जानिए पॉलीडिप्सिया के लक्षण, कारण और उपचार

    जानिए पॉलीडिप्सिया के लक्षण, कारण और उपचार

    कुछ लोगों को आमतौर पर अधिक पानी पीने की आदत होती है। लेकिन कभी-कभी बहुत अधिक पानी पीने से आपका पेट भर जाता है पर प्यास खत्म नहीं होती है। अधिक मात्रा में पानी पीना आमतौर पर आपकी प्यास का ख्याल रखता है। लेकिन कभी-कभी, पानी की कोई भी मात्रा आपकी प्यास बुझाने के लिए पर्याप्त नहीं लगती है। पॉलीडिप्सिया (Polydipsia) अत्यधिक प्यास लगने की समस्या को कहा गया है। पॉलीडिप्सिया मधुमेह के प्रारंभिक लक्षणों में से एक है। यह आमतौर पर मुंह के लंबे समय तक सूखने के कारण भी होता है।हालांकि, अगर आपको हर समय प्यास लगती है या आपकी प्यास सामान्य से अधिक है और पानी पीने के बाद भी आपकी प्यास नहीं बुझती है, तो यह संकेत हो सकता है कि आपके शरीर के अंदर सब ठीक नहीं है।

    और पढ़ें :जानें क्या है डायबिटिक न्यूरोपैथी, आखिर क्यों होती है यह बीमारी?

    पॉलीडिप्सिया के प्रकार (Types of Polydipsia)

    पॉलीडिप्सिया कई प्रकार के हो सकते हैं। इसके कुछ कारण शारीरिक हो सकते हैं। दूसरों को मनोवैज्ञानिक, या मानसिक मुद्दों के कारण हो सकता है। पॉलीडिप्सिया के प्रकारों में ये शामिल हैं।

    [mc4wp_form id=”183492″]

    साइकोजेनिक (प्राथमिक) पॉलीडिप्सिया

    इस प्रकार का पॉलीडिप्सिया कुछ जैविक के बजाय चिंता, ऊब, तनाव या अंतर्निहित मानसिक स्वास्थ्य मुद्दों के कारण होता है।

    ड्रग-प्रेरित पॉलीडिप्सिया

    यह कुछ दवाओं या विटामिन के कारण होता है जो पॉलीयूरिया का कारण बनता है, जैसे कि मूत्रवर्धक, विटामिन के, नमक का अत्यधिक सेवन और कॉर्टिकोस्टेरॉइड।

    और पढ़ें: Quiz : डायबिटीज के पेशेंट को अपने आहार में क्या शामिल करना चाहिए और क्या नहीं?

    कम्पेंसिटरी पॉलीडिप्सिया

    कम्पेंसिटरी पॉलीडिप्सिया आपके शरीर में एन्टिडाययूरेटिक हार्मोन के निम्न स्तर के कारण होता है। इससे अत्यधिक पेशाब हो सकता है।

    पॉलीडिप्सिया के लक्षण (Polydipsia symptoms)

    पॉलीडिप्सिया का सबसे आम लक्षण बहुत अधिक और तेज से प्यास लगना है। खासकर तब जब आप बहुत अधिक मात्रा में पानी पी चुके हो। लेकिन आपकी प्यास नहीं बुझती है। इसके अलावा पॉलीडिप्सिया के लक्षण इस प्रकार से हो सकते हैं।

    • असामान्य रूप से उच्च मात्रा में मूत्र निकलना एक दिन में लगभग 5 लीटर से अधिक मूत्र होना।
    • आपके मुंह में लगातार सूखापन होना
    • इन सभी के अलावा आप अन्य लक्षणों को नोटिस कर सकते हैं यदि आपका पॉलीडिप्सिया मधुमेह जैसी अंतर्निहित स्थिति के कारण है।

    और पढ़ें: डायबिटिक फुट के प्रकार और देखभाल के बारे में जानें विस्तार से

    कुछ सामान्य मधुमेह मेलेटस लक्षण जो पॉलीडिप्सिया के साथ हो सकते हैं उनमें शामिल हैं।

