home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

बॉडी के लिए एकदम फिट है ‘डिप एक्सरसाइज’

बॉडी के लिए एकदम फिट है ‘डिप एक्सरसाइज’

एक्सरसाइज तो हम सब करते हैं लेकिन कुछ ही लोग होते हैं जिन्हें उस एक्सरसाइज का सही मतलब पता होता है। हमारा शरीर कई भागों में बंटा हुआ है। शरीर के अलग-अलग पार्ट्स को मजबूती देने के लिए विभन्न प्रकार की एक्सरसाइज होती है। आज हम इस आर्टिकल के माध्यम से आपको विभिन्न प्रकार के डिप से परिचित करवाएंगे। जानेंगे कि डिप एक्सरसाइज क्या है और इसे किस तरह किया जाता है। साथ ही जानिए इस एक्सरसाइज के फायदे क्या हैं।

डिप एक्सरसाइज (Dip Exercise) क्या है?

जब कोई पैरेलर बार (Parallel bars) या रिंग की हेल्प से खुद को नीचे की ओर पुश करता है और फिर बॉडी को कुछ देर होल्ड कर ऊपर की ओर उठाता है। इस प्रोसेस को पुश एक्सरसाइज कहते हैं। ये एक्सरसाइज ज्यादातर एथलीट करते हैं।

चेलेजिंग एक्सरसाइज देखने के साथ ही करने में भी टफ है। अक्सर लोग अपर बॉडी स्ट्रेंथ को बढ़ाने के लिए ये एक्सरसाइज करते हैं। अपर बॉडी मास को एक्सीलेंट करने के साथ ही ये मसल्स को स्ट्रांग भी करती है। क्या आपको पता है कि इसे करने का सही तरीका क्या है?

और पढ़ें : चौड़ी छाती के लिए 5 जरुरी चेस्ट एक्सरसाइज

डिप एक्सरसाइज (Dip Exercise) कैसे होती हैं?

डिप एक्सरसाइज को करने के कई तरीके हो सकते हैं। नीचे हम आपको इसके कुछ अलग-अलग तरीके बता रहे हैं, जो इस प्रकार हैं :

पेरेलल बार डिप्स (Parallel Bar Dips)

पेरेलल बार को कस कर पकड़ लें। अब अपनी बॉडी का सारा वेट हाथों में डाल दें। अब अपने आपको ऊपर की ओर उठाएं। इस दौरान हाथों को सीधा रखें। अब बॉडी को नीचे लाए। इस दौरान हाथ से 90 डिग्री का कोण बनना चाहिए।

  • स्ट्रेट बॉडी डिप्स (Straight Bar Dips)

इस डिप में बॉडी को सीधा रखकर अप एंड डाउन किया जाता है।

और पढ़ें : जानिए किस तरह जॉगिंग आपको शेप में लाने में करती है मदद

बेंच डिप्स (Bench Dips)

इस डिप में बेंच का सहारा लेकर शरीर को डाउन और फिर अप किया जाता है।

रिंग डिप्स (Ring Dips)

ये स्टैन्डर्ड डिप्स में गिनी जाती है। जिमनास्टिक रिंग में हाथों की सहायता से बॉडी के वेट को कंट्रोल कर अप एंड डाउन करते है।

डंबल वेटेड डिप्स (Dumbbell Weighted Dips)

ये बेंच डिप्स की तरह ही किया जाता है। इसमें अंतर सिर्फ इतना है कि ये 10 से 15 किलो का डंबल यूज किया जाता है। ये उन लोगों के लिए है जो बिगिनर्स स्टेज को क्रास कर चुके हैं। ये चैलेजिंग होता है।

और पढ़ें : ब्रीदिंग एक्सरसाइज से मालिश तक ये हैं प्रसव पीड़ा को कम करने के उपाय

इस एक्सरसाइज के फायदे क्या हैं?

इसमें कोई दो राय नहीं है कि इस एक्सरसाइज के फायदे अनेक हैं। यही कारण है जो लोग इस एक्सरसाइज को नियमित रूप से करते हैं और बेहतर परिणाम पाते हैं। जिम ट्रेनर भी इस एक्सरसाइज के कई फायदे बताते हैं। इसे करने से आपकी पूरी बॉडी की एक्सरसाइज हो जाती है। इसके अलावा इस एक्सरसाइज के और भी कई फायदे हैं, जिनके बारे में हम नीचे बताने जा रहे हैं। जानिए इसके फायदे :

1. ये पूरे शरीर की बॉडी स्ट्रेंथ को बढ़ाने का काम करता है। हो सकता है कि आपको डिप एक्सरसाइज की वजह से पेन फील हो, लेकिन ये कुछ दिनों बाद कम हो जाएगा।

2.ये खासतौर पर ट्राईसेप्स की स्ट्रेंथ को टारगेट करता है। बाकी एक्सरसाइज के मुकाबले ये आपके ट्राईसेप्स फ्लेक्सिबिलिटी को इंप्रूव करता है।

3.आगर आप इसे लगातार कर रहे हैं तो कुछ दिनों बाद अपर चेस्ट स्ट्रेंथ भी बढ़ने लगेगी। बारबेल या डम्बल की अपेक्षा आपको इसका असर तेजी से महसूस होगा।

