home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

डायबिटीज पेशेंट्स को डायबिटिक डर्मोपैथी का खतरा होता है ज्यादा!

डायबिटीज पेशेंट्स को डायबिटिक डर्मोपैथी का खतरा होता है ज्यादा!

लाइफ स्टाइल डिजीज की लिस्ट में शामिल डायबिटीज (Diabetes) के ज्यादातर लोग शिकार हो रहें हैं। वहीं डायबिटीज की दस्तक कई अन्य शारीरिक परेशानियों के लिए भी ठिकाना ढूंढ़ लेती है। डायबिटीज पेशेंट में डायबिटिक डर्मोपैथी (Diabetic Dermopathy) की समस्या भी सामान्य मानी जाती है, लेकिन लापरवाही किसी नई मुसीबत में डालने के लिए काफी है। वहीं ब्रिटिश जर्नल ऑफ डायबिटीज एंड वैस्कुलर डिजीज (British Journal of Diabetes and Vascular Disease) द्वारा पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार 55 प्रतिशत डायबिटीज पेशेंट डायबिटिक डर्मोपैथी के शिकार होते ही हैं। रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि 50 साल से ज्यादा उम्र के लोगों में डायबिटिक डर्मोपैथी के स्पॉट आसानी से नोटिस किये जा सकते हैं। इसलिए आज इस आर्टिकल में डायबिटिक डर्मोपैथी के लक्षण (Symptoms of Diabetic Dermopathy) एवं इससे जुड़े सभी विषयों पर जानकारी आपसे शेयर करेंगे।

और पढ़ें : डायबिटीज की है समस्या, तो लो ग्लाइसेमिक वेजीटेबल्स करेंगी आपकी परेशानियों को कम!

  • डायबिटिक डर्मोपैथी क्या है?
  • डायबिटिक डर्मोपैथी के लक्षण क्या हैं?
  • डायबिटिक डर्मोपैथी के कारण क्या हैं?
  • डायबिटिक डर्मोपैथी का निदान कैसे किया जाता है?
  • डायबिटिक डर्मोपैथी का इलाज कैसे किया जाता है?
  • डायबिटीज से बचाव कैसे संभव है?

चलिए अब एक-एक कर डायबिटिक डर्मोपैथी (Diabetic Dermopathy) से जुड़े इन सवालों का जवाब जानते हैं।

डायबिटिक डर्मोपैथी (Diabetic Dermopathy) क्या है?

डायबिटिक डर्मोपैथी (Diabetic Dermopathy)

डायबिटीज पेशेंट्स के शरीर के निचले हिस्से खासकर पैरों में डायबिटिक डर्मोपैथी की समस्या देखी जाती है। डायबिटिक डर्मोपैथी एक सामान्य स्किन प्रॉब्लम (Skin problem) है। स्किन से जुड़ी इस समस्या को पिगमेंटेड प्रीटिबियल पैच (Pigmented pretibial patches) या शिन स्पॉट (Shin spots) भी कहते हैं। त्वचा पर आने वाले ये स्पॉट अपने आप गायब भी हो जाते हैं। डायबिटिक डर्मोपैथी डायबिटिक महिलाओं की तुलना में डायबिटिक पुरुषों में ज्यादा होती है। डायबिटिक डर्मोपैथी के कारणों को समझना जरूरी है, लेकिन सबसे पहले डायबिटिक डर्मोपैथी के लक्षणों को जान लेते हैं।

और पढ़ें : इन्सुलिन इंजेक्शन का समय और डोज अपनी मर्जी से तय करना बढ़ा सकता है

डायबिटिक डर्मोपैथी के लक्षण क्या हैं? (Symptoms of Diabetic Dermopathy)

डायबिटिक डर्मोपैथी की समस्या होने पर दर्द या इरिटेशन जैसी कोई तकलीफ नहीं होती है, लेकिन स्किन पर आने वाले दाने लाल और ओवल शेप में हो सकते हैं। इसलिए अगर आप डायबिटिक हैं और स्किन पर खासकर पैरों पर आएं दानें की समस्या के शिकार हैं, तो हो सकता है कि यह डायबिटिक डर्मोपैथी (Diabetic Dermopathy) की समस्या हो। आर्टिकल में आगे जानेंगे कि आखिर क्यों होती है डायबिटिक डर्मोपैथी (Diabetic Dermopathy) की समस्या। हालांकि कुछ रिपोर्ट्स के अनुसार डायबिटिक डर्मोपैथी की समस्या होने पर निम्नलिखित लक्षण देखे जा सकते हैं। जैसे:

नोट: ये लक्षण डायबिटीज पेशेंट के लिए सामान्य हो सकते हैं, लेकिन ऐसी तकलीफों को नजरअंदाज ना करें और डॉक्टर से कंसल्ट करें।

और पढ़ें : इन्सुलिन के 11 साइड इफेक्ट्स हैं सामान्य, लेकिन इग्नोर करने पर हो सकती है गंभीर!