    • असामान्य रूप से भूख लगना
    • धुंधली दृष्टि होना
    • थकावट
    • असामान्य वजन घटना
    • बार-बार घाव या संक्रमण होना
    • इसमें कोई घाव या चोट बहुत धीरे ठीक होता है।

    बहुत अधिक पानी पीने से आपको पानी का एडिक्शन भी हो सकता है, जिसे कभी-कभी जल विषाक्तता भी कहा जाता है। यह स्थिति तब होती है जब आप अधिक मात्रा में पानी पीते हैं। ऐसा करने से आपके रक्त में सोडियम की मात्रा कम हो सकती है। जिसे हाइपोनेट्रेमिया भी कहा जाता है। इसमें ये लक्षण हो सकते हैं जैसे:

    और पढ़ें: Diabetic nephropathy: डायबिटिक नेफ्रोपैथी क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और इलाज

    पॉलीडिप्सिया के कारण (Polydipsia Causes)

    सबसे अधिक प्यास व्यायाम करते समय या कुछ नमकीन खाने से लगती है। लेकिन इसके अलावा अत्यधिक प्यास लगने का कारण ये हो सकता है।

    मधुमेह मेलटेस (Diabetes mellitus)

    उच्च रक्त शर्करा आपके बहुत पेशाब का कारण हो सकता है। जितना अधिक आप पेशाब करते हैं, उतना अधिक आपको प्यास लगती है।

    और पढ़ें : Type 2 Diabetes: टाइप 2 डायबिटीज क्या है?

    डायबिटीज इन्सिपिडस (Diabetes insipidus)

    ज्यादातर लोग “डायबिटीज” का नाम सुनते ही आपके अग्न्याशय के बारे में सोचते हैं। डायबिटीज इन्सिपिडस तब होता है जब आपके गुर्दे या आपके पिट्यूटरी ग्रंथि के साथ कोई समस्या होती है, जो एक हार्मोन बनाती है जो आपके गुर्दे और शरीर में कितना पानी का लेवल बनाए रखने में मदद करता है।

    मानसिक बीमारी (Mental illness)

    कुछ लोगों को अत्यधिक प्यास लगती है, इसलिए वे पूरे दिन पानी पीते रहते हैं, हालांकि उन्हें इतना पानी की जरूरत नहीं है। इसे साइकोजेनिक पॉलीडिप्सिया कहा जाता है। बहुमूत्रता पैदा कर सकने वाली मानसिक बीमारियों में शामिल हैं:

    • सिजोफ्रेनिया और अन्य व्यक्तित्व विकार
    • अवसाद और चिंता जैसे मूड संबंधी विकार
    • एनोरेक्सिया

    और पढ़ें : Type 2 Diabetes: टाइप 2 डायबिटीज क्या है?

    पॉलीडिप्सिया का निदान (Polydipsia Diagnosis)

    पॉलीडिप्सिया के लिए उपचार उस स्थिति पर निर्भर हो सकता है, जो इसे पैदा करने का कारण है। इसका इलाज किस प्रकार किया जाना है,यह आपका डॉक्टर आपकी जांच करके तय करता है। वह इलाज से पहले आपको इस प्रकार की जांच करने की सलाह दे सकता है।

    • रक्त परीक्षण करें
    • एक मूत्र का नमूना लें
    • एक निश्चित समय के लिए कम तरल पदार्थ पीएं

    और पढ़ें:डायबिटीज और इरेक्टाइल डिसफंक्शन – जानिए कैसे लायें सुधार

    ऐसे किया जा सकता है इलाज (Polydipsia Treatment)

