home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

फोकस करने में होती है समस्या, तो मंत्र योग का थामें हाथ!

फोकस करने में होती है समस्या, तो मंत्र योग का थामें हाथ!

हमारे देश का योग से आज से नहीं बल्कि पांच हजार साल पुराना रिश्ता है। योग का अभ्यास न केवल मन की शांति प्रदान करता है बल्कि ये शरीरिक और अध्यात्मिक रूप से भी स्थिरता प्रदान करता है। योग का जन्म भारत में ही हुआ था और अब दुनिया के विभिन्न देशों में इसे अपनाया जाता है। इन्हीं में से एक योग है मंत्र योग (Mantra yoga)। मंत्र हिंदी नहीं बल्कि संस्कृत का शब्द है। मन से मतलब दिमाग से है और त्र से मतलब रिलीज करने से है। अगर आपको किसी काम में फोकस करने में समस्या होती है या फिर मन में बहुत से बातें रहती हैं, तो आपको मंत्र योग (Mantra yoga) जरूर करना चाहिए। मंत्र योग (Mantra yoga) का रोजाना अभ्यास करने से लोगों ने फर्क महसूस किया है। ये जागरूकता बढ़ाने के साथ ही एकाग्रता में सुधार करता है। आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से मंत्र योग या मंत्र मेडिटेशन के बारे में जानकारी देंगे। जानिए मंत्र योग (Mantra yoga) के बारे में विस्तार से।

और पढ़ें: बद्ध पद्मासन: जानिए इस योगासन को करने का सही तरीका, फायदा और सावधानियां

मंत्र योग (Mantra yoga) क्या है?

मंत्र योग

मंत्र योग मन को शांत करने और ध्यान लगाने का एक कारगर तरीका है। स्टडी में ये बात प्रूव हो चुकी है कि मंत्र मेडिटेशन का रोजाना अभ्यास करने से ब्रेन हेल्थ में इंप्रूवमेंट होता है। जिन लोगों को मेमोरी प्रॉब्लम (Memory problem) की समस्या होती है, उनमें भी सुधार देखने को मिलता है। शरीर से थकान (fatigue) दूर करने के लिए, चिंता भगाने के लिए और चीजों पर फोकस करने के लिए आप मंत्र योग की शुरूआत कर सकते हैं। मंत्र योग के लिए किसी एक मंत्र का जाप नहीं किया जाता है। इसके लिए आप किसी भी मंत्र का चुनाव कर सकते हैं, जो आपके अंदर सकारात्मक ऊर्जा को बढ़ाने का काम करें। ‘ओम’ मंत्र का जाप अधिकतर लोग करना पसंद करते हैं। ओम का जाप करने से शरीर में ऊर्जा का प्रवाह होता है और शरीर की नकारात्मक ऊर्जा दूर हो जाती है। ये माना जाता है कि जब इस संसार की उत्पत्ति हुई थी, तो चारों दिशाओं में ओम की ध्वनी ही गूंज रही थी। आप चाहे तो शांति का जाप भी कर सकते हैं। कुछ लोग मंत्र के रूप में गायंत्री मंत्र का जाप करते हैं। गायंत्री मंत्र की पंक्तियां निम्न प्रकार हैं,

ॐ भूर्भुव स्वः।
तत् सवितुर्वरेण्यं।
भर्गो देवस्य धीमहि।
धियो यो न प्रचोदयात्॥

और पढ़ें: स्वास्थ्य मंत्रालय ने जारी किए जिम और योगा सेंटर के लिए गाइडलाइन

कुछ लोग सो हम (So Hum) का जाप भी करते हैं। आप चक्र मंत्र, हीलिंग मंत्र आदि का चुनाव कर मंत्र योग (Mantra yoga) की शुरुआत कर सकते हैं। वहीं सब के सुरक्षित रहने की कमना के लिए असतो मा सद्गमय, तमसो मा ज्योतिर्गमय, मृत्योर्मा अमृतं गमय’ मंत्र का जाप किया जा सकता है।

कैसे करें मंत्र योग? (Mantra yoga)

Mantra yoga

मंत्र योग (Mantra yoga) करना आसान है क्योंकि आपको इसमें किसी बॉडी के किसी पार्ट का मूवमेंट नहीं करना पड़ता है। आपको जिस मंत्र का जाप करना है, बस उस पर फोकस करना पड़ता है। मंत्र मेडिटेशन (Mantra Meditation) की शुरुआत करने के लिए आपको निम्नलिखित बातों को ध्यान से पढ़ना चाहिए।

  • सबसे पहले ऐसे स्थान का चुनाव करें, जहां शांति हो और आपका मन न भटके।
  • अब अपनी पसंदीदा मुद्रा में बैठ जाएं। आप कुर्सी पर बैठ कर या फिर चल कर भी मंत्र जाप कर सकते हैं।
  • अब आप टाइमर सेट कर लें ताकि आपको पता चल जाएं कि आपको कितने समय तक मंत्र का जाप करना है। आप चार मिनट से आधे घंटे तक का टाइमर लगा सकते हैं।
  • अब गहरी सांस लें और फिर अपने मंत्र का जाप करना शुरू कर दें। आप चाहे तो मंत्र का जाप बोल कर या फिर धीमें बोल कर भी कर सकते हैं। मंत्र की रफ्तार को अपनी सांसों के साथ बदलें।
  • मंत्र का जाप करने के दौरान आपको कुछ समय बाद महसूस होगा कि आपकी सांस और मंत्र एक फ्लो में जा रहे हैं।
  • जब आप मेडिटेशन कर रहे हो, तो मन में अन्य विचार बिल्कुल न आने दें।
  • जब आपका समय खत्म हो जाए, तो मेडिटेशन (Meditation) को रोक दें। आप इसे सुबह और शाम दोनों समय कर सकते हैं।
  • आपको कुछ समय बाद मंत्र जाप के फायदे नजर आने लगेंगे।