डायबिटिक डर्मोपैथी के कारण क्या हैं? (Cause of Diabetic Dermopathy)

अमेरिकन डायबिटीज एसोसिएशन (American Diabetes Association) द्वारा पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार डायबिटीज की समस्या होने पर छोटे ब्लड वेसेल्स (Small Blood Vessels) में बदलाव आता है और ऐसी स्थिति होने पर डायबिटिक डर्मोपैथी (Diabetic Dermopathy) का खतरा बढ़ जाता है। इसके अलावा डायबिटिक डर्मोपैथी के कारण निम्नलिखित हो सकते हैं। जैसे:

  1. चोट लगने या घाव होने पर ठीक होने में ज्यादा वक्त लगना। ऐसा दरअसल ब्लड फ्लो कम होने की वजह से हो सकता है।
  2. नर्व डीजेनेरेशन (Nerve degeneration) की समस्या होना।

ये दो कारण डायबिटिक डर्मोपैथी की संभावना को बढ़ा सकते हैं। वहीं जिन लोगों में डायबिटिक डर्मोपैथी की समस्या होती है, उनमें आंख (Eye), नाक (Nose) और किडनी (Kidney) से जुड़ी बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है। इसलिए डायबिटीज पेशेंट स्किन (Skin) से जुड़ी परेशानियों को इग्नोर ना करें। अगर ऐसी कोई स्थिति है, तो इस बारे में डॉक्टर से कंसल्टेशन करें। बीमारी की गंभीरता को देखते हुए डायबिटिक डर्मोपैथी (Diabetic Dermopathy) के डायग्नोसिस की प्रक्रिया शुरू की जाती है, जिससे इलाज जल्द से जल्द शुरू हो। दरअसल ट्रीटमेंट जल्द शुरू होने से मेजर कॉम्प्लीकेशन से बचा जा सकता है।

डायबिटिक डर्मोपैथी का निदान कैसे किया जाता है? (Diagnosis of Diabetic Dermopathy)

डायबिटिक डर्मोपैथी की समस्या होने पर डॉक्टर सबसे पहले उस एरिया को मॉनिटर करते हैं। इस दौरान दाने के शेप, साइज, कलर और शरीर के कौन से हिस्से में हुआ है यह सब ध्यान देते हैं। अगर डायबिटिक डर्मोपैथी की समस्या समझ आती है, तो बायोप्सी biopsy करवाने की सलाह देते हैं।

टाइप 2 डायबिटीज (Type 2 Diabetes) को समझने के लिए नीचे दिए इस 3 D मॉडल पर क्लिक करें।

और पढ़ें : Huminsulin N: जानिए डायबिटीज पेशेंट के लिए ह्युमिनसुलिन एन के फायदे और नुकसान

डायबिटिक डर्मोपैथी का इलाज कैसे किया जाता है? (Treatment for Diabetic Dermopathy)

डायबिटिक डर्मोपैथी के इलाज के लिए कोई स्पेशल ट्रीटमेंट नहीं है। डायबिटिक डर्मोपैथी के कारण दिखने वाले स्पॉट (Spot) से कोई नुकसान नहीं होता है और ये खुद ही ठीक भी हो जाते हैं। हालांकि डायबिटिक डर्मोपैथी (Diabetic Dermopathy) के स्पॉट की वजह से आपके ड्रेसिंग स्टाइल में कोई प्रॉब्लम आती है, तो आप मेकअप से डायबिटिक डर्मोपैथी के निशान को ढ़क सकते हैं। त्वचा को मॉश्चराइज (Moisturize) रखने से भी निशान कम नजर आ सकते हैं। वहीं नैशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इन्फॉर्मेशन (National Center for Biotechnology Information) में पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार कोलाजेन (Collagen) या ग्लिसरीन (Glycerin) वाले लोशन के इस्तेमाल से स्किन टोन में बदलाव कम नजर आएंगे।

और पढ़ें : इन्सुलिन इंजेक्शन का समय और डोज अपनी मर्जी से तय करना बढ़ा सकता है आपकी तकलीफ!