    • यदि मधुमेह मेलेटस आपके पॉलीडिप्सिया का कारण बन रहा है, तो आपका डॉक्टर आपको अपने रक्त शर्करा को नियंत्रित करने के लिए एक दवा देगा।
    • आपको अपने आप को नियमित इंसुलिन इंजेक्शन देने की भी आवश्यकता हो सकती है।
    • आपका डॉक्टर आपके मधुमेह के लक्षणों का इलाज करने में मदद करने के लिए संतुलित आहार खाने और पीने में मदद करने के लिए एक डाइट चार्ट फॉलो करने की सलाह दे सकता है।
    • एक व्यायाम योजना आपको शारीरिक रूप से स्वस्थ और फिट रखने में मदद कर सकती है।
    • यदि आपको मधुमेह की बीमारी है, तो आपका डॉक्टर आपको यह सुनिश्चित करने के लिए एक निश्चित मात्रा में पानी पीने की सलाह देगा कि आप निर्जलित न हों।

    और पढ़ेंः गर्भधारण से पहले डायबिटीज होने पर क्या करें?

    • आपका डॉक्टर आपके लक्षणों को नियंत्रण में रखने के लिए आपको दवा भी दे सकता है। इन दवाओं में गोली या इंजेक्शन के रूप में डेस्मोप्रेसिन शामिल हो सकता है।
    • यदि आपके पॉलीडिप्सिया का किसी प्रकार का मनोवैज्ञानिक कारण है, तो आपका डॉक्टर आपको किसी थेरेपिस्ट की सहायता लेने की सलाह दे सकता है।यदि मानसिक स्वास्थ्य समस्या आपके पॉलीडिप्सिया का कारण बन रही है। तो आपका डॉक्टर संज्ञानात्मक व्यवहार थेरेपी (सीबीटी) भी लेने की सलाह दे सकता है। जिससे आप स्वंय पर नियंत्रण करके अत्यधिक मात्रा में पानी पीने के लिए अपनी भावनाओं को कंट्रोल करने की कोशिश कर सके।

    और पढ़ें:क्या मधुमेह रोगी चीनी की जगह खा सकते हैं शहद?

    पॉलीडिप्सिया (Polydipsia) क्यों यह एक समस्या है?

    बहुत अधिक पानी पीने से आपके शरीर में रसायन का संतुलन बिगड़ सकता है। आम तौर पर आपको पेशाब करके अतिरिक्त पानी से छुटकारा मिलता है, लेकिन जब आपका शरीर पानी की इतनी मात्रा नहीं रख सकता है, तो आपका रक्त पतला हो जाता है। यह आपके कोशिकाओं में और उसके आस-पास बहुत अधिक पानी के साथ आपके रक्त में बहुत कम सोडियम का कारण बन सकता है। यह स्थिति आपके अंगों और हड्डियों को नुकसान पहुंचा सकती है। शरीर में अधिक सोडियम की कमी हाइपोनट्रेमिया का कारण हो सकती है। जिससे आप कोमा में जा सकते हैं। यह इन समस्याओं का कारण बन सकता है।

    • सिरदर्द
    • लो एनर्जी
    • स्लर्ड स्पीच
    • भ्रम की स्थिति
    • जी मिचलाना
    • ऐंठन
    • स्लो रिफलेक्स
    • दौरा

    नोट: यदि आप कुछ दिनों से बहुत प्यासे हैं और बहुत अधिक पेशाब कर रहे हैं, लेकिन आपके अंदर इन लक्षणों में से कोई भी लक्षण है, तो तुरंत अपने डॉक्टर को फोन करें।

    और पढ़ें:Diabetic Eye Disease: मधुमेह संबंधी नेत्र रोग क्या है? जानें कारण, लक्षण और उपाय

    ऊपर दी गई जानकारी चिकित्सा सलाह का विकल्प नहीं है। इसलिए किसी भी दवा या सप्लिमेंट का इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर से परामर्श जरूर करें।

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड

    डॉ. पूजा दाफळ

    · Hello Swasthya


    Nikhil deore द्वारा लिखित · अपडेटेड 21/02/2022

    advertisement
    advertisement
    advertisement
    advertisement