सकता है। 

  1. मसूर दाल

मूंग दाल के साथ-साथ मसूर दाल का सेवन भी किया जा सकता है क्यों​कि मसूर दाल में प्रोटीन और फाइबर की पर्याप्त मात्रा सेहत के लिए लाभदायक हो सकती है। 

और पढ़ें : Betamethasone : बेटामेथासोन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां  

  1. टोफू

वेजिटेरियन लोगों में टोफू फेवरेट फूड की लिस्ट में शामिल है। वजन कम करने में टोफू बहुत हद तक मदद कर सकता है। 

  1. काबुली चना

काबुली चना में प्रोटीन और फाइबर की मात्रा ज्यादा होती है जो वजन को नियंत्रित करने में मदद कर सकता है

  1. अंडा

अंडा बहुत लोगों का पसंदीदा फूड है और इसे ब्रेकफास्ट, लंच या डिनर में आसानी से शामिल किया जा सकता है। अंडे में मौजूद न्यूट्रिशन्स और प्रोटीन स्वस्थ शरीर के लिए जरूरी होता है।  

  1. पनीर

पनीर में कार्बोहाइड्रेट की मात्रा कम होती है। इसे स्वादिष्ट बनाने के लिए कई बार इसकी सब्जी बनाई जाती है लेकिन, वजन को कंट्रोल करने के लिए कच्चे पनीर की सब्जी खाना फायदेमंद हो सकता है। 

और पढ़ेंः दूसरी तिमाही की डायट में इतनी होनी चाहिए पोषक तत्वों की मात्रा

  1. दही

दही में भी कार्बोहाइड्रेट की मात्रा कम होती है इसलिए दोपहर के भोजन में इसे शामिल करना फायदेमंद हो सकता है। 

  1. दूध

दूध का सेवन नियमित रूप से करने से फायदा होता है लेकिन, ध्यान रखें उसमे क्रीम की मात्रा कम हो।  

हेल्दी बॉडी यानि स्वस्थ शरीर का मतलब सिर्फ स्लिम ट्रिम बॉडी से नहीं बल्कि कोई बीमारी ना होना हो सकता है। स्वस्थ शरीर के लिए डाइट ऐसी हो जिसमें न्यूट्रिशन्स की मात्रा ज्यादा हो और ऐसे खाद्य पदार्थ जिनमें मीठे और नमक की मात्रा कम हो। जो लोग अपने वजन को कम कर और अपने मसल्स को मजबूत करना चाहते हैं उनके फूड में प्रोटीन की मात्रा ज्यादा और कार्बोहाइड्रेट की मात्रा कम होनी चाहिए। हालांकि कार्बोहाइड्रेट डायट फॉलो करने के लिए एक बार डाइटिशयन से संपर्क करना बेहतर होगा क्योंकि सभी लोगों की शारीरिक बनावट अलग होती है।  

और पढ़ेंः ब्रीदिंग एक्सरसाइज से मालिश तक ये हैं प्रसव पीड़ा को कम करने के उपाय

कम कार्बोहाइड्रेट डायट के साथ सही एक्सरसाइज

व्यायाम समग्र स्वास्थ्य का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। लोगों को एक गतिहीन जीवन शैली से बचना चाहिए लेकिन बहुत अधिक व्यायाम करने से बचना चाहिए। रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्र (सीडीसी) सलाह देते हैं कि वयस्कों को मध्यम स्वास्थ्य लाभ के लिए एक समय में न्यूनतम 10 मिनट के लिए सप्ताह में 150 मिनट के लिए मध्यम व्यायाम करना चाहिए। बेहतर स्वास्थ्य लाभ के लिए सीडीसी 300 मिनट के व्यायाम की सलाह देता है। सीडीसी यह भी सुझाव देता है कि लोग संपूर्ण स्वास्थ्य को बेहतर बनाने के लिए वजन उठाते हैं या अन्य शक्ति प्रशिक्षण अभ्यास करते हैं।

लो-कार्बोहाइड्रेट डायट पर रहने वाले लोग लंबे समय तक तीव्र गतिविधि जैसे कि दूरी चलाने से बचना चाहते हैं। ऐसा इसलिए है क्योंकि जो लोग व्यायाम का एक प्रकार कर रहे हैं जिन्हें अतिरिक्त धीरज की जरूरत होती है। जैसे कि मैराथन प्रशिक्षण को अपने शरीर को एनर्जी देने के लिए अधिक कार्बोहाइड्रेट डायट की आवश्यकता होगी।

और पढ़ेंः प्रेग्नेंसी का पांचवां महीना: कौन सी एक्सरसाइज करना है सही?

लो-कार्बोहाइड्रेट डायट शुरू करने पर इन बातों को रखें ध्यान

लो-कार्बोहाइड्रेट डायट शुरू करने से पहले लोगों को संभावित स्वास्थ्य जोखिमों के बारे में पता होना चाहिए।

कम कार्बोहाइड्रेट डायट से होने वाले अल्पकालिक स्वास्थ्य जोखिम में शामिल हो सकते हैं:

  • पेंट में ऐंठन
  • कब्ज
  • पल्पटेशन
  • हाई कोलेस्ट्रॉल
  • सिर दर्द
  • ब्रेन फॉग
  • ताकत की कमी
  • जी मिचलाना
  • सांसों की बदबू
  • जल्दबाजी
  • एथलेटिक प्रदर्शन को कम किया

और पढ़ेंः वेट गेन डायट प्लान से जानें क्या है खाना और क्या है अवॉयड करना?

