home

आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

Empagliflozin :एम्पेग्लिफ्लॉजिन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

Empagliflozin :एम्पेग्लिफ्लॉजिन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

इस्तेमाल

एम्पेग्लिफ्लॉजिन (Empagliflozin) का इस्तेमाल किसके लिए किया जाता है?

एम्पेग्लिफ्लॉजिन का प्रयोग टाइप 2 डायबिटीज में हाई ब्लड शुगर को नियंत्रित करने के लिए किया जाता है। इस दवाई के साथ सही भोजन और व्यायाम करना भी आवश्यक है। जब उच्च ब्लड शुगर को नियंत्रित कर लिया जाता है तो कई बीमारियों से छुटकारा मिलता है, जैसे किडनी का खराब होना, आंखों की रोशनी कम होना, नर्व प्रॉब्लम और यौन समस्याएं आदि। यही नहीं, डायबिटीज को नियंत्रित करने से हार्ट अटैक के जोखिम से भी बचा जा सकता है।

और पढ़ें :Acitrom : एसिट्रोम क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

एम्पेग्लिफ्लॉजिन (Empagliflozin) का इस्तेमाल कैसे करना चाहिए?

  • अगर उपलब्ध हो तो मेडिकल गाइड, पेशेंट इन्फॉर्मेशन लीफलेट अवश्य पढ़ें, जो आपको आपके डॉक्टर ने इस दवाई के प्रयोग से पहले दिया है। अगर कोई सवाल हो तो अपने डॉक्टर से अवश्य बात करें।
  • अपने डॉक्टर की सलाह के अनुसार इस दवाई को मुंह के माध्यम से रोजाना दिन में एक बार भोजन के साथ लें, हो सके तो शाम को इसे लें।
  • इस दवाई को एकदम से तोड़ कर न चबाएं। ऐसा करने से पूरी दवाई आप एक ही बार में निकलेगी, जिससे साइड इफेक्ट का जोखिम बढ़ जाता है। पूरी टेबलेट को एक साथ खूब सारे पानी के साथ लें।
  • इस दवाई की डोज रोगी की मेडिकल स्थिति, ट्रीटमेंट और अन्य दवाइयों पर निर्भर करती है। अपने डॉक्टर को पहले ही उन सभी उत्पादों के बारे में बता दें जिन का प्रयोग आप कर रहे हैं।
  • इस दवाई के पूरे फायदे पाने के लिए नियमित रूप से इसका सेवन करें। रोजाना इस दवाई को लेना याद रखने के लिए इसे एक ही समय पर लें।
  • अगर इस दवाई को लेने के बाद आपकी स्थिति में सुधार नहीं होता या स्थिति बिगड़ जाती है तो तुरंत डॉक्टर को बताएं।

[mc4wp_form id=”183492″]

एम्पेग्लिफ्लॉजिन को कैसे स्टोर करूं?

एम्पेग्लिफ्लॉजिन को हमेशा रूम टेंपरेचर पर ही स्टोर करना चाहिए। इसे धूप के सीधे प्रकाश या नमी से दूर रखें। इसे डैमेज होने से बचाने के लिए कभी भी इसे फ्रीज में स्टोर करके न रखें। स्टोर से जुड़ी जानकारी जुटाने के लिए दवा के पैकेज पर लिखे हुए जरूरी निर्देशों को अच्छे से पढ़ें या फिर अपने डॉक्टर से इसके बारे में पूछे। सुरक्षा के लिए, आपको सभी दवाओं को बच्चों और पालतू जानवरों से दूर रखना चाहिए।

दवा का इस्तेमाल न करने पर या उसके एक्सपायर होने पर, डॉक्टर के निर्देश के बिना इसे न ही टॉयलेट में फ्लश करें और न ही नाली में फेकें। सुरक्षित रूप से दवा को नष्ट करने के बारे में अपने फार्मासिस्ट से पूछे।

और पढ़ें : Ascoril Syrup : एस्कोरिल सिरप क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

सावधानियां और चेतावनी

एम्पेग्लिफ्लॉजिन (Empagliflozin) का उपयोग करने से पहले मुझे क्या पता होना चाहिए?