स्वस्थ्य रहने के लिए नियमित योग (Yoga) करें। योग आपके मन और तन दोनों को स्वस्थ रखने में सहायक है। योग से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी और योग करने का सही तरीका जानिए नीचे दिए इस वीडियो लिंक में।

और पढ़ें : Insulin R: जानिए डायबिटीज पेशेंट के लिए इन्सुलिन आर के फायदे और नुकसान

डायबिटीज (Diabetes) से बचाव कैसे संभव है?

डायबिटीज के शिकार बड़े-बुजुर्गों के साथ-साथ बच्चे भी हो सकते हैं। ऐसे में निम्नलिखित टिप्स फॉलो करने से लाभ मिल सकता है। जैसे:

  • रोजाना टहलने (Walking) की आदत डालें।
  • जॉगिंग (Jogging) करें।
  • एरोबिक्स (Aerobics) एक्सरसाइज करें।
  • स्विमिंग (Swimming) करें।
  • एल्कोहॉल (Alcohol) का सेवन ना करें।
  • स्मोकिंग (Smoking) से दूरी बनाएं।
  • मीठे (Sweet) खाद्य पदार्थों का सेवन ना करें।
  • हरी सब्जियों (Green vegetables) का सेवन करें
  • जिन फलों में शुगर की मात्रा ज्यादा होती है, तो उनका सेवन ना करें।
  • हेल्दी डायट (Healthy diet) फॉलो करें।
  • डायबिटीज की दवा या इन्सुलिन (Insulin) समय पर लें।
  • 7 से 9 घंटे की नींद (Sleep) नियमित लें।
  • तनाव (Tension) से दूर रखें

इन बातों को ध्यान में रखने के साथ ही समय-समय पर डायबिटीज चेक करें और डॉक्टर से संपर्क में रहें।

और पढ़ें : डायबिटीज है? तो ये प्रोटीन शेक हैं सिर्फ आपके लिए

अगर आप डायबिटिक डर्मोपैथी (Diabetic Dermopathy) की समस्या से पीड़ित हैं, तो डॉक्टर से कंसल्टेशन और उनके दिए गए सलाह का ठीक तरह से पालन करें। ऐसा करने से बीमारी को जल्द से जल्द कंट्रोल करने में मदद मिल सकती है। डायबिटिक डर्मोपैथी (Diabetic Dermopathy) से जुड़े किसी तरह के सवाल का जवाब जानना चाहते हैं, तो आप हमें कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं। हैलो स्वास्थ्य के हेल्थ एक्सपर्ट आपके सवालों का जवाब देने की जल्द से जल्द कोशिश करेंगे।

ब्लड शुगर लेवल (Blood Sugar Level) को बैलेंस में रखने के लिए फिट रहना बेहद जरूरी है। नीचे दिए इस क्विज को खेलें और डायबिटीज और फिटनेस से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी पाएं।

(function() { var qs,js,q,s,d=document, gi=d.getElementById, ce=d.createElement, gt=d.getElementsByTagName, id=”typef_orm”, b=”https://embed.typeform.com/”; if(!gi.call(d,id)) { js=ce.call(d,”script”); js.id=id; js.src=b+”embed.js”; q=gt.call(d,”script”)[0]; q.parentNode.insertBefore(js,q) } })()

powered by Typeform
health-tool-icon

बीएमआई कैलक्युलेटर

अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की जांच करने के लिए इस कैलक्युलेटर का उपयोग करें और पता करें कि क्या आपका वजन हेल्दी है। आप इस उपकरण का उपयोग अपने बच्चे के बीएमआई की जांच के लिए भी कर सकते हैं।

पुरुष

महिला

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Clinical Significance of Diabetic Dermatopathy/https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC7733392/Accessed on 05/08/2021

Skin Complications/https://www.diabetes.org/diabetes/complications/skin-complications/Accessed on 05/08/2021

Diabetic dermopathy/https://bjd-abcd.com/index.php/bjd/article/viewFile/24/63/Accessed on 05/08/2021

Diabetes: Skin Conditions/https://my.clevelandclinic.org/health/articles/12176-diabetes-skin-conditions/Accessed on 05/08/2021

Glucose Effects on Skin Keratinocytes/https://diabetes.diabetesjournals.org/content/50/7/1627/Accessed on 05/08/2021

Diabetes/https://www.mayoclinic.org/diseases-conditions/diabetes/symptoms-causes/syc-20371444/Accessed on 05/08/2021

लेखक की तस्वीर badge
Nidhi Sinha द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 08/08/2021 को
डॉ. हेमाक्षी जत्तानी के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x