कम कार्बोहाइड्रेट डायट से होने वाले दीर्घकालिक स्वास्थ्य जोखिम में शामिल हो सकते हैं:

  • पोषक तत्वों की कमी
  • बोन डेंसिटी में कमी
  • गेस्ट्रो इंटेस्टाइनल संबंधी समस्याएं

कुछ लोगों को लो कार्बोहाइड्रेट डायट का पालन नहीं करना चाहिए जब तक कि डॉक्टर द्वारा ऐसा करने का निर्देश न दिया जाए। लोगों के इन समूहों में किडनी रोग और किशोर शामिल हैं।

सभी को फायदा नहीं होगा, या कम कार्ब आहार पर भी विचार करना चाहिए। कम कार्ब आहार करने के बारे में सोचने वाले किसी भी व्यक्ति को शुरू करने से पहले डॉक्टर से बात करनी चाहिए।

और पढ़ेंः विटामिन-ई की कमी को न करें नजरअंदाज, डायट में शामिल करें ये चीजें

जानें लो-कार्बोहाइड्रेट डायट लेने के बारे में और

कम कार्बोहाइड्रेट आहार से वजन घटाने सहित कुछ लाभ हो सकते हैं। कुछ योजना और सही सब्सटिट्यूट के साथ, अधिकांश लोग कम कार्ब आहार का पालन कर सकते हैं। हालांकि लंबी अवधि या स्थायी स्वास्थ्य लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए कम कार्बोहाइड्रेट आहार सबसे अच्छा तरीका नहीं हो सकता है।

लो कार्ब आहार का पालन करते समय यह जरूरी है कि लोग स्वस्थ भोजन करें और कुछ खाद्य पदार्थों को न खाएं जैसे कि बहुत फैटी मीट। वजन कम करने या कम कार्बोहाइड्रेट आहार पर विचार करने वाले लोगों को कोई भी महत्वपूर्ण बदलाव करने से पहले अपने डॉक्टर या पोषण विशेषज्ञ से बात करनी चाहिए।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

Was this article helpful for you ?
happy unhappy

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

वर्कआउट के बाद आप क्या खाते हैं, इसका है विशेष महत्व

वर्कआउट के बाद फूड खाना बहुत जरूरी होता है। मसल्स से ग्लाइकोजन और प्रोटीन की मात्रा कम होने लगती है, ऐसे में वर्कआउट के बाद फूड लेने से मसल्स जल्द रिपेयर हो जाती हैं।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi
आहार और पोषण, स्पोर्ट्स न्यूट्रिशन February 18, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

Quiz : फिट रहने के लिए कितना % प्रोटीन रोजाना लेना है जरूरी?

प्रोटीन मनुष्य के शरीर के लिए अत्यधिक आवश्यक है। प्रोटीन का संतुलित मात्रा में सेवन ...

के द्वारा लिखा गया Nidhi Sinha
आहार और पोषण, स्पोर्ट्स न्यूट्रिशन February 12, 2020 . 1 मिनट में पढ़ें

बच्चों के लिए कैलोरीज जितनी हैं जरूरी, उतना ही जरूरी है उन्हें बर्न करना भी

बच्चों के लिए कैलोरीज क्यों जरूरी है, बच्चों के लिए कैलोरीज कैसे लें, सही मात्रा में कैलोरीज कैसे लें, calorie in teens, कैलोरी फूड्स क्या हैं,

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Lucky Singh

ये 6 सुपर फूड्स निकाल सकते हैं डिप्रेशन से बाहर

डिप्रेशन डायट में शामिल करें ये फूड्स, जिनसे दूर हो सकता है अवसाद। आइए जानते हैं कि डिप्रेशन में क्या खाना चाहिए, जो कि डिप्रेशन से लड़ने में हमारे साथी बन सकते हैं।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Hemakshi J
के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
मेंटल हेल्थ, स्वस्थ जीवन November 7, 2019 . 4 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

शरीर के लिए कार्बोहाइड्रेट

कार्बोहाइड्रेट से परहेज करना, शरीर में इन समस्याओं को देता है दावत

के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
प्रकाशित हुआ July 23, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
व्हाइट सोपवोर्ट

White soapwort: व्हाइट सोपवोर्ट क्या है?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Hemakshi J
के द्वारा लिखा गया Mona narang
प्रकाशित हुआ March 26, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
लो कार्ब डायट

लो कार्ब डायट से कैसे पहुंचता है शरीर को लाभ? जानें कैसे करना चाहिए इसको फॉलो

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi
प्रकाशित हुआ March 23, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
मेडिटेरेनियन डायट

‘मेडिटेरेनियन डायट’ इसके फायदे जानने के बाद आप कह उठेंगे वाह!

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha
प्रकाशित हुआ March 17, 2020 . 10 मिनट में पढ़ें