  • अगर आपको एम्पेग्लिफ्लॉजिन से या किसी अन्य तत्व से एलर्जी है तो एम्पेग्लिफ्लॉजिन को लेने से पहले अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट को अवश्य बताएं। इस उत्पाद में कुछ ऐसे तत्व हो सकते हैं जिनसे आपको एलर्जी रिएक्शन या अन्य समस्याएं हो सकती हैं।
  • इस दवाई का प्रयोग करने से पहले, अपने डॉक्टर को अपनी मेडिकल हिस्ट्री अवश्य बताएं। खासतौर, पर अगर आपको किडनी रोग, लिवर रोग, डिहाइड्रेशन, हार्ट फेलियर, लौ ब्लड प्रेशर,यीस्ट इन्फेक्शन जैसी समस्याएं हों।
  • किसी भी सर्जरी या X -रे/स्कैनिंग आदि से पहले अपने डॉक्टर या डेंटिस्ट को उन उत्पादों के बारे में बताएं जिनका प्रयोग आप कर रहे हैं। सर्जरी से पहले कुछ समय तक आपको इस दवाई का प्रयोग करना बंद कर देना चाहिए।
  • कम या अधिक ब्लड शुगर के कारण धुंधली दृष्टि, चककर आना या सुस्ती जैसी समस्याओं का सामना कर सकते हैं। इसलिए इस दवाई को लेने के बाद ड्राइव करना या ऐसा कोई भी काम न करें, जिन्हें करने में ध्यान लगाने की आवश्यकता हो।
  • इस दवाई का प्रयोग करने के बाद एल्कोहॉल का सेवन कम या बंद कर दें, क्योंकि इससे हाई कीटोन लेवल और लौ ब्लड शुगर की समस्या हो सकती है।
  • अधिक बुखार, पसीना , डायरिया या उल्टी आने से शरीर में डिहाइड्रेशन हो सकती है। जिससे लैक्टिक एसिडोसिस का जोखिम बढ़ सकता है। इसलिए अगर आप डायरिया या उलटी आना जैसी समस्याएं हों तो इस दवाई को लेना बंद कर दें।
  • अगर आप तनाव में हैं तो ब्लड शुगर को नियंत्रित करना बहुत मुश्किल हो सकता है। ऐसी स्थिति में अपने डॉक्टर से सलाह लें ताकि डॉक्टर आपको सही उपचार प्रदान कर सके।
  • बुजुर्ग इस दवाई से होने वाले साइड इफेक्ट्स के प्रति अधिक संवेदनशील हो सकते हैं। खासतौर, पर उन्हें डिहाइड्रेशन, किडनी प्रॉब्लम और बेहोशी जैसी समस्याएं हो सकती हैं।

और पढ़ें : Lobate Gm Neo: लोबाटे जीएम नियो क्या है? जानिए इसके उपयोग, डोज और सावधानियां

क्या प्रेग्नेंसी या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान एम्पेग्लिफ्लॉजिन लेना सुरक्षित है?

प्रेग्नेंसी में, एम्पेग्लिफ्लॉजिन का प्रयोग तभी करें जब बहुत अधिक आवश्यक हो। इसके जोखिमों और फायदों के बारे में डॉक्टर की सलाह लें। गर्भावस्था में डायबिटीज की संभावना बढ़ जाती है ऐसे में अपने ब्लड शुगर को नियंत्रित रखने के लिए डॉक्टर से सलाह लें। आपके डॉक्टर गर्भवस्था में आपके डायबिटीज ट्रीटमंट में परिवर्तन कर सकते हैं।

मेटफोर्मिन ब्रेस्टमिल्क से हो कर गुजरता है। इसके दुष्प्रभावों के बारे में जानने के लिए डॉक्टर की सलाह अवश्य ले लें।

साइड इफेक्ट्स

एम्पेग्लिफ्लॉजिन (Empagliflozin) के साइड इफेक्ट्स

  • इस दवाई को लेने से बार-बार पेशाब आना, चक्कर आना आदि साइड इफेक्ट हो सकते हैं। अगर यह साइड इफेक्ट बहुत अधिक हों तो अपने डॉक्टर से तुरंत बात करें।
  • अधिकतर लोगों को इस दवाई से कोई साइड इफेक्ट नहीं होते, लेकिन अगर आपको कोई गंभीर साइड इफेक्ट देखने को मिलें जैसे यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन के लक्षण, किडनी संबंधी समस्याओं के लक्षण आदि तो तुरंत डॉक्टर से सलाह लें।
  • अगर आपको कुछ गंभीर साइड इफेक्ट देखने को मिले जैसे अधिक थकावट, उल्टी आना, पेट में दर्द, सांस लेने से समस्या आदि तो तुरंत मेडिकल हेल्प लें।
  • यह दवाई योनि या लिंग में यीस्ट इंजेक्शन का कारण बन सकती है। यह साइड इफेक्ट दुर्लभ किंतु गंभीर हो सकते हैं। अगर आपको ऐसे कोई साइड इफेक्ट के लक्षण दिखाई दें तो तुरंत डॉक्टर की सलाह लें।
  • एम्पेग्लिफ्लॉजिन से सामान्यतया लौ ब्लड शुगर की समस्या नहीं होती। लेकिन अगर किसी अन्य डायबिटीज की दवाई के साथ इस दवाई को लिया जाए, अगर आपको भोजन से पर्याप्त कैलोरी न मिल रही हो या आप अधिक एक्सरसाइज करते हों तो लौ ब्लड शुगर की समस्या हो सकती है। इस स्थिति में भी डॉक्टर की सलाह अवश्य लें। ब्लड प्रेशर के लौ होने के लक्षण इस प्रकार हैं :
  1. अचानक पसीना आना
  2. कंपकंपी
  3. दिल की धड़कन का बढ़ना
  4. दृष्टि का धुंधला होना
  5. अधिक भूख
  6. चक्कर आना
  7. उच्च ब्लड प्रेशर के लक्षण हैं बार-बार पेशाब आना, बेचैनी, अनिद्राआदि। अगर आपको इसके कोई भी लक्षण नजर आएं तो तुरंत डॉक्टर को बताएं।