और पढ़ें: पादहस्तासन : पांव से लेकर हाथों तक का है योगासन, जानें इसके लाभ और चेतावनी

मंत्र योग के फायदे (Benefits of Mantra Yoga)

मंत्र मेडिटेशन के एक नहीं बल्कि बहुत से फायदे होते हैं। अक्सर लोगों के मन में ये बात रहती है कि मेडिटेशन के दौरान क्या किसी खास मंत्र का चयन करना सही रहता है। ऐसा सोचना सही नहीं है। आप उन मंत्रों का चयन कर सकते हैं, जो आपके अंदर सकारात्मक ऊर्जा का बढ़ाने का काम करें। अगर आपको मंत्र का जाप करने में समस्या आ रही है, तो आप ओम से भी शुरुआत कर सकते हैं। जानिए मंत्र योग (Mantra yoga) करने से शरीर को कौन-से फायदे पहुंच सकते हैं।

फोकस बढ़ाने के लिए मंत्र योग (Increased focus)

अगर आपको ध्यान केंद्रित करने में समस्या होती है, तो आपके लिए मंत्र योग (Mantra yoga) बेहतर विकल्प साबित हो सकता है। हो सकता है कि आपको शुरुआत में ध्यान केंद्रित करने में समस्या हो लेकिन इस योग का रोजाना अभ्यास करने से आप बेहतरीन फोकस करना सीख जाएंगे।

ब्रेन हेल्थ में होता है सुधार (Brain health)

जो लोग मंत्र मेडिटेशन का रोजाना अभ्यास करते हैं, उनकी ब्रेन हेल्थ (Brain health) में सुधार देखने को मिला है। इससे वर्बल मेमोरी में सुधार के साथ ही मूड भी बेहतर होता है। मंत्रों का जाप ब्रेन वेव्स को रिलेक्स करता है और इससे ब्रेन हेल्थ में सुधार होता है।

और पढ़ें: बुजुर्गों के लिए योगासन, जो उन्हें रखेंगे फिट एंड फाइन

स्ट्रेस होता है कम (Stress)

आज की भागदौड़ भरी जिंदगी में स्ट्रेस की समस्या का अधिकतर लोग सामना कर रहे हैं। ऐसे में स्ट्रेस को दूर करने के लिए अगर आप दिन में आधे या फिर एक घंटे का समय रोजाना निकालते हैं, तो यकीन मानिए की आपकी चिंता (anxiety) कुछ समय बाद कम होना शुरू हो जाएगी। मंत्र का रोजाना जाप करने से मन में चिंता पैदा करने वाली बातें धीरे-धीरे कम होने लगती हैं।

ब्रीथ कंट्रोल पर भी असर दिखाता है मंत्र योग

मंत्र का जाप करते समय ब्रीथ कंट्रोल प्रोसेस भी होती है। मंत्रों के साथ ही सांसों का तेज और फिर धीमा होना आपको रिलेक्स फील करवाता है। ये एक प्रकार की मेडिटेटिव ब्रीथिंग एक्सरसाइज (meditative breathing exercises) है।

माला या बीड्स का कर सकते हैं इस्तेमाल

बीड्स या माला

अगर आपको लग रहा है कि आप मंत्र मेडिटेशन ठीक से नहीं कर पा रहे हैं, तो आप माला या बीड्स का इस्तेमाल भी कर सकते हैं। ऐसा करने से आपको मंत्र का जाप करने में आसानी होगी और आप बीड्स गिनकर मंत्रों को पूरा कर सकेंगे। ये ब्रीथिंग रिदम को भी बेहतर बनाता है और आपका ध्यान मंत्र में लग जाता है। अगर आपको लग रहा है कि आप जो मंत्र कर रहे हैं, वो ठीन नहीं है, तो आप मंत्र बदल भी सकते हैं। यानी मेडिटेशन के दौरान हमेशा एक ही मंत्र का जाप करना जरूरी नहीं है।

यहां दी गई जानकारी चिकित्सा सलाह का विकल्प नहीं है। हम उम्मीद करते हैं कि आपको इस आर्टिकल के माध्यम से मंत्र योग (Mantra yoga) के बारे में जानकारी मिल गई होगी। मंत्र योग (Mantra yoga) के बारे में अधिक जानकारी के लिए आप योग एक्सपर्ट से सलाह भी ले सकते हैं। हैलो हेल्थ किसी भी प्रकार की चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार उपलब्ध नहीं कराता। उम्मीद है आपको हैलो हेल्थ की दी हुई जानकारियां पसंद आई होंगी। अगर आपको इस संबंध में अधिक जानकारी चाहिए, तो हमसे जरूर पूछें। हम आपके सवालों के जवाब मेडिकल एक्सर्ट्स द्वारा दिलाने की कोशिश करेंगे।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Bhawana Awasthi द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 02/06/2021 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x