4.डिप एक्सरसाइज की हेल्प से अपर बॉडी की लार्जेस्ट मसल्स को मजबूती मिलती है। साथ ही बैक और साइज नेक, अपर बैक मसल्स को भी स्ट्रेंथ मिलती है।

6.इस एक्सरसाइज का एक बड़ा फायदा ये भी है कि आपको जल्दी थकावट महसूस नहीं होगी। कोई भी काम हो, आप फुर्ती के साथ उसे निपटा लेंगे।

7.ये बात आपको मालूम नहीं होगी कि डिप एक्सरसाइज पुश अप्स से कहीं बेहतर है। डिप्स के दौरान आप अपनी पूरी बॉडी को उठाते हैं। ये आपकी मेंटल हेल्थ को भी स्ट्रांग करता है।

8.ये एक्सरसाइज अपर बॉडी ज्वाइंट्स के इंजरी रिस्क को भी कम करता है। इस दौरान आपके ट्राईसेप्स, सोल्डर और स्केपुलर कहीं ज्यादा डेवलप हो जाते हैं।

घर में भी कर सकते हैं डिप एक्सरसाइज

डिप एक्सरसाइज को करने की खास बात ये है कि इसे आप जिम में ही नहीं, बल्कि घर पर भी आसानी से कर सकते हैं। अगर आपके पास कुछ सुविधाएं उपलब्ध हैं तो घर में भी इसे जरूर ट्राई करें।

1. डिप स्टेशन का यूज

2. चेयर का यूज

3.प्लेग्राउंड का यूज

4.फ्लोर डिप या प्लांच प्रोग्रेशन

और पढ़ें : आइसोमेट्रिक एक्सरसाइज से आसानी से मजबूत होती हैं मसल्स, जानें इसके फायदे

इन खास बातों का ध्यान रखें

इसमें कोई दो राय नहीं है कि ये एक्सरसाइज काफी फायदेमंद होती है। इस एक्सरसाइज को करके बहुत से लोगों ने मनपसंद परिणाम भी पाए हैं। लेकिन इस बारे में कोई दो राय नहीं है, कि आपको हर एक्सरसाइज को करते समय कुछ बातों का खास ध्यान रखना होता है। इन खास बातों का ध्यान नहीं रखेंगे तो ये नुकसान दे सकती है। नीचे हम कुछ बातें बता रहे हैं, जिन्हें आपको ध्यान रखने की जरूरत होगी।

  • इस एक्सरसाइज को करते समय आप अपनी अपर बॉडी की पुजिशन सही रखें। पुजिशन गलत होने पर ये एक्सरसाइज ठीक ढंग से नहीं होगी और इसके सही परिणाम भी आपको नहीं मिलेंगे।
  • इस एक्सरसाइज को करते समय आप अपनी कोहनियों का सही से इस्तेमाल करें।
  • यही नहीं इसे करते समय आप अपनी पकड़ मजबूत रखें। इस एक्सरसाइज को करते समय सही पकड़ होना बहुत जरूरी है।

तो अगर आपने अभी तक ये एक्सरसाइज शुरू नहीं की है और आपको बेहतर परिणाम चाहिए, तो आप इस एक्सरसाइज को करना जरूर शुरू करें। इस एक्सरसाइज को अगर आप नियमित रूप से करेंगे, तो ये कुछ ही समय में बेहतर परिणाम जरूर देगी और आप स्वस्थ रहेंगे।

उम्मीद है आपको हमारा ये आर्टिकल पसंद आया होगा और इस एक्सरसाइज से जुड़ी जरूरी जानकारियां आपको मिल गई होंगी। आशा करते हैं कि ये आर्टिकल आपकी मदद करेगा और आपको हेल्थ और एक्सरसाइज के प्रति प्रोत्साहित करेगा। अगर आपको इस आर्टिकल दी गई जानकारी के अलावा अन्य कोई जानकारी चाहिए, तो हमसे हमारे फेसबुक पेज पर जरूर पूछें। हम आपके सभी सवालों के जवाब देने की पूरी कोशिश करेंगे। साथ ही इसे ज्यादा से ज्यादा लोगों के साथ शेयर करना न भूलें।

health-tool-icon

बीएमआई कैलक्युलेटर

अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की जांच करने के लिए इस कैलक्युलेटर का उपयोग करें और पता करें कि क्या आपका वजन हेल्दी है। आप इस उपकरण का उपयोग अपने बच्चे के बीएमआई की जांच के लिए भी कर सकते हैं।

पुरुष

महिला

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Exercise & Physical Activity: Your Everyday Guide from the National Institute on Aging. https://order.nia.nih.gov/sites/default/files/2018-04/nia-exercise-guide.pdf. Accessed On 06 October, 2020.

AlaskaCare Employee Wellness Program Exercises. http://doa.alaska.gov/drb/alaskaCare/employee/wellness/exercise.html. Accessed On 06 October, 2020.

Dips on floor/bench. https://www.healthier.qld.gov.au/fitness/exercises/dips-on-floor-2/. Accessed On 06 October, 2020.

Exercise for Older Adults. https://medlineplus.gov/exerciseforolderadults.html. Accessed On 06 October, 2020.

EASY EXERCISES. https://www.makehealthynormal.nsw.gov.au/activity/workouts. Accessed On 06 October, 2020.

लेखक की तस्वीर badge
Bhawana Awasthi द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 07/10/2020 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x