अन्य साइड इफेक्ट्स

  • इस दवाई को लेने से शरीर में पानी की कमी हो सकती है। इससे किडनी डैमेज भी हो सकती है। ऐसे में, डिहाइड्रेशन से बचने के लिए खूब सारा पानी पिएं। अगर आप पर्याप्त पानी या तरल पदार्थ नहीं ले रहे हैं या आपके शरीर से पानी की कमी हो रही हो (डायरिया, उल्टी या पसीने की वजह से) तो अपने डॉक्टर को अवश्य बताएं।
  • इस दवाई के कुछ गंभीर एलर्जिक रिएक्शन बहुत ही दुर्लभ हैं, लेकिन अगर आप कुछ गंभीर रिएक्शन महसूस करें तो तुरतं डॉक्टर को बताएं। यह लक्षण कुछ इस प्रकार हो सकते हैं जैसे रैशेस, खुजली (खासतौर पर मुंह, जीभ, गले में), अधिक चक्कर आना, सांस लेने में परेशानी होना आदि।
  • यह इस दवाई से होने वाले साइड इफेक्ट्स की पूरी सूची नहीं है। अगर आप कुछ अन्य साइड इफेक्ट्स को महसूस करें जो इस लिस्ट में नहीं हैं तब भी अपने डॉक्टर को बताना न भूलें।

और पढ़ें : Imipenem: इमीपेनेम क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

इन जरूरी बातों को जानें

कौन-सी दवाएं एम्पेग्लिफ्लॉजिन (Empagliflozin) के साथ इस्तेमाल नहीं की जा सकती हैं?

  • अन्य दवाइयों के साथ एम्पेग्लिफ्लॉजिन को लेने से इसके प्रभाव में बदलाव आ सकता है या साइड इफेक्ट होने की संभावना बढ़ जाती है। यहां आपको सभी ड्रग इंट्रैक्शंस के बारे में नहीं बताया गया है। उन सभी चीजों की लिस्ट बना लें, जिनका आप प्रयोग कर रहे हैं। इसे अपने डॉक्टर से अवश्य शेयर करें। अपनी डॉक्टर की सलाह के बिना अपनी मर्जी से न तो दवाई को लेना बंद करें, न ही शुरू और न ही इसकी डोज को बदलें।
  • बीटा-ब्लॉकर दवाइयां इस प्रकार हैं मेटोप्रोलोल, प्रोप्रानोलोल, ऑय ड्रॉप्स जैसे टिमोलोल। जब हम कम ब्लड शुगर महसूस करते ,हैं तब यह दवाइयां हार्ट बीट के तेज होने को रोक सकती हैं।
  • बहुत सी दवाइयां आपके ब्लड शुगर को प्रभावित कर सकती हैं। जब भी आप कोई दवाई शुरू बंद या बदलाव करें, तो अपने डॉक्टर से बात करें और जान लें कि इससे आपकी ब्लड शुगर पर क्या प्रभाव पड़ सकता है। अपने ब्लड शुगर को नियमित रूप से चेक करें।

और पढ़ें :Levocetirizine: लेवोसिट्रीजीन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

क्या भोजन या एल्कोहॉल के साथ एम्पेग्लिफ्लॉजिन का इस्तेमाल किया जा सकता है?

एम्पेग्लिफ्लॉजिन के साथ एल्कोहॉल का सेवन न करें। ऐसा करने से ब्लड शुगर कम हो सकती है और इससे लैक्टिकएसिडोसिस की संभावना बढ़ सकती है। भोजन के साथ इस दवाई को लिया जा सकता है या नहीं डॉक्टर से इसकी सलाह लें।

और पढ़ें : Formoterol : फॉर्मोटेरोल क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

डोजेज

यहां पर दी गई जानकारी को डॉक्टर की सलाह का विकल्प न मानें। किसी भी दवा या सप्लिमेंट का इस्तेमाल करने से पहले हमेशा डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

1. डायबिटीज टाइप 2 में वयस्कों के लिए डोज

शुरुआती डोज: मुंह के माध्यम से 10 मिलीग्राम सुबह दिन में एक बार

  • जो रोगी थेरिपी को सहन कर रहे हैं और जिन्हें अतिरिक्त ग्लिसेमिक कंट्रोल की आवश्यकता है। वो दिन में एक बार 25 मिलीग्राम मुंह के माध्यम से इसकी मात्रा को बढ़ा सकते हैं।
  • अधिकतम डोज -रोजाना 25 मिलीग्राम

कमेंट:

उपयोग की सीमा : जिन लोगों को टाइप 1 डायबिटीज मेलिटस है या डायबिटिक केटोएसिडोसिस के उपचार के लिए इस दवाई की सलाह नहीं दी जाती।

  • चिकित्सा शुरू करने से पहले मात्रा में कमी को ठीक किया जाना चाहिए।

उपयोग

  • टाइप 2 डायबिटीज मेलिटस से ग्रस्त वयस्कों में ग्लिसेमिक कंटोल को सुधारने के लिए डाइट और एक्सरसाइज के साथ सहायक है।
  • टाइप 2 डायबिटीज मेलिटस से ग्रस्त वयस्क रोगियों में कार्डियोवस्कुलर (CV) से होने मौत की संभावना कम हो जाती है।

2. कार्डियोवस्कुलर रिस्क रिडक्शन में वयस्कों के लिए डोज

शुरुआती डोज: मुंह के माध्यम से 10 मिलीग्राम सुबह दिन में एक बार

  • जो रोगी थेरिपी को सहन कर रहे हैं और जिन्हें अतिरिक्त ग्लिसेमिक कंट्रोल की आवश्यकता है। वो दिन में एक बार 25 मिलीग्राम मुंह के माध्यम से इसकी मात्रा को बढ़ा सकते हैं।
  • अधिकतम डोज -रोजाना 25 मिलीग्राम

कमेंट:

उपयोग की सीमा : जिन लोगों को टाइप 1 डायबिटीज मेलिटस है या डायबिटिक केटोएसिडोसिस के उपचार के लिए इस दवाई की सलाह नहीं दी जाती।

  • चिकित्सा शुरू करने से पहले मात्रा में कमी को ठीक किया जाना चाहिए।

उपयोग

  • टाइप 2 डायबिटीज मेलिटस से ग्रस्त वयस्कों में ग्लिसेमिक कंटोल को सुधारने के लिए डायट और एक्सरसाइज के साथ सहायक है।
  • टाइप 2 डायबिटीज मेलिटस से ग्रस्त वयस्क रोगियों में कार्डियोवैस्कुलर (CV) से होने मौत की संभावना कम हो जाती है।

Bromelain : ब्रोमेलेन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

एम्पेग्लिफ्लॉजिन की ओवरडोज या आपातकालीन स्थिति में क्या करना चाहिए?

एम्पेग्लिफ्लॉजिन की ओवरडोज या आपातकालीन स्थिति के लिए अपने स्थानीय डॉक्टर या हॉस्पिटल से संपर्क करें।

नोट

  • रोगी के अलावा यह दवाई किसी अन्य व्यक्ति को न दें।
  • डायबिटीज एजुकेशन प्रोग्राम का हिस्सा बनें, ताकि आप ध्यान, आहार, व्यायाम या अन्य चीजों से अपनी डायबिटीज को संतुलित करें।
  • ब्लड शुगर के अधिक और कम होने के लक्षणों को पहचाने और डॉक्टर की सलाह लें।
  • जब आप इस दवाई को लेना शुरू करते हैं तो लैब और मेडिकल टेस्ट आपको उससे पहले करा लेने चाहिए।

और पढ़ें : Fluoxetine : फ्लुओक्सेटीन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

यदि मुझसे एम्पेग्लिफ्लॉजिन की डोज मिस हो जाए तो मुझे क्या करना चाहिए?

अगर आपसे एम्पेग्लिफ्लॉजिन की डोज मिस हो जाए, तो जितना जल्दी हो सके इसे ले लें। हालांकि, अगर दूसरी खुराक का समय हो गया है, तो डबल डोज लेने की बजाये एक डोज मिस कर दें।

हैलो स्वास्थ्य किसी भी तरह की कोई भी मेडिकल सलाह नहीं दे रहा है, अधिक जानकारी के लिए आप डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं।

 

 

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Anu sharma द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 29/05/2020 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड